प्रधानमंत्री ने असम में ‘महाबाहु-ब्रह्मपुत्र’ का शुभारंभ किया और दो पुलों की आधारशिला रखी

0
70

1. डब्‍ल्‍यू सी सी बी ने एशिया एनवायरनमेंट एनफोर्समेंट अवार्ड-2020 प्राप्‍त किया

वन्‍य जीव अपराध नियंत्रण ब्‍यूरो-डब्‍ल्‍यू सी सी बी ने संयुक्‍त राष्‍ट्र पर्यावरण कार्यक्रम की ओर से दिया जाने वाला एशिया एनवायरनमेंट एनफोर्समेंट अवार्ड-2020 प्राप्‍त किया है। पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने यह जानकारी देते हुए बताया कि डब्‍ल्‍यू सी सी बी को भारत में वन्‍य जीव अपराधों को रोकने के लिए प्रतिबद्धता के लिए तीन वर्षों में दो बार यह पुरस्‍कार मिला है। वन्‍य जीव अपराध नियंत्रण ब्‍यूरो को इस वर्ष नवोन्‍मेष श्रेणी में पुरस्‍कार मिला है। इससे पहले वर्ष 2018 में भी ब्‍यूरो को इसी श्रेणी में पुरस्‍कृत किया गया था।

2. प्रधानमंत्री ने असम में ‘महाबाहु-ब्रह्मपुत्र’ का शुभारंभ किया और दो पुलों की आधारशिला रखी

प्रधानमंत्री, श्री नरेन्‍द्र मोदी ने असम में ‘महाबाहु-ब्रह्मपुत्र’ का शुभारंभ किया और दो पुलों की आधारशिला रखी। इस अवसर पर केन्‍द्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री; केन्‍द्रीय कानून और न्याय, संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री; पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग राज्‍य मंत्री और असम व मेघालय के मुख्यमंत्री उपस्थित थे। ‘महाबाहु-ब्रह्मपुत्र’के शुभारंभ के अवसर पर उन्होंने नीमाटी-मजुली द्वीप, उत्तरी गुवाहाटी-दक्षिण गुवाहाटी और धुबरी-हाटसिंगिमारी के बीच रो-पैक्स जहाज सेवा का उद्घाटन किया। उन्होंने जोगीघोपा में इनलैंड वाटर ट्रांसपोर्ट (आईडब्‍ल्‍यूटी) टर्मिनल और ब्रह्मपुत्र नदी पर विभिन्न पर्यटक जेटियों की नींव रखी और ईज ऑफ डूइंग-बिजनेस के लिए डिजिटल समाधान की शुरुआत की। इस अवसर पर, प्रधानमंत्री ने कृषि से जुड़े अली-आये-लिगांग त्योहार के लिए माइसिंग समुदाय को बधाई दी, जो 17 फरवरी को मनाया गया था।

3. ममता बनर्जी ने 5 रुपये में भोजन उपलब्ध कराने के लिए शुरू की ‘माँ’ कैंटीन

हाल ही में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 5 रुपए की मामूली लागत पर गरीबों और निराश्रितों के लिये रियायती पका हुआ भोजन उपलब्ध कराने के लिये ‘माँ’ कैंटीन का शुभारंभ किया है। इस नई योजना के तहत राज्य सरकार कैंटीन में प्रति व्यक्ति भोजन के लिये 15 रुपए की सब्सिडी देगी, जबकि लोगों को 5 रुपए का भुगतान करना होगा। इस माह की शुरुआत में मुख्यमंत्री द्वारा प्रस्तुत किये गए बजट में इस योजना के लिये 100 करोड़ रुपए आवंटित किये गए हैं। ‘माँ’ कैंटीन को शहरी विकास और नगरपालिका मामलों के विभाग की मदद से राज्य के स्वयं सहायता समूहों द्वारा संचालित किया जाएगा। ध्यातव्य है कि महामारी के बाद से भारत समेत संपूर्ण विश्व में खाद्य सुरक्षा को लेकर चिंता और भी गंभीर हो गई है, ऐसे में पश्चिम बंगाल सरकार की यह योजना राज्य के गरीब और अपेक्षाकृत संवेदनशील लोगों के लिये खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने हेतु काफी महत्त्वपूर्ण साबित हो सकती है।

4. प्रधानमंत्री के साथ परीक्षा पे चर्चाकार्यक्रम विश्‍व के सभी छात्रों के लिए ऑनलाइन उपलब्‍ध होगा

केन्‍द्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा है कि स्‍कूली विद्यार्थियों, शिक्षकों और अभिभावकों के साथ प्रधानमंत्री के संवाद कार्यक्रम – परीक्षा पे चर्चा के चौथे संस्‍करण का आयोजन अगले महीने होगा। परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और यह 14 मार्च तक चलेगी। इस बार यह कार्यक्रम वर्चुअल माध्‍यम से होगा। कार्यक्रम के प्रतिभागियों को माय जीओवी प्‍लेटफार्म पर आयोजित होने वाले ऑनलाइन प्रतियोगिता के जरिये चुना जायेगा। इस बार यह कार्यक्रम विश्‍व के सभी छात्रों के लिए उपलब्‍ध होगा और यह पूरी तरह ऑनलाइन होगा। एक ट्वीट में श्री मोदी ने छात्रों से अपील की कि वे बिना किसी तनाव के मुस्‍कुराते हुए अपनी परीक्षाओं में शामिल हों।

5. वाईएस जगन मोहन रेड्डी SKOCH चीफ़ मिनिस्टर ऑफ़ द ईयर अवार्ड से सम्मानित

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री, वाई एस जगन मोहन रेड्डी को स्कोच चीफ़ मिनिस्टर ऑफ़ द ईयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। यह पुरस्कार आंध्र प्रदेश के तडेपल्ली में व्यक्तिगत रूप से अध्यक्ष, स्कोच समूह, समीर कोचर द्वारा सीएम को प्रदान किया गया है। पुरस्कार चयन विभिन्न राज्यों में परियोजना-स्तरीय परिणामों के अध्ययन पर आधारित था। इसी प्रकार, सरकार ने COVID-19 पर प्रतिक्रया देने के लिए पहल की है और वांछित परिणाम दिखाए हैं। उपरोक्त सभी और अधिक आंध्र प्रदेश के क्षेत्रों में 123 परियोजनाओं के एक साल लंबे अध्ययन में स्पष्ट है। राज्य ने शासन को अधिक कुशल और पारदर्शी बनाने के लिए पिछले दो वर्षों में कई क्रांतिकारी उपाय किए हैं। क्षेत्रों में अभिनव उपाय किए गए हैं, जिसका श्रेय मुख्यमंत्री को जाता है।

6. प्रधानमंत्री ने “कोविड-19 मैनेजमेंट: एक्सपीरिएन्स, गुड प्रैक्टिसेज एंड वे फॉर्वर्ड” विषय पर दस पड़ोसी देशों के साथ आयोजित कार्यशाला को संबोधित किया

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने दस पड़ोसी देशों-अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, मालद्वीप, मॉरीशस, नेपाल, पाकिस्तान, सेशल्स, श्रीलंका-के साथ “कोविड-19 मैनेजमेंट: एक्सपीरिएन्स, गुड प्रैक्टिसेज एंड वे फॉर्वर्ड” विषय पर आयोजित कार्यशाला को संबोधित किया। इसमें स्वास्थ्य क्षेत्र की हस्तियों, विशेषज्ञों और दस पड़ोसी देशों के अधिकारियों ने भाग लिया। कार्यशाला में भारत के अधिकारी और विशेषज्ञ भी शामिल हुए। देशों से महत्वाकांक्षा को ऊपर उठाने का आह्वान करते हुए प्रधानमंत्रीने डॉक्टरों और नर्सों के लिए विशेष वीजा बनाने का सुझाव दिया ताकि आपात स्थिति में डॉक्टर और नर्स तुरंत क्षेत्र में जा सकें। उन्होंने पूछा कि क्या हमारे नागर विमानन मंत्रालय चिकित्सा आपात स्थिति के लिए क्षेत्रीय एयर एम्बुलेंस समझौते के लिए समन्वय कर सकते हैं? प्रधानमंत्री ने सुझाव दिया कि हम अपनी आबादी में कोविड-19 टीके के प्रभाव के बारे में डेटा मिला सकते हैं, संकलित कर सकते हैं और डेटा का अध्ययन कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि भविष्य की महामारियों की रोकथाम के लिए टेक्नोलॉजी सहायक महामारी विज्ञान को प्रोत्साहित करने के लिए क्षेत्रीय नेटवर्क तैयार कर सकते हैं।

7. पुरस्कार विजेता लेखक इरविन एलन सीली का नया उपन्यास ‘ASOCA’

पुरस्कार विजेता लेखक इरविन एलन सीली का नया उपन्यास ‘ASOCA: A Sutra’, जो महान सम्राट अशोक का एक काल्पनिक संस्मरण है. इस उपन्यास को महान सम्राट अशोक के एक काल्पनिक संस्मरण के रूप में प्रस्तुत किया जाएगा, वह सम्राट जिसने भारतीय उपमहाद्वीप के अधिकांश हिस्सों पर शासन किया था और तीसरी शताब्दी ईसा पूर्व में भारत से एशिया के अन्य हिस्सों में बौद्ध धर्म के प्रसार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। इसे पेंगुइन रैंडम हाउस इंडिया द्वारा प्रकाशित किया जाएगा। इससे पहले, पेंगुइन ने सीली के समीक्षकों द्वारा प्रशंसित डेब्यू उपन्यास द ट्रोट्टर-नामा का तीसवां-वर्षगाँठ संस्करण प्रकाशित किया था और यह पीआरएच द्वारा प्रकाशित की जाने वाली लेखक की दूसरी पुस्तक है। यह पुस्तक पेंगुइन की वाइकिंग इंप्रिंट के तहत जुलाई 2021 में जारी की जाएगी।

8. पांच अखिल भारतीय सर्वेक्षणों के लिए प्रश्नावली के साथ निर्देश नियमावली और सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन की शुरूआत

श्रम और रोजगार मंत्री संतोष कुमार गंगवार ने श्रम के बारे में पांच अखिल भारतीय सर्वेक्षणों के लिए प्रश्नावली के साथ निर्देश नियमावली और सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन की शुरूआत की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि विशेषकर कोरोनाकाल में श्रम के सभी पहलुओं के बारे में आंकड़े नीति निर्माण में महत्वपूर्ण होते हैं। उन्‍होंने कहा कि प्रवासी श्रमिकों, घरेलू कामगारों और व्यवसायों तथा परिवहन क्षेत्र में सृजित रोजगार के बारे में राष्ट्रीय स्तर पर आंकड़े उपलब्ध कराने में पांच अखिल भारतीय सर्वेक्षणों की महत्वपूर्ण भूमिका है।

9. नौसैनिक परिवार से एक 12 वर्षीय बच्ची जिया राय ने ऑटिज़्म स्पेक्ट्रम विकार के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए 36 किलोमीटर तैराकी की

नौसेना के नाविक मदन राय की 12 वर्षीय बेटी मिस जिया राय ने दिनांक 17 फरवरी 2021 को बांद्रा-वर्ली सी लिंक से गेटवे ऑफ इंडिया तक 8 घंटे और 40 मिनट में 36 किलोमीटर की तैराकी करके इतिहास रचा। वह ऑटिज़्मस्पेक्ट्रम विकार (एएसडी) से पीड़ित रही है और जिया ने अपनी उपलब्धि को इसकेबारे में जागरूकता का प्रसार करने के लिए समर्पित किया। यह तैराकी प्रतियोगिता भारतीय तैराकी महासंघ की मान्यताप्राप्त संस्था महाराष्ट्र तैराकी संघ की निगरानी में आयोजित की गई थी। यहआयोजन युवा कार्यक्रम और खेल मंत्रालय द्वारा फिट इंडिया मूवमेंट से भीजुड़ाहुआ था। मिस जिया राय ने इससे पहले 15 फरवरी 2020 को एलीफेंडा आइलैंडसे गेटवे ऑफ इंडिया तक 3 घंटे 27 मिनट और तीस सेकंड तैरकर 14 किमी की दूरीतय की थी और एएसडी से पीड़ित रह कर ओपन वाटर्स में तैरकर सबसे कम उम्र कीलड़की के तौर पर 14 किमी तैरने का विश्व रिकॉर्ड कायम किया था।

10. फ्लिपकार्ट ने ‘Hospicash’ बीमा शुरू करने के लिए आईसीआईसीआई लोम्बार्ड के साथ की साझेदारी

ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट ने अपने ग्राहकों के लिए ‘ग्रुप सेफगार्ड’ बीमा, एक ग्रुप स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी शुरू करने के लिए ICICI लोम्बार्ड के साथ साझेदारी की है। ग्रुप सेफगार्ड, दैनिक नकद लाभ 500 रुपये से शुरू होगा, और फ्लिपकार्ट उपभोक्ताओं के लिए ‘Hospicash’ लाभ होगा। यह बिमा उत्पाद उपभोक्ताओं को अस्पताल में भर्ती होने के हर दिन का भुगतान करने में सक्षम बनाएगा। निर्धारित दैनिक राशि उपभोक्ताओं को आकस्मिक चिकित्सा या आपातकालीन खर्चों के लिए भुगतान करने में सक्षम बनाएगी। बीमा की कीमत फ्लेक्सिबल और यह पेपरलेस रहेगा; इसमें आकस्मिक अस्पताल में भर्ती या नियोजित सर्जरी / उपचार दोनों को कवर किया जाएगा।

11. UN ने G20 देशों से ‘वैश्विक कोविड-19 टीकाकरण योजना’ तैयार करने के लिए कहा

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने जी-20 देशों को 17 फरवरी, 2020 को एक “वैश्विक कोविड-19 टीकाकरण योजना” तैयार करने के लिए कहा है। संयुक्त राष्ट्र ने ऐसा करने के लिए कहा, साथ ही इसने विभिन्न देशों में COVID-19 टीकों के बेतहाशा असमान और अनुचित वितरण की निंदा की है।उन्होंने कहा कि, 10 अमीर देशों ने दुनिया भर में 75 प्रतिशत वैश्विक टीकाकरण किया है।उन्होंने जोर दिया कि, यह एक महत्वपूर्ण क्षण है, इस प्रकार, वैक्सीन समानता वैश्विक समुदाय के लिए सबसे बड़ा नैतिक परीक्षण है।उन्होंने कहा कि, दुनिया के 130 गरीब देशों को वैक्सीन की एक भी खुराक नहीं मिली है।इस प्रकार, उन्होंने कोरोनोवायरस वैक्सीन के समान वितरण और पहुंच को संभव बनाने के लिए वैश्विक सहयोग की आवश्यकता पर जोर दिया।उन्होंने विश्व नेताओं, वैज्ञानिकों और वैक्सीन निर्माताओं सहित एक तत्काल वैश्विक टीकाकरण योजना का आह्वान किया।इस योजना में वे लोग भी शामिल होंगे जो वैश्विक स्वास्थ्य संकट से निपटने के लिए गरीब देशों के नागरिकों के लिए प्रयास कर सकते हैं।उन्होंने एक ‘इमरजेंसी टास्क फोर्स’ गठित करने की भी घोषणा की और कहा कि यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि हर जगह सभी को टीका लगाया जा सके।महासचिव ने आगे कहा कि WHO की COVAX फैसिलिटी के तहत कम आय वाले और मध्यम आय वाले देश टीके खरीद सकते हैं।लेकिन इस पहल को पूरी तरह से वित्तपोषित करने की आवश्यकता है।

12. शोधकर्त्ताओं के एक समूह ने ‘कोलैकैंथ/सीउलैकैंथ’ (Coelacanth) नामक विशाल मछली के जीवाश्मों की खोज की

हाल ही में शोधकर्त्ताओं के एक समूह ने ‘कोलैकैंथ/सीउलैकैंथ’ (Coelacanth) नामक विशाल मछली के जीवाश्मों की खोज की है, जिसे ‘जीवित जीवाश्म’ का एक प्रमुख उदाहरण माना जाता है। माना जाता है कि कोलैकैंथ/सीउलैकैंथ तकरीबन 66 मिलियन वर्ष पुरानी है और क्रेटेशियस युग से संबंधित है। ‘कोलैकैंथ/सीउलैकैंथ’ समुद्र की सतह से 2,300 फीट नीचे गहराई में निवास करने वाला एक जीव है।माना जाता है कि 65 मिलियन वर्ष पहले ये डायनासोर के साथ विलुप्त हो गए थे। वर्ष 1938 में इसकी खोज के साथ इस बात को लेकर बहस शुरू हो गई थी कि ये लोब-फिन मछलियाँ किस प्रकार स्थलीय जानवरों के विकास के क्रम में उपयुक्त पाई जाती हैं। ‘कोलैकैंथ/सीउलैकैंथ’ की अब तक केवल दो ज्ञात प्रजातियाँ मौजूद हैं: पहली प्रजाति अफ्रीका के पूर्वी तट के कोमोरोस द्वीप समूह के पास और दूसरी इंडोनेशिया के सुलावेसी द्वीप में पाई जाती है। जीवित जीवाश्म ऐसे जीव होते हैं, जो प्रारंभिक भूगर्भीय काल से अपरिवर्तित रहे हैं और जिनके करीबी संबंधी जीव प्रायः विलुप्त हो चुके हैं। कोलैकैंथ/सीउलैकैंथ के अलावा हॉर्सशू क्रैब और जिन्कगो वृक्ष भी जीवित जीवाश्म के उदाहरण हैं।हालाँकि एक नए अध्ययन में शोधकर्त्ताओं ने पाया है कि कोलैकैंथ/सीउलैकैंथ ने 10 मिलियन वर्ष पूर्व अन्य प्रजातियों के साथ मिलकर 62 नए जीन प्राप्त किये थे।इससे पता चलता है कि वे वास्तव में विकास कर रहे हैं, हालाँकि विकास की प्रक्रिया तुलनात्मक रूप से धीमी है।