भारत ने ईरान के चाबहार बंदरगाह से अफगानिस्तान के लिए गेहूं की पहली खेप रवाना की

0
199

CURRENT G.K.

1.भारत ने ईरान के चाबहार बंदरगाह से अफगानिस्तान के लिए गेहूं की पहली खेप रवाना की :-

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, अफगानिस्तान के विदेश मंत्री सलाहुद्दीन रब्बानी और ईरान के विदेश मंत्री जावेद ज़रीफ ने संयुक्त वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये भारत से अफगानिस्तान को गेहूं की पहली खेप रवाना की।

यह खेप ईरान के चाबहार बंदरगाह के रास्ते भेजी जा रही है। यह आपूर्ति भारत के अफगानिस्तान को सहायता के रूप में 11 लाख टन गेहूं भेजने के फैसले के क्रम में है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मई, 2016 में ईरान यात्रा के दौरान चाबहार बंदरगाह से अफगानिस्तान के लिए आपूर्ति के अंतर्राष्ट्रीय परिवहन और ट्रांजिट गलियारे का त्रिपक्षीय समझौता अस्तित्व में आया था।

अगले कुछ महीनों में अफगानिस्तान को गेहूं की ऐसी ही छह खेप भेजी जाएंगी।

 

2.दो दिवसीय संयुक्त अरब अमारात दौरे पर विदेश राज्यमंत्री एम.जे. अकबर :-

विदेश राज्य मंत्री एम जे अकबर संयुक्त अरब अमारात की दो दिवसीय यात्रा पर हैं। श्री एम. जे. अकबर ने संयुक्त अरब अमारात के रक्षा राज्य मंत्री मोहम्मद बिन अहमद अल बावर्दी से अबू धाबी में मुलाकात की।

बातचीत में पारस्परिक हित के द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मामलों के समूचे पहलुओं पर चर्चा की जाएगी।

 

3.उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा- अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए सरकार और कारोबार जगत को मिलकर काम करना होगा :-

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा है कि सरकार और कारोबार दोनों ठीक से चलें तभी आर्थिक वृद्धि तेज हो सकती है।

मुंबई में एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि सरकार को देशहित में, कारोबार के अनुकूल माहौल बनाने के लिए उचित और निवेश आकर्षित करने वाले उपाय अपनाने चाहिए। श्री नायडू ने उद्योगजगत के नैतिक मानदंडों को बढ़ावा देने की अपील की।

उन्होंने कहा कि उद्योग जगत यानि इंडिया इंक और सरकारी-तंत्र दोनों मिलकर ही यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि हर परिसंपत्ति उत्पादक हो।

 

4.राष्ट्रीय न्यायिक डेटा ग्रिड के तहत इस वर्ष के अंत तक देश के सभी हाईकोर्ट का कामकाज डिजिटल हो जाएगा- जस्टिस मदन बी. लोकुर :-

उच्चतम न्यायालय की ई-समिति के अध्यक्ष न्यायमूर्ति मदन बी. लोकुर ने कहा है कि राष्ट्रीय न्यायिक डेटा ग्रिड के तहत इस वर्ष के अंत तक देश के सभी उच्च न्यायालयों का कामकाज डिजिटल हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि इसके अगले चरण में ई-फाइलिंग को लागू किया जाएगा और स्टॉम्प शुल्क भी ऑनलाइन खरीदे जा सकेंगे। न्यायमूर्ति लोकुर ने यह बात मद्रास उच्च न्यायालय के डिजिटाइजेशन सेंटर का उद्घाटन करते हुए कही।

 

5.जीएसटी नेटवर्क ने वस्तु और सेवा कर जमा करने की प्रणाली को सुविधाजनक बनाने के लिए सर्वेक्षण शुरू किया :-

जीएसटी नेटवर्क – जी एस टी एन ने वस्तु और सेवा कर जमा करने की प्रणाली को सुविधाजनक बनाने के लिए सर्वेक्षण शुरू किया है।

इससे करदाताओं के अनुभवों की जानकारी पोर्टल पर डाली जा रही है। जी एस टी एन के अध्यक्ष अजय भूषण पाण्डे ने नई दिल्ली में बताया कि इसी उद्देश्य के लिए पूर्ण रूप से काम करने वाले कॉलसेंटर से दिनभर में करीब पांच सौ कॉल की जाती हैं और उन लोगों से उनके व्यापार के बारे में प्रतिक्रिया प्राप्त की जाती है जिन्होंने अपने रिटर्न जमा किए हैं।

 

6.भूतल परिवहन व जल संसाधन मंत्री गडकरी ने कहा है कि रूस और जापान की कंपनियों ने भारत को पानी में चलने वाले विमानों की आपूर्ति में रूचि दिखाई :-

भूतल परिवहन और जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि रूस और जापान की कंपनियों ने भारत को पानी में चलने वाले विमानों की आपूर्ति में रूचि दिखाई है।

इनमें 50 सीट वाले विमान भी शामिल हैं। श्री गडकरी ने कहा कि देश में एक सौ 11 नदियों को राष्ट्रीय जलमार्गों में परिवर्तित करने की सरकार की योजना है और पानी में चलने वाले विमानों को यमुना, गंगा और अन्य नदियों में इस्तेमाल करने का प्रस्ताव विचाराधीन है।

ये विमान सार्वजनिक परिवहन के अलावा माल ढुलाई, आग बुझाने तथा बचाव कार्यों के अलावा रक्षा कार्यों में भी प्रयोग किए जा सकते हैं।

 

7.जीएसटी के मुआवजे के लिए केन्द्र ने राज्यों को दिये 8698 करोड़ रुपये :-

केंद्र सरकार ने जीएसटी लागू होने के बाद पिछले दो महीनों में हुए नुकसान की भरपाई के लिए राज्यों को 8,698 करोड़ रुपये दिये हैं।

राजस्थान और अरुणाचल प्रदेश को छोड़कर बाकी सभी राज्यों को इसका मुआवजा मिलेगा।जीएसटीएन की देखरेख के लिए बने मंत्रिसमूह के प्रमुख एवं बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने बताया कि जुलाई और अगस्त में सेस से मिले कुल राजस्व का 58 फीसद मुआवजे के रूप में राज्यों को जारी किया गया है।

सेस से जुलाई-अगस्त में 15,060 करोड़ रुपये मिले। जीएसटी के तहत लक्जरी कारों और तंबाकू जैसी चीजों पर 28 फीसदी टैक्स लगाया गया है। जीएसटी से राज्यों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए टैक्स के अतिरिक्त इन उत्पादों पर सेस लगाया गया है।

अरुणाचल प्रदेश को क्षतिपूर्ति इसलिए नहीं दिया गया है क्योंकि राज्य कुछ तकनीकी कारणों से इस संबंध में कोई दावा पेश नहीं कर सका। राजस्थान को भी किन्हीं तकनीकी कारणों से इस क्षतिपूर्ति फंड का लाभ अभी नहीं मिलेगा।सुशील मोदी की अध्यक्षता वाले मंत्रिसमूह ने शनिवार को कहा कि जीएसटीआर-2 दाखिल करने में करदाताओं को परेशानी हो रही है।

मंत्रिसमूह ने जीएसटीएन की जिम्मेदारी संभाल रही आइटी कंपनी इन्फोसिस को व्यवस्था दुरुस्त करने का निर्देश दिया है।

 

8.इंग्लैंड ने पहली बार फीफाअंडर-17 फुटबॉल विश्व कप जीता :-

दबाव में भी हिम्मत न हारने के इंग्लैंड के खिलाड़ियों के जज्बे ने उसे पहली बार फीफा अंडर 17 का ख़िताब दिला दिया। हाफ टाइम तक 2-1 की बढ़त से स्पेन ने अपना दबदबा बनाए रखा। लेकिन दूसरे हाफ में मैच पूरी तरह से बदल गया।

पिछड़ रही इंग्लैंड की टीम जहां जोरदार आक्रमण पर उतर आई, वही इन हमलों से घबराकर स्पेन रक्षात्मक खेल खेलने के लिए मजबूर हो गया।

इंग्लैंड ने 58वें मिनट में गिब्स व्हाइट के गोल से 2-2 की बराबरी हासिल की। इसके बाद तो इंग्लैंड ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। एकजुट आक्रमण से इंग्लैंड के खिलाड़ी लगातार गोल करते गए और स्पेनिश खिलाड़ी जैसे तमाशबीन भर बनकर रह गए।

शुरुआत में बराबरी के फाइनल को पूरे टूर्नामेंट में अविजित इंग्लैंड ने दूसरे हाफ में चार गोल कर एकतरफा बना दिया। उधर, तीसरे स्थान के लिए हुए मैच में ब्राजील की टीम अपने दमदार खेल की कमी के बावजूद पिछले बार की उपविजेता माली पर 2-0 से जीत हासिल करने में सफल रही।

 

9.पेरिस में फ्रेंच ओपन बैडमिंटन में पुरुष सिंगल्स में के. श्रीकांत का सामना जापान के केन्ता निशिमोतो से :-

फ्रेंच ओपन सुपर सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट के पुरूष सिंगल्स फाइनल में आज किदाम्बी श्रीकांत का मुकाबला जापान के केन्ता निशिमोतो से होगा।

पेरिस में कल सेमीफाइनल में श्रीकांत ने भारत के ही एच.एस. प्रणॉय को हराकर फाइनल में जगह बनाई।वहीं महिला सिंगल्स सेमीफाइनल में भारत की पी. वी. सिंधु को पराजय का सामना करना पड़ा।

 

10.टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा दर्शकों का बना रिकॉर्ड :-

फीफा अंडर-17 विश्व कप के 17वें संस्करण ने शनिवार को बड़ी उपलब्धि हासिल की जब यह टूर्नामेंट के इतिहास में सर्वाधिक दर्शकों द्वारा देखी जाने वाली प्रतियोगिता बनी।

ब्राजील और माली के बीच तीसरे-स्थान के प्लेऑफ के बाद टूर्नामेंट देखने वाले दर्शकों की संख्या 1230976 को पार कर गई जो रिकॉर्ड 1985 में चीन में पहले फीफा अंडर-17 विश्व कप के दौरान बना था।

विवेकानंद युवाभारती स्टेडियम में इस मैच को देखने 56432 दर्शक पहुंचे, जिससे टूर्नामेंट के कुल दर्शकों की संख्या 1280459 हो गई।

मैच से पूर्व यह रिकॉर्ड तोड़ने के लिए सिर्फ 6949 दर्शकों की जरूरत थी। मेक्सिको में 2011 में हुए टूर्नामेंट में 1002314 दर्शक पहुंचे थे व यह 10 लाख के आंकड़ा छूने वाला तीसरा टूर्नामेंट है। 18 अक्टूबर को दर्शकों की संख्या दस लाख के पार पहुंची।