प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने राजस्‍थान में पांच हजार करोड रूपये से अधिक की विकास परियोजनाओं का शुभारंभ किया

0
29

1 प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने राजस्‍थान में पांच हजार करोड रूपये से अधिक की विकास परियोजनाओं का शुभारंभ किया

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने राजस्‍थान के नाथद्वारा में पांच हजार पांच सौ करोड रुपये लागत की विकास परियोजनाओं का शिलान्‍यास और उद्घाटन किया। इनमें चार राष्‍ट्रीय राजमार्ग और तीन रेल परियोजनाएं शामिल हैं। श्री मोदी ने उदयपुर रेलवे स्‍टेशन के पुनर्विकास, छोटी रेल लाइन को बडी रेल लाइन में बदलने और नाथद्वारा से नाथद्वारा रेल लाइन के लिए शिलान्‍यास किया। प्रधानमंत्री ने तीन राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाएं राष्‍ट्र को समर्पित कीं। इनमें एनएच-48 पर उदयपुर से शामलाजी के बीच 114 किलोमीटर की छह लेन की, एनएच-25 पर बार-बिलारा जोधपुर के बीच 110 किलोमीटर के मार्ग के चौड़ीकरण और मजबूती तथा एनएच-58 ई पर पत्‍थर से बैठाया गया दो लेन का मार्ग शामिल हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान में आबू रोड पर ब्रह्म कुमारीज़ के शांतिवन परिसर में सुपर स्पेशलिटी चैरिटेबल ग्लोबल अस्पताल की आधारशिला भी रखी।

2 राजस्थान में लिथियम भंडार (Lithium Reserve) की खोज की गई

भारत ने हाल ही में राजस्थान के डेगाना (नागौर) में लिथियम भंडार की खोज की, जो देश के शुद्ध शून्य उत्सर्जन लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में एक और कदम है। केंद्र शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर में तीन महीने पहले 5.9 मिलियन टन लिथियम भंडार पाए जाने के बाद भारत में खोजा जाने वाला यह दूसरा लिथियम रिजर्व है। लिथियम, जिसे “व्हाइट गोल्ड” के रूप में जाना जाता है, विशेष रूप से इलेक्ट्रिक वाहन उद्योग के लिए अत्यधिक मांग वाली धातु बन गई है। भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (Geological Survey of India – GSI) ने हाल ही में राजस्थान में लिथियम भंडार की खोज की पुष्टि की है, हालांकि रिजर्व की क्षमता का खुलासा नहीं किया गया है। माना जा रहा है कि यह रिजर्व जम्मू और कश्मीर में खोजे गए 5.9 मिलियन टन लिथियम रिजर्व से भी बड़ा है। राजस्थान में लिथियम के भंडार डेगाना की उसी रेनवेट पहाड़ी और उसके आसपास के क्षेत्र में स्थित हैं, जहां कभी टंगस्टन खनिज की देश को आपूर्ति की जाती थी।

3 तेलंगाना सरकार ने रोबोटिक्स फ्रेमवर्क की शुरूआत की

तेलंगाना सरकार ने रोबोटिक पारिस्थितिकी को बढ़ावा देने के लिए रोबोटिक्स फ्रेमवर्क की शुरूआत की है। यह देश में अपने किस्म की पहली पहल है। इसके अन्तर्गत, तेलंगाना रोबोटिक्स नवाचार केंद्र की स्थापना की जाएगी, जो ढांचागत पहुंच के प्रमुख स्तंभों, व्यापार में मददगार, अनुसंधान और नवाचार के पोषण, कुशल कार्यबल के विकास और जिम्मेदार कर्मियों की तैनाती पर विशेष ध्यान देते हुए ढ़ांचे की शुरुआत करेगा। राज्य सरकार ने आई. आई. टी. हैदराबादराज्य कृषि विश्व विद्यालय के एजीहब और कुछ अन्य संस्थाओं के साथ मिलकर मेमोरेन्डा ऑफ अंडरस्टैंडिंग पर हस्ताक्षर किए है ताकि राज्य में रोबोटिक्स पारिस्थितिकी तंत्र से नवाचार, अनुसंधान और संबंधित क्षेत्र में वृद्धि को बढ़ावा दिया जा सके। सरकार एक रोबो पार्क स्थापित करेगी, जो जांच सुविधाएं, मिलकर काम करने, मिलकर उत्पादन और विनिर्माण के विकल्प प्रदान करेगा। यह इन्क्यूबेशन सहित स्टार्टअप, ढ़ांचा, अधिकार पत्र सहयोग, बाजार अंतर्दृष्‍टि, निवेशक संपर्क और संरक्षण सहयोग प्रदान करने के लिए रोबोटिक्स उत्प्रेरक भी स्थापित करेगा।

4 केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रशिक्षण की ऑनलाइन प्रणाली सक्षम शुरु की

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रशिक्षण की ऑनलाइन प्रणाली सक्षम (स्टिम्युलेटिंग एडवांस्ड नॉलेज फॉर सस्टेनेबल हेल्थ मैनेजमेंट) शुरु की है। यह डिजिटल लर्निंग प्लेटफॉर्म राष्ट्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण संस्थान (एनआईएचएफडब्ल्यू) नई दिल्ली द्वारा विकसित किया गया है। इसका उद्देश्य स्वास्थ्य प्रबंधन के लिए उन्नत जानकारी को बढ़ावा देना है। सक्षम प्लेटफॉर्म के तहत देश के सभी स्वास्थ्य पेशेवरों को ऑनलाइन प्रशिक्षण और चिकित्सा शिक्षा उपलब्ध कराई जाती है। स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने इसका शुभारंभ किया। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार यह डिजिटल प्लेटफॉर्म स्वास्थ्य पेशेवरों का समावेशी क्षमता निर्माण सुनिश्चित करेगा। इस समय सक्षम से दो हजार जनस्वास्थ्य पाठ्यक्रम और एक सौ नैदानिक पाठ्यक्रम उपलब्ध कराए जा रहे हैं। इन पाठ्यक्रमों के लिए lmis.nihfw.ac.in पर पंजीकरण कराया जा सकता है और अपेक्षित प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद प्रमाणपत्र लिया जा सकता है।

5 भारत और कनाडा समन्वित निवेश बढाने, सूचना आदान-प्रदान और आपसी सहयोग बढाने पर सहमत हुए

भारत और कनाडा समन्वित निवेश बढाने, सूचना आदान-प्रदान और निकट भविष्‍य में ज्ञापन पत्र के माध्‍यम से आपसी सहयोग बढाने के तरीकों का पता लगाने पर सहमत हुए हैं। वाणिज्‍य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कनाडा की मंत्री सुश्री मेरी एनजी के साथ ओटावा में 8 मई को व्‍यापार और निवेश पर छठे भारत-कनाडा मंत्री स्‍तरीय विचार-विमर्श की सह-अध्‍यक्षता की। दोनो मंत्रियों ने दोनो देशों के बीच व्‍यापार और आर्थिक संबंध के लिए ठोस आधारशिला रखे जाने पर जोर दिया और द्विपक्षीय संबंधों तथा आर्थिक भागीदारी के महत्‍व को स्‍वीकार किया। दोनों मंत्रियों ने भारत-कनाडा मुक्‍त व्‍यापार संबंध पर चर्चा में हुई प्रगति की समीक्षा की। सुश्री मेरी एनजी ने भारत के जी-20 समूह की अध्‍यक्षता के प्रति कनाडा का समर्थन व्‍यक्‍त किया। उन्‍होंने जी-20 व्‍यापार और निवेश कार्यसमूह में भारत द्वारा प्राथमिकताओं को जारी रखने का समर्थन किया। उन्‍होंने संकेत दिया कि वे भारत में अगस्‍त महीने में होने वाली निर्धारित आगामी जी-20 व्‍यापार और निवेश मंत्री स्‍तरीय बैठक में भाग लेने की इच्‍छुक हैं।

6 मायगॉव, संस्कृति मंत्रालय के सहयोग से कल ‘युवा प्रतिभा – पेंटिंग टैलेंट हंट’ शुरू करेगा

विभिन्न पेंटिंग शैलियों में नई कला प्रतिभाओं की पहचान करके भारत की समृद्ध विरासत और संस्कृति को जमीनी स्तर पर बढ़ावा देने के उद्देश्य से मायगॉव गुरुवार, 11 मई, 2023 को ‘युवा प्रतिभा – पेंटिंग टैलेंट हंट‘ लॉन्च कर रहा है। राष्ट्रीय स्तर पर यह कार्यक्रम आजादी का अमृत महोत्सव के तत्वावधान में संस्कृति मंत्रालय के सहयोग से किया जा रहा है। पेंटिंग टैलेंट हंट देश भर के नागरिकों को राष्ट्रीय पहचान हासिल करने के लिए अपनी कलात्मक प्रतिभा और कौशल प्रदर्शित करने का एक बेहतरीन अवसर है। यदि कोई सोचता है कि वह नए भारत का उभरता हुआ कलाकार, चित्रकार, लघुचित्रकार या चित्र निर्माता बनना चाहता है, तो वह ‘युवा प्रतिभा – पेंटिंग टैलेंट हंट’ में भाग ले सकता है और विभिन्न विषयों पर अपनी रचनात्मकता एवं शिल्प कौशल का प्रदर्शन कर सकता है।

7 आईएमसीआर की आईड्रोन पहल के तहत ब्लड बैग डिलीवरी का ट्रायल रन सफलतापूर्वक पूरा किया गया

भारत में ड्रोन इकोसिस्टम का विस्तार करने का राष्ट्रीय मिशन जारी रखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने अपनी आईड्रोन पहल के तहत ड्रोन द्वारा ब्लड बैग की डिलीवरी करने का ट्रायल रन सफलतापूर्वक पूरा किया। आईएमसीआर, नई दिल्ली के लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज (एलएचएमसी)ग्रेटर नोएडा के राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान (जीआईएमएस) और नोएडा स्थित जेपी इंस्टिट्यूट ऑफ इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (जेआईआईटी) के सहयोग भरे प्रयासों से देश में पहली बार एक बेहद महत्वपूर्ण वैलिडेशन स्टडी के हिस्से के तौर पर इस ट्रायल रन को अंजाम दिया गया है। इस उद्घाटन ट्रायल उड़ान ने विजुअल लाइन ऑफ साइट (वीएलओएस) में जीआईएमएस और एलएचएमसी से रक्त के पूरे नमूनों की 10 यूनिट्स का परिवहन किया। एलएचएमसी और जीआईएमएस को ब्लड बैग्स की आपूर्ति और नमूनों के परीक्षण के केंद्र के रूप में शामिल किया गया है, वहीं जेआईआईटी ड्रोन उड़ानों के कार्यान्वयन केंद्र के रूप में काम कर रहा है। आईसीएमआर-मुख्यालय के वैज्ञानिकों द्वारा इसके प्रोटोकॉल निर्माण, स्टडी डिजाइनिंग, कार्यान्वयन और परियोजना के समन्वय का काम किया जा रहा है।

8 इंडोनेशिया में शुरू हुआ 42 वां ASEAN शिखर सम्मेलन

दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के संगठन (ASEAN) का 42 वां शिखर सम्मेलन इंडोनेशिया में “ASEAN Affairs: Epicenter of Growth” विषय के साथ शुरू हुआ है। शिखर सम्मेलन का उद्देश्य वैश्विक विकास के पीछे केंद्र और प्रेरक शक्ति बनने के लिए ब्लॉक की आशाओं और प्रयासों को प्रदर्शित करना है। राष्ट्रपति जोको विडोडो, जो ब्लॉक की अध्यक्षता रखते हैं, ने आसियान क्षेत्र की विशाल क्षमता पर जोर दिया, जिसकी कुल आबादी लगभग 650 मिलियन निवासियों की है और आर्थिक विकास के मामले में लगातार विश्व औसत से बेहतर है। उन्होंने दक्षिण पूर्व एशिया को वैश्विक विकास का केंद्र बनाने के लिए सदस्य देशों से उत्पादन शक्ति के मामले में एकजुट होने का आह्वान किया।

9 कस्तूरी रे की पुस्तक “Droupadi Murmu: From Tribal Hinterlands to Raisina Hills” का विमोचन

लेखक कस्तूरी रे की ‘Droupadi Murmu: From Tribal Hinterlands to Raisina Hills’ नामक पुस्तक एक आदिवासी लड़की की प्रेरणादायक कहानी बताती है, जो लचीलापन, दृढ़ संकल्प और दृढ़ता का प्रतीक बनने के लिए बाधाओं पर काबू पाती है। मुर्मू ने ओडिशा के मयूरभंज जिले में अपने छोटे से गांव को छोड़ने से लेकर भारत का पहला नागरिक बनने तक एक अपरंपरागत रास्ता अपनाकर कई मील के पत्थर हासिल किए।

10 केंद्रीय मंत्री श्री सर्बानंद सोनोवाल ने हरित पत्तन दिशानिर्देश 2023 ‘हरित सागर’ का शुभारंभ किया

पत्तन, पोत परिवहन एवं जलमार्ग मंत्रालय द्वारा जीरो कार्बन उत्सर्जन लक्ष्य को प्राप्त करने के व्यापक दृष्टिकोण को पूरा करने के उद्देश्य से हरित पत्तन दिशानिर्देश 2023 ‘हरित सागर‘ का शुभारंभ किया गया है। केंद्रीय पत्तन, पोत परिवहन एवं जलमार्ग और आयुष मंत्री श्री सर्बानंद सोनोवाल ने नई दिल्ली में केंद्रीय पत्तन, पोत परिवहन एवं जलमार्ग राज्य मंत्री श्री श्रीपद वाई. नाइक तथा मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की गरिमामयी उपस्थिति में दिशानिर्देश जारी किए। हरित सागर दिशानिर्देश- 2023 ‘प्रकृति के साथ कार्य करने’ की अवधारणा के साथ स्वयं को आगे बढ़ाते हुए और पोर्ट इकोसिस्टम के जैविक घटकों पर प्रभाव को कम करने की भावना के साथ बंदरगाह के विकास, संचालन व रखरखाव में इकोसिस्टम की कार्य क्षमता बढ़ाने की परिकल्पना करता है। यह पहल पत्तन संचालन में स्वच्छ/हरित ऊर्जा के उपयोग, भंडारण के लिए बंदरगाह क्षमता विकसित करने, हरित ईंधनों जैसे ग्रीन हाइड्रोजन, ग्रीन अमोनिया, ग्रीन मेथनॉल/इथेनॉल इत्यादि के कुशल प्रबंधन और सुरक्षित इस्तेमाल करने पर जोर देता है।

11 भारत ने स्वच्छता की एक और बड़ी उपलब्धि हासिल की – स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण चरण-II के अंतर्गत 50 प्रतिशत गांव अब खुले में शौच मुक्त

स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण (एसबीएम-जी) के अंतर्गत देश ने एक और बड़ी उपलब्धि हासिल की है। अब देश के कुल गांवों में से आधे गांवों (50 प्रतिशत) ने मिशन के दूसरे चरण के अंतर्गत खुले में शौच मुक्त (स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण ) का दर्जा हासिल कर लिया है। खुले में शौच मुक्त गांव के अंतर्गत वे ग्रामीण क्षेत्र आते हैं जहां ठोस या तरल अपशिष्ट प्रबंधन प्रणालियों को लागू करने के साथ-साथ अपनी खुले में शौच मुक्त स्थिति को बनाए रखा है। अब तक 2.96 लाख से अधिक गांवों ने स्‍वयं को खुले में शौच मुक्त घोषित किया है। यह 2024-25 तक एसबीएम-जी चरण-II लक्ष्यों को प्राप्त करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। खुले में शौच मुक्त गांवों के प्रतिशत की दृष्टि से श्रेष्‍ठ प्रदर्शन करने वाले राज्य हैं – तेलंगाना (शत-प्रतिशत), कर्नाटक (99.5 प्रतिशत), तमिलनाडु (97.8 प्रतिशत) और उत्तर प्रदेश (95.2 प्रतिशत) और गोवा (95.3 प्रतिशत) और छोटे राज्यों में सिक्किम (69.2 प्रतिशत) हैं। केंद्रशासित प्रदेशों में – अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, दादरा नगर हवेली और दमन दीव और लक्षद्वीप में शत- प्रतिशत खुले में शौच मुक्त आदर्श गांव हैं। इन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने खुले में शौच मुक्त का दर्जा हासिल करने में उल्लेखनीय सफलता हासिल की है और यह उपलब्धि हासिल करने में उनके प्रयासों की प्रमुख भूमिका रही है।

12 उर्वरकों के डायवर्ज़न एवं कालाबाज़ारी के ख‍िलाफ केंद्र की बड़ी कार्रवाई : उर्वरक उड़नदस्ते

केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्रालय के तहत उर्वरक विभाग (Department of Fertilizers- DoF) ने भ्रष्टाचार से निपटने और भारत में किसानों हेतु गुणवत्तापूर्ण उर्वरकों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिये कई उपायों को लागू किया है। इन पहलों ने देश भर में उर्वरकों के डायवर्ज़न एवं कालाबाज़ारी को सफलतापूर्वक रोका है। उर्वरक उड़नदस्ते (Fertilizer Flying Squads- FFS) नामक विशेष टीमों का गठन सख्त निगरानी रखने तथा डायवर्ज़न, कालाबाज़ारी, जमाखोरी एवं घटिया उर्वरकों की आपूर्ति जैसी गतिविधियों पर नकेल कसने हेतु किया गया है। साथ ही कड़ी कार्रवाई हेतु राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों में औचक निरीक्षण किये गए तथा संदिग्ध यूरिया बैग जब्त किये गए। इसके अतिरिक्त गैर-कृषि उद्देश्यों के लिये यूरिया के दुरुपयोग को रोकने हेतु नमूना परीक्षण तेज़ कर दिया गया है। पिछले एक वर्ष में यूरिया के डायवर्ज़न एवं कालाबाज़ारी के मामले में पहली बार 11 लोगों को कालाबाज़ारी रोकथाम और आपूर्ति रख-रखाव अधिनियम 1980 के तहत जेल भेजा गया है। उर्वरक नियंत्रण आदेश, 1985 के तहत कई अन्य कानूनी एवं प्रशासनिक कार्यवाहियाँ भी की जा चुकी है। इन उपायों से न केवल किसानों को लाभ हुआ है बल्कि भारतीय उर्वरकों हेतु देश भर में मांग भी पैदा हुई है। सीमा पार यूरिया की तस्करी रुकने से पड़ोसी देशों ने यूरिया आयात हेतु भारत से संपर्क किया है। उर्वरक गुणवत्ता के बारे में किसानों के बीच जागरूकता बढ़ाने हेतु DoF ने एकीकृत उर्वरक प्रबंधन प्रणाली (Integrated Fertilizer Management System- IFMS) जैसी नवीन प्रथाओं को भी प्रोत्साहित किया है।

13 IBM और NASA ने मिलकर बनाया भू-स्थानिक मॉडल

हाल ही में नासा और IBM ने उपग्रह डेटा को बाढ़, आग और अन्य परिदृश्य में होने वाले बदलावों को उच्च-रिज़ॉल्यूशन मानचित्रों में बदलने के लिये एक नया भू-स्थानिक मॉडल पेश किया है ताकि हमारे ग्रह के इतिहास और भविष्य के संबंध में अंतर्दृष्टि प्रदान करने में मदद मिल सके। इस सहयोग का उद्देश्य इस वर्ष की दूसरी छमाही में भू-स्थानिक मंच का पूर्वावलोकन प्रदान करना है, जिसमें संभावित अनुप्रयोगों में जलवायु संबंधी जोखिमों का आकलन करना, कार्बन-ऑफसेट पहल के लिये वनों की निगरानी करना और जलवायु परिवर्तन से निपटने हेतु भविष्योन्मुखी जानकारी प्रदान करने वाला मॉडल विकसित करना है। यह इस बात पर ज़ोर देता है कि इस तरह के आधार मॉडल कृत्रिम बुद्धिमता को व्यवहार्य बनाने की मापनीयता, सामर्थ्य और दक्षता में वृद्धि करता है। भू-स्थानिक प्रौद्योगिकी में भौगोलिक मानचित्रण एवं विश्लेषण हेतु भौगोलिक सूचना प्रणाली (Geographic Information System- GIS), ग्लोबल पोज़िशनिंग सिस्टम (Global Positioning System- GPS) और रिमोट सेंसिंग जैसे उपकरणों का उपयोग किया जाता है।

14 36वाँ मुख्य सूचना सुरक्षा अधिकारी विस्तृत विश्लेषण प्रशिक्षण कार्यक्रम

नेशनल ई-गवर्नेंस डिवीज़न (NeGD) ने अपनी क्षमताओं में बढ़ोतरी के उद्देश्य से एक विशेष परियोजना के तहत 36वें मुख्य सूचना सुरक्षा अधिकारी (CISO) विस्तृत विश्लेषण प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया। नई दिल्ली के भारतीय लोक प्रशासन संस्थान में आयोजित इस अभ्यास सत्र में केंद्रीय मंत्रालयों और राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों के 24 प्रतिभागियों ने भाग लिया। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम साइबर सुरक्षित भारत पहल के तहत आयोजित कार्यशालाओं की शृंखला का एक हिस्सा है। साइबर सुरक्षित भारत पहल की संकल्पना साइबर अपराध के बारे में जागरूकता फैलाने और सभी सरकारी विभागों में मुख्य सूचना सुरक्षा अधिकारियों (CISOs) एवं अग्रिम पंक्ति के सूचना प्रौद्योगिकी अधिकारियों की क्षमता निर्माण के मिशन के साथ की गई थी। इसे इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (Ministry of Electronics and Information Technology- MeitY) द्वारा वर्ष 2018 में राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस डिवीज़न (NeGD) तथा भारत में विभिन्न उद्योग भागीदारों के सहयोग से लॉन्च किया गया था।

15 उत्तर प्रदेश को ललितपुर जिले में मिलेगा अपना पहला फार्मा पार्क

उत्तर प्रदेश सरकार ने बुंदेलखंड के ललितपुर जिले में फार्मा पार्क बनाने की परियोजना को हरी झंडी दे दी है। इसके लिए प्रदेश सरकार ललितपुर जिले में पशुपालन विभाग का 1500 हेक्टेयर जमीन हस्तांतरित करेगी। ललितपुर फार्मा पार्क में निवेशकों को जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराने व विकास के कार्यों पर प्रदेश सरकार 1560 करोड़ रुपये खर्च करेगी। ललितपुर में पशुपालन विभाग की खाली जमीन को औद्योगिक विकास विभाग को हस्तांतरित करने के लिए प्रस्ताव तैयार कर लिया गया। प्रस्ताव को जल्द ही मंत्रिपरिषद की बैठक में मंजूरी के बाद पेश किया जाएगा। फार्मा पार्क के विकास के लिए सलाहकार संस्था का चयन करके जल्द ही इसकी विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार कर ली जाएगी।

16 वेकफिट के ब्रांड एंबेसडर बने अयुष्मान खुराना

गद्दों के निर्माता, वेकफिट इनोवेशन प्राइवेट लिमिटेड ने अभिनेता आयुष्मान खुराना को वेकफिट डॉट के ब्रांड एंबेसडर के रूप में साइन किया है। ब्रांड का चेहरा होने और आगामी अभियानों का नेतृत्व करने के अलावा, अभिनेता नींद के स्वास्थ्य और आधुनिक संदर्भ में इसके महत्व के बारे में जागरूकता फैलाने में ब्रांड की मदद करेंगे।

17 तेलंगाना के मुख्यमंत्री ने हैदराबाद में रखी हरे कृष्णा हेरिटेज टॉवर की आधारशिला

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने हैदराबाद में हरे कृष्णा हेरिटेज टॉवर की नींव रखी। नरसिंगी में 200 करोड़ रुपये की लागत से छह एकड़ भूमि पर 400 फीट ऊंचे ढांचे का निर्माण किया जाएगा। टॉवर में श्री श्री राधा कृष्ण और श्री वेंकटेश्वर स्वामी के मंदिर होंगे।

18 Clinical Trial Opportunities in India Report जारी की गई

PwC इंडिया और यूएस-इंडिया चैंबर ऑफ कॉमर्स (USAIC) द्वारा हाल ही में “Clinical Trial Opportunities in India” नामक एक संयुक्त रिपोर्ट जारी की गई। प्रतिकूल नीतियों के कारण 2014 तक भारत में नैदानिक ​​परीक्षण गतिविधि ऐतिहासिक रूप से कम थी। वर्तमान में, भारत 2013 से नियामक सुधारों और 2019 के नए ड्रग्स और क्लिनिकल परीक्षण नियमों के कारण क्लिनिकल परीक्षण करने के लिए एक अनुकूल गंतव्य के रूप में उभर रहा है। इन उपायों ने अनुमोदन प्रक्रियाओं को सुव्यवस्थित किया है, जिससे समय सीमा 30-40% कम हो गई है। हालांकि भारत ने 2010 के बाद से वार्षिक आधार पर वैश्विक नैदानिक ​​परीक्षणों में लगभग 4% का योगदान दिया है, नियामक सामंजस्य के कारण 2014 से इसकी नैदानिक ​​परीक्षण गतिविधि लगातार बढ़ रही है, जिसने देश के भीतर नैदानिक ​​​​परीक्षणों में अप्रतिबंधित प्रवेश की अनुमति दी है। भारत की विविध आबादी और विकासशील स्वास्थ्य देखभाल बुनियादी ढांचा नैदानिक ​​परीक्षणों के सफल होने के लिए अनुकूल वातावरण तैयार करते हैं। कोविड-19 महामारी ने भी भारत में नैदानिक ​​परीक्षणों के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने में योगदान दिया है। इस रिपोर्ट के अनुसार शीर्ष 20 फार्मा कंपनियों में एस्ट्राजेनेका, नोवार्टिस, एली लिली, फाइजर और जे एंड जे भारत में क्लिनिकल परीक्षण के शीर्ष प्रायोजक हैं।

19 कर्मचारी स्वास्थ्य योजना के सेवानिवृत्‍त लाभार्थी अब एम्स से तीन महीने की बजाय छह महीने तक की दवाएं प्राप्त कर सकेंगे

कर्मचारी स्वास्थ्य योजना के सेवानिवृत्‍त लाभार्थी अब एम्स से तीन महीने की बजाय छह महीने तक की दवाएं प्राप्त कर सकेंगे। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान-एम्स ने अपने एक आदेश में इस बात की जानकारी दी है। एम्स ने बताया कि सेवानिवृत्‍त लाभार्थियों की ओर से समयावधि बढ़ाने की मांग की गई थी, जिसके बाद यह निर्णय लिया गया है। इन सेवानिवृत्त कर्मचारियों को फिलहाल चिकित्सा अधीक्षक की मंजूरी से तीन महीने तक ही दवा मिलती थी।

20 ग्वाटेमाला के फ़्यूगो ज्वालामुखी (Fuego Volcano) में विस्फोट हुआ

हाल ही में, ग्वाटेमाला के अधिकारियों ने एक हजार से अधिक लोगों को निकाला और एक सड़क को बंद कर दिया क्योंकि फ़्यूगो ज्वालामुखी में विस्फोट हो गया है, जिससे आस-पास के कस्बों और खेतों पर राख के घने बादल छा गए। फुएगो ज्वालामुखी गैस, राख और चट्टान के टुकड़ों का एक उच्च तापमान मिश्रण उगल रहा है। फुएगो द्वारा उगलने वाली राख का स्तंभ 6,000 मीटर की ऊंचाई से आगे निकल गया। यह राख ज्वालामुखी के पश्चिमी और दक्षिण-पश्चिमी हिस्सों की ओर गिर रही थी, जो राजधानी ग्वाटेमाला सिटी से दूर स्थित है। “उच्च स्तर” विस्फोट जारी रहने के बाद से मजबूत उत्सर्जन की संभावना अभी भी बनी हुई है, और वर्षा के पूर्वानुमान से मडस्लाइड का निर्माण हो सकता है।