भारत ने परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम अग्नि-चार मिसाइल का ओडीसा तट से सफल परीक्षण किया

0
76

राष्टीय न्यूज़

1.केन्‍द्रीय यूनानी औषधि अनुसंधान परिषद अगले वर्ष यूनानी दिवस के उपलक्ष्‍य में कर रहा है कई कार्यक्रमों की शुरूआत:-

केन्‍द्रीय यूनानी औषधि अनुसंधान परिषद अगले वर्ष यूनानी दिवस के उपलक्ष्‍य में विभिन्‍न कार्यक्रमों की शुरूआत कर रहा है। यूनानी दिवस प्रतिवर्ष 11 फरवरी को मनाया जाता है। आयुष मंत्रालय ने 2016 में प्रमुख भारतीय यूनानी चिकित्‍सक हकीम अजमल खान के योगदान को सम्‍मान देते हुए उनका जन्‍म दिवस 11 फरवरी को यूनानी दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया था।

केंद्रीय यूनानी औषधि अनुसंधान परिषद जन स्वास्थ्य के लिए यूनानी चिकित्सा पर दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन करेगा। राष्ट्रीय राजधानी में इस सिलसिले में पुरस्कार समारोह, प्रदर्शनी और कई कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। इस सम्मेलन में जन स्वास्थ्य पर महत्वपूर्ण ध्यान दिया जायेगा, जिसमें शिशु की देखभाल, वृद्धावस्था के दौरान होने वाली दिक्कतों पर बातचीत की जायेगी। इस सत्र में यूनानी दवाइयों पर लोगों की जागरुकता बढ़ाई जायेगी।

2.भारत ने परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम अग्नि-चार मिसाइल का ओडीसा तट से सफल परीक्षण किया:-

परमाणु क्षमता से लैस लम्‍बी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-4 का ओडि़सा त‍ट से सफल परीक्षण किया गया। यह परीक्षण सुबह आठ बजकर 35 मिनट पर ए पी जे अब्‍दुल कलाम द्वीप से किया गया। अग्नि-4 स्‍वदेश में निर्मित दो चरणों वाला प्रक्षेपास्‍त्र है, जिसकी मारक क्षमता 4 हजार किलोमीटर है। रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन ने कहा है कि इस मिसाइल में अपने लक्ष्‍य पर पहुंचने के क्रम में होने वाली गड़बडियों को स्‍वयं ही ठीक कर लेने की क्षमता है। भारत ने इस महीने के शुरू में अंतर-महाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल का भी सफल परीक्षण किया था।

3.छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा- राज्य में माओवाद की समस्या का समाधान गोलियों से नहीं किया जा सकता:-

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि राज्य में माओवाद की समस्या का समाधान गोलियों से नहीं किया जा सकता। आकाशवाणी से बातचीत में श्री बघेल ने कहा कि उनकी सरकार राज्य के माओवाद प्रभावित क्षेत्रों में जनजातीय लोगों का विश्वास बहाल करने का काम करेगी।

उन्होंने कहा- “बंदूक से तो आज तक किसी समस्या का समाधान नहीं हो पाया है। वहां के लोगों को विश्वास में लेकर ही समस्या का निराकरण किया जायेगा। वहां के जो आदिवासी चाहे गैर आदिवासी, व्यापारी हैं, वहां के पत्रकार हैं, वहां के जो बुद्धिजीवी हैं, सामाजिक क्षेत्र में काम करने वाले लोग हैं, सबसे चर्चा करके ठोस रणनीति बनाकर हम आगे कदम बढ़ायेंगे।”

4.प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय अखण्डता के लिए सरदार पटेल पुरस्कार की घोषणा की:- 

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने केवडिया में डीजीपी/ आईजीपी  सम्मेलन में राष्ट्रीय अखण्डता के लिए वार्षिक सरदार पटेल पुरस्कार की घोषणा की। यह पुरस्कार राष्ट्रीय एकीकरण को और बढ़ाने की दिशा में असाधारण प्रयासों के लिए दिया जाएगा।प्रधानमंत्री ने कहा  “सरदार पटेल ने भारत को एकजुट करने के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। राष्ट्रीय अखण्डता के लिए सरदार पटेल पुरस्कार उनके लिए एक उचित श्रद्धांजलि होगी और यह अधिक से अधिक लोगों को भारत की एकता और राष्ट्रीय अखण्डता को बढ़ाने की दिशा में काम करने के लिए प्रेरित करेगा।”  

5.ऊर्जा संरक्षण के क्षेत्र में रेलवे को मिले 17 पुरस्कार:-

रेलवे ने 14 दिसंबर को यहां आयोजित ‘राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार-2018’ में 17 पुरस्कार हासिल किए हैं। विभिन्न उप क्षेत्रों को शामिल करते हुए पांच प्रमुख श्रेणियों में दिए जाने वाले पुरस्कारों में से रेलवे ने तीन श्रेणियों स्टेशन, अस्पताल और संस्थानों की कैटेगरी में हिस्सा लिया था।परिवहन के क्षेत्र में स्टेशन कैटेगरी के तहत रेलवे को जहां 10 पुरस्कार मिले वहीं अस्पतालों की कैटेगरी में उसके हिस्से में तीन पुरस्कार आए। संस्थानों की कैटेगरी की बात करें तो उसे पीडब्ल्यूडी, सीपीडब्ल्यूडी और पीएचईडी के लिए चार पुरस्कार मिले।

स्टेशनों की कैटेगरी में रेलवे के हिस्से में जो 10 पुरस्कार आए हैं, उनमें मध्य प्रदेश का विदिशा स्टेशन पहले नंबर पर है। दूसरे नंबर पर गुजरात का जामनगर है। इसके बाद द्वारका, राजकोट, सुरेंद्रनगर, हैदराबाद, निजामाबाद, गुवाहाटी, जयपुर और काजीपेट का स्थान आता है।अस्पताल कैटेगरी में बात करें तो रेलवे का इज्जतनगर डिवीजन पहले नंबर पर रहा है। राजकोट डिवीजन का रेलवे अस्पताल दूसरे जबकि रतलाम डिवीजन का रेलवे अस्पताल तीसरे नंबर पर रहा है। कार्यालयों में ऊर्जा संरक्षण के क्षेत्र में रेलवे के हिस्से में चार पुरस्कार आए हैं, इनमें से सिकंदराबाद डिवीजन और हैदराबाद के डीआरएम आफिस को पहला और दूसरा पुरस्कार मिला।

 

अन्तर्राष्ट्रीय न्यूज़

6.संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने यमन में पर्यवेक्षक भेजने का प्रस्ताव पारित किया:-

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने यमन के रणनीतिक तौर पर अहम बंदरगाह शहर हुदयदाह में युद्धविराम की नाजुक स्थिति पर नजर रखने के लिए पर्यवेक्षकों को तैनात करने के प्रस्ताव को सर्वसम्मति से मंजूरी दी है। ब्रिटेन की ओर से पेश किए गए मसौदे पर परिषद के 15 सदस्यों ने गहन चर्चा की और इसे पारित करने से पहले इसमें कई बार संशोधन किया गया। परिषद ने संयुक्त राष्ट्र की मध्यस्थता में पिछले हफ्ते स्वीडन में की गई बातचीत के नतीजों को भी समर्थन दिया।यमन के परस्पर विरोधी पक्ष संघर्षविराम पर सहमत हुए हैं। यह मंगलवार से अमल में आ गया है और इसमें हुदयदाह से लड़ाकों को हटाना शामिल हैं जो सहायता और खाद्य सामग्री के लिए एक प्रमुख रास्ता है। यह भुखमरी के मुहाने पर जी रहे लाखों लोगों के लिए जीवन रेखा है। सऊदी अरब की अगुवाई वाले बलों और हूती शिया विद्रोहियों के बीच संघर्षविराम को चार साल से जारी संघर्ष को खत्म करने के लिए एक बेहतरीन मौके के तौर पर देखा जा रहा है। समझौते में कैदियों की अदला-बदली की भी योजना है, जिसमें करीब 15,000 कैदियों की अदला-बदली हो सकती है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव में इस बात पर जोर दिया गया है कि हुदयदाह के लिए हुए संघर्ष विराम का सभी पक्ष सम्मान करें। संयुक्त राष्ट्र में सऊदी अरब के उपस्थायी प्रतिनिधि खालिद मंज़ालवी ने कहा कि उनका देश प्रस्ताव का स्वागत करता है।

 

खेल न्यूज़

7.ऑस्ट्रेलिया के पूर्व स्पिनर ब्रैड हॉग ने कहा- विराट कोहली से प्रेरणा लेती है भारतीय टीम:-

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व स्पिनर ब्रैड हॉग ने भारतीय कप्तान विराट कोहली का बचाव करते हुए कहा कि उनकी टीम उनसे प्रेरणा लेती है। उन्होंने भारतीय कप्तान की प्रशंसा करते हुए कहा, कोहली इस भारतीय टीम की ऊर्जा है। वह साफ तौर पर टीम के नेतृत्वकर्ता है और टीम उनसे प्रेरणा लेती है। आप उन्हें मैदान पर देखिए, उनमें गजब का जोश है और वह भारतीय टीम से भी ऐसा ही उम्मीद करते हैं। वह सामने नेतृ्त्व करते हैं।

 

बाजार न्यूज़

8.भारत बना सातवां सबसे बड़ा शेयर बाजार:-

भारत दुनिया का सातवां सबसे बड़ा शेयर बाजार बन गया है। उसने यूरोप की सबसे अर्थव्यवस्था जर्मनी के स्टॉक मार्केट को पछाड़कर यह तमगा हासिल किया है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक, ब्रिटेन के मार्च में यूरोपीय संघ छोड़ने के बाद फ्रांस ही अब सात सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में एकमात्र यूरोपीय देश रह गया है। अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक तनाव, फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी की चुनौती के बावजूद भारत ने यह मुकाम हासिल किया है।

भारत का बेंचमार्क एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स का आकार पिछले साल की तुलना में पांच फीसदी बढ़ा है। कच्चे तेल के उतार-चढ़ाव और विदेशी निवेशकों की भारी बिकवाली की चुनौती का भी भारतीय बाजार ने सफलतापूर्वक सामना किया है। वर्ल्ड बैंक के मुताबिक, जर्मनी की जीडीपी में निर्यात का 38%योगदान है, जबकि भारत में यह महज 11%। इससे पता चलता है कि भारतीय बाजार में तेज़ी का कारण बढ़ती घरेलू मांग है। भारत सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था है।

9.23 वस्तुओं और सेवाओं पर जीएसटी दरों में कमी, नई दरें पहली जनवरी से लागू:-

जीएसटी परिषद ने 23 वस्‍तुओं और सेवाओं पर कर की दरें कम कर दी हैं। अब केवल 28 वस्‍तुएं जी एस टी के सबसे अधिक 28 प्रतिशत के स्‍लैब में रह गई हैं। 100 रूपये तक के सिनेमा टिकटों पर कर की दरें 18 प्रतिशत से घटाकर 12 प्रतिशत कर दी गई है। ज‍बकि 100 रूपये से अधिक की टिकटों पर 28 प्रतिशत की बजाय अब 18 प्रतिशत कर लगेगा।

नई दिल्‍ली में वस्‍तु और सेवाकर परिषद की बैठक के बाद वित्‍त मंत्री अरूण जेटली ने संवाददाताओं को बताया कि दिव्‍यांगों के वाहनों के कलपुर्जों पर जी एस टी दर कम करके 5 प्रतिशत की गई है। उन्‍होंने बताया कि कर दरों में कटौती से राजस्‍व में 5 हजार पांच सौ करोड़ रूपये का बोझ पड़ेगा। वित्‍त मंत्री ने कहा कि जन धन खाता धारकों के लिए बैंक की सेवा पर कोई कर नहीं लगेगा। श्री जेटली ने कहा कि  सीमेंट और वाहन कलपुर्जे एयर कंडीशनर और डिश वॉशर जैसी विलासिता की वस्‍तुओं पर 28 प्रतिशत का कर स्‍लैब लागू होगा। वस्‍तु और सेवा कर की नई दरें एक जनवरी से प्रभावी होंगी।

10.धीरे-धीरे परवान चढ़ रही आयुष्मान योजना:-

गरीबों को मुफ्त इलाज उपलब्ध कराने के लिए शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना धीरे-धीरे परवान चढ़ने लगी है। योजना शुरू होने के तीन महीने के भीतर छह लाख से अधिक गरीबों का मुफ्त और कैशलेस इलाज किया जा चुका है। स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने कहा कि आंकड़े स्पष्ट तौर पर बताते हैं कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ सुदूरवर्ती इलाकों में भी गरीब लोगों को मिल रहा है।स्वास्थ्य मंत्रलय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि जैसे-जैसे गरीब परिवारों को इस योजना की जानकारी मिल रही है, इसका लाभ उठाने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। योजना की लोकप्रियता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जहां तीन महीने में लगभग 31 लाख ई-कार्ड लाभार्थियों को दिए गए थे, वहीं पिछले 24 घंटे में 1.21 लाख ई-कार्ड जारी किए गए हैं। इस दौरान लगभग 10 हजार गरीब इलाज के लिए अस्पतालों में भर्ती हुए हैं।

इस योजना के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से सभी गरीब परिवारों को पत्र भेजा जा रहा है। अभी तक 6.45 परिवारों को यह पत्र भेजा जा चुका है। मोदी खुद समय-समय पर इस योजना की निगरानी कर रहे हैं। उनका स्पष्ट निर्देश है कि कोई भी गरीब पैसे की कमी के कारण इलाज से वंचित नहीं रह पाए।

इस योजना के तहत गरीबों के इलाज पर आने वाले खर्च के भुगतान के लिए अस्पतालों को लंबा इंतजार भी नहीं करना पड़ रहा है। इसके तहत अस्पतालों को 15 दिन के भीतर पूरा भुगतान किया जा रहा है। अभी तक गरीबों के इलाज पर कुल 817 करोड़ रुपये का खर्च आया है। इनमें 472 करोड़ रुपये अस्पतालों को दिए जा चुके हैं। जेपी नड्डा के अनुसार, आयुष्मान भारत के तहत शुरू की गई प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना पहले दिन से ही उन गरीबों के लिए एक विश्वास बनकर उभरी है, जिनका परिवार इलाज के बोझ से टूट जाता था या फिर वे इलाज से ही वंचित रह जाते थे।राष्ट्रपति ने की आयुष्मान भारत योजना की तारीफ: करीमनगर (तेलंगाना), प्रेट्र : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आयुष्मान भारत योजना की सराहना करते हुए कहा कि इसका लक्ष्य यह सुनिश्चित करना है कि आर्थिक संसाधनों की कमी से कोई भी इलाज से वंचित नहीं रहे। कोविंद ने बेहतर स्वास्थ्य देखभाल के लिए सार्वजनिक, नगर निगम, परमार्थ अस्पतालों, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और वेलनेस क्लीनिकों को मजबूत करने पर जोर दिया।