प्रधानमंत्री ने मैरीटाइम इंडिया समिट 2021 का उद्घाटन किया

0
21

1. नई दिल्‍ली में सुगम्‍य भारत एप और एक्‍सेस–द फोटो डाइजेस्‍ट नाम की पुस्तिका का विमोचन

सामाजिक न्‍याय और अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत ने नई दिल्‍ली में सुगम्‍य भारत एप और एक्‍सेस–द फोटो डाइजेस्‍ट नाम की पुस्तिका का विडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए विमोचन किया। दोनों का विकास दिव्‍यांगजन अधिकारिता विभाग ने किया है। सुगम्‍य भारत एप मे पांच मुख्‍य विशेषताएं हैं, जिनमें से चार दिव्‍यांग लोगों की सुविधाओं से संबंधित हैं। इनमें उनकी परिवहन तथा विभिन्‍न अन्‍य समस्‍याओं से संबंधित शिकायतों को दर्ज करने के साथ-साथ सूचना और संचार टैक्‍नोलॉजी और फीडबैक के जरिए अनुकरणीय मिसाल के बारे में जानकारियां देने की व्‍यवस्‍था भी शामिल है। इसके अलावा इस एप की अन्‍य विशेषताओं में ताजा विभागीय जानकारियां और दिशानिर्देश उपलब्‍ध कराने तथा सुगम्‍यता संबंधी सूचनाएं देने की व्‍यवस्‍था भी शामिल हैं। इस एप की एक अन्‍य प्रमुख विशेषता दिव्‍यांगजनों के लिए महामारी से संबंधित सूचनाओं को लेकर है।

2. प्रधानमंत्री ने मैरीटाइम इंडिया समिट 2021 का उद्घाटन किया

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मैरीटाइम इंडिया समिट 2021 का उद्घाटन किया। डेनमार्क के परिवहन मंत्री श्री बेनी एंगलब्रेच, गुजरात और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान और श्री मनसुख मंडाविया भी इस अवसर पर उपस्थित थे। इस अवसर पर संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने विश्व को भारत में आने और भारत की विकास गति का हिस्सा बनने के लिए आमंत्रित किया। उन्‍होंने कहा कि भारत समुद्री क्षेत्र के विकास को लेकर बड़ा गंभीर है और समुद्री जीव-जन्‍तुओं और वनस्‍पति उत्‍पादों सहित विभिन्‍न क्षेत्रों में उभरती ब्‍लू इकॉनमी वाली अर्थव्‍यवस्‍था के रूप में सामने आ रहा है। तीन दिन के मैरीटाइम इंडिया शिखर सम्‍मेलन 2021 का आयोजन बंदरगाह, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्रालय द्वारा वर्चुअल प्‍लेटफॉर्म www.maritimeindiasummit.in. पर किया जा रहा है।

3. पहली बार इस्राइल में संयुक्त अरब अमारात के राजदूत की नियुक्ति

संयुक्त अरब अमारात ने पहली बार इस्राइल में अपने राजदूत की नियुक्ति की है। दोनों देशों के बीच संबंधों को सामान्य बनाने की दिशा में पिछले वर्ष हुए ऐतिहासिक समझौते के बाद, इस्राइल में औपचारिक रूप से संयुक्त अरब अमीरात के पहले राजदूत की नियुक्ति हुई है। संयुक्त अरब अमारात के दूत मोहम्मद अल खाजा ने यरुशलम में एक समारोह में इस्राइल के राष्ट्रपति रियूवेन रिवलिन को अपनी नियुक्ति से संबंधित दस्तावेज सौंपे। संयुक्त अरब अमारात पहला देश है, जिसने अब्राहम समझौते के तहत इस्राइल के साथ पूर्ण राजनयिक संबंध स्थापित करने के लिए सहमति दी थी।

4. वाणिज्य और उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने ग्लोबल बायो-इंडिया स्टार्टअप कॉन्क्लेव- 2021 को संबोधित किया

रेल, वाणिज्य और उद्योग, उपभोक्ता कार्य, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री श्री पीयूष गोयल ने जैव प्रौद्योगिकी विभाग (डीबीटी), भारत सरकार द्वारा आयोजित ग्लोबल बायो-इंडिया स्टार्टअप कॉन्क्लेव, 2021 को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि हमारे स्टार्टअप, युवा पेशेवर, नवोन्मेषक, विचारक और वैज्ञानिक दुनिया भर में अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी और भारत के विकास में सबसे आगे होंगे और अपने बच्चों का बेहतर भविष्य सुनिश्चित करेंगे। आयोजन का उद्देश्य राष्ट्रीय के साथ-साथ अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत के जैव प्रौद्योगिकी क्षेत्र की ताकत और अवसरों का प्रदर्शन करना है. भारत सरकार का 2025 तक 150 बिलियन अमरीकी डालर की बायो इकॉनमी का निर्माण करने का लक्ष्य है. ग्लोबल बायो-इंडिया-2021 (Global Bio-India-2021) का विषय है: “बायोसाइंसेज टू बायो-इकॉनमी (Biosciences to Bio-economy)” टैगलाइन के साथ “ट्रांस्फोर्मिंग लाइव्स (Transforming lives)”.

5. त्रिपुरा में उदयपुर विज्ञान केंद्र का उद्घाटन

त्रिपुरा के राज्यपाल श्री रमेश बैस ने 28 फरवरी 2021 को त्रिपुरा के लोगों के नाम उदयपुर विज्ञान केंद्र समर्पित किया। केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री प्रहलाद सिंह पटेल इस विज्ञान केंद्र के उद्घाटन समारोह में मुख्यतिथि के रूप में उपस्थित थे। उदयपुर विज्ञान केंद्र 22वां विज्ञान केंद्र है जिसे एनसीएसएम द्वारा विकसित करके राज्य सरकार को सौंपा गया है। संस्कृति मंत्रालय की विज्ञान की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए योजना के तहत राज्य सरकारों को विज्ञान केंद्र सौंपे जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि यह विज्ञान केंद्र 6 करोड़ रुपये की लागत से विकसित किया गया है जिसे भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय के साथ-साथ त्रिपुरा के विज्ञान, प्रौद्योगिकी और पर्यावरण विभाग ने संयुक्त रूप से फंड किया है। इसके साथ ही एनसीएसएम ने सभी उत्तर पूर्वी राज्यों में विज्ञान केंद्र स्थापित किए हैं।

6. युद्धाभ्यास डेजर्ट फ्लैग VI में भारतीय वायुसेना की भागीदारी

डेजर्ट फ्लैग युद्धाभ्यास संयुक्त अरब अमीरात वायु सेना कीमेजबानी में आयोजित एक वार्षिक बहुराष्ट्रीय बड़ा युद्ध अभ्यास है। भारतीयवायु सेना, संयुक्त अरब अमीरात, संयुक्त राज्य अमेरिका, फ्रांस, सऊदी अरब, दक्षिण कोरिया और बहरीन की वायु सेनाओं के साथ अभ्यास डेजर्ट फ्लैग-VI में पहली बार भाग ले रही है। यह अभ्यास संयुक्त अरब अमीरात के अल-दाफरा एयरबेस पर दिनांक 03 मार्च 21 से 27 मार्च तक निर्धारित है। भारतीय वायुसेना छह सुखोई-30 एमकेआई, दो सी-17 और एक आईएल-78 टैंकर विमानके साथ इस युद्घाभ्यास में भाग ले रही है । सी-17 ग्लोबमास्टर भारतीयवायुसेना के दल को लाने ले जाने के लिए सहायता प्रदान करेगा।

7. ऋषिकेश में शुरू हुआ अंतर्राष्ट्रीय योग उत्सव

ऋषिकेश में अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव का उद्घाटन उत्तराखंड के कृषि मंत्री सुबोध उनियाल, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (ABAP) के प्रमुख नरेंद्र गिरि और पतंजलि योगपीठ के अध्यक्ष आचार्य बालकृष्ण ने किया है। यह महोत्सव उत्तराखंड पर्यटन विकास बोर्ड (UTDB) और गढ़वाल मंडल विकास निगम (GMDN) द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया जा रहा है। योग ने रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में, विशेष रूप से कोविड के समय में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। योग के नियमित अभ्यास से बीमारियों को शरीर से दूर रखने में मदद मिलती है। योग कई बीमारियों का भी इलाज है, जिनका चिकित्सा विज्ञान का उपयोग करके इलाज करना कठिन है। योग का उद्देश्य न केवल हमें स्वस्थ रखना है बल्कि मनुष्य के भीतर की नकारात्मकता को भी समाप्त करना है।

8. वाइस एडमिरल अजेंद्र बहादुर सिंह ने ईएनसी प्रमुख का पदभार संभाला

वाइस एडमिरल अजेंद्र बहादुर सिंह ने पूर्वी नौसेना कमान (ENC) के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ (FOC-in-C) के रूप में पदभार संभाला। उन्होंने वाइस एडमिरल अतुल कुमार जैन की जगह ली। अतुल कुमार जैन को एकीकृत रक्षा कर्मचारियों के उपाध्यक्ष के पद से कर्मचारी समिति के अध्यक्ष (CISC) के रूप में कार्यभार संभालने के लिए नई दिल्ली स्थानांतरित किया गया है। वाइस एडमिरल ए.बी. सिंह ने सेरेमोनियल गार्ड का निरीक्षण किया और विभिन्न जहाजों और ENC के प्रतिष्ठानों से आये नौसैनिकों के प्लाटून की समीक्षा की। उन्हें 2011 में विशिष्ट सेवा पदक और 2016 में अति विशिष्ट सेवा पदक से सम्मानित किया गया था।

9. भारत ने रक्षा क्षेत्र में श्रीलंका को पहली प्राथमिकतावाला साझेदार बताया

कोलंबो में भारतीय उच्चायुक्त ने श्रीलंका के द्वीप राष्ट्र को रक्षा क्षेत्र में अपना “पहली प्राथमिकता वाला” भागीदार बताया है तथा रक्षा और सुरक्षा के क्षेत्र में पूर्ण सहयोग का आश्वासन दोहराया है। यह बयान ऐसे समय में आया है जब 2 मार्च को श्रीलंका वायु सेना (SLAF) अपनी 70वीं वर्षगांठ मना रही है। SLAF 2 मार्च को अपनी 70 वीं वर्षगांठ मना रही है और ऐतिहासिक कार्यक्रम की याद में, देश में पहली बार भव्य पैमाने पर एक फ्लाई पास्ट और एक एरोबैटिक डिस्प्ले का आयोजन किया जा रहा है। कुल 23 भारतीय वायु सेना (IAF) और भारतीय नौसेना के विमान भी इस आयोजन में भाग लेंगे। भारतीय उच्चायुक्त ने दोनों देशों के सशस्त्र बलों के बीच बढ़ते सहयोग, सहकारिता और मित्रता के संकेत को भागीदारी कहा है।

10. लैंड पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने मनाया अपना 9वां स्थापना दिवस

लैंड पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (Land Ports Authority of India-LPAI) ने 01 मार्च 2021 को अपना 9वां स्थापना दिवस मनाया है। लैंड पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया या LPAI एक वैधानिक निकाय है, जो गृह मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन काम करता है। यह भारत में सीमा अवसंरचना के निर्माण, उन्नयन, रखरखाव और प्रबंधन के लिए जिम्मेदार है। यह पूरे भारत की सीमाओं पर कई एकीकृत चेक पोस्ट का प्रबंधन करता है।