सिंगापुर में पूर्व एशिया शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे प्रधानमंत्री मोदी

0
81
  1. सिंगापुर में पूर्व एशिया शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे प्रधानमंत्री मोदी:-

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सिंगापुर में 13वें पूर्व एशिया शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे। यह सम्मेलन क्षेत्रीय मंच है जिसमें हर वर्ष रूस और अमरीका सहित पूर्व एशिया, दक्षिण पूर्व एशिया और दक्षिण एशियाई क्षेत्रों के 18 देश भाग लेते हैं। वर्ष 2005 में अपनी शुरूआत के बाद से इस सम्मेलन में पूर्व एशिया में सामरिक, भू-राजनीतिक और आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। श्री मोदी पहली भारत-सिंगापुर हैकाथॉन प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कार भी प्रदान करेंगे। इस प्रतियोगिता में भारत और सिंगापुर के छात्रों ने भाग लिया था। उधर प्रधानमंत्री ने अनौपचारिक भारत-आसियान शिखर सम्मेलन में 10 आसियान देशों के नेताओं से मुलाकात की। श्री मोदी ने दूसरे क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझीदारी शिखर सम्मेल में भाग लिया। इस संगठन में 16 सदस्य देश हैं। प्रधानमंत्री ने उच्च गुणवत्ता के व्यापक और संतुलित क्षेत्रीय आर्थिक साझीदारी समझौते को जल्द सम्पन्न कराने की भारत की प्रतिबद्धता दोहराई। श्री मोदी ने सम्मेलन में मौजूद नेताओं से अनुरोध किया कि समझौते को जल्द सम्पन्न कराने के लिए अपने व्यापार मंत्रियों को आवश्यक अधिकार दें। श्री मोदी ने सिंगापुर, ऑस्ट्रेलिया और थाइलैंड के प्रधानमंत्रियों के साथ द्विपक्षीय बैठक की। उन्होंने अमरीकी उपराष्ट्रपति माइक पेन्स से भी मुलाकात की। पूर्व एशिया शिखर सम्मेलन में भाग लेने के बाद श्री मोदी अपनी दो दिन की सिंगापुर यात्रा संपन्न होने पर स्वदेश के लिए रवाना होंगे।

2.समस्याओं के हल के लिए नीति आयोग ने लॉन्च किया 72 घंटे का हैकथॉन:-

नीति आयोग और यूनिसेफ ने मिलकर लॉन्च किया है- अटल टिंकरिंग लैब हैकथॉन। इस हैकथॉन के द्वारा बच्चों में नवोन्मेष को बढ़ावा मिलेगा। यह हैकॉथान लोगों की मुश्किलों का 72 घंटे में समाधान करेगी। इस हैकथॉन के विजेता का नाम 20 नवंबर को घोषित किया जाएगा। इस अवसर पर बोलते हुए नीति आयोग के उपाध्यक्ष डॉ. राजीव कुमार ने कहा कि अटल टिकरिंग लैब और अटल नवोन्मेषी अभियान देश में नवोन्मेष और स्कूलों के बीच एक पूल का काम करेगी, जो कि जमीनी स्तर की मुश्किलों का समाधान करेगी। भारत में अमरीकी नागरिकों के स्थानीय समन्वयक ने कहा कि भारत में नवोन्मेष का वातावरण उत्साहजनक है और यह देखना काफी दिलचस्प है कि यहां के युवा कैसे न्यूनतम लागत में अधिकतम प्रभावशाली समाधान की योजनाएं बनाते हैं।

3.दिल्ली पहुंची भारत की सबसे आधुनिक ट्रेन-18, ट्रायल के लिए जाएगी मुरादाबाद:-

भारत की सबसे आधुनिक ट्रेन-18 दिल्ली पहुंच गई है। अब यह ट्रायल के लिए मुरादाबाद जाएगी। इंटीग्रल कोच फैक्ट्री चेन्नई में तैयार यह ट्रेन ‘मेक इन इंडिया’ की सफलता का उदाहरण है। इसे रिकॉर्ड समय और कम लागत में तैयार किया गया है। इस ट्रेन में अलग से इंजन लगाने की जरूरत नहीं है। यह ट्रेन इस समय रेलवे के शोध संस्थान अनुसंधान अभिकल्प एवं मानक संगठन (आरडीएसओ) के अधीन है और इसके अधिकारी ही आधुनिक मशीनों व तकनीक के माध्यम से इस गाड़ी का परीक्षण करेंगे। ट्रेन-18 को शताब्दी और राजधानी की जगह पर चलाने की योजना है। ट्रेन-18 का पहला ट्रायल मुरादाबाद से सहारनपुर के बीच करीब 100 किलोमीटर के ट्रैक पर होगा। रेलवे अधिकारियों ने बताया कि टी-18 में यात्रियों की जगह पर रेत भरी बोरियां रख कर ट्रायल होगा। ट्रेन की ब्रेक, सुरक्षा एवं संरक्षा सहित सभी तकनीकी पहलुओं की जांच के बाद इस ट्रेन को रेलवे संरक्षा आयुक्त के पास भेजा जाएगा। रेलवे अधिकारियों के अनुसार ट्रेन 18 शताब्दी ट्रेन की तुलना में 15 फीसद से अधिक समय बचाएगी। इसकी रफ्तार का ट्रायल दिल्ली से मथुरा जाने वाले रूट पर होगा। इस रूट पर ही देश की सबसे तेज ट्रेन गतिमान एक्सप्रेस भी चलती है। इस आधुनिक ट्रेन को अधिकतम 160 किलोमीटर प्रति घंटा तक की गति से चलाया जा सकेगा। ट्रेन-18 ट्रेन में 16 कोच हैं। प्रत्येक चार कोच एक सेट में हैं। ट्रेन सेट होने के चलते इस ट्रेन के दोनों ओर इंजन हैं। इंजन भी मेट्रो की तरह छोटे से हिस्से में हैं। ऐसे में इंजन के साथ ही बचे हिस्से में 44 यात्रियों के बैठने की जगह है। इस तरह से इसमें ज्यादा यात्री सफर कर सकेंगे। यह 15 से 20 फीसद ऊर्जा बचाएगी और कार्बन फुटप्रिंट का उत्सर्जन भी कम होगा। अधिकारियों ने बताया कि पहला ट्रेन सेट 18 माह में 100 करोड़ की लागत से तैयार हुआ है। विदेश में इस तरह के ट्रेन लगभग तीन वर्षों में तैयार होते हैं। विदेश से इसे भारत में लाने पर 200 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च करने पड़ते।

4.प्रचंड तूफान गाजादक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर  तमिलनाडु और पुद्दुचेरी के तटीय क्षेत्रों के लिए रेडचेतावनी जारी:- 

दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर मंडराने वाला प्रचंड तूफान ‘गाजा’ पश्चिम-दक्षिणपश्चिम दिशा में आगे बढ़ गया है। पिछले छह घंटों के दौरान उसकी रफ्तार 22 किलोमीटर प्रति घंटा रही है। 15 नवंबर, 2018 को 11.30 बजे वह दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी के केन्द्र में रहा तथा उसकी स्थिति अक्षांश 11.2 डिग्री उत्तर और देशांतर 82.0 डिग्री पूर्व पर रही। वह चेन्नई से लगभग 280 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व और नागपट्टिनम (तमिलनाडु) से लगभग 240 किलोमीटर पूर्व-उत्तरपूर्व दिशा में मौजूद है। आशंका है कि तूफान पश्चिम-दक्षिणपश्चिम दिशा में बढ़ेगा और 15 नवंबर, 2018 की देर शाम तक वह पम्बन तथा कुडालोर के बीच तमिलनाडु के तट से टकराएगा। इस दौरान तूफानी हवाएं 80-90 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी और उनकी रफ्तार 100 किलोमीटर प्रति घंटा तक पहुंचने की आशंका है। प्रचंड तूफान ‘गाजा’ को चेन्नई और कराइकल में ‘डोपलर वेदर रडार’ द्वारा ट्रेक किया जा रहा है।तमिलनाडु के अंदरूनी इलाकों, तटीय केरल, दक्षिण-पूर्व अरब सागर, मन्‍नार की खाड़ी और पाक स्‍ट्रेट में 16 नवंबर को तेज हवा चलेगी, जिसकी रफ्तार 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है। 17 नवम्बर को आंधी की रफ्तार 50 किलोमीटर प्रतिघंटा हो सकती है तथा दक्षिण-पूर्व अरब सागर के साथ-साथ तटीय केरल के इसकी चपेट में आने की संभावना है।

आशंका है कि तमिलनाडु के नागपट्टिनम, तंजावुर, पुदुक्कोटई और रामनाथपुरम जिलों तथा पुद्दुचेरी के कराइकल जिले में एक मीटर ऊंची लहरें उठ सकती हैं और यहां के निचले इलाकों में ज्‍वार आने की संभावना है।

5.जनजातीय कार्य मंत्रालय और ट्राइफेड 16 से 30 नवम्‍बर, 2018 तक दिल्‍ली में आदि महोत्‍सवका आयोजन करेंगे जुएल ओराम:- 

जनजातीय कार्य मंत्रालय और ट्राइफेड जनजातीय कला, संस्‍कृति, व्यंजन और  व्‍यापार को बढ़ावा देने के लिए राष्‍ट्रीय जनजातीय पर्व ‘आदि महोत्सव’ का आयोजन करेंगे। केन्‍द्रीय जनजातीय कार्य मंत्री श्री जुएल ओराम ने पत्रकारों को बताया कि आदि महोत्‍सव का आयोजन दिल्‍ली हाट, आईएनए में 16 से 30 नवम्बर तक, नेहरू पार्क में 21 से 30 नवम्बर तक और नई  दिल्ली के सेन्‍ट्रल पार्क में 16 से 19 नवम्‍बर, 2018 तक किया जाएगा। इस महोत्‍सव में जनजातीय कला एवं शिल्‍प, औषधियों, विभिन्‍न प्रकार के व्‍यंजनों की प्रदर्शनी एवं बिक्री और जनजातीय लोककला का प्रदर्शन होगा। इस आयोजन में देश के 23 राज्‍यों से जनजातीय कलाकार, शेफ, नर्तक/संगीतकार भाग लेंगे और अपनी समृद्ध पारंपरिक संस्‍कृति की झलक दिखाएंगे।

केन्‍द्रीय मंत्री श्री जुएल ओराम ने कहा कि इस महोत्‍सव का विषय ‘आदिवासी संस्कृति, कला, व्यंजन और व्यापार की भावना का उत्सव’ है। इस उत्‍सव में 100 स्‍टॉल लगाए जाएंगे, जिन पर जनजातीय हस्‍तशिल्‍प, कला, चित्रकारी, कपड़े, गहने सहित कई और वस्‍तुओं की प्रदर्शनी और बिक्री होगी। इस उत्‍सव में अलग-अलग राज्‍यों से 200 से अधिक जनजातीय कलाकार भाग लेते हुए एक छोटे भारत की झलक दिखलाएंगे।

श्री ओराम ने कहा कि इस आयोजन के नाम ‘आदि महोत्‍सव’ से पता चलता है कि इसका ‘आदि’ हिस्‍सा काफी महत्‍वपूर्ण है। आदिवासी जनजीवन आदिम सच्‍चाई, शाश्‍वत मूल्‍यों और प्राकृतिक सहजता से निर्देशित होता है। जनजातीय लोगों की महानता इस बात में है कि उन्‍होंने जनजातीय कौशल और प्राकृतिक सहजता को बनाये रखा है। उनका यही गुण उनकी कला और शिल्‍प को शाश्‍वत पहचान देता है।उन्‍होंने पत्रकारों को बताया कि इस महोत्‍सव में 23 राज्‍यों से 600 शिल्‍पकार, 20 से अधिक राज्‍यों से 80 शेफ और 200 से अधिक कलाकारों के 14 नृत्‍य दल भाग लेंगे।इस महोत्‍सव की खासियत महुआ से शराब, ताड़ से ताड़ी और इमली की चटनी बनते दिखना, लाह से चुड़ियों का निर्माण, चार विभिन्न पेंटिंग स्कूलों वर्ली, पिथौरा, गोंड एवं सौरा की लाइव पेंटिंग, जनजातीय कपड़ों के फैशन शो, जनजातीय व्यंजनों को बनते दिखना और विभिन्न राज्यों से आए जनजातीय सामानों की बिक्री है।इस आदि महोत्सव में बिक्री और प्रदर्शनी के लिए रखी गई वस्तुओं में भंडारा, महेश्वरी बाग, संभलपुरी, तासर, कांथा, सिल्क साड़ियों के संग्रह, छत्तीसगढ़, झारखंड, महाराष्ट्र, ओडिशा, पश्चिम बंगाल के सूती कपड़े, पुरुषों के लिए मध्य प्रदेश, राजस्थान एवं झारखंड के सूती, ऊनी, और सिल्क के जैकेट, कुर्ता, छत्तीसगढ़, ओडिशा, मध्य प्रदेश एवं आंध्र प्रदेश से बेल मेटल, गुजरात, महाराष्ट्र, ओडिशा एवं मध्य प्रदेश की पेंटिंग्स, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड एवं जम्मू-कश्मीर के ऊनी कपड़े, विभिन्न राज्यों के मधु, मसाले, मेवे इत्यादि, हिमाचल प्रदेश, ओडिशा, पूर्वोत्तर, मध्य प्रदेश, तेलंगाना से जनजातीय गहने, मणिपुर और राजस्थान के मिट्टी के बर्तन, राजस्थान, पूर्वोत्तर, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश के घर के सजावटी सामान, गुजरात, तेलंगाना, झारखंड के थैले और पश्चिम बंगाल, झारखंड एवं केरल से घास के बने कालानी-चटाई और नारियल की जटा से बने सामान शामिल हैं।

अन्तर्राष्ट्रीय न्यूज़

6.उड़ने वाली होवर बाइकसे चोरों को पकड़ेगी दुबई पुलिस:-

तेज रफ्तार कारों का इस्तेमाल करने के लिए दुनिया भर में मशहूर दुबई पुलिस ने अपने बेड़े में उड़ने वाली बाइक को शामिल किया है। इसका नाम ‘होवर बाइक’ है जो जमीन से 16 फीट की ऊंचाई पर 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ने में सक्षम है। इस बाइक को बेड़े में शामिल करने के बाद दुबई पुलिस दुनिया की पहली ऐसी पुलिस बन गई है जिसके पास उड़ने वाली बाइक है। होवर बाइक अधिकतम 16 फीट की ऊंचाई पर 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ सकती है। 130 किग्रा वजन लेकर उड़ने में सक्षम है। बैट्री से चलने वाली इस बाइक को एक बार चाजिंग के बाद 25 मिनट तक उड़ाया जा सकता है। इसे कार की पार्किंग में उतारा जा सकता है और यहीं से उड़ान भी भरी जा सकती है। होवर बाइक ड्रोन का एक बड़ा आकार है। बिच्छू की तरह दिखने वाली इस बाइक को रूसी कंपनी होवर सर्फ ने बनाया है।

7.डोनाल्ड ट्रंप ने कहा- मैं प्रधानमंत्री मोदी का बहुत सम्मान करता हूं’:-

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपनी दोस्ती की गर्माहट को जाहिर किया है। व्हाइट हाउस में दिवाली जश्न के दौरान उन्होंने कहा,‘ ‘मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सम्मान करता हूं। वह मेरे अच्छे दोस्त हैं।’ श्री ट्रंप ने अमेरिका में भारत के राजदूत नवतेज सिंह सरना से भारत और श्री मोदी के प्रति अपने लगाव और अपनी भावनाएं प्रकट कीं। श्री ट्रंप ने कहा, ‘मैं जल्द उनसे बातचीत करूंगा। शुक्रिया।’ इसके जवाब में श्री सरना ने कहा, ‘वह भी आपसे मिलना चाहते हैं।’ श्री ट्रंप और श्री मोदी के बीच काफी अच्छी दोस्ती भी है। श्री ट्रंप ने राष्ट्रपति चुनाव के लिए प्रचार के दौरान देश में (भारत में) आर्थिक और नौकरशाही में सुधारों के लिए श्री मोदी की प्रशंसा भी की थी। श्री ट्रंप और श्री मोदी 30 नवंबर और एक दिसंबर को अर्जेंटीना में होने वाले जी-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे, जहां इन दोनों के बीच बैठक होने की भी संभावना है। हालांकि व्हाइट हाउस ने इस संबंध में अब तक कोई घोषणा नहीं की है। व्हाइट हाउस के दिवाली के जश्न में विशेष रूप से आमंत्रित श्री सरना से श्री ट्रंप ने कहा कि उन्हें भारत से लगाव है। श्री ट्रंप ने कहा, ‘हमें आपका देश पसंद है। जैसा कि आप जानते हैं प्रधानमंत्री मोदी के लिये मेरे मन में बेहद सम्मान है। कृपया मेरी तरफ से उन्हें हार्दिक शुभकामनाएं दीजिए।’ श्री ट्रंप ने व्हाइट हाऊस दिवाली कार्यक्रम में भारतीय राजदूत नवतेज सरना को मंच साझा करने के लिए आमंत्रित किया। यह पहला मौका है जब किसी भारतीय राजदूत को व्हाइट हाउस में इस तरह का सम्मान मिला। दिवाली कार्यक्रम के दौरान श्री सरना राष्ट्रपति ट्रंप के बगल में खड़े नजर आए।

 

खेल न्यूज़

8.दक्षिण अफ्रीकी टी-20 लीग में आकर्षण होंगे एबी डिविलियर्स:-

एबी डिविलिर्स दक्षिण अफ्रीका की पहली शहर आधारित टी-20 लीग का आकर्षण होंगे। मजान्सी (दक्षिण अफ्रीका) सुपर लीग के पहले मैच में डिविलियर्स को केपटाउन ब्लिट्ज के खिलाफ तशवेन स्पार्टस की अगुआई करेंगे।एक महीने तक चलने वाली यह लीग आधिकारिक लांच के एक महीने के अंदर शुरू हुई है और वह भी टाइटल प्रायोजक के बिना। इस लीग में इस बार अंतरराष्ट्रीय खिलाडि़यों की संख्या भी कम है क्योंकि कुछ बड़े खिलाडि़यों की पूर्व प्रतिबद्धताएं थी।क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (सीएसए) ने टूर्नामेंट के पहले सत्र के लिए चार करोड़ रैंड (28 लाख डॉलर) के नुकसान का अनुमान लगाया है। इस लीग पर सबसे पहले 2017 में विचार किया गया था लेकिन टेलीविजन करार या मुख्य प्रायोजक नहीं मिलने पर इसे रद कर दिया गया। इसके कारण एक करोड़ 40 लाख डॉलर का नुकसान हुआ और मुख्य कार्यकारी अधिकारी हारुन लोर्गट को इस्तीफा देना पड़ा।

9.महिला टी-20 विश्व कप: आयरलैंड को हराकर भारत सेमीफाइनल में:-

भारतीय महिला क्रिकेट टीम का टी-20 विश्व कप में जीत का सफर जारी है। महिला टीम ने गुरुवार को गयाना में ग्रुप-बी के मुकाबले में आयरलैंड को 52 रन से शिकस्त देकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया।इसी के साथ भारतीय टीम आठ साल बाद टी-20 विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंची है। भारतीय टीम ने मिताली राज के 51 रन की बदौलत पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में छह विकेट पर 145 रन बनाए थे। जवाब में आयरलैंड की टीम 20 ओवर में आठ विकेट पर 93 रन ही बना सकी।भारत से मिले 146 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी आयरलैंड की शुरुआत खराब रही। 27 रन के स्कोर पर ही टीम ने गैबी लुइस के रूप में पहला विकेट गंवा दिया। इसके कुछ देर बाद ही क्लेर शिलिंगटन भी 23 रन बनाकर आउट हो गईं। 84 रन तक पहुंचते-पहुंचते आयरलैंड ने पांच विकेट गंवा दिए थे। यहां से आयरलैंड का जीतना लगभग नामुमकिन लग रहा था।

आखिरकार 20 ओवर पूरे होने तक आयरलैंड आठ विकेट गंवा चुकी थी और स्कोर 93 रन तक ही पहुंचा। आयरलैंड की ओर से सबसे अधिक 33 रन तीसरे नंबर की बल्लेबाज इसोबेल जोयस ने बनाए। आयरलैंड की पारी में आठ बल्लेबाज दहाई के अंक तक भी नहीं पहुंच सकीं। भारत की ओर से राधा यादव ने 25 रन देकर सबसे ज्यादा तीन विकेट चटकाए।इससे पहले आयरलैंड ने टॉस जीतकर भारत को पहले बल्लेबाजी करने का आमंत्रण दिया। मिताली ने अपनी सलामी जोड़ीदार स्मृति मंधाना (33) के साथ मिलकर टीम को ठोस शुरुआत दी। इस जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 10 ओवरों में 67 रन जोड़े। टीम का मध्य और निचला क्रम हालांकि इस अच्छी शुरुआत को बड़े स्कोर में तब्दील नहीं कर सका। नौवें ओवर की आखिरी गेंद पर किम गार्थ ने मंधाना को बोल्ड पर भारत को पहला झटका दिया। यहां से भारतीय पारी लड़खड़ा गई। मिताली दूसरे छोर पर अकेली खड़ी थीं, लेकिन उन्हें किसी का समर्थन नहीं मिला रहा था।अर्धशतक पूरा करने के बाद मिताली 133 के कुल स्कोर पर गार्थ का शिकार हो गईं। उनसे पहले भारत ने जेमिमा रोड्रिग्ज (18), कप्तान हरमनप्रीत कौर (07), वेदा कृष्णमूर्ति (09) के विकेट खो दिए थे। मिताली 19वें ओवर की तीसरी गेंद पर आउट हुईं। दयालन हेमलता पारी खत्म होने से दो गेंद पहले चार के निजी स्कोर पर रन आउट हो गईं। दीप्ति शर्मा 11 और पूनम यादव एक रन पर नाबाद रहीं।

 

बाजार न्यूज़

10.प्रधानमंत्री जनधन योजना: एक साल में कम आयवर्ग वाले 30 करोड़ लोग बैंकिंग सिस्टम से जुड़े:-

सार्वजनिक क्षेत्र के प्रमुख बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) का कहना है प्रधानमंत्री जनधन योजना की मदद से करोड़ों लोग बैंकिंग सिस्टम के दायरे में आए हैं। एसबीआई के चेयरमैन ने बताया कि एक साल के भीतर करीब 30 करोड़ लोगों ने इस योजना के अंतर्गत बैंकिंग सिस्टम में अपना एनरोल्मेंट करवाया है और इससे बैंक को फायदा भी पहुंचा है।गौरतलब है कि जन-धन योजना की शुरुआत मोदी सरकार ने अगस्त, 2014 में की थी। इसके पहले चरण का अंत अगस्त, 2015 में हो गया था। इस दौरान सरकार का मुख्य मकसद लोगों के सामान्य बैंक खाते खुलवाना और उन्हें रुपये कार्ड से लैस करना था।

एसबीआई चेयरमैन ने बताया, “1 साल के भीतर कम आयवर्ग वाले 300 मिलियन (30 करोड़) लोगों ने प्रधानमंत्री जनधन योजना के अंतर्गत बैंकिंग सिस्टम में अपना एनरोल्मेंट करवाया है। इनमें से 32 फीसद अकाउंट एसबीआई के अंतर्गत खोले गए हैं। प्रधानमंत्री जनधन योजना के अंतर्गत किए गए कुल 260 बिलियन (26000 करोड़) रुपये की जमा में से प्रति व्यक्ति औसत 1800 रुपये का है। एसबीआई ने इसके जरिए मुनाफा कमाया है।”

11.स्वर्ण आभूषणों की हॉलमार्किग जल्द होगी अनिवार्य:-

देश में बिना हॉलमार्किग वाले स्वर्ण आभूषण बेचना जल्द ही अपराध की श्रेणी में शामिल हो जाएगा। सरकार ने इस दिशा में तैयारियां लगभग पूरी कर ली हैं। केंद्र सरकार में उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने यह घोषणा करते हुए गुरुवार को कहा कि सरकार जल्द ही सोने के गहने पर हॉलमार्किग को कानूनी रूप से अनिवार्य बनाने जा रही है। उन्होंने कहा कि उपभोक्ता अधिकारों के संरक्षण को सरकार ने उच्च प्राथमिकता दी है।विश्व मानक दिवस पर आयोजित ‘अंतरराष्ट्रीय मानक और चौथी औद्योगिक क्रांति’ समारोह में पासवान ने कहा कि अभी तक स्वर्ण आभूषण पर हॉलमार्किग स्वैच्छिक थी। इसे जल्द ही अनिवार्य कर दिया जाएगा। हॉलमार्किग के बाद सोने की शुद्धता में कोई खोट नहीं रहने दिया जाएगा। इससे सोने की गहने की शुद्धता को प्रमाणित किया जाएगा।

बाजार में केवल 14, 18 और 22 कैरेट के गहने ही बेचे जा सकेंगे, जिनके साथ उपभोक्ताओं को प्रमाण पत्र भी दिया जाएगा। उपभोक्ता मंत्री पासवान ने घोषणा के बाद यह स्पष्ट नहीं किया कि किस महीने से इस पर अमल शुरु हो जाएगा। देश में फिलहाल 653 आंकलन और हॉलमार्किग सेंटर स्थापित हो चुके हैं। सबसे अधिक केंद्र तमिलनाडु और केरल में हैं।

समारोह में पासवान ने कहा कि चौथे औद्योगिक क्रांति में स्मार्ट प्रौद्योगिकी की भूमिका अहम होगी। मानक के स्तर पर भारत दुनिया के किसी देश से पीछे नहीं रहना चाहता है। पासवान ने कहा कि कई तरह के उद्योगों में आज भी 1950 की टेक्नोलॉजी चल रही है। इस स्थिति से उबरना होगा। मानक को प्रौद्योगिकी से निखारा जा सकता है। केंद्रीय उपभोक्ता राज्यमंत्री सीआर चौधरी ने कहा कि नये उद्योगों में आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस टेक्नोलॉजी का प्रयोग समय की जरूरत है।