श्री मोदी ने अबू धाबी में बोच सनवासी अक्षर पुरूषोतम स्‍वामीनारायण संस्‍था मंदिर का उद्घाटन किया

0
34

1 श्री मोदी ने अबू धाबी में बोच सनवासी अक्षर पुरूषोतम स्‍वामीनारायण संस्‍था मंदिर का उद्घाटन किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अबू धाबी में पहले हिंदू मंदिर, बोचसनवासी अक्षर पुरूषोत्तम स्वामीनारायण संस्था मंदिर का उद्घाटन किया। मध्य पूर्व में भारतीय समुदाय के लिए यह एक एतिहासिक क्षण था। उद्घाटन के बाद, प्रधानमंत्री ने संतों के साथ मंदिर में देवताओं की पूजा की। उन्‍होंने पारंपरिक प्रार्थनाओं और अनुष्ठानों में भाग लिया। यह इस क्षेत्र का सबसे बड़ा मंदिर है। यह मंदिर भारत और संयुक्त अरब अमीरात के बीच धार्मिक स्वतंत्रता और गहरे संबंधों के प्रतीक के रूप में खड़ा है। इसे अगले महीने की पहली तारीख को जनता के लिए खोल दिया जाएगा। यह महत्‍वपूर्ण उपलब्धि संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाह्यान के उदार भूमि दान और भारतीय तथा संयुक्त अरब अमीरात के अधिकारियों के संयुक्त प्रयासों के बिना संभव नहीं होती। 27 एकड़ में फैला, 108 फुट ऊंचा और गुलाबी बलुआ पत्थर से बना यह भव्‍य मंदिर समावेशन की भावना का प्रतीक है। मंदिर की ओर जाने वाला मार्ग चेक गणराज्य से आयातित पेड़ों से सजाया गया है। इस पथ के साथ, तीन जल निकायों को सावधानीपूर्वक तैयार किया गया है, जो प्रतीकात्मक रूप से प्राचीन भारत की पवित्र नदियों – गंगा, यमुना और सरस्वती का प्रतिनिधित्व करते हैं।

2 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दुबई के प्रधानमंत्री दुबई में जेबेल अली मुक्त व्यापार क्षेत्र में भारत मार्ट की आधारशिला रखी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दुबई के प्रधानमंत्री शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम ने दुबई में जेबेल अली मुक्त व्यापार क्षेत्र में भारत मार्ट की आधारशिला रखी। ‘भारत मार्ट’, भारतीय व्यवसायों के लिए एक हाइब्रिड बाज़ार है। कार्यक्रम के दौरान, दोनों नेताओं ने भारत और संयुक्‍त अरब अमीरात के बीच द्विपक्षीय व्यापार को प्रोत्‍साहन देने के लिए ‘भारत मार्ट’ की क्षमता पर बल दिया। भारत मार्ट का लक्ष्य भारत के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों को खाड़ी, पश्चिम एशिया, अफ्रीका और यूरेशिया में अंतरराष्ट्रीय बाजारों तक अपनी पहुंच बढाने के लिए एक मंच प्रदान करना है। प्रधानमंत्री मोदी ने दुबई में शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम के साथ द्विपक्षीय बैठक भी की। इसमें व्यापार, निवेश, प्रौद्योगिकी, अंतरिक्ष, शिक्षा और सांस्कृतिक क्षेत्र में सहयोग बढाने पर चर्चा की गई। प्रधानमंत्री मोदी ने शेख मोहम्मद को भारत आने का निमंत्रण भी दिया।

3 एआई को बढ़ावा देने के लिए यूएई ने फॉल्कन फाउंडेशन की शुरुआत की

मुक्त स्रोत कृत्रिम बुद्धिमत्ता को बढ़ावा देने के लिए संयुक्त अरब अमीरात ने फॉल्कन फाउंडेशन की शुरुआत की है। यह एक गैर-लाभकारी संगठन है, जो जेनेरेटिव एआई मॉडल को बढ़ावा देने के लिए समर्पित है। अबूधाबी की उन्नत प्रौद्योगिकी अनुसंधान परिषद के नेतृत्व में तीस करोड़ डॉलर की इस पहल का उद्देश्य कृत्रिम बुद्धिमत्ता के विकास को लोकतांत्रिक बनाना और तकनीकी विकास में तेज़ी लाना है। फॉल्कन फाउंडेशन, टीआईआई के घरेलू कृत्रिम बुद्धिमत्ता मॉडल को बढ़ावा देगा, हितधारकों, शिक्षाविदों, उद्योगपतियों, के योगदान और उनका लाभ सुनिश्चित कराने के लिए एक खुले तंत्र का निर्माण करेगा। फॉल्कन फाउंडेशन का शुभारंभ, विश्व सरकार शिखर सम्मेलन, 2024 में हुआ। यह पारदर्शी शासन मॉडल को स्थापित करने और ज्ञान के आदान-प्रदान को प्रोत्साहित करने के लिए हितधारकों के सहयोग में एक महत्वपूर्ण कदम है, क्योंकि कृत्रिम बुद्धिमत्ता का लगातार विकास हो रहा है।

4 रक्षा मंत्रालय ने भारतीय नौसेना के लिए 11 शक्ति इलेक्ट्रॉनिक वारफेयर सिस्टम्स को खरीदने के उद्देश्य से भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड के साथ 2269.54 करोड़ रुपये का अनुबंध किया

रक्षा मंत्रालय ने 13 फरवरी 2024 को नई दिल्ली में हैदराबाद की भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) के साथ खरीद (भारतीय-आईडीडीएम) श्रेणी के अंतर्गत एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए हैं। इस सौदे के तहत भारतीय नौसेना के लिए संबंधित उपकरण/सामान के साथ 11 शक्ति इलेक्ट्रॉनिक वारफेयर सिस्टम्स की खरीद की जा रही है। इस अनुबंध की कुल लागत 2269.54 करोड़ रुपये है। आधुनिक युग में इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से युद्धक्षेत्र में राष्ट्र सुरक्षा हेतु उपयोग होनी वाली शक्ति युद्धक प्रणाली को स्वदेशी रूप से तैयार, विकसित और निर्मित किया गया है। शक्ति इलेक्ट्रॉनिक युद्धक प्रणाली इलेक्ट्रॉनिक उत्सर्जन को सटीकता के साथ रोकने और घने विद्युत चुम्बकीय वातावरण में इसके प्रतिकूल गतिविधियों को संचालित करने में सक्षम है। शक्ति इलेक्ट्रॉनिक युद्धक प्रणाली को भारतीय नौसेना के युद्धपोतों पर तैनात किया जाएगा।

5 ओडिशा सरकार की स्वयं (SWAYAM) और खुशी (KHUSI) योजना

राज्य में सार्वजनिक वितरण प्रणाली (PDS) के अंतर्गत आने वाले परिवारों के लिये ओडिशा सरकार ने हाल ही में आजीविका हेतु 1,000 रुपए की एकमुश्त नकद सहायता की घोषणा की है। राज्य सरकार ने 18-35 वर्ष (विशेष श्रेणी के लिये 18-40) आयु वर्ग के ग्रामीण बेरोज़गार युवाओं को नए व्यावसायिक उद्यम शुरू करने के लिये 1 लाख रुपए का ब्याज मुक्त बैंक ऋण प्रदान करने के लिये ‘स्वयं‘ नामक एक नई योजना शुरू की है। राष्ट्रीय स्तर पर गैर-कॉर्पोरेट, गैर-कृषि लघु/सूक्ष्म उद्यमों को 10 लाख रुपए तक का ऋण प्रदान करने के लिये अप्रैल, 2015 में प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) शुरू की गई थी। राज्य सरकार ने सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों में संस्थागत प्रसव और गर्भ के चिकित्‍सकीय समापन के लिये बेल्टेड सैनिटरी नैपकिन वितरित करने हेतु मौजूदा खुशी योजना का विस्तार करते हुए इसे अब खुशी + का नाम दिया है। इसका उद्देश्य राज्य में मासिक धर्म स्वच्छता जागरूकता में सुधार लाना तथा मातृ मृत्यु दर एवं रुग्णता दर को कम करना है। राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण 5 के अनुसार ओडिशा में स्वच्छ मासिक धर्म सुरक्षा का प्रयोग करने वाली महिलाओं की दर उच्च, राष्ट्रीय औसत से अधिक 81.5% है।

6 नीति आयोग ने कृषि वानिकी पोर्टल और रिपोर्ट लॉन्च की

नीति आयोग ने हाल ही में ‘एग्रोफोरेस्ट्री के साथ बंजर भूमि की हरियाली और बहाली’ (GROW) रिपोर्ट और पोर्टल लॉन्च किया है। नीति आयोग की ग्रो पहल भारत के सभी जिलों में कृषि वानिकी उपयुक्तता का आकलन करने के लिए रिमोट सेंसिंग और GIS का उपयोग करती है। इसका लक्ष्य 2030 तक 26 मिलियन हेक्टेयर ख़राब भूमि को बहाल करना और अतिरिक्त कार्बन सिंक बनाना है। कृषि वानिकी एक भूमि उपयोग प्रणाली है जो उत्पादकता, लाभप्रदता, विविधता और पारिस्थितिकी तंत्र स्थिरता को बढ़ाने के लिए कृषि भूमि पर पेड़ों और झाड़ियों को एकीकृत करती है। इसका अभ्यास सिंचित और वर्षा आधारित दोनों स्थितियों में किया जाता है, जिसमें भोजन, ईंधन, लकड़ी आदि का उत्पादन किया जाता है। कृषि वानिकी में कार्बन भंडारण, जैव विविधता संरक्षण और मिट्टी और जल संरक्षण के माध्यम से आर्थिक, सामाजिक-सांस्कृतिक और पर्यावरणीय लाभ प्रदान करने की क्षमता है।

7 इंडोनेशिया में एक दिन के विश्‍व के सबसे बडे चुनाव के लिए मतदान हुआ

इंडोनेशिया में एक दिन के विश्‍व के सबसे बडे चुनाव के लिए मतदान हुआ। राष्‍ट्रपति, उप-राष्‍ट्रपति और संसद के चुनाव के लिए वोट डाले गए हैं। इस बीच अनाधिकृत आंकडों के अनुसार रक्षा मंत्री प्रबोवो सुबियांतो के राष्‍ट्रपति चुने जाने की संभावना है।

8 केंद्रीय मंत्री श्री गिरिराज सिंह ने बिहार के बेगूसराय जिले की ग्राम पंचायतों में पीएम-वाणी सेवा का विस्तार करने के लिए पायलट प्रोजेक्ट ‘स्मार्ट ग्राम पंचायत: ग्राम पंचायत के डिजिटलीकरण की दिशा में क्रांति’ लॉन्च किया

केंद्रीय ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री श्री गिरिराज सिंह ने बेगूसराय जिले के बरौनी ब्लॉक के पपरौर ग्राम पंचायत में एक ऐतिहासिक पहल ‘स्मार्ट ग्राम पंचायत: ग्राम पंचायत के डिजिटलीकरण की दिशा में क्रांति‘ का उद्घाटन किया। यह पहल ग्रामीण भारत में डिजिटल सशक्तिकरण की दिशा में एक महत्वपूर्ण छलांग का संकेत देती है। ‘स्मार्ट ग्राम पंचायत: ग्राम पंचायत के डिजिटलीकरण की दिशा में क्रांति’ नामक यह पायलट प्रोजेक्ट बिहार के बेगूसराय जिले की सभी ग्राम पंचायतों में पीएम-वाणी (प्रधानमंत्री की वाई-फाई एक्सेस नेटवर्क इंटरफेस) सेवा का विस्तार करने के उद्देश्य से लॉन्च किया गया। बेगूसराय अब पीएम-वाणी योजना के तहत सभी ग्राम पंचायतों को वाई-फाई सेवाओं से लैस करने वाला बिहार का पहला जिला बन गया है।

9 केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने बुडापेस्ट को शतरंज ओलंपियाड मशाल सौंपी

केंद्रीय युवा कार्यक्रम और खेल मंत्री श्री अनुराग सिंह ठाकुर ने शतरंज ओलंपियाड के 45वें संस्करण के आधिकारिक मेजबान बुडापेस्ट, हंगरी को नई दिल्ली में शतरंज ओलंपियाड मशाल सौंपी। हैंडऑफ की रस्‍म मेजर ध्यानचंद नेशनल स्टेडियम में संपन्‍न हुई, जहां श्री ठाकुर ने एफआईडीई के अध्‍यक्ष और बुडापेस्ट को ओलंपियाड मशाल सौंपने से पहले भारतीय ग्रैंड मास्टर विश्वनाथन आनंद के साथ एफआईडीई अध्यक्ष, अरकडी ड्वोर्कोविच और हंगेरियन ग्रैंड मास्टर जुडिट पोल्गर के साथ शतरंज की एक दोस्ताना बाजी भी खेली। शतरंज ओलंपियाड का 44वां संस्करण 2022 में चेन्नई में आयोजित किया गया था। उस समय इस वैश्विक आयोजन में 2500 से अधिक खिलाड़ियों और 7000 से अधिक ने भाग लिया था। एफआईडीई शतरंज ओलंपियाड का अगला संस्करण अब इस साल हंगरी के बुडापेस्ट में होगा, जिसकी आधिकारिक घोषणा इस साल की शुरुआत में की गई थी। दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में 19 जून, 2022 को प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी द्वारा एक समारोह में प्रथम शतरंज ओलंपियाड मशाल रिले की शुरुआत की गई।

10 भारत के सबसे उम्रदराज टेस्‍ट‍ क्रिकेटर 95 वर्षीय दत्‍ताजीराव गायकवाड़ का निधन

भारतीय टीम के पूर्व टेस्‍ट कप्‍तान दत्‍ताजीराव गायकवाड़ (Dattajirao Gaekwad), जिन्‍होंने देश में सबसे उम्रदराज जीवित टेस्‍ट क्रिकेटर का रिकॉर्ड अपने नाम कर रखा था, उनका हाल ही में निधन हो गया। दत्‍ताजीराव गायकवाड़ की उम्र 95 साल थी। गायकवाड़ का उम्र संबंधी बीमारियों के कारण निधन हो गया। बीसीसीआई (BCCI) ने गायकवाड़ को श्रद्धांजलि दी है। दत्‍ताजीराव गायकवाड़ ने भारत के लिए 9 साल के टेस्‍ट करियर में 11 मैच खेले, जिसमें चार में कप्‍तानी की। 1952 में इंग्‍लैंड के खिलाफ डेब्‍यू करने वाले दत्‍ताजीराव गायकवाड़ ने 2016 में दीपक शोधन की मृत्‍यु के बाद भारत के सबसे उम्रदराज जीवित टेस्‍ट क्रिकेटर का तमगा पाया था। दीपक शोहधन का 87 की उम्र में निधन हुआ था।