आनंद महिंद्रा ने लॉन्च किया प्रोजेक्ट ‘ऑक्सीजन ऑन व्हील्स’

0
6

1. श्री टी. रबी शंकर आरबीआई के उप गवर्नर नियुक्त किए गए

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के कार्यकारी निदेशक टी रबी शंकर (T Rabi Sankar) को केंद्रीय बैंक के चौथे डिप्टी गवर्नर के रूप में नामित किया गया है। 03 मई 2021 की भारत सरकार की अधिसूचना के अनुपालन में, श्री टी. रबी शंकर ने तीन साल की अवधि तक या अगले आदेशों तक, जो भी पहले हो, भारतीय रिज़र्व बैंक के उप-गवर्नर के रूप में पदभार ग्रहण किया। श्री टी. रबी शंकर उप-गवर्नर के पद पर पदोन्नत होने से पहले रिज़र्व बैंक के कार्यपालक निदेशक थे। वह बीपी कानूनगो (BP Kanungo) का स्थान लेंगे, जो अपने पद पर एक साल का विस्तार पाने के बाद 2 अप्रैल को सेवानिवृत्त हो गए। शंकर को केंद्रीय बैंकिंग कार्यों, विशेषकर, विनिमय दर प्रबंधन, भंडार पोर्टफोलियो प्रबंधन, सार्वजनिक ऋण प्रबंधन, मौद्रिक संचालन, वित्तीय बाजारों और भुगतान प्रणाली के विकास, विनियमन और निगरानी तथा बैंक के आईटी बुनियादी ढांचे के प्रबंधन के लिए लंबे समय तक अनुभव है। अन्य तीन डिप्टी गवर्नर महेश कुमार जैन, माइकल पात्रा और एम. राजेश्वर राव हैं।

  1. विदेश मंत्री एस. जयशंकर चार दिन की लंदन यात्रा पर जाएंगे

विदेश मंत्री एस. जयशंकर जी-सात देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक में भाग लेने के लिए चार दिन की लंदन यात्रा पर जाएंगे। भारत को इस बैठक में अतिथि देश के रूप में आम‍ंत्रित किया गया है। जी-सात के सदस्‍य देशों में ब्रिटेन, अमरीका, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली और जापान शामिल हैं। बैठक में कोरोना वायरस महामारी से निपटने तथा विश्‍व के सामने खड़ी अन्‍य चुनौतियों पर चर्चा होने की संभावना है।

  1. भाजपा के नेतृत्‍व वाले एनडीए ने असम में लगातार दूसरी बार सत्‍ता हासिल की

2 मई, 2021 को असम, केरल, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल में हाल ही में हुए राज्य विधानसभा चुनावों के वोटों की गिनती की गई। असम में भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में एनडीए ने लगातार दूसरे कार्यकाल के लिये सत्ता में बरकरार रखी है। एनडीए को 126 सदस्यों की विधानसभा में 75 सीटें मिली हैं। भारतीय जनता पार्टी ने 60, इसकी सहयोगी असम गण परिषद ने नौ और यूपीपीएल ने छह सीटें जीती हैं। कांग्रेस को 29 और इसके सहयोगी एआईयूडीएफ को 10 सीटें मिली हैं। मुख्यमंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता सर्बानन्द सोनोवाल ने 40 हजार से अधिक मतों के अंतर से माजुली सीट जीती है।

  1. पुद्दूचेरी में एनडीए ने बहुमत हासिल किया

पुद्दुचेरी में एनडीए ने 30 सदस्यों की विधानसभा में बहुमत हासिल कर लिया है और सरकार बनाने को तैयार है। पुद्दुचेरी में एनडीए में एनआर कांग्रेस, भारतीय जनता पार्टी और ऑल इंडिया अन्ना डीएमके हैं। एनआर कांग्रेस ने 10 सीटें जीती हैं, भाजपा को 6 सीट मिली है। डीएमके ने 6 सीट, कांग्रेस ने दो और निर्दलीय उम्मीदवारों ने 6 सीटों पर जीत हासिल की है।

  1. ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में सरकार बनाने का दावा पेश किया

तृणमूल कांग्रेस नेता ममता बनर्जी तीसरी बार राज्‍य की मुख्‍यमंत्री का पदभार सभालेंगी। कोविड महामारी के कारण उन्‍हें कोलकाता के राजभवन में अनौपचारिक समारोह में शपथ दिलाई जाएगी। तृणमूल कांग्रेस के महासचिव पार्थ चटर्जी ने कहा कि ममता बनर्जी को निर्विरोध विधायक दल का नेता चुना गया। बिमान बनर्जी को विधानसभा अध्‍यक्ष के रूप में मनोनीत किया गया है। ममता बनर्जी ने राज्‍यपाल जगदीप धनखड़ से मुलाकात की और पार्टी की जीत के बाद सरकार बनाने का दावा किया। राज्य की विधानसभा में 294 सीटें हैं। इन सीटों में से ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस ने 212 सीटें जीतीं। बीजेपी ने 77 सीटें जीती हैं।

  1. ई पलनीसामी और उनकी मंत्रिपरिषद का इस्तीफा स्वीकार

तमिलनाडु के राज्‍यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने मुख्‍यमंत्री ई पलनीसामी और उनकी मंत्रिपरिषद का इस्‍तीफा स्‍वीकार कर लिया है। राजभवन से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि राज्‍यपाल ने ई पलनीसामी को वैकल्पिक व्‍यवस्‍था होने तक कार्यभार संभाले रखने का आग्रह किया है। विज्ञप्ति में यह भी कहा गया है कि 15वीं विधानसभा भंग कर दी गई है। डीएमके पार्टी मुख्‍यमंत्री के रूप में एम के स्‍टा‍लिन को औपचारिक रूप से नेता चुनेगी। तमिलनाडु विधानसभा में 234 सीटें हैं। DMK ने 126, AIADMK ने 64, कांग्रेस ने 18, BJP ने 4 और PMK ने 5 सीटों पर जीत हासिल की है। स्टालिन (पूर्व मुख्यमंत्री करुणानिधि के बेटे) के तहत डीएमके-कांग्रेस गठबंधन के सरकार बनाने की संभावना है।

  1. पिनराई विजयन ने राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान को त्यागपत्र सौंप दिया

केरल में मार्क्‍सवादी कम्‍युनिस्‍ट पार्टी के नेतृत्‍व में एल डी एफ ने सत्‍ता बरकरार रखी है। मार्क्‍सवादी कम्‍युनिस्‍ट पार्टी और एल डी एफ जल्‍द ही नई सरकार के गठन के बारे में विचार विमर्श शुरू करेंगे। मुख्‍यमंत्री पिनराई विजयन ने राज्‍यपाल आरिफ मोहम्‍मद खान को त्‍यागपत्र सौंप दिया। राज्‍यपाल ने त्‍यागपत्र स्‍वीकार कर लिया है और उन्‍हें नई सराकर के गठन तक पद पर बने रहे का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन के नेतृत्व वाला Left Democratic Front (LDF) अग्रणी है। LDF को 99 सीटों पर जीत मिली है। CPI (M) ने 62 सीटें जीती, कांग्रेस ने 21 सीटें जीती, CPI ने 17 और IUML ने 15 सीटें जीती हैं।

  1. आनंद महिंद्रा ने लॉन्च किया प्रोजेक्ट ऑक्सीजन ऑन व्हील्स

महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन, आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) ने कोरोनोवायरस की दूसरी लहर के बीच बढ़ती ऑक्सीजन की कमी के बाद, ऑक्सीजन का परिवहन संयंत्रों से अस्पतालों और घरों तक ऑक्सीजन के परिवहन को आसान बनाने के लिए ‘ऑक्सीजन ऑन व्हील्स (Oxygen on Wheels)’ नामक परियोजना शुरू की है। ‘ऑक्सीजन ऑन व्हील्स’ पहल भारत में विशेष रूप से महाराष्ट्र में ऑक्सीजन के उत्पादन और इसके परिवहन के बीच की खाई को पाट देगी। महिंद्रा ने ऑक्सीजन उत्पादकों को अस्पतालों और घरों से जोड़ने के लिए लगभग 70 बोलेरो पिकअप ट्रकों को ऑक्सीजन सिलेंडर वितरित करने के लिए तैयार किया है। यह परियोजना महिंद्रा लॉजिस्टिक्स के माध्यम से कार्यान्वित की जा रही है। इसके अलावा, एक संचालन नियंत्रण केंद्र स्थापित किया गया है और स्थानीय रिफिलिंग संयंत्र से भंडारण स्थान को फिर से भरना है। सीधे उपभोक्ता मॉडल का भी विचार किया जा रहा है।

  1. व्यक्तिगत उपयोग के लिए ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर के आयात की अनुमति दी गयी

विदेश व्यापार महानिदेशालय (Directorate General of Foreign Trade) ने हाल ही में अधिसूचित किया है कि व्यक्तिगत उपयोग के लिए ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर के आयात की अनुमति दी जाएगी। भारत सरकार ने आयात की अनुमति देने के लिए विदेश व्यापार नीति, 2015-2020 को संशोधित किया है। नए संशोधन में कहा गया है कि “उपहार ‘के रूप में सामान के आयात की अनुमति पोस्ट या कूरियर के माध्यम से दी गयी है, जहां दवाओं, ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर और जीवन रक्षक दवाओं के अलावा सीमा शुल्क निकासी की मांग की जाती है।

  1. कोविड प्रबंधन में सेवाएं उपलब्ध करा रहे लोगों को सौ दिन की ड्यूटी पूरी करने के बाद सरकारी भर्ती में प्राथमिकता

वरिष्‍ठ डॉक्‍टरों और शिक्षकों के पर्यवेक्षण में मेडिकल इंटर्न को कोविड प्रबंधन कार्य के लिए तैनात करने की अनुमति देने का भी फैसला किया गया। एम बी बी एस अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों की सेवाओं का उपयोग फोन पर परामर्श और संक्रमण के हल्‍के लक्षणों वाले मरीजों की निगरानी जैसी सेवाओं के लिए किए जाएगा। अंतिम वर्ष के स्‍नातकोत्‍तर विद्यार्थियों की सेवाओं का उपयोग रेजिडेंट के रूप में पहले की तरह जारी रखा जा सकता है। यह फैसला भी किया गया कि वरिष्‍ठ डॉक्‍टरों और नर्सों के पर्यवेक्षण में बी एस सी, जनरल नर्सिंग और मिड वाइफरी नर्सों की सेवाएं ली जा सकती हैं। कोविड प्रबंधन में सेवाएं उपलब्‍ध करा रहे व्‍यक्तियों को कम से कम सौ दिन की कोविड ड्यूटी पूरी करने के बाद आगामी नियमित सरकारी भर्ती में प्राथमिकता दी जाएगी। कोविड संबंधी कार्य में लगे मेडिकल विद्यार्थियों और प्रोफेशनल्‍स का उपयुक्‍त टीकाकरण किया जाएगा। इस तरह के स्‍वास्‍थ्‍य प्रोफेशनल्‍स को सरकारी बीमा योजना की सुविधा दी जाएगी। ऐसे सभी प्रोफेशनल को सौ दिन की कोविड ड्यूटी पूरी करने के बाद प्रधानमंत्री का विशिष्‍ट कोविड राष्‍ट्रीय सेवा सम्‍मान दिया जाएगा।

  1. आयुष-64 में एंटी वायरल, रोग प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाने वाले और एंटी पायरेटिक गुण

आयुष मंत्रालय ने देशभर में पॉलीहर्बल औषधि आयुष-64 की उपलब्‍धता बढ़ाने के लिए कदम उठाए हैं। मंत्रालय के बयान में कहा गया है कि आयुष-64 को क्‍लीनिकल परीक्षण में हल्‍के से सामान्‍य कोविड के उपचार में बहुत उपयोगी पाया गया है। देश के प्रतिष्ठित वैज्ञानिकों के नेतृत्‍व में किए गए परीक्षण में पता चला है कि आयुष-64 में एंटी वायरल, रोग प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाने वाले और एंटी पायरेटिक गुण हैं। इसे बिना लक्षणों वाले और हल्‍के तथा सामान्‍य कोरोना संक्रमण के उपचार में उपयोगी पाया गया है। यह औषधि अब कोविड-19 के लिए इस्‍तेमाल की जा रही है। केन्‍द्रीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद- सी सी आर ए एस और राष्‍ट्रीय अनुसंधान और विकास केन्‍द्र- एन डी आर सी ने आयुष-64 के व्‍यापक उत्‍पादन और वाणिज्यिक उपयोग के लिए समझौते पर हस्‍ताक्षर किए हैं।

  1. अमेरिका ने भारत को Priority Watch List में रखा

संयुक्त राज्य व्यापार प्रतिनिधि (United States Trade Representative) ने हाल ही में विशेष रिपोर्ट 301 (Special Report 301) जारी की। इस रिपोर्ट के अनुसार, भारत को 8 अन्य देशों के साथ “Priority Watch List” में रखा गया है। अन्य 23 देशों को भी “वॉच लिस्ट” में रखा गया। 301 रिपोर्ट संयुक्त राज्य व्यापार प्रतिनिधि (United States Trade Representative) द्वारा प्रतिवर्ष जारी की जाती है। यह व्यापार अधिनियम, 1974 की धारा 301 के तहत प्रकाशित की जाती है। यह 1989 से प्रकाशित की जा रही है। यह रिपोर्ट मूल रूप से उन देशों को सूचीबद्ध करती है जो अमेरिकी कंपनियों को पर्याप्त बौद्धिक सम्पदा अधिकार प्रदान नहीं करते हैं।

  1. राजस्थान में महामारी रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़ा

राजस्थान में कोरोना लॉकडाउन की नई गाइडलाइन लागू होते ही सख्ती बढ़ गई है। गहलोत सरकार (Gehlot Government) ने 3 मई से 17 मई 2021 तक ‘महामारी रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़ा’ (Epidemic Red Alert Public Discipline Fortnight) घोषित किया है। दोपहर 12 बजे से लेकर सुबह 5 बजे के बीच बेवजह बाहर घूमने वालों को RT-PCR रिपोर्ट निगेटिव नहीं आने तक संस्थागत क्वारेंटाइन किया जाएगा। नई गाइडलाइन के अनुसार, 3 मई सोमवार प्रातः 5 बजे से 17 मई सोमवार प्रातः 5 बजे तक ‘महामारी रेड अलर्ट-जन अनुशासन पखवाड़ा‘ रहेगा। इस दौरान सभी कार्यस्थल, व्यावसायिक प्रतिष्ठान एवं बाजार बंद रहेंगे। शुक्रवार 7 मई दोपहर 12 बजे से सोमवार 10 मई प्रातः 5 बजे तक एवं शुक्रवार 14 मई दोपहर 12 बजे से 17 मई प्रातः 5 बजे तक ‘महामारी रेड अलर्ट-जन अनुशासन वीकेंड कर्फ्यू रहेगा। शादियों में 50 की जगह केवल 31 लोगों को ही अनुमति दी जाएगी।

  1. HCL टेक को पीछे छोड़ विप्रो बनी तीसरी सबसे बड़ी भारतीय आईटी कंपनी

विप्रो ने HCL टेक्नोलॉजीज की 2.62 ट्रिलियन रुपये बाजार पूंजीकरण को दबाकर 2.65 ट्रिलियन रुपये के बाजार पूंजीकरण द्वारा तीसरी सबसे बड़ी भारतीय आईटी सेवा कंपनी के रूप में पुनः अपना स्थान प्राप्त किया. TCS 11.51 ट्रिलियन रुपये के बाजार पूंजीकरण के साथ इन्फोसिस के बाद सूची में सबसे ऊपर है। विप्रो ने 2040 तक शुद्ध-शून्य ग्रीनहाउस गैस (GHG) उत्सर्जन को प्राप्त करने की अपनी प्रतिबद्धता की घोषणा की है, जो पेरिस समझौते के उद्देश्य के अनुसार 1.5 डिग्री सेल्सियस तक तापमान वृद्धि है। ​देश की तीसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर सेवा कंपनी ने 2016-17 के अपने आधार वर्ष (अप्रैल-मार्च) की तुलना में GHG उत्सर्जन में 55 प्रतिशत की कमी का लक्ष्य 2030 तक पूर्ण उत्सर्जन स्तरों में निर्धारित किया है।

  1. भारत में सार्वजनिक भवन और अग्नि सुरक्षा नियम

पिछले कुछ दिनों में भारत के अस्पताल के भवनों में आग लगने की कई घटनाएँ देखी गई। इसमें COVID-19 के उपचार वाले अस्पताल भी शामिल हैं। मुंबई के विरार क्षेत्र, गुजरात के भरूच और ठाणे के पास मुंब्रा में हाल की अस्पताल के भवनों में आग लगने की घटनाओं ने सार्वजनिक भवन और अग्नि सुरक्षा नियमों (Public Building and Fire Safety Rules) को सुर्खियों में ला दिया है। भवनों के निर्माण के दौरान सार्वजनिक भवन और अग्नि सुरक्षा नियमों का पालन नहीं किया जाता है। National Crime Records Bureau के अनुसार 2019 में वाणिज्यिक आग कि घटनाओं से 330 से अधिक लोगों की मौत हो गई।अस्पतालों में हाल ही में आग लगने के पीछे मुख्य कारण के रूप में बिजली से जुड़ी हुई समस्या बताई जा रही है। राज्य सरकारें भवन सुरक्षा कानूनों को लागू करने में विफल रहीं हैं।

  1. अमेरिका ने भारत को P8I पैट्रोल एयरक्राफ्ट की बिक्री के लिए मंजूरी दी

अमेरिका ने हाल ही में भारत को P-8I पैट्रोल विमान की बिक्री को मंजूरी दी है। P-8I लंबी दूरी का गश्ती विमान है। इसका निर्माण बोइंग ने भारतीय नौसेना के लिए किया था। यह P-8A Poseidon का एक वेरिएंट है। पोसाईडॉन का उपयोग अमेरिकी नौसेना द्वारा किया जाता है। P-8I समुद्री गश्ती, पनडुब्बी रोधी युद्ध, टोही मिशन और निगरानी करने में सक्षम है।

  1. लेबनान में लितानी नदी में 40 टन मछली मृत पाई गयी

लितानी नदी (River Litani) लेबनान की सबसे लंबी नदी है। इसमें एक कृत्रिम झील है जिसे लितानी नदी बांध द्वारा बनाया गया है, इस झील का नाम कारून झील (Qaraoun lake) है। अत्यधिक प्रदूषण के कारण हाल ही में झील के किनारे लगभग 40 टन मछली मृत पायी गयी। यह प्रदूषण मुख्य रूप से सीवेज डंपिंग के कारण हुआ था। क्षेत्र में पहली बार इतनी बड़ी आपदा हो रही है। 2018 में जलाशय में मछली पकड़ने पर प्रतिबंध लगाया गया था। हालांकि, प्रदूषण को रोकने के लिए कार्रवाई अपर्याप्त थी।

  1. इथियोपिया ने TPLF और OLF Shene को आतंकवादियों सूची में शामिल किया

इथियोपिया सरकार ने हाल ही में टाइग्रे पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट (TPLF) और OLF-Shene को अपनी आतंकवादियों सूची में शामिल किया है। 2020 में, इथियोपिया ने टाइग्रे पीपल लिबरेशन फ्रंट (Tigray People Liberation Front) के खिलाफ एक बड़े सैन्य अभियान की शुरुआत की। टाइग्रे पीपल्स लिबरेशन फ्रंट एक राजनीतिक पार्टी है। इसकी स्थापना 1975 में इथियोपिया में हुई थी। इसके अलावा, TPLF एक सशस्त्र जातीय राष्ट्रवादी विद्रोही समूह है। टाइग्रे राज्य सरकार और इथियोपिया सरकार के बीच यह संघर्ष 30 साल से चल रहा है। हॉर्न ऑफ अफ्रीका (Horn of Africa) पर इन संघर्षों का भारी प्रभाव है। इथियोपिया में 1994 से संघीय प्रणाली है। इस प्रणाली के तहत, विभिन्न जातीय समूह देश में 10 अलग-अलग क्षेत्रों को नियंत्रित करते हैं। इसी कड़ी में, TLPF टाइग्रे क्षेत्र को नियंत्रित करता है।1991 में, सैन्य शासन को सत्ता से बाहर कर दिया गया था। इसके बाद, इथियोपिया पर शासन करने के लिए चार-पक्षीय गठबंधन शुरू हुआ। इस गठबंधन को “The Prosperity Party” कहा जाता है।इस गठबंधन पार्टी सरकार के तहत अबी अहमद अली (Abiy Ahmed Ali) को इथियोपिया का प्रधानमंत्री नियुक्त किया गया था। राजनीति के उदारीकरण ने अंततः टाइग्रे की सरकार में भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए कई प्रमुख नेताओं को हटा दिया। अबी ने इरिट्रिया के साथ लंबे समय से चले आ रहे क्षेत्रीय विवाद को भी समाप्त कर दिया। इसके लिए उन्हें 2019 में नोबेल शांति पुरस्कार प्रदान किया गया था।टाइग्रे के नेताओं के अनुसार, इन सुधारों को सत्ता को केंद्रीकृत करने के प्रयास के रूप में देखा गया था। उनके अनुसार, यह अंततः देश में संघीय व्यवस्था को नष्ट कर देगा।2020 में, कोविड-19 के कारण क्षेत्रीय चुनावों को स्थगित करने के केंद्र सरकार के आदेश से टाइग्रे के नेता असहमत थे। उन्होंने इसे स्थगित करने के बजाय नियत तिथि के अनुसार चुनाव कराया। इसके बाद, केंद्र सरकार ने टाइग्रे के प्रशासन को फंड रोक दिए। इसके जवाब में, टाइग्रे के प्रशासन ने इसे “युद्ध की घोषणा” के रूप में चिह्नित किया।

  1. लुईस हैमिल्टन ने पुर्तगाली ग्रैंड प्रिक्स जीता

लुईस हैमिल्टन (Lewis Hamilton) ने प्रतिद्वंद्वी मैक्स वेर्स्टाप्पेन (Max Verstappen) और मर्सिडीज टीम के साथी वाल्टेरी बोटास (Valtteri Bottas) को हराकर पुर्तगाली ग्रैंड प्रिक्स में जीत हासिल की। वेर्स्टाप्पेन दूसरे स्थान पर रहे, जबकि बोटास, जिन्होंने पोल से शुरूआत की, निराशाजनक तीसरे स्थान पर आए। सर्जियो पेरेज़ (Sergio Perez) ने चौथा स्थान प्राप्त किया, लैंडो नॉरिस (Lando Norris) के साथ मैकलेरन के लिए पांचवां स्थान हासिल किया। शुरूआती फॉर्मूला वन चैंपियन ओपनिंग लैप्स में तीसरे स्थान पर खिसक गया, लेकिन नौ रेस विजेता लैप्स में दो प्रभावशाली चाल चलकर सीजन की अपनी दूसरी जीत का दावा किया।

  1. विश्‍व प्रेस स्‍वतंत्रता दिवस

प्रतिवर्ष तीन मई को विश्‍व प्रेस स्‍वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। इस वर्ष के विश्‍व प्रेस स्‍वतंत्रता दिवस का विषय है- सूचना से जनकल्‍याण जो जनहित कार्यों में सूचना के महत्‍व को दर्शाता है। एक लोकतांत्रिक व्यवस्था में प्रेस को लोकतंत्र का ‘चौथा स्तंभ’ माना जाता है। सरकार की जवाबदेही सुनिश्चित करने और प्रशासन तक आम लोगों की आवाज़ को पहुँचाने में प्रेस/मीडिया की काफी महत्त्वपूर्ण भूमिका मानी जाती है। ऐसे में मीडिया की स्वतंत्रता इसके लिये कुशलतापूर्वक कार्य करने हेतु अत्यंत महत्त्वपूर्ण मानी जाती है। यूनेस्को की जनरल काॅन्फ्रेंस की सिफारिश के बाद दिसंबर 1993 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की घोषणा की थी। ‘विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस’ (3 मई) ‘विंडहोक’ (Windhoek) घोषणा की वर्षगांठ को चिह्नित करता है। वर्ष 1991 की ‘विंडहोक घोषणा’ एक मुक्त, स्वतंत्र और बहुलवादी प्रेस के विकास से संबंधित है।

  1. विश्व टूना दिवस: 2 मई

विश्व टूना दिवस (World Tuna Day) हर साल 2 मई को विश्व स्तर पर मनाया जाता है। ​यह दिन संयुक्त राष्ट्र (UN) द्वारा टूना मछली के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए स्थापित किया गया है। यह 2017 में पहली बार मनाया गया है। संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, विश्व में कई देश खाद्य सुरक्षा और पोषण दोनों के लिए टूना मछली पर निर्भर है। वर्तमान में 96 से अधिक देशों में टूना मछली पालन किया जाता है, और इनकी क्षमता लगातार बढ़ रही है। विश्व टूना दिवस को संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) द्वारा दिसंबर 2016 में 71/124 के प्रस्ताव को ग्रहण कर आधिकारिक रूप से घोषित किया गया था। इसका उद्देश्य संरक्षण प्रबंधन के महत्व को स्पष्ट करना और यह सुनिश्चित करना था कि टूना स्टॉक को दुर्घटनाग्रस्त होने से बचाने के लिए एक प्रणाली की आवश्यकता है। पहली बार 2 मई 2017 को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त विश्व टूना दिवस मनाया गया।

  1. विश्व हास्य दिवस 2021: 02 मई

विश्व हास्य दिवस (World Laughter Day) हर साल मई के पहले रविवार को मनाया जाता है। यह हँसी और इसके कई उपचार लाभों के बारे में जागरूकता बढ़ाने का दिन है। 2021 में, यह दिन 02 मई 2021 को मनाया गया। विश्व हास्य दिवस पहली बार 10 मई, 1998 को मुंबई में, दुनिया भर में हास्य योग आंदोलन के संस्थापक, डॉ. मदन कटारिया (Dr Madan Kataria) की पहल पर मनाया गया था।

  1. सत्यजीत रे

02 मई, 2021 को विश्व प्रसिद्ध फिल्म निर्देशक ‘सत्यजीत रे’ की जन्म शताब्दी मनाई गई। सत्यजीत रे का जन्म 2 मई, 1921 को कलकत्ता (भारत) के एक संपन्न परिवार में हुआ था। 20वीं सदी के सबसे महान निर्देशकों में से एक के रूप में चर्चित ‘सत्यजीत रे’ को भारत के साथ-साथ वैश्विक स्तर पर भी काफी ख्याति प्राप्त हुई। ‘सत्यजीत रे’ ने अपने कॅॅरियर की शुरुआत एक ग्राफिक डिज़ाइनर के तौर पर की थी। इसके बाद ‘सत्यजीत रे’ लंदन गए और इस दौरान उन्होंने ‘विटोरियो डी सिका’ के निर्देशन में बनी इटली की नव-यथार्थवादी (न्यू-रीयलिस्टिक) फिल्म ‘बाइसिकल थीव्ज़’ (1948) देखी, जिससे वे स्वतंत्र फिल्म निर्माण और खासतौर पर इटली के नव-यथार्थवादी आंदोलन से काफी प्रेरित हुए, जो कि उनकी फिल्मों में भी स्पष्ट नज़र आता है। ‘सत्यजीत रे’ ने अपने संपूर्ण फिल्मी कॅॅरियर में लगभग 36 फिल्मों का निर्देशन किया, जिनमें फीचर फिल्म, डॉक्यूमेंट्री और शॉर्ट फिल्म शामिल हैं। इसके अलावा वह एक बेहतरीन फिक्शन लेखक, प्रकाशक, चित्रकार, संगीतकार, ग्राफिक डिज़ाइनर और फिल्म समीक्षक भी थे। उन्होंने बच्चों और किशोरों को केंद्र में रखते हुए कई लघु कथाएँ और उपन्यास लिखे। वह भारत के पहले और एकमात्र ऑस्कर विजेता निर्देशक थे, साथ ही उन्हें ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा मानद उपाधि से सम्मानित किया गया था। ‘सत्यजीत रे’ की पहली फिल्म ‘पाथेर पांचाली’ (1955) ने वर्ष 1956 के कान्स फिल्म फेस्टिवल में कुल ग्यारह अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार जीते थे। भारत सरकार ने सिनेमा के क्षेत्र में उनके योगदान को देखते हुए उन्हें वर्ष 1992 में ‘भारत रत्न’ से भी सम्मानित किया था।

  1. दुनिया की पहली ज्ञात गर्भवती मम्मी की खोज

शोधकर्ताओं ने वारसा मम्मी प्रोजेक्ट में दुनिया की पहली ज्ञात गर्भवती मम्मी की खोज की है। यह मम्मी मिस्र में पाई गयी है, यह पहली सदी की है, इस मम्मी को एक पुरुष पुजारी के ताबूत के अंदर पाया गया है। 1826 में पोलैंड में वारसॉ विश्वविद्यालय को यह मम्मी दान में दी गयी थी।