नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वारा पोर्ट ब्‍लेयर में पहली बार तिरंगा फहराने की वर्षगांठ पर स्‍मारक सिक्‍का जारी करने का निर्णय लिया गया

0
35

राष्टीय न्यूज़

1.नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वारा पोर्ट ब्‍लेयर में पहली बार तिरंगा फहराने की वर्षगांठ पर स्‍मारक सिक्‍का जारी करने का निर्णय लिया गया:-

सरकार ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वारा पोर्ट ब्‍लेयर में पहली बार तिरंगा फहराने की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर पचहत्‍तर रुपये का स्‍मारक सिक्‍का जारी करने का निर्णय लिया है। वित्‍त मंत्रालय ने इस बारे में अधिसूचना जारी कर दी है। इस सिक्‍के में सेल्‍यूलर जेल की पृष्‍ठभूमि में राष्‍ट्रीय ध्‍वज को सलामी देते हुए नेताजी सुभाष चंद्र बोस का चित्र होगा।

2.इसरो श्रीहरिकोटा में संचार उपग्रह जीसैट-29 का प्रक्षेपण करेगा:-

Image result for ISRO will launch GSAT-29 communication satellite in Sriharikota

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन – इसरो श्रीहरिकोटा में सतीश धवन अंतरिक्ष केन्‍द्र से संचार उपग्रह जीसैट-29 का प्रक्षेपण करेगा। प्रक्षेपण के बाद इसरो का अब तक का सबसे भारी प्रक्षेपण यान जी.एस.एल.वी. मार्क-III इस संचार उपग्रह को भू-स्‍थैतिक कक्षा में पहुंचा देगा।

जीसैट-29 उपग्रह में के.ए. और के.यू. बैण्‍ड में उच्‍च शक्ति के संचार ट्रांसपोंडर लगे हुए हैं। यह उपग्रह दस वर्ष से अधिक समय तक काम करेगा।

इसरो के वैज्ञानिक इस महत्‍वपूर्ण प्रक्षेपण के लिए पूरी तरह तैयार हैं। पांचवीं पीढ़ी का प्रक्षेपण यान जीएसएलवी मार्क थ्री महत्‍वपूर्ण माना जा रहा है क्‍योंकि इसके सफल प्रक्षेपण के साथ ही राष्‍ट्रीय अंतरिक्ष एजेंसी चार टन तक के भारी प्रक्षेपणों के लिए तैयार हो जाएगी। इसकी सफलता से अगले साल के महत्‍वपूर्ण मिशन चन्‍द्रयान-टू के लिए भी सहायता मिल सकेगी। जी-सैट 29 उपग्रह के सफल प्रक्षेपण के बाद डाटा हस्‍तांतरण की गति बढ़ेगी। देश के दूरदराज वाले इलाकों में उच्‍च गति के संचार को बढ़ावा मिल सकेगा।

3.युवा उद्यमियों के प्रोत्साहन के लिए स्टार्टअप योजना की शुरुआत:-

Image result for Startup plan for the promotion of young entrepreneurs

युवा उद्यमियों को प्रोत्साहित करने की सरकार की योजना को आगे बढ़ाते हुए केंद्रीय कृषि व सहकारिता मंत्री राधा मोहन सिंह ने युवा सहकार उद्यमी प्रोत्साहन योजना की शुरुआत की है।राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम (एनसीडीसी) की 1000 करोड़ रुपये की ‘युवा सहकार उद्यम सहयोग व नवाचार योजना’ को लांच करने के बाद कृषि मंत्री ने कहा कि स्टार्टअप्स योजना को रफ्तार देने और सहकारिता क्षेत्र को मजबूत बनाने के उद्देश्य से इसकी शुरुआत की गई है।

योजना को आकर्षक बनाने के लिए इसमें दिए जाने वाले कर्ज की सीमा को एक करोड़ से बढ़ाकर तीन करोड़ रुपये कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि योजना के लाभार्थियों के लिए कुछ प्रावधानों को सरल बना दिया गया है। इसके तहत ब्याज में दो फीसद की रियायती दी जाएगी।

कर्ज लौटाने की अवधि दो साल बाद शुरू की जाएगी। इससे उद्यमियों को अपना उद्योग जमाने में पूरी मदद मिलेगी। सिंह ने एक सवाल के जवाब में कहा कि देश में कुल आठ लाख सहकारी संस्थाएं हैज्यादा से ज्यादा लोगों को मदद पहुंचाने और युवाओं को इसमें लाने के लिए इस योजना का दायरा बढ़ा दिया गया है। तीन साल पुरानी रजिस्ट्रेशन वाली संस्थाओं की जगह एक साल पहले रजिस्टर्ड हुई सहकारी संस्थाओं को भी इसका लाभ दिया जाएगा।

सहकारिता में उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए एनसीडीसी की केंद्रीय मंत्री सिंह ने जमकर प्रशंसा भी की। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि इस योजना का सबसे ज्यादा लाभ पूर्वोत्तर क्षेत्र के लोग, दिव्यांग, महिलाएं और 115 आकांक्षी जिले के युवाओं को मिलेगा। इन्हें सामान्य लाभार्थियों के मुकाबले कई लाभ भी मिल सकते हैं।

सिंह ने बताया कि एनसीडीसी ने पूर्ववर्ती संप्रग सरकार के वर्ष 2010-14 के कार्यकाल में 19,850 करोड़ रुपये के कर्ज वितरित किए थे, जबकि वर्तमान राजग सरकार के वर्ष 2014-18 के कार्यकाल में कुल 63,702 करोड़ रुपये के कर्ज वितरित किए गए।यह पिछली सरकार के मुकाबले 220 फीसद अधिक है। इसी पर एक सवाल के जवाब में कृषि मंत्री ने कहा कि इस कर्ज की वसूली 99 फीसद रही है। इसलिए इसके कर्ज लौटाने की प्रवृत्ति पर सवाल नहीं उठाया जा सकता है।

4.मरीज के तामीरदार और कांफ्रेंस में भाग लेने वालों को भी ई-वीजा:-

Image result for Patients participating in the affluent and conference e-visa

विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करने में ई-वीसा का योजना काफी प्रभावी साबित हो रही है। यही कारण है कि ई-वीजा पर यात्रा करने वाले पर्यटकों की संख्या में पिछले चार सालों लगभग चार गुना तक बढ़ गई है। चार साल पहले शुरू की गई इस योजना के तहत 166 देशों को नागरिकों को इसकी सुविधा मिल रही है और इनमें मरीज के तामीरदारों और कांफ्रेंस में भाग लेने वालों को भी ई-वीजा की सहुलियत दी गई है।गृहमंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि लगातार ई-वीजा के नियमों को पर्यटकों की जरूरत के अनुरूप बदलने का काम जारी है और अधिक-से-अधिक देशों के लोगों को इस सुविधा से जोड़ा जा रहा है। उनके अनुसार 2015 में ई-वीजा पर केवल 4.47 लाख लोग भारत आए थे, 2017 में यह संख्या 17 लाख हो गई। इस साल 31 अक्टूबर तक 18.78 लाख पर्यटक ई-वीजा पर भारत आ चुके हैं। मरीजों के तामीरदारों और कांफ्रेंस में भाग लेने वालों को ई-वीजा की सुविधा उपलब्ध होने के बाद इनकी संख्या में तेज बढ़ोतरी की उम्मीद की जा रही है। अब तक केवल पर्यटन, बिजनेस और मरीज के लिए ई-वीजा की सुविधा थी।ई-वीजा की सुविधा के साथ-साथ भारत में पर्यटकों को किसी तरह की असुविधा से बचाने के लिए वीजा की अवधि का बढ़ाने और वीजा के प्रकार बदलने के नियमों में काफी ढील दी गई है। अब पर्यटक आसानी से वीजा की अवधि को आसानी से 60 दिन से 90 दिन तक बढ़ा सकते हैं। यही नहीं, पर्यटक अब साल में तीन बार ई-वीजा पर भारत में आ सकता है, जबकि केवल यह सुविधा केवल दो बार तक के लिए सीमित थी। भारत में क्रूज पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए पांच बंदरगाहों को ई-वीजा की सुविधा से लैस किया गया है। यही नहीं, भारत में बीमार होने वाले पर्यटकों का वीजा आसानी से मेडिकल वीजा में तब्दील भी कराया जा सकता है।

 

अन्तर्राष्ट्रीय न्यूज़

5.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमरीकी उप राष्ट्रपति माइक पैंस ने वैश्विक सामरिक साझीदारी पर बातचीत की:-

Image result for Prime Minister Narendra Modi and US Vice President Mike Pans discuss global strategic partnership

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अमरीकी उप राष्ट्रपति माइक पैंस से मुलाकात कर वैश्विक सामरिक साझेदारी के मसले पर बातचीत की है।

विदेश मंत्रालय के आधिकारिक प्रवक्ता रवीश कुमार ने बुधवार को एक टवीट् कर कहा“ दोनों नेताओं ने काफी गर्मजोशी से बातचीत की और इस दौरान क्षेत्रीय तथा वैश्विक मसलों पर सहयोग बढ़ाने पर भी चर्चा की गई।” पूर्वी एशिया शिखर बैठक में हिस्सा लेने गए श्री मोदी की उनसे यह अनौपचारिक मुलाकात थी।

विदेश मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि श्री पैंस ने यह बात स्वीकार की है कि भारत ने आर्थिक क्षेत्र में काफी प्रगति कर ली है।

श्री गोखले ने कहा“ दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा देने, क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मसलों पर भी बातचीत की और श्री पैंस ने भारत की आर्थिक प्रगति की सराहना करते हुए कहा कि क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संबंधों में भारत की एक अहम भूमिका है।”उन्होंने बताया कि इस बैठक से इतर श्री मोदी ने सिंगापुर के अपने समकक्ष ली सिएन लूंग से भी बातचीत की और दोनों के बीच वित्तीय तकनीक, आर्थिक और क्षेत्रीय समन्वय को बढ़ावा देने पर भी बातचीत हुई।

6.एक जनवरी से सीआइएसएफ के हवाले होंगे देश के ये तीन सबसे संवेदनशील एयरपोर्ट:-

Image result for The three most sensitive airports in the country will be handed over to CISF from January

देश के तीन सबसे संवेदनशील एयरपोर्ट लेह, श्रीनगर और जम्मू की सुरक्षा का जिम्मा अब सीआइएसएफ के पास होगा। माना जा रहा है कि केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल एक जनवरी से इन तीनों जगहों पर कामकाज संभाल लेगा। हाल ही में गृह मंत्रालय, नागर विमानन और सुरक्षा बलों की बैठक के बाद इस निर्णय को मंजूरी दी गई थी।बता दें कि श्रीनगर और जम्मू एयरपोर्ट की सुरक्षा का जिम्मा जहां अभी तक केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के पास है वहीं भारत-तिब्बत सीमा पुलिस लेह एयरपोर्ट की सुरक्षा कर रही है।

एक अधिकारी ने बताया कि सीआइएसएफ को इन एयरपोर्ट पर तैनात करने के नियम और शर्ते वहीं हैं जो दूसरी जगहों पर तैनाती के लिए हैं। सुरक्षा बलों की तैनाती से पहले सभी तीन हवाई अड्डों का एक सुरक्षा सर्वे भी कराया जाएगा। फिलहाल सीआइएसएफ देश के 100 में से 61 प्रमुख एयरपोर्ट की सुरक्षा का जिम्मा संभाल रही है। इनमें दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरु समेत देश के सभी हाई प्रोफाइल हवाईअड्डे शामिल हैं।

 

खेल न्यूज़

7.कश्यप, सात्विक-अश्विनी हांगकांग ओपन में जीते:-

Image result for Kashyap, Satvik-Ashwini win in Hong Kong Open

राष्ट्रमंडल खेलों के पूर्व चैंपियन पारूपल्ली कश्यप ने हांगकांग विश्व टूर सुपर 500 टूर्नामेंट में  यहां अपने अभियान की अच्छी शुरुआत करते हुए क्वालीफाइंग राउंड में चीनी ताइपे के सू जेन हाओ को हराया।पिछले कुछ वर्षों में चोटों से परेशान रहे कश्यप ने हाओ को एक घंटे और तीन मिनट चले मुकाबले में 21-7 12-21 21-18 से हराया।मुख्य ड्रा में जगह बनाने के लिए अब कश्यप का सामना सातवें वरीय इंडोनेशिया के एंथोनी सिनिसुका से होगा।

सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और अश्विनी पोनप्पा की मिश्रित युगल जोड़ी ने मुख्य ड्रा में पहले दौर के कड़े मुकाबले में वैंग ची लिन और ली चिया सिन की चीनी ताइपे की जोड़ी को 21-16 19-21 21-14 से हराया।सात्विक और अश्विनी अगले दौर में भी ली यांग और सू या चिंग की चीनी ताइपे की जोड़ी से भिड़ेंगे।

8.भारतीय महिला टीम की नजरें विश्व टी-20 सेमीफाइनल पर:-

Image result for Indian women team eyes World T20 semi-finals

सेमीफाइनल पर नजरें टिकाए बैठा भारत गुरुवार को यहां आयरलैंड के खिलाफ होने वाले आईसीसी महिला विश्व टी-20 के ग्रुप बी लीग मैच में जीत के प्रबल दावेदार के रूप में उतरेगा।भारतीय टीम अच्छी लय में चल रही है और पहले दो मैचों में आसान जीत दर्ज कर चुकी है जिसमें चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ दो दिन पहले हासिल जीत भी शामिल है।

कप्तान हरमनप्रीत कौर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ प्रोविडेंस में पहले मैच में शतक के साथ टूर्नामेंट का शानदार आगाज किया और अब इसी मैदान पर भारत को आयरलैंड से भिड़ना है।दूसरी तरफ आयरलैंड को आस्ट्रेलिया और पाकिस्तान दोनों के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा है।

भारत आयरलैंड के खिलाफ मुकाबले में प्रबल दावेदार के रूप में उतरेगा लेकिन हरमनप्रीत को पता है कि उनकी टीम इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में किसी प्रतिद्वंद्वी को हल्के में नहीं ले सकती।आयरलैंड की टीम को उसके जुझारूपन के लिए जाना जाता है और भारत उन्हें हल्के में नहीं लेना चाहेगा क्योंकि इससे उसकी सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई करने की संभावनाओं को झटका लगा सकता है।न्यूजीलैंड के खिलाफ जीत की स्टार जहां हरमनप्रीत रही वहीं पाकिस्तान के खिलाफ सात विकेट की जीत के दौरान टीम की सबसे अनुभवी खिलाड़ी मिताली राज ने अर्धशतक जड़ा।जेमिमा रोड्रिगेज ने अपने टी-20 करियर का आगाज शानदार अर्धशतक के साथ किया। स्मृति मंधाना और वेदा कृष्णमूर्ति आयरलैंड के खिलाफ बड़ी पारियां खेलना चाहेंगी।गेंदबाजी विभाग में आफ स्पिनर दयालन हेमलता और लेग स्पिनर पूनम यादव ने अब तक 10 विकेट चटकाकर शानदार प्रदर्शन किया है। टीम की तेज गेंदबाज भी आगामी मैचों में अपना प्रभाव छोड़ना चाहेंगी।

9.एआईबीए विश्व चैम्पियनशिप में सर्वश्रेष्ठ करने को तैयार भारतीय दल – मैरीकाम:-

Related image

पांच बार की विश्व चैम्पियन महिला मुक्केबाज एम सी मैरीकाम को यहां शुरू होने वाली एआईबीए महिला विश्व चैम्पियनशिप में खुद से और पूरे भारतीय दल से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की उम्मीद है।मैरीकाम (48 किग्रा) विश्व चैम्पियनशिप में पांच स्वर्ण और एक रजत से कुल छह पदक जीत चुकी हैं और अब वह छठे स्वर्ण पर निगाह लगाये हैं। अब भी वह पूरी तरह फिट हैं और 2020 तोक्यो ओलंपिक में खेलकर अपना करियर खत्म करना चाहती हैं।दसवीं एआईबीए महिला विश्व चैम्पियनशिप की ‘ब्रांड दूत’ मैरीकाम ने यहां आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘तैयारियां बेहतरीन चल रही हैं और कई देशों के खिलाफ हमने अभ्यास किया है। अलग अलग जोड़ीदार के खिलाफ ट्रेनिंग करने से काफी अनुभव मिलता है। कोच भी सभी के साथ काफी मेहनत कर रहे हैं। हम सभी मुक्केबाज भी अपनी सर्वश्रेष्ठ तैयारी कर रहे हैं।’’

 

बाजार न्यूज़

10.विश्व का सबसे सस्ता मॉर्डन ट्रेन सेट है टी-18:-

Image result for World's cheapest modern train set is T-18

भारतीय रेलवे ने स्वदेशी तकनीक से बने पहले ट्रेन सेट टी-18 के विश्व का सबसे सस्ता एवं आधुनिकतम ट्रेन सेट होने का दावा करते हुए इसे विश्व रेल तकनीक बाज़ार में पेश करने का इरादा व्यक्त किया है।

चेन्नई की इंटीग्रल कोच फैक्टरी में रिकॉर्ड 18 माह में तैयार हुए ट्रेन सेट टी-18 को परीक्षण के लिए आज उत्तर रेलवे एवं रेलवे के अनुसंधान विकास एवं मानक संगठन (आरडीएसओ) के हवाले कर दिया गया। राजधानी के सफदरजंग रेलवे स्टेशन पर इसे परीक्षण के लिए मुरादाबाद रवाना करने से पहले यूनीवार्ता से बातचीत में रेलवे के उच्चपदस्थ सूत्रों ने दावा किया कि 16 कोच वाला यह ट्रेन सेट विश्वस्तरीय मानकों के अनुरूप और पूर्णत: भारतीय तकनीक एवं डिजायन पर बना है और इसे बनाने में केवल सौ करोड़ रुपए की लागत आयी है।

सूत्रों ने कहा कि दुनिया में कहीं भी 16 कोच का ऐसा ट्रेन सेट सौ करोड़ रुपए में नहीं बन सकता। उन्होंने यह भी कहा कि जल्द ही टी-18 का दूसरा रैक तैयार किया जाएगा और उसके बाद नियमित उत्पादन शुरु होगा। उन्होंने कहा कि नियमित उत्पादन शुरू होने पर प्रति कोच की लागत घटकर पांच करोड़ रुपए से भी कम होने की उम्मीद है। इस प्रकार से सौ करोड़ रुपए में तैयार होने वाले इस ट्रेन सेट की लागत 80 करोड़ रुपए से कम होने की संभावना है।
सूत्रों ने कहा कि यह गाड़ी भारतीय रेलवे के इतिहास में एक मील का पत्थर है। यह पहला वैल्ड होने के नौ महीने बाद तैयार हो कर फैक्टरी के बाहर आयी है। अब इसे वैश्विक रेल तकनीक मेलों/ सम्मेलनों में पेश किया जाएगा। उन्होंने श्रीलंका को डीज़ल मल्टीपल यूनिट दिये जाने का उल्लेख करते हुए उम्मीद जतायी कि भारतीय रेलवे को दुनिया के तमाम देशों से उसकी आधुनिकतम तकनीक एवं कीमत के आधार पर ऑर्डर मिलेंगे।

11.बैंक ऑफ इंटरनेशनल सेंटलमेंट ने सिद्धार्थ तिवारी को बनाया एशिया-प्रशांत क्षेत्र का मुख्य प्रतिनिधि:-

Image result for Chief Representative of Asia-Pacific region created by Siddharth Tiwari of Bank of International Settlement

बैंक ऑफ इंटरनेशनल सेंटलमेंट (बीआईएस) ने सिद्धार्थ तिवारी को एशिया-प्रशांत क्षेत्र का मुख्य प्रतिनिधि नियुक्त किया है।

तिवारी की नियुक्ति एक नवंबर से प्रभावी है और उन्होंने 2008 से 2018 तक बीआईएस की मुख्य प्रतिनिधि (एशिया कार्यालय) रहीं एली रेमोलोना की जगह ली है।बीआईएस के महाप्रबंधक अगस्टिन कार्जटेन्स ने कहा, ‘‘मैं सिद्धार्थ का वरिष्ठ प्रबंधन टीम में स्वागत करता हूं, और उनके समृद्ध अनुभव को देखते हुए बैंक के कार्यों के सारे क्षेत्रों चाहे वह अंतरराष्ट्रीय सहयोग हो या आर्थिक शोध और बैंकिंग गतिविधियां हों, उसमें उनके योगदान से विस्तार की उम्मीद करता हूं।’’

तिवारी इससे पहले वैश्विक वित्तीय संचालन को लेकर जी-20 के प्रभावी व्यक्तियों के समूह के कार्यकारी सचिव रह चुके हैं। वह अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष में भी वरिष्ठ पदों पर काम कर चुके हैं।