प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी वाराणसी में करेंगे 15वें प्रवासी भारतीय दिवस का उद्घाटन

0
18

राष्टीय न्यूज़

1.प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी वाराणसी में करेंगे 15वें प्रवासी भारतीय दिवस का उद्घाटन:-

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी 21 जनवरी को उत्‍तरप्रदेश के वाराणसी में 15वें प्रवासी भारतीय दिवस का उद्घाटन करेंगे। तीन दिन के इस आयोजन में दुनिया भर से भारतीय मूल की जानी मानी हस्तियां शामिल होंगी। विदेश राज्‍यमंत्री वी के सिंह ने नई दिल्‍ली में बताया कि समारोह के पहले दिन युवाओं से संबंधित कार्यक्रम होंगे। उन्‍होंने बताया कि प्रवासी भारतीय दिवस कार्यक्रम में सात सत्र होंगे।

भारत सरकार विदशों में बसे भारतीयों को फिर से अपनी जड़ों से जोड़ने के प्रयासों के तहत प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन करती है।

2.इसरो भारत के पहले मानव मिशन गगन यान को दिसम्‍बर 2021 तक अंतरिक्ष में भेजेगा:-

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने कहा है कि वह दिसम्‍बर 2021 तक बाह्य अंतरिक्ष में मानव मिशन- गगनयान शुरू करने के लक्ष्‍य को हासिल करने के लिए पूरी तरह तैयार है। संगठन के अध्‍यक्ष डॉक्‍टर के सिवन ने बताया कि इस अभियान के लिए मानव अंतरिक्ष केन्‍द्र स्‍थापित किया गया है। उन्‍होंने बताया कि मानव मिशन- गगनयान  परियोजना के तहत भारत तीन अंतरिक्ष यात्रियों को सात दिन के लिए बाह्य अंतरिक्ष में भेजने की योजना बना रहा है। इसरो अध्‍यक्ष ने बताया कि इस वर्ष 332 प्रक्षेपणों की योजना है। चंद्रयान-2 को अप्रैल के मध्‍य में चांद पर भेजा जाएगा। जीसैट-20 उपग्रह का प्रक्षेपण सितंबर-अक्‍तूबर में किया जाएगा। इसरो अध्‍यक्ष सिवन ने बताया कि  इसरो 2023 तक शुक्र ग्रह पर एक मिशन भेजने की योजना बना रहा है। उन्‍होंने बताया कि इसरो टी वी चैनल की शुरुआत अगले 3-4 महीनों तक कर दी जाएगी। इसरो, नए उद्यमों की शुरुआत के लिए स्‍टार्टअप्‍स में मदद के वास्‍ते देश भर में छह इनक्‍यूबेशन केन्‍द्रों की स्‍थापना भी करेगा। संगठन के अध्‍यक्ष ने यह भी बताया कि चंद्रयान-2 अभियान के तहत पहली बार लैंडअप और रोवर, चांद के दक्षिणी ध्रुव का अध्‍ययन करेंगे। इसरो, नैनो उपग्रह के विकास के लिए प्रतिभावान विद्यार्थियों को आमंत्रित करेगा।

3.उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू मुंबई में पार्टनरशिप समिट 2019 के 25 वें संस्करण का उद्घाटन करेंगे:-

भारत के उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू मुंबई में पार्टनरशिप समिट 2019 के 25 वें संस्करण का उद्घाटन करेंगे। दो दिवसीय शिखर सम्मेलन भारत में आर्थिक नीति और विकास के रुझानों पर भारतीय और वैश्विक नेताओं के बीच चर्चा के लिए एक मंच प्रदान करेगा। यह आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, बिग डेटा, एग्री एंड फूड प्रोसेसिंग, डिफेंस एंड एयरोनॉटिक्स, रिन्यूएबल एनर्जी और टूरिज्म जैसे क्षेत्रों में नई भागीदारी और निवेश के अवसर प्रदान करेगा। सत्रों का विषय सुधार और विकास से बुनियादी ढांचे के विकास के लिए आवश्यकता के रूप में भिन्न होगा। केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु शुरुआती दिन मुख्य भाषण देंगे। वह दक्षिण कोरिया, यूएई, यूक्रेन, इंग्लैंड और कई अन्य लोगों के व्यापार प्रतिनिधिमंडल के साथ द्विपक्षीय वार्ता भी करेंगे। न्यू इंडिया के प्रदर्शन के उद्देश्य से, शिखर सम्मेलन का आयोजन औद्योगिक नीति और संवर्धन विभाग, वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय, महाराष्ट्र सरकार और भारतीय उद्योग परिसंघ द्वारा किया जा रहा है।

 

अन्तर्राष्ट्रीय न्यूज़

4.ताइवान में राष्‍ट्रपति त्‍सई इंग वेन ने सू त्‍सेंग चांग को प्रधानमत्री नियुक्‍त किया:-

 

ताइवान में राष्‍ट्रपति त्‍सई इंग वेन ने, सू त्‍सेंग चांग को प्रधानमत्री नियुक्‍त किया है। स्‍थानीय चुनाव में सत्‍ताधारी, डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी को हुए भारी नुकसान के बाद कैबिनेट फेरबदल के तहत ऐसा किया गया है। श्री सू पूर्व प्रधानमंत्री हैं।

5.चीन ने Chang’e-4 मिशन को पूरी तरह सफल बनाने की घोषणा की:-

चीन ने आज घोषणा की कि चंद्रमा के अंधेरे पक्ष पर उतरने के लिए पहली बार की गई चांग’ए -4 मिशन, एक पूर्ण सफलता थी। चीन के राष्ट्रीय अंतरिक्ष प्रशासन (CNSA) ने कहा, जांच में शामिल वैज्ञानिक उपकरणों ने अच्छी तरह से काम किया, और इसके द्वारा ली गई छवियों को वापस ग्राउंड कंट्रोल में भेज दिया गया है। चंद्रमा के दूर की ओर के चित्र बताते हैं कि यह विभिन्न आकारों के बहुत सारे क्रेटरों से घिरा हुआ है। CNSA ने चांग’-4 की लैंडिंग प्रक्रिया का एक वीडियो भी जारी किया, जिसे जांच पर एक कैमरे द्वारा ली गई 4,700 से अधिक तस्वीरों को संसाधित करके बनाया गया था। लगभग 12 मिनट तक चलने वाले इस वीडियो में जांच को इसकी ऊँचाई को समायोजित किया गया है, जो वंश प्रक्रिया के दौरान मंडराए और टालने वाली बाधाओं से बचा है।यह पहली बार है जब चंद्रमा के सुदूर पक्ष का पता लगाने का प्रयास किया गया था। चूँकि चंद्रमा का परिक्रमण चक्र उसके घूर्णन चक्र के समान होता है, वही पक्ष हमेशा पृथ्वी का सामना करता है। दूसरे चेहरे, जिनमें से अधिकांश को पृथ्वी से नहीं देखा जा सकता है, को चंद्रमा का दूर का पक्ष या “डार्क साइड” कहा जाता है, इसलिए नहीं कि यह अंधेरा है, बल्कि इसलिए क्योंकि इसमें से अधिकांश अपरिवर्तित है।

 

खेल न्यूज़

6.प्रीमियर बैडमिंटन लीग में साईं प्रणीत ने अपनी टीम बैंगलोर रैप्टर्स के लिए सेमीफाइनल में किया स्थान पक्का:-

प्रीमियर बैडमिंटन लीग में साईं प्रणीत ने अपनी टीम बैंगलोर रैप्टर्स के लिए सेमीफाइनल में स्थान पक्का कर लिया है। बंगलूरू में उनकी जीत से मेज़बान टीम ने चेन्नई स्मैशर्स को तीन-दो से हरा दिया।

7.मैरी कॉम ने एआईबीए रैंकिंग में किया पहला स्थान हासिल:-

इंटरनेशनल बॉक्सिंग एसोसिएशन (एआईबीए) द्वारा जारी नवीनतम विश्व रैंकिंग में एम सी मैरी कॉम ने पहला स्थान हासिल किया। दिल्ली में पिछले वर्ष नवंबर में आयोजित हुई 48 किलोग्राम श्रेणी की प्रतियोगिता में शीर्ष स्थान हासिल करने के बाद वह विश्व चैंपियनशिप के इतिहास में सबसे सफल मुक्केबाज बन गई हैं। हाल ही में एआईबीए द्वारा जारी रैंकिंग में मैरी कॉम 1700 अंकों के साथ अंकतालिका में पहले स्थान पर रही। वर्ष 2020 में होने वाले ओलंपिक गेम्स में अपने सपने को पूरा करने के लिए उन्हें 51 किलोग्राम भार में शामिल होना होगा। अभी वह 48 किलोग्राम में खेल रही हैं। पिछले वर्ष उन्होंने कॉमनवेल्थ गेम्स और पोलैंड में हुए टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीता था।उन्होंने बुल्गारिया में हुए प्रतिष्ठित स्ट्रैंड्जा मेमोरियल में रजत पदक भी जीता।51 किलोग्राम श्रेणी की सूची में पिंकी जांगड़ा को आठवें स्थान पर रखा गया है। एशियाई रजत पदक विजेता मनीषा मौन को 54 किग्रा वर्ग में आठवें स्थान पर रखा गया है।57 किलोग्राम भार में पूर्व विश्व रजत पदक विजेता सोनिया लाथेर को दूसरे स्थान रखा गया है, विश्व कांस्य पदक विजेता सिमरनजीत कौर ने 64 किलोग्राम भार में चौथे स्थान पर रखा गया।69 किलोग्राम में इंडियन ओपन स्वर्ण पदक विजेता और विश्व कांस्य पदक विजेता लवलीना बोरगोहैन को पांचवें स्थान पर रखा गया। हालांकि अभी पुरुषों की रैंकिंग अपडेट नहीं की गई है।

8.विराट कोहली, रवि शास्त्री को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड की मानद सदस्यता प्राप्त है:-

भारत के कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री ने आज क्रिकेट के खेल में योगदान के लिए सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (SCG) की मानद सदस्यता प्राप्त की। ऑस्ट्रेलियाई धरती पर अपनी टेस्ट श्रृंखला जीत के लिए भारत को बधाई देते हुए, SCG के अध्यक्ष टोनी शेफर्ड ने खुशी जताई कि दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट राष्ट्र भारत अपना ध्यान टेस्ट क्रिकेट पर मजबूती से लगा रहा है।

उन्होंने कहा कि यह वैश्विक क्रिकेट परिदृश्य में टेस्ट के पूर्व-प्रचलन को सुदृढ़ करेगा। SCG की मानद सदस्यता पाने वाले केवल अन्य अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटरों में वेस्टइंडीज के सचिन तेंदुलकर और ब्रेन लारा हैं

 

बाजार न्यूज़

9.PM मोदी जल्द दिखाएंगे ट्रेन 18 को हरी झंडी, दिल्ली-वाराणसी मार्ग पर दौड़ेगी ट्रेन: पीयूष गोयल:-

केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जल्दी ही ट्रेन 18 को हरी झंडी दिखाएंगे। देश की सबसे तेजी से दौड़ने वाली यह ट्रेन दिल्ली-वाराणसी मार्ग पर चलेगी। गोयल ने सार्वजनिक उपक्रम कॉनकोर के कार्यक्रम के दौरान यह बात कही। रेल मंत्री ने कहा कि यह रेलगाड़ी ‘मेक इन इंडिया’ पहल के तहत बनी है और देश में बुलेट ट्रेनों के लिए मार्ग प्रशस्त करेगी। गोयल के मुताबिक यह ट्रेन आठ घंटे में दिल्ली से वाराणसी का सफर तय करेगी।

रेल मंत्री के अनुसार बुलेट ट्रेनों की दिशा में यह पहला छोटा कदम है। उन्होंने कहा कि भारतीय रेलवे ने यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए पिछले साढ़े चार साल में कई काम किए हैं और पुराने डिब्बे (कोच) को पूरी तरह से बंद कर दिया है और उसकी जगह एलएचबी डिब्बे पेश किए हैं। गोयल ने कहा कि भारतीय रेलवे पूरी तरह से बिजली से चलने वाली दुनिया की पहली रेलवे में से एक होगी।

मालूम हो कि ट्रेन 18, नवंबर-2018 में दिल्ली पहुंची थी। इसके बाद दिसंबर तक इस ट्रेन का ट्रायल रन किया गया। इस ट्रेन को पहले 25 दिसंबर और फिर 29 दिसंबर 2018 से चलाने की योजना थी। उम्मीद की जा रही थी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश की सबसे तेज रफ्तार ट्रेन-18 को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी से हरी झंडी दिखाएंगे। हालांकि, इन दोनों तिथियों पर ट्रेन-18 का संचालन शुरू नहीं हो सका।

ट्रेन 18 की खासियतें

इस ट्रेन के मध्य में दो एक्जिक्यूटिव कंपार्टमेंट हैं।

दोनों एक्जिक्यूटिव कंपार्टमेंट में 52-52 सीटें हैं।

यह देश की पहली इंजन रहित ट्रेन होगी और शताब्दी का स्थान लेगी।

शताब्दी की 130 किलोमीटर प्रति घंटे की जगह 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार।

गति के मुताबिक पटरी बना ली जाए तो यह शताब्दी से 15 प्रतिशत कम समय लेगी।

ट्रेन के सामान्य कोच में 78 सीटें हैं।

अलहदा तरह की लाइट, ऑटोमेटिक दरवाजे और सीसीटीवी कैमरे लगे होंगे।

जीपीएस आधारित यात्री सूचना प्रणाली होगी।