राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने 69वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार प्रदान किये

0
30

1 राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने 69वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार प्रदान किये

राष्‍ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने आज नई दिल्‍ली में 69वें राष्‍ट्रीय फिल्‍म पुरस्‍कार प्रदान किए। राष्‍ट्रपति मुर्मु ने प्रतिष्ठित अभिनेत्री वहीदा रहमान को दादा साहेब फाल्‍के पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया। निखिल महाजन को मराठी फिल्‍म गोदावरी के लिए सर्वश्रेष्‍ठ निर्देशक का राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार दिया गया। अल्‍लू अर्जुन को फिल्‍म पुष्‍पा के लिए सर्वश्रेष्‍ठ अभिनेता का पुरस्‍कार दिया गया। आलिया भट्ट को गंगूबाई काठियावाडी और कृति सेनन को मिमि के लिए संयुक्‍त रूप से सर्वश्रेष्‍ठ अभिनेत्री का पुरस्‍कार दिया गया। आर. माधवन द्वारा निर्देशित रॉकेट्री: द नाम्‍बी इफेक्‍ट को सर्वश्रेष्‍ठ फीचर फिल्‍म पुरस्‍कार दिया गया। पल्‍लवी जोशी को द कश्‍मीर फाइल्‍स के लिए सर्वश्रेष्‍ठ सहायक अभिनेत्री और पंकज त्रिपाठी को मिमि के लिए सर्वश्रेष्‍ठ सहायक अभिनेता का राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार प्रदान किया गया। फिल्‍म आर.आर.आर को संपूर्ण मनोरंजन करने वाली सर्वश्रेष्‍ठ लोकप्रिय फिल्‍म और विवेक अग्निहोत्री के निर्देशन में बनी द कश्‍मीर फाइल्‍स को राष्‍ट्रीय एकता पर सर्वश्रेष्‍ठ फिल्‍म के लिए नर्गिस दत्‍त पुरस्‍कार दिया गया। सृष्टि लखेरा के निर्देशन में बनी एक था गांव को सर्वश्रेष्‍ठ गैर-फीचर फिल्‍म का पुरस्‍कार प्रदान किया गया। श्रेया गोशाल को फिल्‍म इरावन निजहाल के गीत मायावा-चायवा के लिए सर्वश्रेष्‍ठ महिला पार्श्‍व गायक और काल भैरव को फिल्‍म आर.आर.आर के गीत कोमुरम भीमडु के लिए सर्वश्रेष्‍ठ पुरूष पार्श्‍व गायक का पुरस्‍कार मिला।

2 प्रधानमंत्री ने 23,000 करोड़ रुपये की समुद्री परियोजनाओं की शुरुआत की

प्रधानमंत्री ने भारतीय नीली समुद्री अर्थव्‍यवस्‍था की रूपरेखा के तौर पर अमृत काल विजन 2047 का भी अनावरण किया। इस भविष्‍योन्‍मुखी योजना के अनुरूप प्रधानमंत्री ने शिखर सम्‍मेलन के उद्घाटन के अवसर पर 23 हजार करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं का शुभारंभ किया। इनमें से कई परियोजनाओं को उन्‍होंने राष्‍ट्र को समर्पित किया और विभिन्‍न परियोजनाओं का उद्घाटन तथा शिलान्‍यास किया। यह शिखर सम्‍मेलन देश के समुद्री क्षेत्र में निवेश को आकर्षित करने के लिए उत्‍कृष्‍ट मंच प्रदान करेगा। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ग्‍लोबल मैरीटाइम इंडिया समिट 2023 के तीसरे संस्‍करण का उद्घाटन किया। यह शिखर सम्‍मेलन मुम्‍बई के एमएमआरडीए मैदान में 19 अक्‍टूबर तक चलेगा। इस विशालतम कार्यक्रम का आयोजन केन्‍द्रीय पत्‍तन, नौवहन और जलमार्ग मंत्रालय ने किया है।

3 प्रधानमंत्री ने गगनयान मिशन की प्रगति की समीक्षा की; वैज्ञानिकों से 2035 तक भारतीय अंतरिक्ष स्टेशन बनाने और 2040 तक चंद्रमा पर अंतरिक्ष यात्रियों को भेजने का लक्ष्य रखने का आह्वान किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने निर्देश दिया है कि भारत को अब 2035 तक भारतीय अंतरिक्ष स्टेशन की स्थापना और 2040 तक चंद्रमा पर पहले भारतीय को भेजने सहित नए और महत्वाकांक्षी लक्ष्य रखने चाहिए। इस दृष्टिकोण को साकार करने के लिए, अंतरिक्ष विभाग चंद्रमा की खोज के लिए एक रोडमैप विकसित करें। इसमें चंद्रयान मिशनों की एक श्रृंखला, अगली पीढ़ी के लॉन्च यान का विकास, एक नए लॉन्च पैड का निर्माण और मानव-केंद्रित प्रयोगशालाओं और संबंधित प्रौद्योगिकियों की स्थापना शामिल होगी। श्री मोदी ने भारत के गगनयान मिशन की प्रगति का आकलन करने और भारत के अंतरिक्ष अन्वेषण प्रयासों के भविष्य की रूपरेखा तैयार करने के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की। क्रू एस्केप सिस्टम टेस्ट व्हीकल की पहली प्रदर्शन उड़ान इस महीने की 21 तारीख को निर्धारित है। बैठक में मिशन की तैयारी का मूल्यांकन किया गया और 2025 में इसके लॉन्च की पुष्टि की गई।

4 PM मोदी का रिलीज हुआ नया गरबा सॉन्ग माडी

नवरात्रि के पहले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिखे गए गरबा सॉन्ग ‘माडी’ को रिलीज कर दिया गया है। पीएम नरेंद्र मोदी के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर इस गाने को शेयर किया गया है। इस गाने को दिव्य कुमार ने अपनी आवाज दी है। वहीं, मीत ब्रदर्स ने इस गाने को कंपोज किया है। यह गाना गुजराती भाषा में है। ‘माडी’ दूसरा गाना है जिसे पीएम मोदी ने इस साल नवरात्रि के लिए लिखा है। हाल ही में उन्होंने खुलासा किया कि गार्बो नाम से एक और गाना उन्होंने लिखा है।

5 सर्वोच्‍च न्‍यायालय ने समलैंगिक विवाह को वैध बनाने से इनकार किया

सर्वोच्‍च न्‍यायालय ने समलैंगिक विवाह को कानूनी मान्‍यता देने के लिए विशेष शादी अधिनियम में संशोधन से इंकार कर दिया है। न्‍यायालय ने कानून के अंतर्गत समलैंगिक जोड़े को शादी करने की अनुमति देने के लिए कानून की धारा चार को हटाने से भी इंकार कर दिया है। मुख्‍य न्‍यायाधीश डी.वाई चन्‍द्रचूड की अध्‍यक्षता में पांच न्‍यायाधीशों की पीठ ने केंद्र सरकार की इस दलील पर सहमति व्‍यक्‍त की कि कानून में संशोधन से अन्‍य कानूनों पर असर पड़ सकता है। पीठ के अन्‍य सदस्‍यों में न्‍यायमूर्ति एस.के.कौल, न्‍यायमूर्ति रविन्‍द्र भट्ट, न्‍यायमूर्ति हिमा कोहली तथा न्‍यायमूर्ति पी.एस.नरसिम्‍हा शामिल थे। पीठ सर्वसम्‍मति से देश में समलैंगिक विवाह की अनुमति देने के लिए अधिनियम में संशोधन नहीं करने का फैसला दिया। न्‍यायालय ने केंद्र सरकार को राशन कार्ड, पेंशन, ग्रेच्‍युटी और उत्‍तराधिकारी सहित समलैंगिक जोड़ों की चिंताओं के लिए मंत्रिमंडल सचिव की अध्‍यक्षता में एक उच्‍चस्‍तरीय समिति गठित करने की सलाह दी है।

6 श्री धर्मेंद्र प्रधान ने इंडियास्किल्स 2023-24 का शुभारंभ किया

केंद्रीय शिक्षा और कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री, श्री धर्मेंद्र प्रधान ने कौशल भवन, नई दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में इंडियास्किल्स 2023-24 का शुभारंभ किया और विश्व कौशल 2022 विजेताओं को सम्मानित किया। भारत ने वैश्विक प्रतिस्पर्धा में 11वां स्थान हासिल किया है, जो अब तक की सबसे अच्छी रैंकिंग है। कार्यक्रम में विश्व कौशल 2022 की यात्रा को दर्शाने वाला एक लघु वीडियो भी दिखाया गया। विश्व कौशल प्रतियोगिता दुनिया की सबसे बड़ी कौशल प्रतियोगिता है, जो हर दो साल में एक बार आयोजित की जाती है। इसका संचालन वर्ल्डस्किल्स इंटरनेशनल द्वारा किया जाता है, जिसके 86 सदस्य देश हैं। ये प्रतियोगिताएं उच्च प्रदर्शन के लिए एक बेंचमार्क और व्यावसायिक उत्कृष्टता का आकलन करने का एक उद्देश्यपूर्ण तरीका दोनों प्रदान करती हैं। प्रतियोगिता की अवधि 4 दिन, 16 से 22 घंटे है। वर्ल्डस्किल्स प्रतियोगिता 2022 सितंबर से नवंबर 2022 तक पूरे यूरोप, उत्तरी अमेरिका और पूर्वी एशिया में आयोजित की गई थी, जिसमें 61 कौशल में 58 देशों के 1,000 से अधिक प्रतियोगी शामिल थे। प्रतियोगिता की मेजबानी 15 देशों ने 20 से अधिक शहरों में की थी। भारत ने 50 कौशलों में भाग लिया और डब्ल्यूएससी 2022 में 2 रजत पदक, 3 कांस्य पदक और उत्कृष्टता के लिए 13 पदकों के साथ 11वां स्थान हासिल किया, जो विश्व कौशल प्रतियोगिता में इसकी अब तक की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग है।

7 हैती में संयुक्त राष्ट्र द्वारा अनुमोदित बहुराष्ट्रीय सुरक्षा मिशन

हाल ही में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् (UNSC) ने हैती में सुरक्षा व्यवस्था स्थापित करने, महत्त्वपूर्ण बुनियादी ढाँचे की रक्षा और बढ़ती हिंसा को नियंत्रित करने के लिये केन्या के नेतृत्व में बहुराष्ट्रीय सुरक्षा मिशन (MSS) को मंज़ूरी दे दी है। हैती को बढ़ती सामूहिक हिंसा का सामना करना पड़ रहा है, जिससे पूरे देश में अराजकता और अशांति की स्थिति उत्पन्न हो गई। “G9 एंड फैमिली” के नाम से प्रसिद्ध गिरोहों के एक समूह ने मुख्य ईंधन बंदरगाह और राजधानी शहर पोर्ट-औ-प्रिंस को बाधित कर दिया, जिससे देशव्यापी संकट उत्पन्न हो गया है। इसके परिणामस्वरूप देश भर में अक्तूबर 2022 और जून 2023 के दौरान लगभग 2,800 लोगों की हत्या हुई। कई मानवाधिकार समूहों ने यौन हिंसा और महिलाओं के खिलाफ अपराधों में वृद्धि की सूचना दी है। इसके अतिरिक्त, बड़े पैमाने पर लूटपाट और घरों को जलाने के कारण हज़ारों लोगों का विस्थापन भी हुआ है, जबकि लगभग 200,000 लोग अपने घरों को छोड़कर चले गए। अनुमान के मुताबिक, लगभग आधी आबादी को मानवीय सहायता की ज़रूरत है। हैती के प्रधानमंत्री ने गिरोहों और उनके समर्थकों का मुकाबला करने के लिये विशेष सशस्त्र बलों की मांग करते हुए विभिन्न अंतर्राष्ट्रीय समुदायों से संपर्क किया।

8 विदेश मंत्री डॉ. एस0 जयशंकर ने वियतनाम के हो ची मिन्‍ह शहर में की महात्‍मा गांधी की प्रतिमा का अनावरण

विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने कहा कि महात्‍मा गांधी संघर्ष और हिंसा से घिरी की दुनिया में कूटनीति के एक प्रेरणा स्रोत हैं। उन्‍होंने कहा कि सत्‍य, अहिंसा और लोगों की स्‍वाधीनता के प्रति महात्‍मा गांधी के योगदान को संयुक्‍त राष्‍ट्र ने उनके जन्‍मदिवस को अंतर्राष्‍ट्रीय अहिंसा दिवस के रूप में मनाने की घोषणा करके स्‍वीकृति दी है। वियतनाम के हो ची मिन्‍ह शहर में महात्‍मा गांधी की प्रतिमा के अनावरण समारोह में डॉ. जयशंकर ने कहा कि उनके विचार मानवीय गरिमा, सामाजिक मूल्‍यों, आध्‍यात्मिकता, पर्यावरण, संधारणीयता, स्‍वच्‍छता और बहुत से क्षेत्रों के लिए बहुत ही सशक्‍त प्रेरणा हैं।

9 जयशंकर ने वियतनाम में रबींद्रनाथ टैगोर की प्रतिमा का अनावरण किया

विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर ने वियतनाम के बाक निन्ह में रबींद्रनाथ टैगोर की प्रतिमा का अनावरण किया। इस दौरान जयशंकर ने कहा कि मुझे यह जानकर खुशी हुई कि रबींद्रनाथ टैगोर की कृतियों को वियतनाम में व्यापक रूप से मान्यता प्राप्त है, पूरे देश में पढ़ा और सराहा जाता है। यहां तक कि वियतनामी पाठ्यपुस्तकों में भी शामिल किया गया है।

10 परषोत्तम रूपाला ने किया अंतर्राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन का उद्घाटन, हिन्द-प्रशांत क्षेत्र में मत्‍स्‍य-पालन प्रबंधन की बेहतरी का है लक्ष्य

केन्द्रीय मत्‍स्‍य पालन मंत्री परषोत्तम रूपाला ने कहा है कि मत्‍स्‍य पालन और इससे संबंधित उद्योगों में भारत में बहुत अधिक विकास हुआ है। चेन्नई के निकट महाबलीपुरम में अंतर्राष्ट्रीय खाद्य और कृषि संगठन के सम्मेलन में उन्होंने कहा कि पिछले नौ वर्षों में भारत के मछली निर्यात में 17.4 मिलियन टन से अधिक की वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि भारत विश्‍व में दूसरा सबसे बडा मछली उत्पादक देश बन चुका है। श्री रुपाला ने विश्‍व मत्‍स्‍य पालन दिवस के अवसर पर इस वर्ष 21 और 22 नवंबर को गुजरात में आयोजित होने वाले पहले वैश्विक मत्‍स्‍य पालन सम्मेलन के लिए खुला निमंत्रण दिया। अमरीका, जापान, इटली, चीन, फ्रांस, आयरलैंड, श्रीलंका, बांग्लादेश सहित 18 देशों के प्रतिनिधि इस सम्मेलन में भागीदारी कर रहे हैं।

11 प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना– भू-संसाधन विभाग और राष्‍ट्रीय सुदूर संवेदी केंद्र ने एक समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर किए

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना – वॉटर शेड विकास घटक के दूसरे चरण की निगरानी के लिए भू-संसाधन विभाग और राष्‍ट्रीय सुदूर संवेदी केंद्र ने नई दिल्‍ली में एक समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर किए। इसका उद्देश्‍य मिट्टी और पानी जैसे प्राकृतिक स्रोतों के उपयोग और संरक्षण के जरिए पारिस्थितिक संतुलन स्‍थापित करना है। भू-संसाधन विभाग के सचिव अजय टिर्की और अंतरिक्ष विभाग के सचिव सोमनाथ की उपस्थिति में इस समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर हुए। श्री सोमनाथ ने कहा कि इससे बंजर भूमि के बेहतर उपयोग और भू-जल पुनर्भरण में मदद मिलेगी।

12 इस वर्ष ‘वन हेल्‍थ के लिए आयुर्वेद’ की थीम पर आयोजित होगा ‘आयुर्वेद दिवस’

इस वर्ष आयुर्वेद दिवस दुनिया भर के लगभग 100 देशों में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मनाया जाएगा। ‘वन हेल्‍थ के लिए आयुर्वेद‘ की थीम पर ‘आयुर्वेद दिवस’ का मनाया जाना एक वैश्विक कार्यक्रम होगा और इसे सफल बनाने के लिए आयुष मंत्रालय को देश के सभी मंत्रालयों का सहयोग मिलेगा। आयुष मंत्रालय ने 11 नवंबर 2023 को धन्वंतरि जयंती के अवसर पर मनाए जाने वाले ‘आयुर्वेद दिवस’ के सफल आयोजन के लिए आज विभिन्न मंत्रालयों की एक बैठक बुलाई।

13 रक्षा मंत्रालय ने पहले भारतीय तटरक्षक प्रशिक्षण जहाज के निर्माण के लिए मझगांव डॉक एंड शिपबिल्डर्स लिमिटेड, मुंबई के साथ अनुबंध पर हस्ताक्षर किए

रक्षा मंत्रालय ने 17 अक्टूबर, 2023 को नई दिल्ली में खरीद (भारतीय-आईडीडीएम) श्रेणी के तहत 310 करोड़ रुपये की लागत से मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड (एमडीएल), मुंबई के साथ भारतीय तटरक्षक (आईसीजी) के लिए एक प्रशिक्षण जहाज के निर्माण के लिए अनुबंध पर हस्ताक्षर किए। यह एकीकृत हेलीकॉप्टर क्षमताओं के साथ पहला समर्पित प्रशिक्षण मंच है, जो 70 तटरक्षक बल और अन्य अंतरराष्ट्रीय प्रशिक्षु अधिकारियों को बुनियादी समुद्री प्रशिक्षण प्रदान करेगा, ताकि तटरक्षक जीवन के बहु-आयामी समुद्री पहलुओं के मद्देनजर इन उदीयमान नाविकों को तैयार किया जा सके।

14 श्री धर्मेंद्र प्रधान ने मिशन चंद्रयान-3 पर गतिविधि-आधारित सहायता सामग्री के साथ वेब पोर्टल ‘अपना चंद्रयान’ शुरू किया

केंद्रीय शिक्षा और कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान ने आज, नई दिल्ली में वेब पोर्टल ‘अपना चंद्रयान‘ लॉन्च किया जिसमें मिशन चंद्रयान-3 पर स्कूली छात्रों के लिए गतिविधि-आधारित सहायता सामग्री जैसे कि क्विज़, पहेलियां आदि उपलब्ध हैं। इसे शिक्षा मंत्रालय के स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग (डीओएसईएल) के तत्वावधान में एनसीईआरटी द्वारा विकसित किया गया है। उन्होंने चंद्रयान-3 पर 10 विशेष मॉड्यूल भी जारी किए, जो इसके विभिन्न पहलुओं के बारे में व्यापक रूप से बताते हैं – जिसमें वैज्ञानिक, तकनीकी और सामाजिक पहलुओं के साथ-साथ इस मिशन में शामिल वैज्ञानिकों की भावनात्मक यात्रा और टीम भावना के बारे में भी बताया गया है।

15 एमईआईटीवाई के सचिव ने नाइलिट गोरखपुर में रोबोटिक प्रोसेस ऑटोमेशन (आरपीए) लैब का उद्घाटन किया

इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई) के सचिव, श्री एस. कृष्णन (आईएएस) ने 16 अक्टूबर 2023 को नाइलिट की 26वीं अखिल भारतीय निदेशक बैठक के दौरान नाइलिट, गोरखपुर में रोबोटिक प्रोसेस ऑटोमेशन (आरपीए) लैब का उद्घाटन किया। अत्याधुनिक आरपीए प्रयोगशाला का निर्माण एमईआईटीवाई द्वारा वित्तपोषित फ्यूचर स्किल प्राइम परियोजना के अंतर्गत किया गया है, जिसका उद्देश्य आरपीए की उभरती हुई तकनीक में जनशक्ति को कौशल प्रदान करना है। यह फ्यूचर स्किल प्राइम परियोजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश में अपनी तरह की पहली प्रयोगशाला है, जिसे उद्योग एवं शिक्षा के बीच की खाई को पाटने के लिए स्थापित किया गया है।

16 महिलाओं और बालिकाओं की सलामती और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए 1023 फास्ट ट्रैक विशेष अदालतें (एफटीएससी) स्थापित की जाएंगी

न्याय विभाग महिलाओं और बालिकाओं की सलामती और सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए दुष्कर्म और पॉक्सो अधिनियम से संबंधित मामलों की त्वरित सुनवाई के लिए देश भर में 389 विशेष पॉक्सो अदालतों सहित 1023 फास्ट ट्रैक विशेष अदालतें (एफटीएससी) स्थापित करने के लिए एक केंद्र प्रायोजित योजना लागू कर रहा है।

17 एशियाई विकास बैंक ने अहमदाबाद के पेरी-शहरी क्षेत्रों में सुधार के लिए 181 मिलियन डॉलर का निवेश किया

एशियाई विकास बैंक (एडीबी) ने भारत के गुजरात राज्य के शहर अहमदाबाद के आसपास के उपनगरीय क्षेत्रों में जीवन की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए 181 मिलियन डॉलर के ऋण को हरी झंडी दे दी है। इसका उद्देश्य तेजी से बढ़ते इन क्षेत्रों में शहरी जीवन स्थितियों और गतिशीलता में सुधार करना है। इस परियोजना का एक मुख्य लक्ष्य शहरी विस्तार को नियंत्रित करना है।

18 RBI ने यूनियन बैंक पर ₹1 करोड़ का जुर्माना लगाया

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने निर्देशों का अनुपालन नहीं करने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के यूनियन बैंक ऑफ इंडियाआरबीएल बैंक और बजाज फाइनेंस लिमिटेड पर जुर्माना लगाया है। RBI ने यूनियन बैंक ऑफ इंडिया पर 1 करोड़ रुपये की पेनल्टी लगाई है। आरबीआई ने यह जुर्माना बैंकिंग विनियमन अधिनियम, 1949 की धारा 46 (4) (i) और 51(1) के साथ पठित धारा 47 ए (1) (सी) के प्रावधानों के तहत लगाया है।

19 केरल ने अपनी पहली 3डी-प्रिंटेड इमारत का किया उद्घाटन

केरल के तिरुवनंतपुरम में राज्य की पहली 3डी-प्रिंटेड इमारत का उद्घाटन किया गया। 380 वर्ग फुट की इमारत पीटीपी नगर में केरल राज्य विनिर्माण केंद्र (केसनिक) परिसर में बनाई गई है। जिसका उद्घाटन राजस्व मंत्री के राजन ने किया। राज्य निर्मिति केंद्र (केसनिक) तिरुवनंतपुरम के पीटीपी नगर में स्थित है। यह इमारत केरल राज्य विनिर्माण केंद्र के परिसर में बनाई गई है। इस बिल्डिंग का नाम ‘अमेज-28’ रखा गया है। इस इमारत का क्षेत्रफल 380 वर्ग फुट है। इस इमारत का निर्माण चेन्नई स्थित स्टार्टअप त्वास्टा द्वारा किया गया है। 3 डी प्रिंटिंग को एडिटिव मैन्युफैक्चरिंग कहा जाता है। इस तकनीक में कंप्यूटर द्वारा निर्मित डिज़ाइन का उपयोग करके परत-दर-परत निर्माण किया जाता है।

20 श्रमिकों के लिए न्यूनतम मजदूरी सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाने वाला झारखंड पहला राज्य

झारखंड के विभिन्न जिलों में कार्यरत स्विगी-जोमैटो, ओला-ऊबर सहित ऑनलाइन डिलीवरी ब्वॉय भी जल्द ही न्यूनतम मजदूरी के दायरे में लाए जाएंगे। झारखंड सरकार की श्रम विभाग ने इस दिशा में पहल शुरू कर दी है। झारखंड देश का पहला राज्य होगा जहां कॉन्ट्रैक्ट या कमीशन पर काम करने वाले कर्मचारियों को भी न्यूनतम मजदूरी के दायरे में लाने की तैयारी की जा रही है। अब तक यह व्यवस्था देश के किसी भी राज्य में नहीं है। श्रम विभाग की ओर से झारखंड राज्य न्यूनतम मजदूरी परामर्शदातृ पर्षद ने एक कमेटी गठित की है।