एयर मार्शल डी. चौधरी एवीएसएम वीएम वीएसएम ने पश्चिमी वायु कमान के वरिष्‍ठ एयर स्‍टाफ ऑफिसर के रूप में पदभार ग्रहण किया

0
48

राष्ट्रीय न्यूज़

1.भारत ने भारत-अफ्रीका कृषि और ग्रामीण विकास संस्‍थान की स्‍थापना के लिए विकास बैंक के साथ एक समझौते पर हस्‍ताक्षर किए:-

भारत ने मलावी में भारत-अफ्रीका कृषि और ग्रामीण विकास संस्‍थान की स्‍थापना के लिए विकास बैंक के साथ एक समझौते पर हस्‍ताक्षर किए।एक विज्ञप्ति में विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत ने संस्‍थान की स्‍थापना के लिए राष्‍ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास सलाहकार सेवा बैंक-नैबकान्‍स के साथ एक सहमति पत्र पर हस्‍ताक्षर किए। भारत अफ्रीकी देशों में कृषि से जुड़े वित्‍तीय और उद्यमशीलता विकास के क्षेत्रों में क्षमता को प्रोत्‍साहित करने की कोशिशों के एक हिस्‍से के रूप में यह समझौता हुआ है। कृषि और ग्रामीण विकास बैंक अफ्रीका के व्‍यापक क्षेत्रों पर सकारात्‍मक प्रभाव डालने वाला संस्‍थान होगा और यहां से प्रशिक्षण प्राप्‍त व्‍यक्ति न सिर्फ मलावी के लिए उपयोगी होंगे बल्कि अन्‍य अफ्रीकी देशों को भी इनसे लाभ मिलेगा। यह संस्‍थान मानव संसाधन के विकास के लिए प्रशिक्षण प्रदान करने और उनकी क्षमता निर्माण में सहायक होगा। संस्‍थान में अध्‍यापन के लिए भारत से आर्थिक मदद दी जाएगी और अफ्रीकी देशों के छात्रों के प्रशिक्षण कार्यक्रम के खर्च, जरूरी सुविधाएं और यातायात पर भी भारत आर्थिक मदद देगा। ये मदद शुरू में तीन साल की अवधि के लिए होगी। यह संस्‍थान किसी अफ्रीकी देश  को विकसित करने का पहला भारतीय प्रयास है। इससे मलावी के साथ आपसी रिश्‍ते और अफ्रीकी यूनियन के साथ भारत के संबंध और मजबूत होंगे।

2.न्यूजेन मोबिलिटी समिट 2019:-

अंतर्राष्ट्रीय ऑटोमोटिव प्रौद्योगिकी केन्द्र (आईसीएटी) 27 – 29 नवंबर, 2019 के दौरान एनसीआर स्थित मानेसर में ‘न्यूजेन मोबिलिटी समिट 2019’ का आयोजन करेगा। इस शिखर सम्मेलन का उद्देश्य स्मार्ट एवं हरित भविष्य के लिए उन्नत ऑटोमोटिव तकनीकों के त्वरित अनुपालन, समावेशन एवं विकास हेतु नये विचारों, जानकारियों, वैश्विक अनुभवों, नवाचारों और भावी तकनीकी रुझानों को साझा करना होगा। इस आयोजन से ऑटोमोटिव उद्योग के सभी हितधारकों को एकजुट करने के लिए उन्हें एक प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराने में मदद मिलेगी जहां प्रौद्योगिकियों के क्षेत्र में वैश्विक स्तर पर हुई प्रगति को समझने के लिए चर्चाएं होंगी।इस शिखर सम्मेलन का आयोजन एसएईएनआईएस, एसएई इंडिया, एसएई इंटरनेशनल, नैट्रिप, डिम्टस, भारी उद्योग विभाग, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय, सियाम और एसईएमए के आपसी सहयोग से किया जाएगा। इस शिखर सम्मेलन में 2500 से भी अधिक प्रतिभागियों और 250 से भी ज्यादा प्रदर्शकों के भाग लेने की आशा है।विभिन्न देशों जैसे कि अमेरिका, यूरोप, जापान और अन्य एशियाई देशों के प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय वैज्ञानिक एवं अनुसंधान संगठनों तथा परीक्षण प्रयोगशालाओं में कार्यरत विशेषज्ञ भी इस शिखर सम्मेलन में शिरकत करेंगे और स्मार्ट एवं हरित प्रौद्योगिकियों के विकास से जुड़े अपने अनुभवों तथा ज्ञान को साझा करेंगे। इसके अलावा, ये विशेषज्ञ इस उद्योग के समक्ष मौजूद चुनौतियों पर भी चर्चाएं करेंगे। इस शिखर सम्मेलन के आयोजन का उद्देश्य ऑटोमोटिव क्षेत्र से जुड़े मूल उपकरण निर्माताओं (ओईएम), प्रोफेशनलों, अनुसंधानकर्ताओं, अकादमिक विशेषज्ञों, वाहन प्रणाली आपूर्तिकर्ताओं, परीक्षण उपकरणों के आपूर्तिकर्ताओं, गुणवत्ता प्रबंधकों, उत्पाद नियोजकों, उपकरण डेवलपरों और एसएई के सदस्यों के साथ-साथ विश्व भर के विद्यार्थियों को भी एकजुट करना है।इस सम्मेलन के दौरान विभिन्न ट्रैकों का प्रदर्शन किया जाएगा और इसके साथ ही उन्नत वाहनों को चलाने, स्पर्श करने एवं महसूस करने के अवसर भी प्रदान किए जाएंगे। इसके अलावा, इस सम्मेलन के दौरान भावी वाहन प्रौद्योगिकियों जैसे कि कनेक्टेड मोबिलिटी, ऑटोनोमस वाहनों, इलेक्ट्रिक मोबिलिटी, वैकल्पिक ईंधनों, इंटेलिजेंट ट्रांसपोर्टेशन सिस्टम, हाइड्रोजन फ्यूल सेल, हाइड्रोजन आईसी इंजन, व्हीकल डायनामिक्स, उन्नत सामग्री एवं लाइटवेटिंग और री-साइक्लिंग से जुड़े प्रयोगशाला परीक्षणों को भी दर्शाया जाएगा।आईसीएटी सेंटर-II में आवश्यक पुनरुद्धार किया जा रहा है, ताकि ऑटोमोटिव बिरादरी के लिए इस तरह के महत्वपूर्ण एवं विशाल सम्मेलनों के आयोजन हेतु विश्वस्तरीय अत्याधुनिक सुविधा विकसित की जा सके। इस दौरान विभिन्न प्रदर्शन एवं आयोजन सुनिश्चित करने के लिए अनेक प्रकार के ट्रैक जैसे कि कोस्ट डाउन ट्रैक, ओवल ट्रैक, एब्स ट्रैक, हिल ट्रैक और फ्लड ट्रैक भी उपलब्ध रहेंगे।आईसीएटी मानेसर भारत सरकार के भारी उद्योग विभाग के अधीनस्थ नैट्रिप इम्प्लीमेंटेशन सोसायटी (नैटिस) का एक प्रभाग है। यह सभी श्रेणियों के वाहनों के लिए परीक्षण, प्रमाणीकरण, डिजाइन और संगतता (होमोलोगेशन) से जुड़ी सेवाएं मुहैया कराता है। इसने वाहन आकलन और कलपुर्जों के विकास से जुड़ी अत्याधुनिक प्रौद्योगिकियों को अपनाने में ऑटोमोटिव उद्योग की मदद करने का मिशन शुरू किया है, ताकि विश्वसनीयता एवं टिकाऊपन के साथ-साथ नई पीढ़ी के मोबिलिटी सॉल्यूशंस से जुड़े वर्तमान एवं भावी नियम-कायदों का अनुपालन भी सुनिश्चित किया जा सके।

3.रॉयल आस्‍ट्रेलियाई और भारतीय नौसेनाओं के बीच तीसरा द्विपक्षीय समुद्री अभ्‍यास ऑसिन्‍डेक्‍स-19 शुरू होगा :-

एक लैंडिंग हैलीकॉप्‍टर डॉक – एचएमएएस केनबेरा (एल02), दो फ्रीगेट – एचएमएएस न्‍यू केसल (06) और एचएमएएस पारामट्टा (154), एक पारंपरिक पनडुब्‍बी जहाज – एचएमएएस कालिन्‍स और एक ड्यूरेन्‍स- क्‍लास मल्‍टी-प्रोडक्‍ट रिप्‍लेनिसमेंट ऑयलर – एचएमएएस सक्‍सेस (ओआर 304) के विशाखापत्‍तनम में आगमन के साथ आज 02 अप्रैल, 2019 को ऑस्‍ट्रेलिया और भारत के बीच तीसरा द्विपक्षीय समुद्री अभ्‍यास – ऑसिन्‍डेक्‍स शुरू हो रहा है। भारतीय नौसेना और रॉयल ऑस्‍ट्रेलियाई नौसेना के बीच परस्‍पर सहयोग को मजबूत करना इस अभ्‍यास का लक्ष्‍य है। इससे दोनों नौसेनाओं के कार्मिकों के बीच बातचीत और पेशेवर विचारों को साझा करने के लिए अवसर भी मिलेगा।आस्‍ट्रेलिया और भारत के प्रधानमंत्रियों द्वारा वर्ष 2014 में घोषित सुरक्षा सहयोग कार्यक्रम (एफएससी) के प्रावधानों के अनुसार दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय एवं रक्षा सहयोग की मजबूती की दिशा में यह एक कदम है। विशाखापत्‍तनम में सितम्‍बर 2015 में पहले  अभ्‍यास का आयोजन किया गया था। आस्‍ट्रेलिया ने जून, 2017 में फ्रीमेंटल के पास दूसरे अभ्‍यास का आयोजन किया, जिसमें भारतीय नौसेना के पूर्वी बेड़े के जहाजों ने रॉयल आस्‍ट्रेलियाई नौसेना के जहाजों और पनडुब्बियों के साथ अभ्‍यास किया।

4.एयर मार्शल डी. चौधरी एवीएसएम वीएम वीएसएम ने पश्चिमी वायु कमान के वरिष्‍ठ एयर स्‍टाफ ऑफिसर के रूप में पदभार ग्रहण किया:- 

एयर मार्शल डी. चौधरी एवीएसएम वीएम वीएसएम ने पश्चिमी वायु कमान के वरिष्‍ठ एयर स्‍टाफ ऑफिसर के रूप में पदभार ग्रहण किया है। एयर मार्शल डी. चौधरी एवीएसएम वीएम वीएसएम राष्‍ट्रीय रक्षा अकादमी के पूर्व छात्र हैं। वे 22 दिसम्‍बर, 1983 को कमीशन्‍ड अधिकारी बने। एयर ऑफिसर एक फाइटर कॉम्‍बेट लीडर और इन्‍स्‍ट्रूमेंट रेटिंग इन्‍स्‍ट्रक्‍टर और परीक्षक हैं। वे रॉयल कॉलेज ऑफ डिफेंस स्‍टडीज यूके के पूर्व – छात्र हैं, किंग्‍स कॉलेज लंदन से स्‍ट्रेटेजी एंड इंटरनेशनल सिक्‍युरिटी में स्‍नातकोत्‍तर हैं और डिफेंस एंड स्‍ट्रेटेजिक स्‍टडीज विषय में एम.फिल हैं।उन्‍होंने मिग-21, मिग- 27, मिग – 29 और एसयू-30 जैसे युद्धक विमानों में 5,000 से अधिक उड़ाने भरी है। उन्‍होंने 15 एसक्‍यूएन, टेक्टिक्‍स और एयर कॉम्‍बेट स्‍टेबिलिशमेंट (टीएसीडीई) एवं 02 फ्रंट लाइन बेसों का एओसी के रूप में नेतृत्‍व किया है। उन्‍होंने टीएसीडीई में, पहले एक इन्‍स्‍ट्रक्‍टर के रूप में और फिर कमांडेंट के रूप में दो कार्यकाल तक सेवा की है। उन्‍हें वायुसेना मुख्‍यालय में वायुसेना निरीक्षण  निदेशक, ऑपरेशन्‍स ज्‍वाइंट प्‍लानिंग निदेशक और ऑपरेशनल प्‍लानिंग तथा एसेसमेंट ग्रुप निदेशक के पद पर भी नियुक्‍त किया गया था। उन्‍होंने मुख्‍यालय पश्चिमी वायुसेना कमान के एयर -1, मुख्‍यालय मध्‍य वायुसेना कमान और मुख्‍यालय दक्षिण-पश्चिम वायुसेना कमान के एयर डिफेंस कमांडर, कोबरा ग्रुप के एओसी और वायुसेना मुख्‍यालय (आरकेपी) में वायुसेना (निरीक्षण) के सहायक प्रमुख के रूप में काम किया है। क्षेत्रीय, संचालनात्‍मक और रणनीतिक स्‍तरों पर युद्धक संचालन और आयोजना के बारे में उनके पास अत्‍यधिक अनुभव है। उन्‍होंने रेड फ्लैग, डेजर्ट ईगल और गरूड़ नामक तीन अंतर्राष्‍ट्रीय अभ्‍यासों का नेतृत्‍व किया है। उन्‍होंने संचालनात्‍मक विषयों, वायु शक्ति एवं नेतृत्‍व पर आधारित बहुत से शोध पत्र लिखे।एयर मार्शल को अगस्‍त, 1992 में सीएएस प्रशस्त, जनवरी, 2007 में विशिष्‍ट सेवा  मेडल, जनवरी 2011 में वायु सेना मेडल और जनवरी, 2018 में अ‍ति विशिष्‍ट सेवा मेडल से सम्‍मानित किया गया था।

अन्तराष्ट्रीय न्यूज़

5.पाकिस्तान को पेरिस स्थित FATF द्वारा ब्लैकलिस्ट किया जा सकता है:-

धन और गतिविधियों के प्रवाह को अवरुद्ध करने के लिए प्रतिबंधित आतंकवादी समूहों के खिलाफ जमीन पर अपर्याप्त शारीरिक कार्रवाई के कारण वित्तीय कार्रवाई कार्य बल (एफएटीएफ) द्वारा पाकिस्तान को ब्लैकलिस्ट किया जा सकता है। पिछले साल जून में, पेरिस स्थित एफएटीएफ ने पाकिस्तान को उन देशों की ‘ग्रे सूची’ में रखा था, जिनके घरेलू कानूनों को धन शोधन और आतंक के वित्तपोषण की चुनौतियों से निपटने के लिए कमजोर माना जाता है। एफएटीएफ के विशेषज्ञों के एक समूह ने हाल ही में पाकिस्तान की समीक्षा करने के लिए दौरा किया है कि क्या इस्लामाबाद ने वित्तीय अपराधों के खिलाफ वैश्विक मानकों पर पर्याप्त प्रगति की है ताकि वॉचडॉग की ग्रे सूची से इसके बहिष्कार का वारंट किया जा सके। एफएटीएफ ने उल्लेख किया कि पाकिस्तान ने अपने आतंकी वित्तपोषण जोखिम के आकलन को संशोधित किया था, लेकिन इस्लामिक स्टेट समूह, अल-कायदा, जमात-उद-दावा (JuD), फलाह-ए-इन्सानियत द्वारा उत्पन्न आतंकी वित्तपोषण जोखिमों की उचित समझ का प्रदर्शन नहीं किया था। FIF), लश्कर-ए-तैयबा (LeT), जैश-ए-मोहम्मद (JeM), हक्कानी नेटवर्क और तालिबान से जुड़े व्यक्ति। पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने स्वीकार किया है कि अगर देश उस सूची में बना रहता है तो सालाना 10 बिलियन डॉलर तक का नुकसान हो सकता है।
भारत उस सूची में पाकिस्तान को रखने के लिए अंतर्राष्ट्रीय समुदाय पर दबाव बनाना जारी रखता है। पाकिस्तान के शासक चिंतित हैं कि अगर दबाव बढ़ता रहा, तो जल्द ही उसे गंभीर आर्थिक कठिनाई का सामना करना पड़ेगा।
एफएटीएफ आतंकवाद के वित्तपोषण और धन शोधन पर अंकुश लगाने के लिए काम कर रहा है और उसने पाकिस्तान से देश में प्रतिबंधित आतंकवादी संगठनों के संचालन पर भरोसा करने को कहा है।
पुलवामा आतंकी हमले के बाद जैश-ए-मोहम्मद (JeM) जैसे आतंकी समूहों पर लगाम लगाने के लिए पाकिस्तान पर अंतरराष्ट्रीय दबाव है।

6.शिकागो ने पहली बार मेयर के रूप में एक अफ्रीकी-अमेरिकी महिला का चुनाव करके इतिहास रचा है।:-


लोरी लाइटफुट, एक 56 वर्षीय पूर्व संघीय अभियोजक और अभ्यास करने वाले वकील, जिन्होंने निर्वाचित कार्यालय से पहले कभी नहीं किया, ने शहर की महापौर की दौड़ को बड़े अंतर से जीत लिया। वह शिकागो की पहली खुले तौर पर समलैंगिक मेयर भी होंगी। लाइटफुट के प्राथमिक प्रस्तावों में किफायती आवास तक पहुंच बढ़ाना, अपराध को कम करने के लिए सार्वजनिक सुरक्षा का कार्यालय बनाना और पुलिसिंग में सुधार करना, और बेघर होने से निपटने के लिए अचल संपत्ति हस्तांतरण कर के माध्यम से धक्का देना शामिल है। वह अमेरिकी आव्रजन और सीमा शुल्क प्रवर्तन को समाप्त करने से भी पीछे हटती है। लाइटफुट मेयर रहम एमानुएल से पदभार संभालेगा, जो पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के अधीन स्टाफ प्रमुख थे।

7.संयुक्‍त अरब अमारात मंत्रिमंडल ने नई वीजा सुविधा की घोषणा की:-

संयुक्‍त अरब अमारात मंत्रिमंडल ने ऐलान किया है कि वीजा सुविधा के लिए नई प्रक्रिया प्रवासी श्रमिकों को उनके वेतन खातों को व्‍यवस्थित करने के लिए होंगे, न कि श्रमिकों के निकट परिजनों के यहां आने और उनको उनके यहां ठहर कर नौकरियां करने में मददगार होंगे।

एक ट्वीट में अमारात सरकार ने कहा कि उसके मंत्रिमंडल ने परिजनों को प्रायोजित करने के लिए नई सुविधा की मंजूरी दी है। उसने कहा कि संयुक्‍त अरब अमारात प्रतिभाओं के एक हब और अवसरों की भूमि प्रदान करने के प्रति प्रतिबद्ध है।अमीरात के मंत्रिमंडल के सामान्‍य सचिवालय द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि संशोधित प्रावधानों में अब परिजनों के प्रायोजन के लिए उनकी आय का उल्‍लेख आवश्‍यक होगा, क्‍योंकि इससे पहले की सूची में पेशेवर का जिक्र किए जाने का विरोध हुआ था, जिसके तहत श्रमिकों के परिजनों को प्रायोजित करने के लिए श्रमिकों को अनुमति दी गई थी। इस संशोधन को अंतर्राष्‍ट्रीय विकास और बेहतरीन नियमों के अनुसार अपनाया गया है।

अमारात में कहा कि उनके देश में पुरूष प्रवासी अपने निकट संबंधियों को प्रायोजित कर सकते हैं, इनमें पत्‍नी और बच्‍चे शामिल हैं। इसमें शर्त यही है कि इनका न्‍यूनतम वेतन चार हजार दिरहम या तीन हजार दिरहम तथा अन्‍य सुविधाएं भी शामिल हों।पुरूष प्रायोजक को अपने परिजन के प्रायोजन की अनुमति उनके खुद पेशेवर होने पर ही दी जायेगी। कोई माता इनकी प्रायोजक नहीं हो सकती।अमारात सरकार की वेबसाइट में यह भी कहा गया है कि घरेलू नौकरों और कुछ निश्चित श्रेणियों के लोग अपने परिजनों को यहां नहीं रख सकते, उनका वेतन चाहे जितना हो। अमारात में घरेलू कामकाज में मदद के लिए भारतीयों की काफी बड़ी संख्‍या है।

खेल न्यूज़

8.फुटबॉल: इंडोनेशिया पर भारतीय महिलाओं का रजिस्टर 2-0 से जीता:-

फुटबॉल में, भारतीय महिला राष्ट्रीय टीम ने आज म्यांमार के मांडले में ओलंपिक क्वालीफायर राउंड दो के अपने शुरुआती मैच में इंडोनेशिया पर 2-0 से जीत दर्ज की।  इस जीत के साथ, भारत 2020 टोक्यो गेम्स में जगह बनाने के करीब गया। अपने पांचवें लगातार SAFF खिताब जीत की सफलता के बाद जीतने की गति को बनाए रखते हुए, भारतीय महिलाओं ने शुरुआती मिनट से विरोधियों पर दबाव बनाया। ग्रुप चरण के दूसरे मैच में शनिवार को भारत का सामना नेपाल से होगा। एक जीत वहां भी आवश्यक होगी, क्योंकि ओलंपिक क्वालीफायर के तीसरे दौर में प्रगति करने के लिए केवल ग्रुप टॉपर ही मिलता है। भारतीयों के लिए सबसे बड़ी परीक्षा इस महीने की 9 तारीख को होगी जब वे म्यांमार के खिलाफ जाएंगे।