ब्रिटेन अगले साल कार्बसार जासूसी उपग्रह लॉन्च करेगा

0
38

1 राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने सशस्त्र बलों, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों और राज्य तथा केंद्र शासित प्रदेश के पुलिसकर्मियों को वीरता पुरस्कार प्रदान किए गए

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति भवन में आयोजित रक्षा अलंकरण समारोह में सशस्त्र बलों, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों और राज्य तथा केंद्र शासित प्रदेश के पुलिसकर्मियों को आठ कीर्ति चक्र प्रदान किए, इनमें पांच पदक मरणोपरांत हैं । प्रदान किए गए 29 शौर्य चक्रों में भी पांच पदक मरणोपरांत हैं । कर्मियों को शौर्य, अदम्य साहस और कर्तव्यपरायणता के प्रति विशिष्ट समर्पण के लिए वीरता पुरस्कार प्रदान किए गए। स्वतंत्रता के बाद भारत सरकार द्वारा 26 जनवरी, 1950 को प्रारंभिक तीन वीरता पुरस्कार- परम वीर चक्र, महावीर चक्र और वीर चक्र स्थापित किये गए थे, जिन्हें 15 अगस्त, 1947 से प्रभावी माना गया। इसके बाद वर्ष 1952 में अन्य तीन वीरता पुरस्कार- ‘अशोक चक्र वर्ग-I’, ‘अशोक चक्र वर्ग-II’ और ‘अशोक चक्र वर्ग-III’ स्थापित किये गए, जिन्हें 15 अगस्त, 1947 से प्रभावी माना गया। जनवरी 1967 में इन पुरस्कारों का नाम बदलकर क्रमशः अशोक चक्र, कीर्ति चक्र और शौर्य चक्र कर दिया गया। अशोक चक्र शांतिकाल के दौरान वीरता, साहसिक कार्रवाई या बलिदान के लिये सर्वोच्च सैन्य पुरस्कार है।कीर्ति चक्र दूसरा सर्वोच्च शांतिकालीन वीरता पुरस्कार है और शांति काल में साहसिक कार्रवाई करने या आत्म-बलिदान के लिये दिया जाता है। शौर्य चक्र असाधारण वीरता के लिये सशस्त्र बलों के कर्मियों को प्रदान किया जाता है।

2 अखिल भारतीय रेडियो को अब आकाशवाणी के रूप में जाना जाएगा

केंद्र सरकार ने आदेश दिया है कि देश के सार्वजनिक प्रसारक ऑल इंडिया रेडियो (AIR) को सभी प्रसारणों और कार्यक्रमों में विशेष रूप से आकाशवाणी कहा जाए। यह कदम संसद द्वारा पारित प्रसार भारती अधिनियम, 1990 के अनुरूप है, और इसका उद्देश्य प्रसारक के नाम और शीर्षक को वैधानिक प्रावधानों के अनुरूप लाना है। यह नाम परिवर्तन लंबे समय से लंबित है और 1997 में अस्तित्व में आए कानून के अनुसार है। यह नाम बदलने की कवायद संगठन को औपनिवेशिक इतिहास से छुटकारा दिलाती है। भारत में रेडियो प्रसारण 1923 में शुरू हुआ जब बॉम्बे के रेडियो क्लब ने पहला व्यावसायिक प्रसारण शुरू किया। उसी वर्ष, कलकत्ता रेडियो क्लब और मद्रास प्रेसीडेंसी रेडियो क्लब की स्थापना हुई, लेकिन महत्वाकांक्षी इंडियन ब्रॉडकास्टिंग कंपनी (IBC) को 1930 में दिवालिएपन का सामना करना पड़ा। सरकार के हस्तक्षेप के बाद, भारतीय राज्य प्रसारण सेवा (ISBS) ने 1930 में एक प्रायोगिक आधार पर अपना संचालन शुरू किया। बीबीसी के एक वरिष्ठ निर्माता लियोनेल फील्डन को 1935 में भारत के पहले प्रसारण नियंत्रक के रूप में नियुक्त किया गया था और उन्होंने प्रोग्रामिंग में प्रमुख प्रगति की शुरुआत की। अंत में, 8 जून, 1936 को, ISBS का नाम बदलकर ऑल इंडिया रेडियो कर दिया गया। स्वतंत्रता के समय, भारत में केवल छह रेडियो स्टेशन थे, जो देश के केवल 2% भूमि क्षेत्र को कवर करते थे और इसकी आबादी के केवल 11% तक पहुँचते थे। तब से, आकाशवाणी का तेजी से विकास हुआ है और अब इसके पास 262 से अधिक रेडियो स्टेशनों का नेटवर्क है, जो भारत के 92% क्षेत्र और इसकी लगभग सभी आबादी को कवर करता है।

3 प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, जीवन ज्‍योति बीमा योजना और अटल पेंशन योजना के आठ वर्ष पूरे

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजनाप्रधानमंत्री जीवन ज्‍योति बीमा योजना और अटल पेंशन योजना ने 9 मई को आठ वर्ष पूरे कर लिये हैं। ये योजनाएं लोगों को सस्‍ते बीमा कवच और सामाजिक सुरक्षा देने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभा रही है। इन तीनों योजनाओं का शुभारंभ पश्चिम बंगाल के कोलकाता में 2015 में 9 मई के दिन प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने किया था। सरकार ने प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना और प्रधानमंत्री जीवन ज्‍योति बीमा योजना का शुभारंभ असंगठित क्षेत्र के लोगों को वित्‍तीय सुरक्षा प्रदान करने के लिए किया था। सरकार ने वृद्धावस्‍था में आर्थिक सहायता देने के लिए अटल पेंशन योजना की भी शुरूआत की थी। प्रधानमंत्री जीवन ज्‍योति बीमा योजना एक वर्ष में एक बार भुगतान वाली जीवन बीमा योजना है, जिसका प्रति वर्ष नवीनीकरण किया जाता है। 436 रूपये के वार्षिक प्रीमियम देने पर किसी कारण से बीमित व्‍यक्ति की मृत्‍यु हो जाने की स्थिति में दो लाख रूपये की राशि मृतक के परिजन को दी जाती है। प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना एक वर्ष में एक बार भुगतान वाली दुर्घटना बीमा योजना है, जिसका प्रति वर्ष नवीनीकरण किया जाता है। इस बीमा का प्रीमियम प्रतिवर्ष 20 रूपये है। दुर्घटना के कारण बीमित व्‍यक्ति के दिव्‍यांग हो जाने या मृत्‍यु हो जाने पर उनके परिजनों को दो लाख रूपये का भुगतान किया जाता है। अटल पेंशन योजना के अंतर्गत अभिदाता के योगदान के आधार पर उन्‍हें साठ वर्ष की आयु के बाद एक हजार से लेकर पांच हजार रूपये की मासिक पेंशन दी जाएगी।

4 इंडिया पोस्‍ट ने लॉजिस्टिक सेवाओं के लिए अखिल भारतीय व्‍यापार परिसंघ और तृप्‍ता टैक्‍नोलॉजी के साथ समझौता ज्ञापन पर किये हस्‍ताक्षर

इंडिया पोस्‍ट ने लॉजिस्टिक सेवाओं के लिए अखिल भारतीय व्‍यापार परिसंघ और तृप्‍ता टैक्‍नोलॉजी के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर किये हैं। यह समझौता ज्ञापन छोटे और मझौले व्‍यपारियों के लिए लाभदायक होगा। ये व्‍यापारी लॉजिस्टिक्‍स सेवा प्रदाता के रूप में इंडिया पोस्‍ट का इस्‍तेमाल कर सकेंगे। इंडिया पोस्‍ट, अखिल भारतीय व्‍यापार परिसंघ और तृप्‍ता टैक्‍नोलॉजी की साझेदारी व्‍यापारियों के लिए मददगार होगी। यह साझेदारी असंगठित क्षेत्र के छोटे और मझौले व्‍यवसाय तथा अखिल भारतीय व्‍यापार परिसंघ के सशक्‍त व्‍यापार आधार के लिए अंतिम छोर तक सेवा प्रदान करने की सुविधा प्रदान करेगी। यह समझौता ज्ञापन ई-कॉमर्स को छोटे शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों में ले जाने में म‍हत्‍वपूर्ण साबित हो सकता है। इससे हजारों व्‍यापारी लाभान्वित हो सकते हैं। इस अवसर पर संचार राज्‍य मंत्री देवूसिंह चौहान ने इंडिया पोस्‍ट के पार्सल के काम को कारगर बनाने की दिशा में इस समझौता ज्ञापन को एक महत्‍वपूर्ण पहल बताया। श्री चौहान ने कहा कि वित्‍तीय समावेशन सेवाओं के साथ बैकिंग और बीमा सेवाओं की भी सुविधा इंडिया पोस्‍ट से जोडी गई हैं।

5 भारत ने श्रीलंका को आवश्यक वस्‍तुओं के आयात के लिए एक अरब डॉलर की ऋण सुविधा एक वर्ष के लिए बढाई

भारत ने भीषण वित्‍तीय संकट से जूझ रहे श्रीलंका को उबारने के लिए एक अरब अमरीकी डॉलर की ऋण सुविधा एक वर्ष के लिए बढा दी है। यह पिछले वर्ष श्रीलंका को भारत की ओर से दी गई चार अरब अमरीकी डॉलर की आपात सहायता का हिस्‍सा है। यह राशि इस वर्ष मार्च तक पूरी दी जानी थी लेकिन अब इसे मार्च 2024 तक के लिए बढा दिया गया है। श्रीलंका की उप वित्‍त मंत्री प्रियंथा रत्‍नायके के अनुसार इससे श्रीलंका को आवश्‍यक आयातित वस्‍तुओं का भुगतान करने में मदद मिलेगी। भारत की ओर से दी जाने वाली ऋण सहायता इस बात का परिचायक है कि भारत श्रीलंका के लोगों की मदद के लिए प्रतिबद्ध है। श्रीलंका में पिछले साल सबसे बुरा वित्‍तीय संकट का दौर आया था। ईंधन, रसोई गैस और दवाओं जैसी महत्‍वपूर्ण आयातित वस्‍तुओं का भुगतान करने में भी कठिनाई हो रही थी। हालांकि स्थिति में अब सुधार हुआ है। श्रीलंका को मार्च में अन्‍तर्राष्‍ट्रीय मुद्रा कोष से लगभग तीन अरब अमरीकी डॉलर का आर्थिक पैकेज मिला था।

6 ब्रिटेन अगले साल कार्बसार जासूसी उपग्रह लॉन्च करेगा

ब्रिटिश कंपनियां सरे सैटेलाइट टेक्नोलॉजी लिमिटेड और ऑक्सफोर्ड स्पेस सिस्टम्स अगले साल कम लागत वाले रडार उपग्रह लॉन्च करने के लिए मिलकर काम कर रही हैं। कार्बसार (CarbSar) नामक उपग्रह को ब्रिटेन की जासूसी क्षमता में अंतर को भरने के लिए डिज़ाइन किया गया है। यूक्रेन संकट ने ऐसी तकनीकों के महत्व को प्रदर्शित किया है, जिनका उपयोग रूसी स्थानों की निगरानी के लिए किया गया है। फिर भी, ब्रिटेन के पास अपनी प्रणाली का अभाव है, जिसके कारण वह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का एकमात्र स्थायी सदस्य है जिसके पास कोई प्रणाली नहीं है। कार्बसार के लॉन्च से इस समस्या का समाधान होगा।

7 COP28 सम्मेलन 30 नवंबर से 12 दिसंबर 2023 तक दुबई में आयोजित किया जाएगा।

जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क कन्वेंशन (United Nations Framework Convention on Climate Change) के लिए पार्टियों का आगामी 28वां सम्मेलन (COP28) स्वास्थ्य संबंधी मुद्दों का विस्तार से आकलन करेगा। COP28, जो इस नवंबर में दुबई में आयोजित किया जाएगा, स्वास्थ्य के लिए एक दिन समर्पित करेगा, जिससे यह स्वास्थ्य के मुद्दों पर इतनी गहराई से ध्यान केंद्रित करने वाला पहला COP बन जाएगा। इस सम्मेलन में एक स्वास्थ्य और जलवायु मंत्री की मेजबानी की भी उम्मीद है। सार्वजनिक स्वास्थ्य पर जलवायु परिवर्तन के प्रभाव को उजागर करने वाली चर्चाओं के वर्षों के बाद यह निर्णय लिया गया है।

8 INSV तारिणी 17,000 समुद्री मील की यात्रा को पूरा करेगी

भारतीय नौसेना के नौकायन पोत तारिणी के 24 मई को गोवा पहुंचने के बाद 17,000 समुद्री मील के मार्ग को कवर करते हुए 6 महीने लंबा ट्रांसओशनिक अंतरमहाद्वीपीय अभियान पूरा हो जाएगा। यह जहाज केप टाउन, दक्षिण अफ्रीका के माध्यम से रियो डी जनेरियो, ब्राजील के लिए रवाना हुआ, जो केप टू रियो रेस 2023 में भाग ले रहा है। यह अभियान चुनौतीपूर्ण था, जिसमें तारिणी ने तूफानों, चुनौतीपूर्ण समुद्रों, तेज हवाओं और भारी मौसम की स्थिति का सामना किया। तारिणी के दल में दो महिला अधिकारियों सहित छह अधिकारी शामिल थे, जिन्होंने पूरी यात्रा के दौरान अपनी भावना, धैर्य और दृढ़ संकल्प का प्रदर्शन किया। INSV तारिणी को 2017 में शुरू हुई नाविका सागर परिक्रमा (Navika Sagar Parikrama) नामक ऐतिहासिक अभियान में एक सभी महिला अधिकारी चालक दल के साथ दुनिया भर में घूमने के लिए जाना जाता है। अपने 254-दिवसीय अभियान के दौरान, नाविका सागर परिक्रमा के छह सदस्यों ने 22,000 समुद्री मील की दूरी तय की थी। INSV तारिणी भारतीय नौसेना की दूसरी सेलबोट है, जो दिवार, गोवा में कुंभ शिपयार्ड में बनाई गई है। इस पोत को 18 फरवरी, 2017 को नौसेना को सौंप दिया गया था और इसका नामकरण तारा तारिणी मंदिर के नाम पर किया गया।

9 पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को अल-कादिर ट्रस्ट मामले में इस्लामाबाद हाई कोर्ट परिसर से गिरफ्तार किया गया

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को इस्लामाबाद उच्च न्यायालय परिसर से अल-कादिर ट्रस्ट मामले में गिरफ्तार किया गया। इमरान खान को पाकिस्तानी रेंजर्स ने हिरासत में लिया। एक सम्पत्ति कारोबारी के साथ किए गए समझौते के बारे में इमरान खान और उनकी पत्नी बुशरा बीबी तथा उनकी पार्टी-पीटीआई के नेता राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो की जांच का सामना कर रहे हैं। इससे राष्ट्रीय खजाने को कथित तौर पर 50 अरब रुपये का नुकसान हुआ है। उन पर अल कादिर विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए सोहावा के मौजा बकराला में 458 कनाल से अधिक भूमि से अनुचित लाभ प्राप्त करने का भी आरोप है।

10 केंद्रीय मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने म्यांमार में सितवे बंदरगाह का उद्घाटन किया

पत्‍तन, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्री सर्बानन्‍द सोनोवोल तथा म्‍यामांर के उप प्रधानमंत्री और परिवहन तथा संचार मंत्री एडमिरल टिन ऑंग सैन ने म्‍यामां के रखायने प्रान्‍त में सितवे बन्‍दरगाह का संयुक्‍त रूप से उद्घाटन किया। इस अवसर पर कोलकाता के श्‍यामा प्रसाद मुखर्जी बन्‍दरगाह से पहला भारतीय माल जहाज सितवे बन्‍दरगाह पहुंचा। इस बन्‍दरगाह के चालू होने से दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय और क्षेत्रीय बाजार में बढोत्‍तरी होगी। साथ ही रखायन प्रान्‍त की स्‍थानीय अर्थव्‍यवस्‍था को भी बल मिलेगा। बन्‍दरगाह के शुरू होने से कनेक्टिविटी बढेगी जिससे क्षेत्र में रोजगार के अवसर बढेंगे।

11 विदेश मंत्री डॉक्‍टर सुब्रह्मण्‍यम जयशंकर और इस्राइल के विदेश मंत्री एली कोहेन ने नई दिल्‍ली में वार्ता की

विदेश मंत्री डॉक्‍टर सुब्रह्मण्‍यम जयशंकर और इस्राइल के विदेश मंत्री एली कोहेन ने नई दिल्‍ली में वार्ता की। बैठक के दौरान दोनों नेताओं ने भारत और इस्राइल के संबंधों को मजबूत करने की प्रतिबद्धता दोहराई। इस बीच, श्री कोहेन ने अपने देश में सुरक्षा संबंधी हालात को देखते हुए भारत की तीन दिवसीय यात्रा में कटौती करने का निर्णय लिया है।

12 केन्‍द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने मुम्‍बई में सर्वोदय फाउंडेशन की ओर से आयोजित कार्यक्रम का किया उद्घाटन

केन्‍द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने मुम्‍बई में सर्वोदय फाउंडेशन की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम का उद्घाटन किया। प्रसिद्ध गायिका अनुराधा पौडवाल के नेतृत्‍व में फाउंडेशन की ओर से की गई ध्वनि का उपहार नाम की इस पहल के अंतर्गत सरकारी स्‍कूलों में पढने वाले बधिर बच्‍चों को श्रवण यंत्र वितरित किए जा रहे हैं। इस अवसर पर, श्री गडकरी ने कहा कि सभी को सुविधाओं से वंचित लोगों की मदद के लिए संवेदनशील तरीके से काम करना चाहिए, ताकि वे सम्‍मान के साथ अपना जीवन जी सके। उन्‍होंने अनुराधा पौडवाल और उनके सहयोगियों को इस पहल के लिए बधाई देते हुए कहा कि इससे बच्‍चों के जीवन में  उम्‍मीद की नई किरण आएगी। श्री गडकरी ने कहा कि समाज को प्रतिदान भारतीय संस्‍कृति में शामिल है और एक निश्चित समय के बाद सभी को कुछ न कुछ समाज को वापस देने का प्रयास करना चाहिए। सर्वोदय फाउंउेशन के अनुसार ध्‍वनि का उपहार पहल का उद्देश्‍य उन स्‍कूली बच्‍चों की सुनने की क्षमता में सुधार करना है, जो इससे वंचित हैं।

13 सभी मंत्रालय और विभाग 17 मई को पेंशनभोगियों की पेंशन संबंधी शिकायतों के निपटारे के लिए राष्ट्रव्यापी पेंशन अदालत का आयोजन करेंगे

पेंशन और पेंशनभोगी कल्याण विभाग के निर्देश पर सभी मंत्रालय और विभाग 17 मई को पेंशनभोगियों की पेंशन संबंधी शिकायतों के निपटारे के लिए राष्ट्रव्यापी पेंशन अदालत का आयोजन करेंगे। इस अवसर पर संसदीय कार्य मंत्रालय भी वर्चुअल माध्यम से संसद भवन में पेंशन अदालत का आयोजन करेगा।

14 महिला और बाल विकास मंत्रालय शिशु देखभाल और शिक्षा को मजबूती देने के लिए नई दिल्‍ली में एक राष्‍ट्रीय कार्यक्रम आयोजित करेगा

महिला और बाल विकास मंत्रालय शिशु देखभाल और शिक्षा को मजबूती देने के लिए नई दिल्‍ली में एक राष्‍ट्रीय कार्यक्रम आयोजित करेगा। यह मिशन सक्षम आंगनवाडी और मिशन पोषण के दूसरे चरण का महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा है। इस अवसर पर मंत्रालय पोषण भी पढाई भी पहल का शुभारम्‍भ करेगा। भारत में विश्‍व के सबसे बडे, सबके लिए सुलभ, उच्‍च गुणवत्‍ता वाले प्री-स्‍कूल नेटवर्क को सुनिश्चित करने के लिए यह शिशु देखभाल और शिक्षा कार्यक्रम के तहत एक महत्‍वपूर्ण कदम है। ‘पोषण भी पढ़ाई भी’ कार्यक्रम बच्चों के लिए समग्र एवं गुणवत्तापूर्ण प्रारंभिक प्रोत्साहन और आरंभिक-प्राथमिक शिक्षा को बढ़ावा देने, विकासात्मक रूप से उपयुक्त शिक्षाशास्त्र के उपयोग को सुनिश्चित करने तथा प्राथमिक शिक्षा के साथ-साथ शुरुआती बचपन के समय में स्वास्थ्य व पोषण संबंधी सेवाओं पर जोर देने पर ध्यान केंद्रित करेगा। ‘पोषण भी पढ़ाई भी’ कार्यक्रम प्राथमिक शिक्षण निर्देश माध्यम के रूप में मातृभाषा में सीखने एवं सिखाने हेतु आंगनवाड़ी सेविकाओं को विभिन्न प्रकार की शिक्षण-अधिगम सामग्री (दृश्य सहायक, श्रव्य साधन, दृश्य-श्रव्य व शारीरिक-गतिज सहायक) प्रदान करेगा और देश की भावी पीढ़ियों की नींव को मजबूत करने में समुदायों को शामिल करने के लिए एक जन आंदोलन बनाने में मदद करेगा।

15 Accenture ने अजय विज को भारत में कंट्री मैनेजिंग डायरेक्टर नियुक्त किया

एक्सेंचर ने अजय विज को कंट्री मैनेजिंग डायरेक्टर और संदीप दत्ता को अपनी इंडिया मार्केट यूनिट का लीड नियुक्त किया है। प्रबंध निदेशक के रूप में, श्री विज समग्र नेतृत्व प्रदान करने और प्रमुख कंपनी प्राथमिकताओं के लिए समन्वित निर्णय लेने के लिए भारत के लिए कॉर्पोरेट सेवाओं और स्थिरता नेतृत्व के रूप में अपनी वर्तमान जिम्मेदारियों का विस्तार करेंगे। भारत में एक्सेंचर की वरिष्ठ प्रबंध निदेशक और चेयरपर्सन रेखा एम. मेनन 30 जून को सेवानिवृत्त होंगी और कंपनी के अनुसार अध्यक्ष की प्राथमिक जिम्मेदारियां अब नई नियुक्तियों द्वारा पूरी की जाएंगी।

16 केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल के कोलकाता में फिल्म ‘Luminaries of Bengal’ को रिलीज़ किया

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल के कोलकाता में फिल्म ‘Luminaries of Bengal’ को रिलीज़ किया। श्री अमित शाह ने विक्टोरिया मेमोरियल हॉल के प्रोजेक्शन मैपिंग शो, नेशनल लाइब्रेरी के गेस्ट हाउस, एंथ्रोपोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया के नए भवन और अबनींद्रनाथ टैगोर पर प्रदर्शनी का भी उद्घाटन किया।

17 भारत की जी20 अध्यक्षता: विकास कार्य समूह (डीडब्ल्यूजी) की तीसरी बैठक

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने विदेश मंत्रालय के सहयोग से गोवा में जी20 विकास कार्य समूह की तीसरी बैठक के दौरान, भारत की महिलाओं के नेतृत्व वाली पहलों को प्रदर्शित करने वाली एक प्रदर्शनी का आयोजन किया है। इसका मूल विषय है “इको” – यानी (ईसीएचओ – इकोनामी विद सेफ क्लाइमेट एंड हेल्थ लीड्स टू ग्रेटर अपॉर्चुनिटीज) सुरक्षित जलवायु और स्वास्थ्य के साथ अर्थव्यवस्था अधिक अवसरों की ओर ले जाती है। विषय “इको – महिलाओं के नेतृत्व वाले विकास के प्रभाव और सतत विकास में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका को दर्शाता है।

18 भारत कर रहा परमाणु ऊर्जा में विदेशी निवेश पर विचार

नीति आयोग द्वारा स्थापित एक सरकारी पैनल ने सिफारिश की है कि भारत को परमाणु ऊर्जा उद्योग में विदेशी निवेश पर प्रतिबंध हटा देना चाहिये और घरेलू निजी कंपनियों की भागीदारी बढ़ानी चाहिये। भारत के परमाणु ऊर्जा अधिनियम 1962 के तहत सरकार परमाणु ऊर्जा स्टेशनों को विकसित करने और चलाने में एक केंद्रीय भूमिका निभाती है। घरेलू निजी कंपनियों को घटकों की आपूर्ति करके और उन्हें बनाने में मदद करके “जूनियर इक्विटी पार्टनर्स” के रूप में भाग लेने की अनुमति है। वर्तमान में भारत परमाणु ऊर्जा क्षेत्र में विदेशी निवेश की अनुमति नहीं देता है और राज्य द्वारा संचालित न्यूक्लियर पावर कॉर्प ऑफ इंडिया लिमिटेड (NPCIL) तथा भारतीय नाभिकीय विद्युत निगम भारत में केवल दो परमाणु ऊर्जा जनरेटर हैं। पैनल ने अधिनियम और भारत की विदेशी निवेश नीतियों में बदलाव की सिफारिश की है ताकि घरेलू तथा विदेशी दोनों निजी कंपनियाँ सार्वजनिक कंपनियों द्वारा परमाणु ऊर्जा उत्पादन का पूरक बन सकें। इसका उद्देश्य कार्बन उत्सर्जन को कम करना है एवं परमाणु ऊर्जा पर ध्यान केंद्रित करना है क्योंकि यह सौर ऊर्जा के विपरीत 24/7 ऊर्जा की आपूर्ति कर सकता है। परमाणु ऊर्जा उत्पादन कुल उत्पादन का 3 प्रतिशत है, जबकि कोयले का हिस्सा लगभग 75 प्रतिशत है। भारत परमाणु सुरक्षा पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलनों का हस्ताक्षरकर्त्ता है और उसे यह सुनिश्चित करना होगा कि निजी कंपनियाँ मानकों का पालन करें।

19 मालचा महल से शुरू हुई हॉन्टेड हेरीटेज वॉक

दिल्ली पर्यटन विभाग ने अपनी बहुप्रतीक्षित ‘हॉन्टेड वॉक‘ शुरू किया है, जिसके लिये यात्रा हेतु पहले गंतव्य के रूप में मालचा महल को चुना गया। मालचा महल या विलाहट महल तुगलक युग का एक शिकार लॉज है, जिसे 14वीं शताब्दी में फिरोज शाह तुगलक ने बनवाया था। यह दिल्ली के चाणक्यपुरी में एक जंगल के अंदर, मुख्य सड़क से 1.5 किमी. दूर स्थित है। इसका नाम मालचा मार्ग के नाम पर रखा गया है, जिसमें राजनयिकों, व्यापारियों और लेखकों सहित शहर के अभिजात वर्ग रहते हैं। फिरोज शाह तुगलक, जो कि तुगलक वंश का दिल्ली का एक सुल्तान था, ने 1351 से 1388 तक शासन किया था। वह वास्तुशिल्प आकार की इमारतों की शुरुआत करने हेतु अधिक प्रसिद्ध है, जिन्हें उसके युग के दौरान अपरंपरागत के रूप में देखा गया था। देश के एक बड़े हिस्से में नहरों के माध्यम से पानी उपलब्ध कराने के लिये नदियों को चैनलाइज़ करने हेतु उन्हें अंग्रेज़ों द्वारा भारत में सिंचाई प्रणाली का जनक भी माना जाता था।

20 INTACH ने परलाखेमुंडी रेलवे स्टेशन को विरासत का दर्जा देने की मांग की

इंडियन नेशनल ट्रस्ट फॉर आर्ट एंड कल्चरल हेरिटेज (INTACH) ने ओडिशा के सबसे पुराने रेलवे स्टेशनों में से एक पारलाखेमुंडी (हेरिटेज स्टेशन) को रेल मंत्रालय द्वारा ध्वस्त कर नए तरीके से निर्माण करने के फैसले का विरोध किया है, इसे वर्ष 1899 में तत्कालीन राजघरानों द्वारा बनाया गया था। इस स्टेशन के पुनर्विकास और नई इमारत के निर्माण से मौजूदा विरासत संरचना के महत्त्व में कमी आ सकती है। INTACH ने पुराने स्टेशन को हेरिटेज टैग देने और इसे यथावत संरक्षित रखने का अनुरोध किया है। INTACH भारत में स्थित एक गैर-लाभकारी संगठन है जिसकी स्थापना वर्ष 1984 में भारत की सांस्कृतिक विरासत के संरक्षण के उद्देश्य से की गई थी। यह संगठन भारत की विविध सांस्कृतिक विरासत के बारे में जागरूकता को बढ़ावा देने, ऐतिहासिक इमारतों, स्मारकों तथा पुरातात्त्विक महत्त्व वाले स्थलों की रक्षा एवं संरक्षण तथा पारंपरिक कला रूपों एवं शिल्प का समर्थन करता है।