सेमीकंडक्‍टर उद्योग को बढावा देने के लिए भारत-अमरीका कार्यबल गठित करने पर सहमत

0
85

1. सेमीकंडक्‍टर उद्योग को बढावा देने के लिए भारत-अमरीका कार्यबल गठित करने पर सहमत

अमरीका ने सेमीकंडक्टर्स के लिए भारत में पारिस्थितिकी तंत्र के विकास का समर्थन किया है। वह इसके लिए प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में संयुक्त उद्यम और साझेदारी को भी प्रोत्साहित करेगा। दोनो देश इस उद्देश्‍य के लिए एक कार्यदल का गठन करेंगे जिसमें भारत के सेमीकंडक्टर मिशन, इंडिया इलेक्ट्रॉनिक्स सेमीकंडक्टर एसोसिएशन और यूएस सेमीकंडक्टर इंडस्ट्री एसोसिएशन के प्रतिनिधि शामिल होंगे। अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन के साथ, एनएसए अजीत डोभाल ने व्हाइट हाउस में क्रिटिकल एंड इमर्जिंग टेक्नोलॉजीज (iCET) पर पहल की उद्घाटन बैठक की सह-अध्यक्षता की। वाशिंगटन में सरकारी अधिकारियों और विभिन्न कंपनियों के अधिकारियों के बीच दो दिनों की उच्च स्तरीय बैठकों के बाद कई समझौते किए गए। दोनों देशों ने जेट इंजन, आर्टिलरी सिस्टम और बख्तरबंद इन्फैंट्री वाहनों सहित कुछ रक्षा तकनीकों को संयुक्त रूप से विकसित करने के अपने प्रयासों को तेज करने का भी संकल्प लिया।

2. मैनुएला रोका बोटे को इक्वेटोरियल गिनी का पहली महिला प्रधानमंत्री नियुक्त

मैनुएला रोका बोटे को इक्वेटोरियल गिनी का नया प्रधानमंत्री नियुक्त किया गया है। वे देश की पहली महिला प्रधानमंत्री हैं। इससे पहले वे शिक्षा मंत्री थीं।

3. यूके बायोएशिया 2023 (BioAsia 2023) के लिए कंट्री पार्टनर होगा

हैदराबाद भारत की साइबरसिटी है। जीनोम वैली (Genome Valley), भारत में पहला विश्व स्तरीय बायोटेक क्लस्टर साइबर सिटी में स्थापित किया गया था। तेलंगाना की राज्य सरकार, केंद्र सरकार और कई अन्य अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के साथ जीनोम वैली में बायो एशिया फोरम का आयोजन करती है। यह फोरम दुनिया के सबसे बड़े अंतरराष्ट्रीय बायोटेक फोरम में से एक है। 2023 में, भारत ने इस फोरम की मेजबानी में यूके सरकार के साथ हाथ मिलाया। इस साल, यह फोरम MSME क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित करना है। 2023 बायो एशिया फोरम की थीम ‘Shaping the Next Generation: Advancing for ONE’ है। ONE में ‘O’ का मतलब One Health है। इसका उद्देश्य भविष्य की सुरक्षा के उद्देश्य से विभिन्न पारिस्थितिक तंत्रों को एकीकृत करना है। ONE में ‘N’ का मतलब Next Generation Health है। इसके तहत फोरम का लक्ष्य बायोटेक क्षेत्र में नई तकनीकों का उपयोग करना होगा। ONE में ‘E’ का अर्थ Equity है: यहां, उद्देश्य सभी के लिए गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करना है।

4. रक्षा मंत्रालय 2022 में MSME सामानों का सबसे बड़ा खरीददार बना

गवर्नमेंट ई-मार्केटप्लेस (Government e–Marketplace) को 2016 में लॉन्च किया गया था। यह एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है जिसका इस्तेमाल वस्तुओं और सेवाओं की ऑनलाइन खरीद के लिए किया जाता है। गवर्नमेंट ई-मार्केटप्लेस (GeM) का मुख्य उद्देश्य पारदर्शिता बढ़ाना, आत्मनिर्भर भारत को बढ़ावा देना और छोटे और स्थानीय विक्रेताओं का समर्थन करना है। हाल ही में, GeM ने ट्वीट किया कि 2022 में, रक्षा मंत्रालय ने MSME विक्रेताओं से सबसे अधिक खरीद की। 2022 में, रक्षा मंत्रालय ने MSME क्षेत्र से 16,747 करोड़ रुपये के सामान और सेवाओं की खरीदारी की। यह 2021 में की गई खरीद से 250% अधिक थी। सभी राज्यों में उत्तर प्रदेश ने सबसे अधिक खरीद की। उत्तर प्रदेश ने GeM के जरिए 9,642 करोड़ रुपए का सामान और सेवाएं खरीदीं।

5. भोपाल में स्कूली छात्रों ने एग्रीबॉट बनाकर तोड़ा विश्व रिकॉर्ड

भारत अंतरराष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव (आईआईएसएफ)-2022 के तीसरे दिन मध्यप्रदेश सहित देश के अन्य राज्यों के 1600 स्कूली विद्यार्थियों ने रोबोटिक तकनीक पर काम करते हुए कृषि कार्यों के लिए एक साथ और एक ही स्थान पर 1484 रोबोट बनाकर नया विश्व रिकॉर्ड कायम किया है। इस रोबोट को एग्रीबॉट नाम दिया गया है। स्कूली छात्रों की इस उपलब्धि ने गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज कराया है। 11 अगस्त 2019 को हांगकांग के रोबोट इंस्टीट्यूट के बच्चों ने एक साथ रोबोट वॉक कराया था, उस रिकॉर्ड को भोपाल में तोड़कर एक नया रिकॉर्ड बना है। गतिविधि के अन्तर्गत 1484 स्कूली बच्चों ने एक साथ एग्रीबॉट तैयार करके गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया है। इस एग्रीबॉट के निर्माण में जो भी चीजें लगी हैं, सभी ‘मेड इन इंडिया’ हैं। इस एग्रीबॉट से खेती के काम जैसे- बुआई, सिंचाई, कटाई और बखरनी भी की जा सकती है।

6. वर्ष 2024 में भारत का गगनयान मिशन

8वें भारत अंतरराष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव (आईआईएसएफ)-2022 के समापन सत्र में भोपाल में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (ISRO) के चेयरमैन डॉ एस. सोमनाथ ने मौजूद रहे। इस दौरान एक साक्षात्कार में उन्होँने कहा भारत अंतरिक्ष में अपना पहला मानव मिशन गगनयान-3 अगले साल 2024 में लॉन्च कर सकता है। इसे लेकर हर स्तर पर बारीकी से परीक्षण किए जा रहे हैं। एस्ट्रोनॉट्स की सुरक्षा की दृष्टि से इसरो पहले मानव रहित तरीके से गगनयान की लॉन्चिंग करेगा। इसरो प्रमुख ने गगनयान विषय पर बोला कि चन्द्रयान-3 को जून 2023 में लान्च करने के बाद गगनयान अभियान शुरू होगा। हमारा 2024 का लक्ष्य है।

7. नागालैंड सरकार और पतंजलि फूड्स लिमिटेड ने पाम ऑयल की खेती और प्रसंस्‍करण के लिए आशय पत्र पर हस्‍ताक्षर किए

नागालैंड सरकार और पतंजलि फूड्स लिमिटेड ने राष्‍ट्रीय खाद्य तेल मिशन – ऑयल-पाम के अंतर्गत नागालैंड में पाम ऑयल की खेती और प्रसंस्‍करण के लिए एक आशय पत्र पर हस्‍ताक्षर किए हैं। इस आशय पत्र पर नागालैंड के कृषि निदेशक एम. बेन यान्‍थान और पतंजलि फूड लिमिटेड पूर्वोत्‍तर क्षेत्र के पॉम ऑयल प्रमुख सुभाष भट्टाचार्जी ने कोहिमा में कृषि निदेशालय में हस्‍ताक्षर किए। पतंजलि फूड्स लिमिटेड के अनुसार आशय पत्र पर हस्‍ताक्षर से नागालैंड में पॉम ऑयल उत्‍पादकों को बढ़ावा मिलेगा। पतंजलि फूड्स लिमिटेड पूर्वोत्‍तर में मिजोरम, अरूणाचल प्रदेश, असम और त्रिपुरा में काम कर रहा है।

8. जम्‍मू-कश्‍मीर में मेजर जनरल गिरिश कालिया ने जनरल ऑफिसर कमांडिंग का पदभार संभाला

जम्‍मू-कश्‍मीर में मेजर जनरल गिरिश कालिया ने थल सेना के वज्र डिवीजन के कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग का पदभार संभाल लिया। इससे पहले, मेजर जनरल अभिजीत पेंढ़ारकर इस पद पर थे। मेजर जनरल कालिया ने 1991 में सेना में कमीशन प्राप्‍त किया था।

9. रिलायंस कन्‍ज्‍यूमर प्रोडक्‍ट लिमिटेड्स ने श्रीलंका की मालिबान बिस्कुट निर्माता कंपनी के साथ भागीदारी की घोषणा की

उपभोक्‍ता वस्‍तु की बिक्री करने वाली रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड की एक शाखा, रिलायंस कन्‍ज्‍यूमर प्रोडक्‍ट लिमिटेड्स ने श्रीलंका की मालिबान बिस्कुट निर्माता कंपनी के साथ भागीदारी की घोषणा की है। मालिबान बिस्कुट निर्माता के रूप में अग्रणी कंपनी है और पिछले 70 वर्ष से अपने उत्‍पादों की गुणवत्‍ता के लिये जानी जाती है। भागीदारी पर बात करते हुए, मालिबान समूह की प्रबंध निदेशक, कुमुदिका फर्नांडों ने बताया कि दो संगठनों की आपसी शक्ति से भारतीय उपभोक्‍ताओं को मालिबान के बिस्किटों का अनूठा और पसंदीदा स्‍वाद मिलेगा।

10. जीनस पावर को 2,850 करोड़ रुपये से अधिक का ऑर्डर मिला

जीनस पावर इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड और इसकी 100 प्रतिशत सहायक कंपनी हाई-प्रिंट मीटरिंग सॉल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड को उन्नत मीटरिंग इंफ्रास्ट्रक्चर सर्विस प्रोवाइडर (एएमआईएसपी) की नियुक्ति के लिए 2,855.96 करोड़ रुपये का लेटर ऑफ अवार्ड (एलओए) प्राप्त हुआ है। इसमें 29.49 लाख स्मार्ट प्रीपेड मीटर, डीटी मीटरिंग, एचटी और फीडर मीटरिंग लेवल एनर्जी अकाउंटिंग, और इन 29.49 लाख स्मार्ट मीटरों के एफएमएस की आपूर्ति, स्थापना और कमीशनिंग के साथ एएमआई सिस्टम का डिज़ाइन शामिल है।

11. भारतीय सेना ने उत्तर बंगाल में सैन्य अभ्यास “त्रिशाकरी प्रहार” किया

21 जनवरी से 31 जनवरी 2023 तक उत्तर बंगाल में एक संयुक्त प्रशिक्षण अभ्यास “अभ्यास त्रिशात्री प्रहार” आयोजित किया गया था। अभ्यास का उद्देश्य एक नेटवर्क, एकीकृत वातावरण में नवीनतम हथियारों और उपकरणों का उपयोग करके सुरक्षा बलों की युद्ध तैयारियों का अभ्यास करना था, जिसमें शामिल थे सेना, भारतीय वायु सेना और सीएपीएफ के सभी हथियार और सेवाएं। अभ्यास का समापन 31 जनवरी 2023 को तीस्ता फील्ड फायरिंग रेंज में एकीकृत अग्नि शक्ति अभ्यास के साथ हुआ।

12. दिल्ली सरकार के स्कूल शिक्षकों के लिए ‘जीवन विद्या शिविर’ का आयोजन

दिल्ली स्टेट काउंसिल ऑफ एजुकेशनल रिसर्च एंड ट्रेनिंग (SCERT) ने त्यागराज स्टेडियम में दिल्ली सरकार के स्कूलों के शिक्षकों के लिए 5 दिवसीय ‘जीवन विद्या शिविर’ का आयोजन किया है। 28 जनवरी 2023 से 1 फरवरी 2023 के बीच इस कार्यशाला में दिल्ली सरकार के स्कूलों के लगभग 4,000 शिक्षकों के भाग लेने की उम्मीद है। जीवन विद्या शिविर ए नागराज के सह-अस्तित्व दर्शन पर आधारित एक सह-अस्तित्व कार्यशाला है। यह संपूर्ण जीवन को समझने का प्रस्ताव है और वास्तविकता और मानव अस्तित्व के सभी पहलुओं पर व्यापक स्पष्टता प्रदान करता है। यह जागरूकता और चेतना के विकास के माध्यम से हमारे बहुआयामी द्विभाजन और समस्याओं के समाधान प्रदान करता है। यह मनुष्य को संपूर्ण, सुसंगत और सार्थक जीवन जीने के लिए एक नई दिशा प्रदान करता है।

13. विश्व अंतर्धार्मिक सद्भाव सप्ताह: 1-7 फरवरी

हर साल फरवरी के पहले हफ्ते में 1 फरवरी से 7 फरवरी तक लोग वर्ल्ड इंटरफेथ हार्मनी वीक (विश्व अंतर्धार्मिक सद्भाव सप्ताह) मनाते हैं। यह विचार संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के एक प्रस्ताव से आया है जो धर्मों के बीच शांति के विश्वव्यापी उत्सव का आह्वान करता है। 2010 में, जॉर्डन के एचएम किंग अब्दुल्ला द्वितीय और एचआरएच प्रिंस गाजी बिन मुहम्मद ने वर्ल्ड इंटरफेथ हार्मोनी वीक की शुरुआत की। सप्ताह भर चलने वाले उत्सव का लक्ष्य लोगों को एक साथ लाना है, चाहे वे किसी भी धर्म का पालन करें। यह इस बात का उत्सव है कि कैसे लोग अलग होते हुए भी एक हो सकते हैं और कैसे उनका विश्वास उन्हें ईश्वर से जोड़ता है।

14. यूपी सरकार ने ‘समग्र शिक्षा अभियान’ मिशन शुरू किया

उत्तर प्रदेश सरकार ने वंचित वर्ग की लड़कियों को सशक्त बनाने के लिए एक अभियान शुरू किया है। समग्र शिक्षा अभियान उत्तर प्रदेश में 746 कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालयों में लड़कियों की सुरक्षा के लिए आरोहिनी पहल प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत काम करेगा।

15. विशाखापत्तनम आंध्र प्रदेश की नई राजधानी होगी: सीएम जगन रेड्डी

हाल ही में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि राज्य की नई राजधानी विशाखापत्तनम होगी। अविभाजित आंध्र प्रदेश की राजधानी हैदराबाद अब तेलंगाना की राजधानी है जिसे दोनों राज्य अस्थायी रूप से राजधानी के रूप में अब तक साझा कर रहे हैं। वर्ष 2020 में आंध्र प्रदेश विधानसभा ने आंध्र प्रदेश विकेंद्रीकरण एवं सभी क्षेत्रों का समावेशी विकास विधेयक पारित किया। विधेयक का उद्देश्य राज्य सरकार की तीन राजधानियों की योजना को आकार देना है- विशाखापत्तनम में कार्यकारी, अमरावती में विधायी और कुरनूल में न्यायिक राजधानी। वर्ष 2022 में आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को राज्य की राजधानी अमरावती का निर्माण तथा विकास करने का निर्देश दिया। हालाँकि अमरावती को विकसित करने हेतु भूमि देने वाले किसानों द्वारा दायर याचिकाओं के कारण इस मुद्दे को सर्वोच्च न्यायालय के अंतिम निर्णय का इंतज़ार है।

16. ब्रिटिश अर्थशास्त्री मेघनाद देसाई ने “द पॉवर्टी ऑफ पॉलिटिकल इकोनॉमिक्स” नामक एक नई पुस्तक लिखी

भारत में जन्मे ब्रिटिश अर्थशास्त्री मेघनाद देसाई ने “द पॉवर्टी ऑफ पॉलिटिकल इकोनॉमी: हाउ इकोनॉमिक्स एबंडन द पुअर” नामक एक नई किताब लिखी है, जो इस बात पर प्रकाश डालती है कि 18 वीं शताब्दी के उत्तरार्ध से अर्थशास्त्र के अनुशासन ने कैसे व्यवस्थित रूप से हितों को व्यवस्थित रूप से परिधि पर रखा। पुस्तक हार्पर कॉलिन्स पब्लिशर्स इंडिया द्वारा प्रकाशित की गई है।

17. राजीव सिंह रघुवंशी को भारत का अगला डीजीसीआई बनाने की सिफारिश

भारतीय फार्माकोपिया आयोग (आईपीसी) के सचिव सह वैज्ञानिक निदेशक राजीव सिंह रघुवंशी को भारत का अगला औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) बनाने की सिफारिश की गई है। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने सरकार से डॉ. वी जी सोमानी के उत्तराधिकारी के रूप में उनके नाम की सिफारिश की है। बता दें यूपीएससी की सिफारिश को स्वास्थ्य मंत्रालय की मंजूरी मिलनी बाकी है और इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति की मंजूरी की आवश्यकता होगी।

18. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ‘लाडली बहना’ योजना की घोषणा की

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सीहोर जिले के बुधनी में बड़ा ऐलान करते हुए ‘लाडली बहना’ योजना शुरू करने की घोषणा की है। उन्होंने कहा की लाडली बहनों को प्रतिमाह एक हजार रुपये दिए जाएंगे, साथ ही कहा की बुधनी में 400 करोड़ रुपये की लागत से भव्य मेडिकल कॉलेज बनेगा, जिसका शिलान्यास जल्द ही होगा। बता दें कि मध्य प्रदेश में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं।

19. डच खिलाड़ी अनीश गिरी ने टाटा स्टील मास्टर्स 2023 जीता

डच खिलाड़ी अनीश गिरी (नीदरलैंड) ने रिचर्ड रैपॉर्ट पर अपनी जीत के साथ 2023 टाटा स्टील चेस टूर्नामेंट जीता, पांच बार उपविजेता के रूप में इवेंट को समाप्त करने के बाद सुपर-टूर्नामेंट में यह उनकी पहली जीत है।

20. केंद्रीय बजट 2023 वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा प्रस्तुत किया गया

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 01 फरवरी 2023 को लोकसभा में वित्त वर्ष 2023-24 का केंद्रीय बजट पेश कर रही हैं। बता दें वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण स्वतंत्र भारत में लगातार 5 बार बजट पेश करने वाली छठी वित्त मंत्री हैं। यह मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का आखिरी पूर्ण बजट था। ऐसे में निर्मला सीतारमण ने टैक्स कटौती समेत तमाम बडे़ ऐलान किए। अब 7 लाख रुपए तक की सालाना आय पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। इतना ही नहीं निर्मला सीतारमण ने महिलाओं और वरिष्ठ नागरिकों को बड़ी सौगात दी। महिला सम्मान बचत पत्र योजना शुरू करने का ऐलान किया गया। इसके अलावा किसानों, युवाओं और छात्रों के लिए बडे़ ऐलान किए गए।

21. माइक्रोसॉफ्ट रिसर्च प्रोजेक्ट एलोरा भाषाओं को जीवित रहने में मदद कर रहा है

माइक्रोसॉफ्ट रिसर्च प्रोजेक्ट एलोरा (Project ELLORA) के अंतर्गत ‘दुर्लभ‘ भारतीय भाषाओं को संरक्षित करने में मदद कर रहा है। इस परियोजना के तहत माइक्रोसॉफ्ट के शोधकर्त्ता उन भारतीय भाषाओं के लिये डिजिटल पारिस्थितिकी तंत्र बनाने की दिशा में कार्य कर रहे हैं, जिनकी ऑनलाइन उपस्थिति अपर्याप्त है। परियोजना का मुख्य लक्ष्य आर्थिक अवसरों व तकनीकी कौशल का निर्माण करके शिक्षा का विस्तार और भावी पीढ़ियों के लिये स्थानीय भाषाओं एवं संस्कृतियों को संरक्षित करके वंचित समुदायों के लिये भाषा प्रौद्योगिकी को सक्षम करना है। माइक्रोसॉफ्ट रिसर्च ने तीन भाषाओं- गोंडी, मुंडारी और इदु मिश्मी पर ध्यान केंद्रित किया है। गोंडी भाषा एक दक्षिण-मध्य द्रविड़ भाषा है। उर्दू के अलावा गोंडी लिपि शायद देश की एकमात्र ऐसी लिपि है जो दाएँ से बाएँ लिखी जाती है। मुंडारी (Munɖari) भाषा मुंडा द्वारा बोली जाने वाली ऑस्ट्रोएशियाटिक भाषा परिवार की है, जो पूर्वी भारतीय राज्यों झारखंड, ओडिशा और पश्चिम बंगाल की एक जनजाति है। इदु मिश्मी भाषा अरुणाचल प्रदेश के दिबांग घाटी ज़िले में मिश्मी लोगों द्वारा बोली जाने वाली भाषा है, इसे लुप्तप्राय भाषा माना जाता है।

22. यूनेस्को की विश्व धरोहर सूची में यूक्रेन का ओडेसा

हाल ही में विश्व धरोहर समिति ने यूक्रेन के काला सागर बंदरगाह शहर ओडेसा के ऐतिहासिक केंद्र को अपनी विश्व धरोहर स्थलों की सूची में शामिल करने का निर्णय लिया है। यह निर्णय इस साइट के असाधारण, सार्वभौमिक मूल्य और मानवता द्वारा इसे संरक्षित करने की ज़िम्मेदारी को चिह्नित करता है। ओडेसा के ऐतिहासिक केंद्र को संकटग्रस्त विश्व धरोहरों की सूची में भी अंकित किया गया है। संकटग्रस्त विश्व धरोहरों की सूची का उद्देश्य विश्व समुदाय को उन समस्याओं के प्रति सचेत करना है जो उन विशेषताओं, जो किसी साइट को विश्व धरोहर सूची में शामिल करने के योग्य बनाती हैं, को खतरे में डालती हैं और साथ ही सुधारात्मक कार्रवाई को बढ़ावा देती हैं। वर्ष 2023 तक संकटग्रस्त विश्व धरोहरों की सूची में शामिल करने के लिये संबद्ध समिति द्वारा 52 संपत्तियों को निर्धारित किया गया है।

23. सबसे पुराना ज्ञात सीसिलियन जीवाश्म खोजा गया

अमेरिका के जीवाश्म वैज्ञानिकों की एक टीम ने पहले ट्रायसिक-युग (लगभग 250-200 MYA) के सीसिलियन जीवाश्म की खोज की है जो उभयचर जैसे प्राणी के ज्ञात ऐतिहासिक जीवाश्म रिकॉर्ड में यह खोज कम-से-कम 87 मिलियन वर्षों के अंतराल को भरने में मदद कर सकती है। इस जीवाश्म का नाम फंक्सवर्मिस गिलमोरी (Funcusvermis Gilmorei) रखा गया है। ये सबसे पुराने खोजे गए सीसिलियन जीवाश्म हैं, जो छोटे स्तनपायी के रिकॉर्ड में लगभग 35 मिलियन वर्षों तक का विस्तार करते है। इस खोज से पहले, प्रारंभिक जुरासिक काल (~183 MYA) से पहले के केवल 10 सीसिलियन जीवाश्म की खोज की गई थी। आधुनिक सीसिलियन एक कॉम्पैक्ट, बुलेट के आकार की खोपड़ी के साथ बेलनाकार निकायों के अंगहीन उभयचर हैं, जो भूमि को खोदने में मदद करते हैं। वे कीड़ों के शिकार की तलाश में पत्ती-कूड़े या मिट्टी में अपना जीवन व्यतीत करते हैं। ट्रायसिक काल मेसोज़ोइक युग की पहली अवधि है जिसने प्रमुख परिवर्तनों की शुरुआत को चिह्नित किया गया है जैसे- महाद्वीपों का वितरण, जीवन का विकास आदि। ट्रायसिक युग की शुरुआत में केवल सुपरकॉन्टिनेंट- पैंजिया अस्तित्त्व में था, हालाँकि ट्राइऐसिक के अंत में प्लेट विवर्तनिक सिद्धांत प्रचलन में आया।

24. वैज्ञानिकों ने ततैया (wasp) की एक नई प्रजाति की खोज की

हाल ही में अशोक ट्रस्ट फॉर रिसर्च इन इकोलॉजी एंड एन्वायरनमेंट (एटीआरईई) के वैज्ञानिकों ने ततैया (wasp) की एक नई प्रजाति की खोज की है, जिसका नाम सोलिगा जनजाति के नाम पर रखा गया है जो कर्नाटक के चामराजनगर ज़िले में बिलीगिरी रंगन हिल्स (बी.आर. हिल्स) और माले महादेश्वर के पास परिधीय वन क्षेत्रों में निवास करने वाली मूल जनजाति है। सोलिगा इकारिनाटा एक नई ततैया है, जो डार्विन बर्र के परिवार इचन्यूमोनाइड (Ichneumonidae) की उप-प्रजाति मेटोपीनीए (Metopiinae) से संबंधित है। यह दक्षिण भारत में पहली तथा भारत में खोजी गई इस प्रकार दूसरी प्रजाति है। इस ततैया को सोलिगा इकारिनाटा कहा गया। ‘इकारिनाटा’ शरीर के कुछ क्षेत्रों में लकीरों की अनुपस्थिति को दर्शाता है। यह अपने सभी प्रजातियों से आश्चर्यजनक रूप से रंगीन और अलग है। सोलिगा जनजाति परंपरागत रूप से शिकार और स्थानांतरित कृषि पर निर्भर रहती है। यह भारत में किसी बाघ अभयारण्य के मुख्य क्षेत्र में रहने वाला पहला आदिवासी समुदाय है, जिसे अपने वन अधिकारों के लिये आधिकारिक रूप से न्यायालय द्वारा मान्यता प्रदान की गई है।

25. केरल ने सेन्ना स्पेक्टाबिलिस विदेशी आक्रामक पौधे को खत्म करने के लिये प्रबंधन योजना विकसित की

केरल ने सेन्ना स्पेक्टाबिलिस विदेशी आक्रामक पौधे को खत्म करने के लिये प्रबंधन योजना विकसित की है जो राज्य के वन्यजीव आवासों को गंभीर खतरे में डाल रहा है। प्रबंधन योजना निर्धारित करती है कि वृक्षों को नष्ट करने का प्रयास तब तक नहीं किया जाना चाहिये जब तक कि विस्तृत वनीकरण योजना और इसे लागू करने के लिये संसाधन मौजूद न हों। सेन्ना स्पेक्टाबिलिस पर्णपाती वृक्ष है जो अमेरिका के उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों की स्थानीय वनस्पति है। यह कम समय में 15 से 20 मीटर तक बढ़ता है और इसमें फूल आने के बाद इसके हज़ारों बीज क्षेत्र में फैल जाते हैं। पेड़ के घने पत्ते अन्य स्थानीय वृक्ष और घास की प्रजातियों के विकास को रोकते हैं। इस प्रकार यह वन्यजीव आबादी, विशेष रूप से शाकाहारी जानवरों के लिये भोजन की कमी का कारण बनता है। यह देशी प्रजातियों के अंकुरण और वृद्धि पर भी प्रतिकूल प्रभाव डालता है। इसे IUCN रेड लिस्ट के तहत ‘कम चिंतनीय’ के रूप में वर्गीकृत किया गया है।

26. एर्नाकुलम बना 10,000 नए MSMEs पंजीकृत करने वाला पहला जिला

केरल सरकार ने अपने 2022-23 के बजट के दौरान उद्यम अभियान (Enterprises Campaign) शुरू किया था। साथ ही राज्य सरकार ने वित्तीय वर्ष 2022-23 को उद्यम वर्ष घोषित किया है। यह राज्य में MSME क्षेत्र के विकास को बढ़ावा देने के लिए किया गया था। यह अभियान राज्य के विभिन्न हिस्सों में “My Enterprises, Nations Pride” टैगलाइन के तहत आयोजित किया गया था। इस अभियान के कारण राज्य में एमएसएमई कंपनियों की संख्या में वृद्धि हुई। आज एर्नाकुलम 10,000 से अधिक नए एमएसएमई पंजीकृत करने वाला राज्य का पहला जिला बन गया है। अन्य जिले जैसे त्रिशूर और मलप्पुरम भी इस संख्या के करीब जा रहे हैं।

27. आर्मेनिया-अज़रबैजान संघर्ष

अर्मेनिया ने अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (ICJ) में अपील की है कि अज़रबैजान से नागोर्नो-काराबाख को विभाजित करने वाली सड़क की नाकाबंदी को रद्द करने का आदेश दिया जाए। नागोर्नो-काराबाख अज़रबैजान का हिस्सा है, किंतु वर्ष 1994 में एक अलगाववादी युद्ध की समाप्ति के बाद से नस्लीय आर्मेनियाई सैनिकों द्वारा शासित है। इस संघर्ष की शुरुआत पूर्व-सोवियत काल में हुई, जब यह क्षेत्र ओटोमन, रूसी और फारसी साम्राज्यों से घिरा हुआ था। नागोर्नो-काराबाख ने सोवियत समाजवादी गणराज्य संघ (USSR) के पतन की पृष्ठभूमि में सितंबर 1991 में स्वतंत्रता की घोषणा की, जिसके परिणामस्वरूप अज़रबैजान और नागोर्नो-काराबाख के बीच युद्ध हुआ, आर्मेनिया द्वारा इसका समर्थन किया गया था।

28. कल्पना चावला की पुण्यतिथि

प्रतिवर्ष 1 फरवरी को भारतीय मूल की अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला की पुण्यतिथि मनाई जाती है। ध्यातव्य है कि अंतरिक्ष में जाने वाली भारतीय मूल की पहली महिला के रूप में कल्पना चावला का इतिहास में एक विशिष्ट स्थान है। कल्पना चावला का जन्म 17 मार्च, 1962 को हरियाणा के करनाल में हुआ था। एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में उच्च शिक्षा पूरी करने के बाद उन्होंने वर्ष 1988 में एक शोधकर्त्ता के रूप में नासा (NASA) के साथ कॅरियर की शुरुआत की। अप्रैल 1991 में अमेरिकी नागरिक बनने के पश्चात् उन्हें वर्ष 1994 में नासा (NASA) में बतौर अंतरिक्ष यात्री (Astronauts) चुन लिया गया। नवंबर 1996 में उन्हें अंतरिक्ष शटल मिशन STS-87 में मिशन विशेषज्ञ के रूप में नियुक्त किया गया, जिसके साथ ही वे अंतरिक्ष में उड़ान भरने वाली भारतीय मूल की पहली महिला बन गईं। वर्ष 2000 में कल्पना चावला को अंतरिक्ष शटल मिशन STS-107 के चालक दल का सदस्य बनने का अवसर प्राप्त हुआ। इसी मिशन के दौरान दुर्घटना के कारण 1 फरवरी, 2003 को कल्पना चावला की मृत्यु हो गई।

29. तट रक्षक बल स्‍थापना दिवस : 01 फरवरी

भारतीय तटरक्षक बल ने 01 फरवरी को अपना स्थापना दिवस मनाया। 1 फरवरी 1977 को रक्षा मंत्रालय के अधीन भारतीय तटरक्षक बल की अंतरिम रूप से स्थापना की गई। जब भारतीय तटरक्षक दल की स्थापना की गई तब उस समय देश समुद्र के माध्यम से भारत के अंदर आने वाली तस्करी ने देश की अर्थव्यवस्था को खतरे में डाल दिया। इसलिए समस्या का दूर करने के लिए इंडियन नेवी और इंडियन एयरफोर्स की भागीदारी से नागचौधरी समिति का गठन किया गया। इस समिति की सिफारिश पर 18 अगस्त 1978 को भारतीय तटरक्षक बल की स्थापना की गई और संसद में एक अधिनियन पारित कर इसे भारत को गैर-सैन्य समु्द्री सेवाएं प्रदान करने के लिए तटरक्षक बल की स्थापना की गई। वर्ष 1978 (स्थापना वर्ष) में सतही प्लेटफॉर्म की संख्या केवल 7 थी, वर्तमान में अपने शस्त्रागार में 158 जहाज़ों और 78 विमानों के साथ ICG एक शक्तिशाली बल के रूप में विकसित हुआ है और वर्ष 2025 तक 200 सतही प्लेटफाॅर्मों तथा 80 विमानों के अपने बल के लक्षित स्तर तक पहुँचने का अनुमान है। देश के ‘सागर (SAGAR)’ एवं ‘नेबरहुड फर्स्ट’ नीति को ध्यान में रखते हुए ICG ने वर्ष 2022 में कई विदेशी अधिकारियों व अधिकारी रैंक से नीचे के कर्मियों को प्रशिक्षित किया है।