चंद्रयान 3 अगले महीने की 13 तारीख को लॉन्‍च किया जाएगा

0
64

1 केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भारत सरकार और आपदा-रोधी अवसंरचना गठबंधन के बीच 22 अगस्त, 2022 को किए गए समझौते को मंजूरी दी

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भारत सरकार और आपदा-रोधी अवसंरचना गठबंधन-सीडीआरआई के बीच 22 अगस्त, 2022 को किए गए समझौते को मंजूरी दे दी। इस समझौते को मंजूरी मिलने से सीडीआरआई को संयुक्त राष्ट्र (विशेषाधिकार और प्रतिरक्षा) अधिनियम, 1947 की धारा-3 के तहत अपेक्षित छूट, प्रतिरक्षा और विशेषाधिकार मिलने में सुविधा होगी, जिनके आधार पर वह कानूनी रूप से एक स्वतंत्र और इकाई के रूप में अपने कार्यों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर वह अधिक कुशलता के साथ निष्पादित कर सकेगा। सीडीआरआई विभिन्‍न देशों की सरकारों, संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों और कार्यक्रमों, विकास बैंकों तथा वित्तीय व्यवस्था, निजी क्षेत्र, शैक्षणिक संस्थानों की एक वैश्विक साझेदारी है, जिसका उद्देश्य जलवायु और आपदा जोखिमों से निपटने के लिए अवसंरचना क्षमता को मजबूत बनाना है, ताकि सतत विकास सुनिश्चित किया जा सके। प्रधानमंत्री ने 23 सितंबर, 2019 को न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र जलवायु कार्रवाई शिखर सम्मेलन के दौरान सीडीआरआई का शुभारंभ किया था। यह भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक प्रमुख वैश्विक पहल है और इसे जलवायु परिवर्तन तथा आपदा प्रबंधन से जुड़े मामलों में वैश्विक नेतृत्व प्राप्त करने के भारत के प्रयासों के रूप में देखा जाता है। अब तक इकतीस देश, छह अंतर्राष्ट्रीय संगठन और दो निजी क्षेत्र के संगठन सीडीआरआई के सदस्य बन चुके हैं। आर्थिक रूप से विकसित, विकासशील और जलवायु परिवर्तन तथा आपदाओं के प्रति सबसे अधिक संवेदनशील कई देश लगातार इसमें शामिल हो रहे हैं जिससे इसके सदस्‍यों की संख्‍या बढती जा रही है।

2 नई दिल्‍ली में पांच से सात जुलाई तक होगा अंतर्राष्‍ट्रीय हरित हाइड्रोजन सम्‍मेलन 2023 का आयोजन

नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय अगले महीने नई दिल्‍ली में पांच से सात जुलाई तक अंतर्राष्‍ट्रीय हरित हाइड्रोजन सम्‍मेलन 2023 का आयोजन करेगा। इस सम्‍मेलन का उद्देश्‍य समूचे हरित हाइड्रोजन वैल्‍यू चेन में हुई हाल की प्रगति और उभरती तकनीक पर चर्चा करने के लिए विश्‍वभर के वै‍ज्ञानिक और औद्योगिक समुदाय को एक मंच पर लाना है। इसका उद्देश्‍य हरित हाइड्रोजन के जरिये डिकार्बोनाइजेशन के वैश्विक लक्ष्‍यों को पूरा करने के लिए एक प्रणालीगत उपाय को प्रोत्‍साहन देना भी है। इसमें हरित वित्‍त पोषण, मानव संसाधन कौशल और स्‍टार्टअप पहलों पर भी चर्चा होगी।

3 केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने “भारत के लिए महत्वपूर्ण खनिजों” की सूची का अनावरण किया

केंद्रीय कोयला, खान और संसदीय कार्य मंत्री, श्री प्रह्लाद जोशी ने एक समारोह में खान मंत्रालय द्वारा गठित एक विशेषज्ञ दल द्वारा तैयार किए गए “भारत के लिए महत्वपूर्ण खनिजों” पर देश की पहली रिपोर्ट का अनावरण किया। मंत्रालय के कोशिशों की सराहना करते हुए, श्री जोशी ने कहा कि यह पहली बार है जब भारत ने रक्षा, कृषि, ऊर्जा, दवा, दूरसंचार जैसे क्षेत्रों की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए महत्वपूर्ण खनिजों की व्यापक सूची तैयार की है। मंत्री ने कहा कि यह कोशिश आत्मनिर्भर भारत के लिए एक रोडमैप है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की हाल की सफल अमेरीका यात्रा का उल्लेख करते हुए, श्री जोशी ने कहा कि भारत महत्वपूर्ण खनिज आपूर्ति श्रृंखलाओं को मजबूत करने के लिए प्रतिष्ठित खनिज सुरक्षा भागीदारी (एमएसपी) में सबसे नया भागीदार बन चुका है। जारी हुए रिपोर्ट में 30 महत्वपूर्ण खनिजों की पहचान के बारे में जानकारी प्रदान करते हुए, मंत्री ने कहा कि वर्तमान समय में भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (जीएसआई) देश के खनन क्षेत्र के विकास को ज्याजा से ज्यादा गति प्रदान करने के लिए और गहराई में स्थित खनिजों की खोज पर महत्वपूर्ण रूप से ध्यान केंद्रित कर रहा है।
खनिज सुरक्षा साझेदारी (Minerals Security Partnership – MSP) के रूप में जानी जाने वाली वैश्विक पहल, जिसे महत्वपूर्ण खनिज गठबंधन (critical minerals alliance) भी कहा जाता है, की घोषणा जून 2022 में की गई थी। इस साझेदारी का प्राथमिक लक्ष्य वैश्विक महत्वपूर्ण खनिज बाजार में चीन के प्रभुत्व को कम करते हुए भाग लेने वाले देशों की अर्थव्यवस्थाओं के लिए महत्वपूर्ण खनिजों की स्थिर आपूर्ति की उपलब्धता सुनिश्चित करना है। MSP कोबाल्ट, निकल, लिथियम और 17 “दुर्लभ पृथ्वी” खनिजों सहित महत्वपूर्ण खनिजों की आपूर्ति श्रृंखलाओं पर फोकस करता है। ये खनिज उन्नत प्रौद्योगिकियों जैसे मोबाइल फोन, इलेक्ट्रिक वाहन, सौर पैनल और रक्षा अनुप्रयोगों के निर्माण के लिए आवश्यक हैं।

4 केंद्रीय मत्‍स्‍य, पशुपालन और डेयरी मंत्री परषोत्तम रूपाला ने ‘रिपोर्ट फिश डिज़ीज’ नाम से एक मोबाइल ऐप लॉन्च किया

केंद्रीय मत्‍स्‍य, पशुपालन और डेयरी मंत्री परषोत्तम रूपाला ने नई दिल्‍ली में ‘रिपोर्ट फिश डिज़ीज‘ नाम से एक एंड्रॉइड-आधारित मोबाइल ऐप लॉन्च किया। यह ऐप मत्‍स्‍य पालन से जुडे किसानों के लिए बेहद फायदेमंद साबित होगा। इस ऐप के जरिए किसान मछलियों में होने वाली बीमारियों के बारे में सीधे जिला मत्स्य अधिकारियों और वैज्ञानिकों से जुड़ सकेंगे और उचित सलाह प्राप्‍त कर सकेंगे। श्री रूपाला ने ऐप के फायदों की जानकारी देते हुए बताया कि जलीय कृषि क्षेत्र के लिए यह ऐप काफी लाभकारी साबित होगा। उन्‍होंने कहा कि मत्‍स्‍य पालन अर्थव्‍यवस्‍था का एक महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा है। इस अवसर पर मत्‍स्‍य, पशुपालन और डेयरी राज्‍य मंत्री डॉ. एल. मुरुगन ने कहा कि मत्‍स्‍य पालन क्षेत्र के लिए यह ऐप्‍प एक बड़ी उपलब्धि है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व में सरकार मत्‍स्‍य पालन क्षेत्र के लिए कई हितकारी कदम उठाए है।

5 कोयला सचिव अमृत लाल मीणा ने वर्ल्ड माइनिंग कांग्रेस 2023, ऑस्ट्रेलिया में भारतीय पवेलियन का उद्घाटन किया

भारत सरकार के कोयला मंत्रालय में सचिव श्री अमृत लाल मीणा ने ब्रिस्बेन, ऑस्ट्रेलिया में चल रहे वर्ल्ड माइनिंग कांग्रेस (डब्ल्यूएमसी) 2023 में भारतीय पवेलियन का उद्घाटन किया, जिसमें एनएलसी इंडिया लिमिटेड (एनएलसीआईएल), कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) और एनएमडीसी शामिल हैं। डब्ल्यूएमसी में भारतीय पवेलियन खनन एवं ऊर्जा क्षेत्र में देश के तकनीकी कौशल एवं सतत विकास प्रथाओं के प्रति भारत की प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करता है।

6 भारतीय मूल की आरती होला-मैनी को वियना में बाहरी अंतरिक्ष कार्यों के लिए संयुक्तराष्ट्र कार्यालय निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया

भारतीय मूल की उपग्रह उद्योग विशेषज्ञ आरती होला-मैनी को वियना में बाहरी अंतरिक्ष कार्यों के लिए संयुक्तराष्ट्र कार्यालय निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है। संयुक्तराष्ट्र महासचिव अंतोनियो गुतेरस ने उन्हें इस पद पर नियुक्त किया। पंजाब मूल की ब्रिटिश नागरिक आरती इटली की सिमोनिटा डि पिप्पो की जगह लेंगी। आरती होला-मैनी का अंतरिक्ष क्षेत्र में 25 वर्ष से अधिक का पेशेवर अनुभव है। वे भारतीय उपग्रह उद्योग संघ के सलाहकार बोर्ड की सदस्य हैं। बाहरी अंतरिक्ष मामलों का संयुक्त राष्ट्र कार्यालय अंतरिक्ष के शांतिपूर्ण उपयोग, अन्वेषण तथा सतत आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को बढ़ावा देने का काम करता है।

7 तीन दिवसीय जी-20 बुनियादी ढांचा कार्य समूह की बैठक उत्तराखंड के नरेन्द्रनगर में सम्पन्न

उत्तराखंड के ऋषिकेश के पास नरेंद्रनगर में तीन दिवसीय जी-20 बुनियादी ढांचा कार्य समूह की बैठक सम्‍पन्‍न हुई। इस बैठक में प्रतिनिधियों ने बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के लिए गुणवत्तापूर्ण अवसंरचना निवेश संकेतकों को लागू करने के तरीकों पर चर्चा की। बैठक के अंतिम दिन दो सत्र आयोजित किये गये। पहले सत्र में प्रतिनिधियों ने वैश्विक अवसंरचना केंद्र के भविष्‍य को अंतिम रूप देने पर चर्चा की। वहीं दूसरे सत्र में भविष्‍य के शहरों के लिए शहरी शासन क्षमतावर्धन पर विचार-विमर्श किया गया। इस बैठक में जी-20 देशों के अलावा आठ आमंत्रित देशों और विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों सहित कुल 63 प्रतिनिधियों ने भागीदारी की।

8 दिव्य कला मेला 29 जून से 5 जुलाई तक जयपुर में आयोजित किया जाएगा

दिव्यांग जन सशक्तिकरण विभाग, देशभर के दिव्यांगों/उद्यमियों कारीगरों के उत्पादन और शिल्प कला को प्रदर्शित करने के लिए एक अनूठे कार्यक्रम ‘दिव्य कला मेला’ को 29 जून से 5 जुलाई तक जवाहर कला केंद्र, जवाहर लाल नेहरू मार्ग, जयपुर राजस्थान में आयोजित कर रहा है। यह मेला आगंतुकों के लिए एक रोमांचक अनुभव होगा क्योंकि इसमें जम्मू कश्मीर, उत्तर पूर्वी राज्य सहित देश के विभिन्न हिस्सों के रंग-बिरंगे उत्पाद जैसे कि हस्तकला, हस्तकरघा, कशीदाकारी के काम और डिब्बा बंद खाद्य पदार्थ एक साथ देखने को मिलेंगे। यह पीडब्ल्यूडी/दिव्यांगजनों के आर्थिक सशक्तिकरण की दिशा में डीई पीडब्ल्यूडी की एक अनूठी पहल है। दिव्य कला मेला दिव्यांगों के उत्पादों और कौशलों के विपणन एवं प्रदर्शन के लिए एक बड़ा मंच प्रस्तुत करता है। जयपुर, राजस्थान में आयोजित यह दिव्य कला मेला 2022 से शुरू होने वाली दिव्य कला मेला की श्रृंखला में छठवाँ है- i) दिल्ली, दिसंबर 2022, ii) मुंबई, फरवरी 2023, iii) भोपाल, मार्च 2023, iv) गुवाहाटी, मई 2023, v) इंदौर, जून 2023।

9  लद्दाख में दो दिनों का वार्षिक हेमिस मठ महोत्सव – हेमिस त्सेचू हर्षोल्लास से मनाया जा रहा है

लद्दाख में दो दिनों का वार्षिक हेमिस मठ महोत्सव – हेमिस त्सेचू हर्षोल्लास से मनाया जा रहा है। गुरु पद्मसंभव की जयंती के उपलक्ष्य में प्रार्थना सभा, मुखौटा नृत्य और थंका यानी भित्ति चित्र प्रदर्शनी का आयोजन किया जा रहा है। सदियों पुराना यह मठोत्सव विदेशी पर्यटकों के लिये प्रमुख आकर्षण है।

10 भारतीय वायुसेना की ओर से द्वितीय ‘युद्ध और एयरोस्पेस रणनीति कार्यक्रम’ के लिए कैपस्टोन सेमिनार का आयोजन

भारतीय वायु सेना ने द्वितीय ‘युद्ध और एयरोस्पेस रणनीति कार्यक्रम‘ (डब्ल्यूएएसपी) के समापन अवसर पर वायु सेना सभागार, नई दिल्ली में कैपस्टोन सेमिनार का आयोजन किया। यह सेमिनार कॉलेज ऑफ एयर वारफेयर और सेंटर फॉर एयर पावर स्टडीज के तत्वावधान में आयोजित किया गया। 2022 में शुरू किया गया डब्ल्यूएएसपी 15 सप्ताह की अवधि का एक रणनीतिक शिक्षा कार्यक्रम है और इसका विन्‍यास प्रतिभागियों को रणनीति की गहन समझ प्रदान करने के लिए किया गया है। मुख्‍य रूप से इसका उद्देश्य रणनीतिक स्तर पर नीति से प्रेरित विचारों के सृजन के लिए क्रॉस-डोमेन ज्ञान को मिश्रित करने में सक्षम महत्वपूर्ण विचारकों को प्रोत्‍साहन देना है। द्वितीय डब्ल्यूएएसपी में आठ अधिकारियों ने रणनीति, सैन्य इतिहास, नागरिक-सैन्य संबंध, उच्च रक्षा संगठन, एयरोस्पेस पावर, सूचना युद्ध, प्रौद्योगिकी और हाइब्रिड युद्ध के क्षेत्र में गहन प्रशिक्षण प्राप्‍त किया। इस सेमिनार में वायु सेना प्रमुख (सीएएस) एयर चीफ मार्शल वी आर चौधरी ने मुख्य भाषण दिया।

11 आईएनएस त्रिशूल 19 जून 2023 को सेशेल्स के राष्ट्रीय दिवस समारोह में शामिल होने के लिए सेशेल्स पहुंचा

आईएनएस त्रिशूल अपने परिचालन तैनाती के भाग के रूप में सेशेल्स के एक बंदरगाह पर पहुंचा, जो कि भारत की अपने समुद्री पड़ोसियों के साथ सौहार्दपूर्ण संबंधों को दर्शाता है। वहां की यात्रा के दौरान, कमांडिंग ऑफिसर ने सेशेल्स के विदेश मंत्री महामहिम श्री सिल्वेस्टर राडेगोंडे और वहां के सशस्त्र बलों के वरिष्ठ रक्षा अधिकारियों से एक शिष्टाचार मुलाकात की। उन्होंने सेशेल्स में भारत के उच्चायुक्त श्री कार्तिक पांडे से भी मुलाकात की। यह जहाज 29 जून 2023 को सेशेल्स राष्ट्रीय दिवस समारोह में हिस्सा लेने वाला है।

12 भारतीय रिजर्व बैंक ने अपनी वित्‍तीय स्थिरता रिपोर्ट जारी की

भारतीय रिजर्व बैंक ने बताया कि अधिसूचित वाणिज्यिक बैंकों का सकल गैर- निष्पादित परिसंपत्ति यानी फंसा कर्ज अनुपात मार्च 2023 में दस वर्ष के निचले स्‍तर तक गिरकर तीन दशमलव नौ प्रतिशत पर आ गया है। वहीं शुद्ध गैर- निष्पादित परिसंपत्ति अनुपात में एक प्रतिशत की गिरावट आई है। भारतीय रिजर्व बैंक ने अपनी वित्‍तीय स्थिरता रिपोर्ट जारी की। रिपोर्ट के अनुसार वाणिज्यिक बैंकों ने मार्च 2023 में पूंजी-जोखिम संपत्ति अनुपात को 17 दशमलव एक प्रतिशत के महत्‍वपूर्ण उच्च स्तर और सामान्य इक्विटी टियर-1 पूंजी अनुपात को 13 दशमलव नौ प्रतिशत के साथ अपने पूंजी आधार को मजबूत किया है। रिपोर्ट में कहा गया है, भारतीय अर्थव्यवस्था लचीलेपन की तस्वीर पेश करती है। इसे मजबूत व्यापक आर्थिक बुनियादी सिद्धांतों का सहारा है। इसमें कहा गया है कि विकास की निरंतरता, मुद्रास्फीति में कमी, चालू खाते के घाटे में कमी और विदेशी मुद्रा भंडार में वृद्धि, चालू राजकोषीय समावेशन और मजबूत वित्तीय प्रणाली अर्थव्यवस्था को निरंतर विकास की ओर ले जा रही है।

13 ग्लोबल स्टार्टअप इकोसिस्टम रिपोर्ट 2023: बेंगलुरु स्टार्टअप इकोसिस्टम 20 वें स्थान पर

स्टार्टअप जीनोम द्वारा हाल ही में जारी ग्लोबल स्टार्टअप इकोसिस्टम रिपोर्ट 2023 (जीएसईआर 2023) दुनिया भर में स्टार्टअप पारिस्थितिक तंत्र का व्यापक विश्लेषण प्रदान करती है। विभिन्न पारिस्थितिक तंत्रों में लाखों स्टार्टअप के डेटा के साथ, रिपोर्ट वैश्विक स्टार्टअप परिदृश्य में मूल्यवान अंतर्दृष्टि प्रदान करती है। बेंगलुरु, जिसे भारत की सिलिकॉन वैली के रूप में जाना जाता है, ने पिछले वर्ष की तुलना में दो स्थान ऊपर चढ़ते हुए सूची में 20 वां स्थान हासिल किया है। रिपोर्ट में इस बात पर प्रकाश डाला गया है कि शीर्ष तीन पारिस्थितिक तंत्र- सिलिकॉन वैलीन्यूयॉर्क शहर और लंदन ने 2020 से शीर्ष स्थान हासिल करते हुए अपनी स्थिति बनाए रखी है। हालांकि, बोस्टन और बीजिंग शीर्ष पांच से बाहर हो गए हैं, जिससे लॉस एंजिल्स के लिए # 4 और तेल अवीव # 5 पर पहुंचने की जगह बन गई है।

14 इंफोसिस की Danske Bank के साथ 454 मिलियन डॉलर की डील

इंफोसिस और डेंस्के बैंक ने बैंक के डिजिटल परिवर्तन लक्ष्यों में तेजी लाने के उद्देश्य से दीर्घकालिक सहयोग में प्रवेश किया है। तीन एक साल के विस्तार की क्षमता के साथ प्रारंभिक 5 साल की अवधि के लिए $ 454 मिलियन का मूल्य वाला सहयोग, ग्राहक अनुभवों, परिचालन दक्षता में सुधार और आधुनिक तकनीकी वातावरण के लिए उन्नत प्रौद्योगिकियों को लागू करने के अपने रणनीतिक उद्देश्यों को प्राप्त करने में डेंस्के बैंक का समर्थन करने का इरादा है। इस सहयोग से डैंस्के बैंक की डिजिटल परिवर्तन यात्रा में गति और स्केलेबिलिटी आने की उम्मीद है।

15 अलप्पुझा के डॉक्टर के. वेणुगोपाल को मिला IMA पुरस्कार

अलप्पुझा (केरल में शहर) के जनरल अस्पताल में श्वसन चिकित्सा के मुख्य सलाहकार डॉ. के. वेणुगोपाल को 1 जुलाई को राष्ट्रीय डॉक्टर दिवस मनाने के लिए इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) द्वारा स्थापित एक पुरस्कार के लिए चुना गया है। आईएमए द्वारा हाल ही में जारी एक बयान में कहा गया है कि डॉ. वेणुगोपाल को सामुदायिक सेवा की श्रेणी के तहत चुना गया था। वह 1 जुलाई को नई दिल्ली में आईएमए मुख्यालय में आयोजित एक समारोह में पुरस्कार प्राप्त करेंगे।

16 डीबीएस बैंक इंडिया ने रजत वर्मा को प्रबंध निदेशक नियुक्त किया

DBS बैंक इंडिया ने रजत वर्मा को भारत में संस्थागत बैंकिंग के प्रबंध निदेशक और प्रमुख के रूप में नियुक्त किया है। संस्थागत बैंकिंग के वर्तमान प्रमुख नीरज मित्तल हाल ही में ऑस्ट्रेलिया में DBS बैंक के कंट्री हेड के रूप में एक नई भूमिका में चले गए हैं।

17 मास्टरकार्ड के सीईओ माइकल मीबैक यूएसआईएसपीएफ निदेशक मंडल में शामिल

मास्टरकार्ड के सीईओ माइकल मीबैक अमेरिका-भारत रणनीतिक और साझेदारी मंच (USISPF) के निदेशक मंडल में शामिल हो गए हैं। मिबैक ने कहा कि USISPF व्यापार और सरकार के नेताओं के लिए एक साथ आने और अमेरिका-भारत साझेदारी में विकास के अगले चरण को आगे बढ़ाने के लिए एक महत्वपूर्ण मंच है, उनका मानना है कि दोनों देशों के बीच संबंध वैश्विक अर्थव्यवस्था के भविष्य को परिभाषित करेंगे और सबसे अधिक दबाव वाली वैश्विक चुनौतियों से एक साथ निपटने की उनकी क्षमता को आकार देंगे। इस रणनीतिक गठबंधन का उद्देश्य विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ावा देना और दोनों अर्थव्यवस्थाओं की वृद्धि और विकास को बढ़ावा देना है।

18 देश-विदेश से आए करीब आठ लाख श्रद्धालु पुरी में भगवान जगन्नाथ की ‘बाहुड़ा यात्रा’ में शामिल हुए

देश-विदेश से आए करीब आठ लाख श्रद्धालु पुरी में भगवान जगन्नाथ की ‘बाहुड़ा यात्रा‘ में शामिल हुए। ये यात्रा भगवान जगन्नाथ और उनके भाई-बहन की वापसी का उत्सव है। भगवान जगन्नाथ, उनके बड़े भाई भगवान बलभद्र और उनकी बहन देवी सुभद्रा श्री गुंडिचा मंदिर में अपने वार्षिक नौ दिवसीय प्रवास को पूरा कर लकड़ी के तीन राजसी रथों पर सवार होकर श्री जगन्नाथ मंदिर लौट आए। विशाल रथ शुक्रवार शाम तक श्री जगन्नाथ मंदिर के सामने खड़े रहेंगे। भगवान जगन्नाथ को ‘सुना बेशा‘ या सुनहरी पोशाक से सजाया जाएगा, जो पारंपरिक रूप से दुनिया भर से लाखों भक्तों को आकर्षित करता है।

19 इसरो ने पुष्टि की – चंद्रयान तीन अगले महीने की 13 तारीख को लॉन्‍च किया जाएगा

चंद्रयान-3 का प्रक्षेपण अगले महीने की 13 तारीख को लगभग दोपहर ढाई बजे किया जायेगा। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन- इसरो अपने महत्‍वकांक्षी मिशन चंद्रयान-3 प्रक्षेपित करेगा। इस प्रक्षेपण का उद्देश्‍य चांद पर अंतरिक्ष यान उतारने से संबंधित प्रौद्योगिकी का प्रदर्शन करना है। चंद्रयान-3 चंद्रयान-2 का फोलो ऑन मिशन है। इसका उद्देश्‍य चांद की सतह पर सुरक्षित लैंडिंग करने की आरंभ से अंत तक तकनीकी प्रक्रिया का प्रदर्शन करना है। चंद्रयान-3 में देशी लैंडर मॉडयूल, प्रोपल्‍शन मॉडयूल और एक रोवर है। यह दो ग्रहों के बीच के मिशनों के लिए आवश्‍यक नई तकनीक का प्रदर्शन करेगा। चद्रयान-3 का मुख्‍य उद्देश्‍य चांद की सतह पर सुरक्षित और निर्बाध लैंडिंग, रोवर का उतरना और वैज्ञानिक परीक्षणों का संचालन करना है।

20 सरकार ने किसानों के लिए तीन लाख 70 हजार करोड रूपये से अधिक की योजनाओं को मंजूरी दी

केंद्र सरकार ने किसानों के लिए तीन लाख 70 हजार करोड़ रुपये से अधिक की कई नई लाभकारी योजनाओं की घोषणा की है। केंद्रीय मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति की बैठक में इन योजनाओं को मंजूरी दी गई। इसके अंतर्गत किसानों को 242 रुपये प्रति 45 किलोग्राम बैग की कीमत पर यूरिया की निरंतर उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए यूरिया सब्सिडी योजना को जारी रखने का फैसला किया गया। वर्ष 2022-23 से 2024-25 के लिए यूरिया सब्सिडी के लिए तीन लाख 68 हजार करोड रुपये से अधिक का प्रावधान किया गया है। देश में 195 एलएमटी पारंपरिक यूरिया के बराबर 44 करोड़ तरल नैनो यूरिया की बोतलों का उत्पादन करने वाले आठ नैनो यूरिया संयंत्र 2025-26 तक चालू हो जाएंगे। सरकार की ओर से उठाए गए इस कदम से किसानों की आय बढ़ेगी, प्राकृतिक और जैविक खेती को प्रोत्‍साहन मिलेगा, मिट्टी की उर्वरता बढेगी और खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित होगी। सरकार ने 2023-24 के चीनी सीजन के लिए गन्ने का उचित और लाभकारी मूल्य 10 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाकर 315 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया है। इससे पांच करोड गन्‍ना किसान और उनके आश्रित लाभान्वित होंगे। गन्‍ना उत्‍पादन और चीनी मिलों की गतिविधियों से जुडे पांच लाख श्रमिकों को भी फायदा पहुंचेगा। नई दिल्ली में केंद्रीय मंत्रिमंडल के फैसले के बारे में जानकारी देते हुए केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने कहा कि भारत नैनो यूरिया का उत्पादन करने वाला दुनिया का पहला देश है। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि सरकार ने गोबरधन संयंत्रों में जैविक उर्वरकों के उत्‍पादन को बढ़ावा देने के लिए बाजार विकास सहायता-एमडीए के अंतर्गत एक हजार चार सौ 51 करोड़ रुपये से अधिक की मंजूरी दी है। गोबरधन योजना के तहत कचरे से कंचन बनाने के 500 नए संयंत्र लगाने में मदद मिलेगी। केंद्र ने मिट्टी में सल्फर की कमी को दूर करने के लिए और सल्फर लेपित यूरिया-यूरिया गोल्ड के उत्‍पादन का भी फैसला किया है। डॉ. मांडविया ने कहा कि केंद्र ने वैकल्पिक उर्वरकों और रासायनिक उर्वरकों के संतुलित उपयोग को बढ़ावा देने और इसके लिए राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को प्रोत्साहित करने के लिए पीएमप्रणाम योजना को भी मंजूरी दी है।

SHARE
Previous articleRAS 2023 VACANCY
Next articleVOCAB OF THE DAY