भारत सरकार के नेफेड ने स्वस्थ जीवन को बढ़ावा देने के लिए फोर्टिफाइड ब्रैन राइस तेल लॉन्च किया

0
12
1. भारत, विश्‍व का चौदहवां सबसे परोपकारी देश
विश्व दाता सूचकांक 2021(World Giving Index 2021) की रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत दुनिया का 14वां सर्वाधिक परोपकारी देश है। कोविड-19 महामारी ने दुनियाभर में दान कार्यों के रुझानों का संकेत दिया है। चैरिटीज एड फाउंडेशन- सीएएफ के इस वर्ष के सर्वेक्षण में दान और परोपकारी गतिविधियों पर लॉकडाउन के प्रभावों का उल्लेख किया गया है। भारत अब विश्व के शीर्ष 20 उदार देशों में शामिल हैं, जबकि पिछले दस वर्षों तक भारत 82वें स्थान पर था। आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड दुनिया के शीर्ष दस दान-दाता देशों में बने हुए हैं। दुनिया के लगभग तीन अरब व्यस्क लोगों ने 2020 में किसी न किसी ऐसे व्यक्ति की सहाय़ता की जिसे वह जानते भी नहीं थे। सीएएफ की रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत में 2017-2019 के बीच दान और परोपकारी गतिविधियों में उल्लेखनीय वृद्धि हुई और यह रूझान 2020 में भी जारी रहा।भारत में सभी आयु वर्ग के स्त्री पुरुषों ने खुल कर दान किया। 61 प्रतिशत भारतीयों ने अपरिचितों की सहायता की, 34 प्रतिशत लोग मदद के लिए आगे आए और 36 प्रतिशत लोगों ने धनराशि दान की।
2, मलेरिया के लड़ने के लिए India Interagency Expert Committee on Malaria and Climate (IEC) का गठन किया गया
भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) और भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने “Malaria No More” के साथ साझेदारी की है जो एक गैर-सरकारी संगठन है। IMD और ICMR ने “Malaria No More” के सहयोग से भारत में मलेरिया को खत्म करने के लिए जलवायु-आधारित समाधानों का पता लगाने और उन्हें आगे बढ़ाने के लिए एक विशेषज्ञ समिति को लांच किया है।इस समिति को “India Interagency Expert Committee on Malaria and Climate (IEC)” कहा जा रहा है। IEC “Forecasting Healthy Futures” नामक एक वैश्विक पहल का हिस्सा है जो स्वास्थ्य परिणामों में सुधार के लिए डेटा-सूचित रणनीतियों और नीतियों को विकसित करने का प्रयास करता है। यह मलेरिया से निपटने के लिए मॉडलों को बेहतर बनाने पर ध्यान केंद्रित करेगा।
3. भारत सरकार के नेफेड ने स्वस्थ जीवन को बढ़ावा देने के लिए फोर्टिफाइड ब्रैन राइस तेल लॉन्च किया
खाद्य एवं जन वितरण विभाग के सचिव श्री सुधांशु पांडेय ने नेफेड के फोर्टिफाइड ब्रैन राइस तेल (पुष्टिकारक चावल की भूसी का तेल) का ई-लॉन्च किया। इस अवसर पर श्री सुधांशु पांडेय ने कहा कि नेफेड की इस पहल से भविष्य में आयातित खाद्य तेल पर देश की खपत निर्भरता काफी कम हो जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि इससे भारतीय खाद्य तेल निर्माताओं को और अधिक अवसर मिलेंगे तथा प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत पहल को भी बल मिलेगा। इस राइस ब्रैन आयल का विपणन नेफेड (राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ लिमिटेड) द्वारा किया जाएगा। राइस ब्रैन तेल के कई स्वास्थ्य लाभ हैं, जिनमें इसके कम ट्रांस-फैट सामग्री और उच्च मोनो असंतृप्त और पॉली असंतृप्त वसा सामग्री के कारण कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करना शामिल है।
4. जलमार्ग और नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने आज भारत में सीप्लेन सुविधाओं के विकास के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए
भारत में समुद्री विमान सेवाओं के विकास के लिए भारत सरकार के पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्रालय और नागरिक उड्डयन मंत्रालय के बीच एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए। यह समझौता ज्ञापन भारत सरकार की क्षेत्रीय संपर्क योजना-उड़ान के तहत भारत के क्षेत्रीय अधिकार क्षेत्र के भीतर सीप्लेन सेवाओं के गैर अनुसूचित/अनुसूचित संचालन के विकास की परिकल्पना करता है। समझौता ज्ञापन के अनुसार, नागरिक उड्डयन मंत्रालय, पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्रालय और पर्यटन मंत्रालय के अधिकारियों के साथ एक समन्वय समिति का गठन समुद्री विमान सेवाओं के संचालन को विभिन्न स्थानों पर समय पर पूरा करने के लिए किया जाना है। दोनों मंत्रालय और सागरमला डिवेलपमेंट कंपनी लिमिटेड सभी एजेंसियों द्वारा चिन्हित/सुझाए गए सीप्लेन परिचालन मार्गों के संचालन पर विचार करेंगे।
5. मध्य प्रदेश लांच करेगा ‘युवा शक्ति कोरोना मुक्ति अभियान’
मध्य प्रदेश कोविड-19 महामारी पर लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए ‘युवा शक्ति कोरोना मुक्ति अभियान’ (Yuva Shakti Corona Mukti Abhiyan) शुरू करने जा रहा है। इस अभियान के तहत कॉलेज के शिक्षकों और लगभग 16 लाख छात्रों को कोविड-19 संक्रमण के प्रति जागरूक कर उन्हें कोविड उपयुक्त व्यवहार और टीकाकरण की शिक्षा दी जाएगी। उच्च शिक्षा एवं तकनीकी शिक्षा विभाग द्वारा लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के सहयोग से यह अभियान चलाया जायेगा। इसअभियान की प्रभावी वास्तविक समय निगरानी के लिए मोबाइल एप्प भी विकसित किया गया है।
6. सरकार ने वर्ष 2025 तक एथनॉल निकालने की क्षमता दोगुनी होने की उम्‍मीद जतायी, देश 20 प्रतिशत एथनॉल मिश्रण का लक्ष्‍य हासिल कर लेगा
सरकार ने आशा व्‍यक्‍त की है कि वर्ष 2025 तक एथनॉल निकालने की क्षमता दोगुनी हो जाएगी और देश बीस प्रतिशत एथनॉल मिश्रण का लक्ष्‍य हासिल कर सकेगा। खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग में सचिव सुधांशु पाण्‍डे ने कहा है कि पेट्रोल के साथ एथनॉल मिश्रण कार्यक्रम से देश की अर्थव्‍यवस्‍था पर सकारात्‍मक प्रभाव पडेगा। उन्‍होंने कहा कि इस कार्यक्रम के जरिए एथनॉल को ईंधन के रूप में प्रोत्‍साहित किया जाएगा। एथनॉल प्रदूषण नहीं फैलाता है और पर्यावरण अनुकूल है। उन्‍होंने कहा कि ई-20 ईंधन का इस्‍तेमाल करने से कार्बन-मोनो-ऑक्‍साइड का उत्‍सर्जन का तीस से पचास प्रतिशत और हाईड्रो कार्बन उत्‍सर्जन बीस प्रतिशत तक कम होता है। उन्‍होंने कहा कि सरकार चीनी मीलों और शराब भट्ट‍ियों को वित्‍तीय सहायता देकर उनकी एथनॉल निकालने की क्षमता बढाने को प्रोत्‍साहित कर रही है। श्री पाण्‍डे ने कहा कि क्षमता बढाने और नई शराब भट्टियों के लिए संभावित 41 हजार करोड रूपए के निवेश के चलते ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के अवसर उपलब्‍ध होंगे। हाल ही में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने भारत में 2020 से 2025 तक एथनॉल मिश्रण के लिए रूपरेखा पर विशेष समिति की एक रिपोर्ट जारी की थी। रिपोर्ट के अनुसार ई-20 ईंधन को सफलतापूर्वक अपनाने से 30 हजार करोड रूपए से अधिक की बचत हो सकती है। ई-20 ईंधन पेट्रोल के साथ बीस प्रतिशत एथनॉल का मिश्रण है।
7. भारतीय सेना ने समर्पित माल ढुलाई गलियारे पर वाहनों और उपकरणों से लदी एक सैन्य रेलगाड़ी का सफलतापूर्वक ट्रायल रन किया
भारतीय सेना ने समर्पित माल ढुलाई गलियारे पर वाहनों और उपकरणों से लदी एक सैन्य रेलगाड़ी का सफलतापूर्वक ट्रायल रन किया है। यह परीक्षण हरियाणा के न्यू रेवाड़ी स्टेशन से राजस्थान के न्यू फुलेरा स्टेशन तक किया गया। भारी उपकरणों को लेकर भारतीय सेना के त्वरित आवागमन के उद्देश्य से यह ट्रायल रन किया गया। डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड-डीएफसीसीआईएल और भारतीय रेलवे के साथ जटिल और समन्वित समन्वय सशस्त्र बलों की लामबंदी क्षमता में काफी वृद्धि करेगा।
8. विश्व वृद्धजन दुर्व्यहार जागरुकता दिवस
संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 15 जून को विश्व बुजुर्ग दुर्व्यवहार जागरूकता दिवस नामित किया है। इस वर्ष का विषय है – न्याय तक पहुंच। न्याय तक पहुंच वृद्धजनों को अपने सभी मानवाधिकारों का पूरी तरह से प्रयोग करने की क्षमता प्रदान करती है। संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि हिंसा, दुर्व्यवहार और उपेक्षा की स्थितियों का अनुभव करने वाले वृद्धजनों को न्यायिक सहायता प्राप्त करने में कई बाधाओं का सामना करना पड़ता है। इनमें पहुंच, सामर्थ्य, उचित आवास, लंबित मामले और न्यायिक प्रक्रिया में अत्यधिक देरी, लिंग आधारित पूर्वाग्रह और भेदभाव शामिल हैं।
9. लोकसभा ने पशुपति कुमार पारस को सदन में लोकजन शक्ति पार्टी के नेता के रूप में अधिसूचित किया
पशुपति कुमार पारस को चिराग पासवान के स्थान पर लोकसभा में लोकजनशक्ति पार्टी का नेता चुना गया है। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने श्री पारस को लोकजनशक्ति पार्टी के संसदीय दल के नेता के रूप में मान्यता दे दी है। इससे पहले पार्टी के छह सांसदों में से पांच ने श्री बिरला से मुलाकात कर उन्हें चिराग पासवान को हटाकर पारस को नेता बनाने का अनुरोध पत्र सौंपा। पशुपति कुमार पारस लोकजनशक्ति पार्टी के संस्थापक रामविलास पासवान के छोटे भाई हैं और हाजीपुर से पार्टी सांसद हैं। पार्टी के चार सांसदों- चंदन सिंह, बीणा देवी, महमूद अली कैसर और प्रिंस राज ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान को अलग-थलग करते हुए संसदीय बोर्ड के नेता के रूप में श्री पारस का समर्थन किया। इसके बाद श्री पारस को सर्वसम्मति से लोकसभा में एलजेपी का नेता चुना गया।
10. पीएम मोदी ने मरुस्थलीकरण, भूमि क्षरण और सूखे पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन को संबोधित किया
प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि भारत में पिछले 10 वर्ष के दौरान तीस लाख हेक्‍टेयर से अधिक वनक्षेत्र की बढोतरी हुई है। उन्‍होंने कहा कि इससे देश का वनक्षेत्र बढकर कुल क्षेत्रफल का लगभग एक चौथाई हो गया है। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी मरुस्थलीकरण, भूमि की उर्वरा शक्ति कम होने और सूखे पर संयुक्‍त राष्‍ट्र उच्‍चस्‍तरीय संवाद को वर्चुअली संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने कहा कि भारत भूमि की उपजाऊ शक्ति बनाए रखने की राष्‍ट्रीय प्रतिबद्धता हासिल करने की दिशा में कार्यरत है। श्री मोदी मरूस्थलीकरण की समस्या से निपटने की संयुक्त राष्ट्र संधि में शामिल देशों के सम्मेलन के 14वें सत्र के अध्यक्ष के रूप में उद्घाटन खंड को संबोधित कर रहे थे। प्रधानमंत्री ने कहा- भारत वर्ष 2030 तक दो करोड 60 लाख हेक्‍टेयर भूमि को फिर उपजाऊ बनाने के लिए काम कर रहा है।
11. न्यूजीलैंड दुनिया का पहला लकड़ी से बना उपग्रह लॉन्च करेगा
यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी (ESA) 2021 के अंत तक दुनिया का पहला लकड़ी का उपग्रह WISA Woodsat पृथ्वी की कक्षा में लॉन्च करेगी। अंतरिक्ष यान संरचनाओं में प्लाईवुड जैसी लकड़ी की सामग्री के उपयोग का परीक्षण करने के लिए इसे लॉन्च किया जाएगा। यह मिशन लकड़ी की सामग्री को चरम अंतरिक्ष स्थितियों जैसे गर्मी, ठंड, वैक्यूम और विकिरण के संपर्क में लाएगा। रॉकेट लैब इलेक्ट्रॉन रॉकेट के साथ 2021 के अंत तक लकड़ी के उपग्रह को अंतरिक्ष में लांच किया जाएगा। इसे न्यूजीलैंड के माहिया पेनिनसुला लॉन्च कॉम्प्लेक्स से लॉन्च किया जाएगा। इस सैटेलाइट को फिनलैंड में डिजाइन और निर्मित किया गया है।
12. UN Trade Forum 2021 का आयोजन किया गया
UN Trade Forum 2021 में बोलते हुए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है, भारत का प्रति व्यक्ति कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में सबसे कम है। भारत का 2030 तक 450 गीगावाट का अक्षय ऊर्जा लक्ष्य है। यह सतत विकास और सतत विकास लक्ष्यों पर संयुक्त राष्ट्र 2030 एजेंडा के प्रति भारत की प्रतिबद्धता को दर्शाता है ।उन्होंने इस बात पर प्रकाश डाला कि, जलवायु न्याय की रक्षा की जानी चाहिए और विकसित देशों को एक सतत जीवन शैली लाने के लिए अपने उपभोग के पैटर्न पर पुनर्विचार करना चाहिए।मंत्री के अनुसार, भारत ने स्वच्छ ऊर्जा, ऊर्जा दक्षता, वनीकरण और जैव-विविधता पर कई कदम उठाए हैं।भारत ने अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन (International Solar Alliance) और आपदा प्रतिरोधी बुनियादी ढांचे के लिए गठबंधन (Disaster Resilient Infrastructure) जैसी वैश्विक पहलों को भी प्रोत्साहित किया है।
13. शोधकर्ताओं ने कोहरे में भी वस्तुओं के चित्रांकन (इमेजिंग) का एक बेहतर तरीका खोजा
रमन रिसर्च इंस्टीट्यूट (Raman Research Institute – RRI), Space Applications Centre, गौतम बुद्ध नगर में शिव नादर विश्वविद्यालय और फ्रांस की Université Rennes & Université Paris-Saclay के शोधकर्ताओं ने प्रकाश स्रोत को संशोधित किया है और तेज छवियों को प्राप्त करने के लिए पर्यवेक्षक की छोर पर उन्हें डिमोडुलेट किया है। इस तकनीक के साथ, धुंध के मौसम में वस्तुओं की इमेजिंग अब स्पष्ट हो सकती है, क्योंकि यह विधि धूमिल दिनों में कैप्चर की गई छवियों को बेहतर बना सकती है।इस तकनीक में प्रेक्षक के पास प्रकाश स्रोत का मॉड्यूलेशन और डिमॉड्यूलेशन शामिल है।
14. भारत ने ब्रिटेन को जीआई प्रमाणित ‘जरदालू’ आम निर्यात किया
बिहार ने भागलपुर से यूनाइटेड किंगडम को जीआई प्रमाणित जरदालू आम की पहली वाणिज्यिक खेप का निर्यात किया। भागलपुर जिले के जरदालु आम को 2018 में जीआई प्रमाणन दिया गया था। कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण, (APEDA) ने बिहार सरकार, भारतीय उच्चायोग और इन्वेस्ट इंडिया के सहयोग से जरदालु आम का निर्यात किया। लखनऊ के एपीडा पैकहाउस में आमों को पैक कर उपचारित किया गया। एपीडा ने गैर-पारंपरिक क्षेत्रों से आम के निर्यात को बढ़ावा देने के उपाय शुरू किए हैं।यह आम के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए वर्चुअल खरीदार-विक्रेता बैठकें और उत्सव आयोजित कर रहा है।इसने भारतीय दूतावासों के सहयोग से जर्मनी और जापान में आम उत्सव का आयोजन किया।इसने बहरीन में एक सप्ताह तक चलने वाले भारतीय आम प्रचार कार्यक्रम का भी आयोजन किया जिसमें तीन जीआई प्रमाणित किस्मों (पश्चिम बंगाल से खिरसापति और लक्ष्मणभोग और बिहार से जरदालु) सहित आम की 16 किस्मों को प्रदर्शित किया गया।
15. नाटो शिखर सम्मेलन 2021 का आयोजन बेल्जियम में किया गया
नाटो (उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन) के शासनाध्यक्षों की 31वीं औपचारिक बैठक 14 जून, 2021 को ब्रुसेल्स, बेल्जियम में आयोजित की गई। नाटो नेताओं ने प्रमुख मुद्दों पर चर्चा की, नाटो के भविष्य के बारे में निर्णय लिए और नाटो 2030 एजेंडा के अनुसार नाटो को अनुकूलित करने के लिए ठोस उपायों पर सहमति व्यक्त की। चर्चा के विषयों में भू-रणनीतिक वातावरण, उभरती प्रौद्योगिकियों, सामूहिक रक्षा, जलवायु परिवर्तन और सुरक्षा को बदलने में नाटो की भूमिका शामिल है।
16. शेनझोउ-12 : 2016 के बाद से चीन की पहली मानव अंतरिक्ष उड़ान
चीनी अंतरिक्ष यान शेनझोउ-12 (Shenzhou-12) जल्द ही लॉन्ग मार्च रॉकेट की सहायता से गोबी रेगिस्तान से उड़ान भरेगा। अंतरिक्ष यान तीन लोगों को एक परिक्रमा करने वाले अंतरिक्ष मॉड्यूल में ले जाएगा जहां वे तीन महीने तक रहेंगे। 2016 के बाद यह पहली बार होगा जब चीन इंसानों को अंतरिक्ष में भेजेगा। शेनझोउ-12 का अर्थ है दिव्य पोत (Divine Vessel)। यह 11 मिशनों में से तीसरा होगा, जिन्हें चीन द्वारा 2022 तक अपने अंतरिक्ष स्टेशन को पूरा करने के लिए लांच किया जायेगा। 11 में से चार मिशन ऐसे होंगे जिसमें लोग सवार होंगे। इस तरह कुल 12 चीनी अंतरिक्ष यात्री अंतरिक्ष में जाएंगे।
17. RBI ने BBPS का दायरा बढ़ाया
भारतीय रिजर्व बैंक ने Bharat Bill Payment System (BBPS) के दायरे का विस्तार किया है जो 31 अगस्त, 2021 से प्रभावी होगा। बिलर श्रेणी के रूप में ‘मोबाइल प्रीपेड रिचार्ज’ को जोड़कर BBPS के दायरे का विस्तार किया गया है। इस कदम से पूरे भारत में लाखों प्रीपेड फोन ग्राहकों को मदद मिलेगी। सितंबर 2019 में BBPS के दायरे और कवरेज का विस्तार किया गया था, जिसमें तब सभी श्रेणियों के बिलर्स शामिल थे जो आवर्ती बिलों (recurring bills) का उपयोग करते थे। इसमें मोबाइल प्रीपेड रिचार्ज के बिलर्स शामिल नहीं थे। 2019 से पहले, BBPS के माध्यम से आवर्ती बिलों के भुगतान की सुविधा केवल पांच क्षेत्रों अर्थात डायरेक्ट टू होम (डीटीएच), गैस, बिजली, पानी और दूरसंचार के लिए उपलब्ध थी।
18. तटरक्षक बल ने ऑपरेशन ओलिविया शुरू किया
हाल ही में, तटरक्षक बल ने कानून लागू किए हैं और ओडिशा में ओलिव रिडले कछुओं (Olive Ridley Turtles) की रक्षा के लिए ऑपरेशन ओलिविया (Operation Olivia) शुरू किया है। ऑपरेशन ओलिविया भारतीय तटरक्षक बल (ICG) द्वारा पहली बार 1980 के दशक की शुरुआत में शुरू किया गया था। यह ऑपरेशन हर साल ओलिव रिडले कछुओं की रक्षा करने में मदद करता है जब वे नवंबर से दिसंबर के महीनों में प्रजनन के लिए ओडिशा तट पर घोंसला बनाना शुरू करते हैं। इसके तहत तटरक्षक बल की संपत्ति जैसे फास्ट पेट्रोल वेसल, इंटरसेप्टर क्राफ्ट, एयर कुशन वेसल और डोर्नियर एयरक्राफ्ट के जरिए नवंबर से मई तक चौबीसों घंटे निगरानी की जाती है।
19. देश में कोरोना वैक्सीन लेने से पहली मौत की पुष्टि
कोरोना वैक्सीन लेने के बाद भारत में पहली मौत हुई है। एक 68 साल के बुजुर्ग ने वैक्सीन की वजह से अपनी जान गंवाई है, जिसकी पुष्टि केंद्र सरकार की ओर से गठित पैनल ने की है. वैक्सीन से कोई गंभीर बीमारी या मौत होने को वैज्ञानिक भाषा में एडवर्स इवेंट फॉलोइंग इम्यूनाइजेशन (AEFI) कहते हैं। इसको लेकर केंद्र सरकार ने एक कमेटी बनाई है। इस पैनल ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि कोरोना वैक्सीन की वदह से एक बुजुर्ग व्यक्ति की मौत ही हुई। हालांकि कमेटी ने रिपोर्ट में भी साफ किया है कि वैक्सीन लगने के बाद नुकसान की तुलना में फायदे कहीं ज्यादा हैं।