स्पेनिश फिल्म निर्देशक और लेखक कार्लोस सौरा को गोवा में 53वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में सत्यजीत रे लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा

0
31

1. इंडिया द्वारा सीओपी 27, शर्म अल-शेख में “इन आवर लाइफटाइम” अभियान की शुरुआत

पर्यावरण वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय और संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) के तहत प्राकृतिक इतिहास के राष्ट्रीय संग्रहालय (एनएमएनएच) ने संयुक्त रूप से 18 से 23 वर्ष की आयु के युवाओं को टिकाऊ जीवन शैली के संदेश वाहक बनने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए “इन आवर लाइफटाइम” अभियान शुरू किया है। यह अभियान दुनिया भर के युवाओं को क्लाइमेट एक्शन की पहल करने वाले युवाओं को पहचानने की कल्पना करता है जो कि ‘पर्यावरण के लिए जीवन शैली’ (LiFE) की अवधारणा के साथ मेल खाता है। इसे सीओपी 27, शर्म अल-शेख में इंडिया पवेलियन में एक साइड इवेंट में लॉन्च किया गया। सीओपी 27 में इंडिया पवेलियन में “अंडरस्टैंडिंग द कॉन्सेप्ट ऑफ लाइफ” पर एक संक्षिप्‍त कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसकी मेजबानी भारत और संयुक्त राष्ट्र (भारत में संयुक्त राष्ट्र) ने संयुक्त रूप से की। कार्यक्रम के दौरान एमओईएफसीसी – यूएनडीपी सार-संग्रह ‘प्रयास से प्रभाव तक – माइंडलेस कंजम्पशन टू माइंडफुल यूटिलाइजेशन’ का विमोचन किया गया। इस संग्रह में भारत की परम्‍परागत सर्वोत्तम कार्य प्रणालियों पर प्रकाश डाला गया है, जिसमें निम्नलिखित क्षेत्रों में लाइफ की प्रकृति को सम्मिलित किया गया है और प्रमुख व्यवहार परिवर्तन ढांचे पर प्रकाश डाला गया है।

2. स्लोवेनिया में नतासा पिरक मुसर देश की पहली महिला राष्ट्रपति चुनी गईं

स्लोवेनिया में दूसरे दौर के चुनाव में अपने कंजरवेटिव प्रतिद्वंद्वी को हराकर नतासा पिरक मुसर देश की पहली महिला राष्ट्रपति चुनी गई हैं। स्लोवेनिया के चुनाव आयोग ने कहा है कि सुश्री पिरक मुसर ने लगभग 54 प्रतिशत वोट हासिल किए जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी श्री लोगर को 46 प्रतिशत वोट मिले थे। देश में 20 लाख की आबादी है और 49 दशमलव नौ प्रतिशत मतदान हुआ। सुश्री नतासा पिरक मुसर एक पत्रकार और वकील हैं और उन्होंने पूर्व विदेश मंत्री और राजनीति के अनुभवी एंज़े लोगर को हराया। मूसर (54) 1991 में यूगोस्लाविया के विघटन के बाद एक स्वतंत्र देश के रूप में अस्तित्व में आए स्लोवानिया की पहली महिला राष्ट्रपति होंगी। एक प्रमुख वकील, पिर्क मुसर ने स्लोवेनिया में कॉपीराइट और अन्य मामलों में पूर्व अमेरिकी प्रथम महिला मेलानिया ट्रम्प का प्रतिनिधित्व किया था।

3. Global Carbon Budget 2022 रिपोर्ट जारी की गई

ग्लोबल कार्बन बजट 2022 रिपोर्ट 11 नवंबर, 2022 को जारी की गई। यह रिपोर्ट ग्लोबल कार्बन प्रोजेक्ट (Global Carbon Project) द्वारा जारी की गई। वैश्विक कार्बन उत्सर्जन 2022 में वातावरण में 40.6 बिलियन टन कार्बन डाइऑक्साइड तक पहुंचने की उम्मीद है। यह प्रक्षेपण 2019 में उत्सर्जित 40.9 बिलियन टन CO2 के अब तक के उच्चतम वार्षिक योग के करीब है। ग्लोबल वार्मिंग को 1.5 डिग्री सेल्सियस तक सीमित करने के लिए आवश्यक कार्बन उत्सर्जन में गिरावट का कोई संकेत नहीं है। यदि वर्तमान उत्सर्जन स्तर जारी रहता है, तो अगले 9 वर्षों में 1.5 डिग्री सेल्सियस का तापमान बढ़ जाता है। दुनिया भर में रिकॉर्ड स्तर का सूखा, जंगल की आग और बाढ़ का कारण यह है कि पूर्व-औद्योगिक स्तरों में औसत की तुलना में पृथ्वी की वैश्विक सतह का तापमान लगभग 1.1 डिग्री सेल्सियस बढ़ गया है। 2021 में, चीन (31 प्रतिशत), अमेरिका (14 प्रतिशत) और यूरोपीय संघ (8 प्रतिशत) वैश्विक कार्बन उत्सर्जन के प्रमुख योगदानकर्ता हैं। वैश्विक कार्बन उत्सर्जन में भारत की हिस्सेदारी 7 प्रतिशत है। इस रिपोर्ट में 2022 में चीन (0.9 प्रतिशत) और यूरोपीय संघ (0.8 प्रतिशत) में कार्बन उत्सर्जन में कमी का अनुमान लगाया गया है। हालांकि, अमेरिका में 1.5 फीसदी और भारत में 6 फीसदी की बढ़ोतरी होगी। भारत में पिछले वर्ष की तुलना में 2022 में दुनिया में कार्बन उत्सर्जन में सबसे अधिक वृद्धि होने की उम्मीद है। अमेरिका के कार्बन उत्सर्जन में दूसरी सबसे बड़ी वृद्धि दर्ज करने का अनुमान है। कोयला उत्सर्जन (5% वृद्धि) और तेल उत्सर्जन (10% वृद्धि) के कारण भारत में कार्बन उत्सर्जन बढ़ेगा। यह कार्बन उत्सर्जन को 2019 के स्तर पर वापस लौटाता है।

4. स्पेनिश फिल्म निर्देशक और लेखक कार्लोस सौरा को गोवा में 53वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में सत्यजीत रे लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा

स्पेनिश फिल्म निर्देशक और लेखक कार्लोस सौरा को गोवा में 53वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में सत्यजीत रे लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड 2022 से सम्मानित किया जाएगा। सूचना और प्रसारण राज्य मंत्री एल मुरुगन ने नई दिल्ली में यह जानकारी दी। श्री मुरूगन ने बताया कि यूनिसेफ द्वारा सुझाए गए, बच्चों के फिल्म पैकेज को पहली बार प्रस्‍तुत किया जा रहा है। इसमें लगभग सात फिल्मों की स्क्रीनिंग शामिल होगी। श्री एल मुरुगन ने कहा कि मार्चे डू कान्स जैसे प्रमुख अंतरराष्ट्रीय बाजारों को ध्यान में रखते हुए इस साल पवेलियन का पहला संस्करण भी पेश किया जायेगा जिसमें देश के फिल्‍म उद्योग से और राज्‍य सरकार के अधिकारी शामिल होंगे।

5. टेबल टेनिस खिलाड़ी शरत कमल अंचता को खेल रत्न पुरस्कार के लिए चुना गया

राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों की घोषणा कर दी गई है। टेबल टेनिस खिलाड़ी शरत कमल अंचता को खेल रत्न पुरस्कार के लिए चुना गया है। युवा मामले और खेल मंत्रालय ने इन पुरस्कारों की घोषणा की। अर्जुन पुरस्कार के लिए 25 खिलाड़ियों को चुना गया है। द्रोणाचार्य अवॉर्ड के लिए पांच कोच सम्मानित किए जाएंगे और तीन कोच को लाइफटाइम श्रेणी में पुरस्कृत किया जाएगा। चार खिलाड़ियों को ध्यानचंद पुरस्कार दिया जाएगा। राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू 30 नवंबर को सभी खिलाड़ियों और कोच को ये पुरस्कार देंगी। इस वर्ष पहली बार, केवल ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए गए थे। सीमा पुनिया, लक्ष्य सेन, निखत जरीन, आर. प्रज्ञानंदा, दीप ग्रेस एक्का और सुशीला देवी अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित होने वाले खिलाड़ी है। ध्यानचंद पुरस्कार अश्विनी अकुंजी, सी. धर्मवीर सिंह, बी. सी. सुरेश और नीर बहादुर गुरूंग को दिया जाएगा। ट्रांस स्टेडिया एंटरप्राइसेस, कलिंग इंस्टीट्यूट ऑफ इंडास्ट्रियल टैक्नोलॉजी और लद्दाख स्की और स्नोबोर्ड एसोसियशन को राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार दिए जाने की सिफारिश की गई है। मोलाना अब्दुल कलाम ट्रॉफी अमृतसर के गुरूनानक देव विश्वविद्यालय को दी जाएगी।

6. मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने 2023 के अंत तक ओडिशा को स्लम मुक्त बनाने की घोषणा की

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा कि उनका राज्य दिसंबर 2023 तक झुग्गी मुक्त हो जाएगा और सभी झुग्गियों का विकास मॉडल कॉलोनियों के रूप में किया जाएगा। श्री पटनायक ने राज्य के झुग्गीवासियों को भूमि अधिकार देने के लिए एक कार्यक्रम की शुरुआत की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि इसके लिए राज्य के पांच नगर निगमों में ड्रोन सर्वेक्षण शुरू किए गए हैं। इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए मुख्यमंत्री की उपस्थिति में जागा मिशन और टाटा स्टील फाउंडेशन के बीच एक समझौता पर हस्ताक्षर किया गया और इसमें टाटा स्टील फाउंडेशन तकनीकी सहायता प्रदान करेगा।

7. वरिष्‍ठ आईएएस अधिकारी गौरव द्विवेदी प्रसार भारती के सीईओ नियुक्‍त हुए

भारतीय प्रशासनिक सेवा के वरिष्‍ठ अधिकारी गौरव द्विवेदी को प्रसार भारती का मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी-सीईओ नियुक्‍त किया गया है। राष्‍ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने चयन समिति की सिफारिश के बाद उन्‍हें पांच वर्ष की अवधि के लिए नियुक्‍त किया है। गौरव द्विवेदी छत्‍तीसगढ़ काडर के 1995 बैच के आईएएस अधिकारी हैं।

8. केंद्रीय सहकारिता राज्यमंत्री ने 69वें अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह और सहकार मेला-2022 का शुभारंभ किया

केंद्रीय सहकारिता राज्यमंत्री बी.एल वर्मा ने भारतीय राष्ट्रीय सहकारी संघ द्वारा आयोजित 69वें अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह और सहकार मेला-2022 का शुभारंभ किया। इस वर्ष अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह का मुख्य विषय “भारत@75: सहकारिताओं का विकास और भविष्य” है। हर वर्ष 14 से 20 नवम्बर तक भारतीय राष्ट्रीय सहकारी संघ द्वारा अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह मनाया जाता है। ’सहकार मेला-2022’ में अमूल, नेफेड और ट्राईफेड जैसी विभिन्न सहकारी संस्थाओं के 70 स्टॉल लगाये गये हैं।

9. मेधावी दिव्यांग छात्रा अंजना ठाकुर साइंस कांग्रेस एसोसिएशन के शिमला चैप्टर का प्रतिनिधित्व करेगी

हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से वनस्‍पति विज्ञान में पीएचडी कर रही मेधावी दिव्यांग छात्रा अंजना ठाकुर नागपुर में हो रही प्रतिष्ठित इंडियन साइंस कांग्रेस में साइंस कांग्रेस एसोसिएशन के शिमला चैप्टर का प्रतिनिधित्व करेगी। वह सीएसआईआर की जूनियर रिसर्च फेलो भी हैं। कार्यक्रम में उन्हें विश्व के जाने माने और नोबेल पुरस्कार से सम्मानित वैज्ञानिकों से मिलने का अवसर भी मिलेगा। सम्मेलन की इस बार की थीम सत्तत विकास के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी एवं महिला सशक्तीकरण रखा गया है। अंजना ठाकुर मूलत: करसोग के पांगणा की रहने वाली हैं।

10. सबसे बड़े राष्ट्रव्यापी तटीय रक्षा अभ्यास ‘सी विजिल -22’ का तीसरा संस्करण शुरू हुआ

पैन-इंडिया‘ तटीय रक्षा अभ्यास ‘सी विजिल -22‘ का तीसरा संस्करण दिनांक 15-16 नवंबर 2022 को आयोजित किया जाएगा। इस राष्ट्रीय स्तर के तटीय रक्षा अभ्यास की परिकल्पना 2018 में ‘26/11‘ के बाद से समुद्री सुरक्षा को पुख़्ता करने के लिए उठाए गए अनेक कदमों की पुष्टि करने के लिए की गई थी। यह अभ्यास पूरे 7516 किलोमीटर के समुद्र तट और भारत के विशेष आर्थिक क्षेत्र में किया जाएगा और इसमें मछली पकड़ने और तटीय समुदायों सहित अन्य समुद्री हितधारकों के साथ सभी तटीय राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को शामिल किया जाएगा। यह अभ्यास भारतीय नौसेना द्वारा तटरक्षक बल और अन्य ऐसे मंत्रालयों के साथ मिल कर समन्वयपूर्वक किया जा रहा है जिनका कार्य समुद्री गतिविधियों से संबंधित है।

11. श्लोक मुखर्जी को उनके प्रेरक डूडल के लिये ‘इंडिया ऑन द सेंटर स्टेज’ शीर्षक से भारत के लिये विजेता घोषित किया गया

हाल ही में गूगल ने Google For Doodle 2022 प्रतियोगिता के विजेता की घोषणा की। इस वर्ष कोलकाता के श्लोक मुखर्जी को उनके प्रेरक डूडल के लिये ‘इंडिया ऑन द सेंटर स्टेज‘ शीर्षक से भारत के लिये विजेता घोषित किया गया है। अपने डूडल को साझा करते हुए श्लोक ने लिखा, “अगले 25 वर्षों में मानवता की बेहतरी के लिये भारत के वैज्ञानिक, स्वदेशी इको-फ्रेंडली रोबोट विकसित करेंगे। भारत पृथ्वी से अंतरिक्ष तक की नियमित रूप से यात्रा करेगा। भारत योग एवं आयुर्वेद में अधिक विकास के साथ आने वाले वर्षों में और मज़बूत होगा। इस वर्ष की प्रतियोगिता में भारत के लगभग 100 से अधिक शहरों से कक्षा 1 से 10 तक के बच्चों की 115,000 से अधिक प्रविष्टियाँ प्राप्त हुईं, जिसका विषय था- “अगले 25 वर्षों में मेरा भारत होगा…“। निर्णायक पैनल के अंतर्गत अभिनेता, फिल्म निर्माता नीना गुप्ता, टिंकल कॉमिक्स की प्रधान संपादक, कुरियाकोस वैसियन, यूट्यूब क्रिएटर्स स्लेयपॉइंट और कलाकार एवं उद्यमी अलीका भट के साथ-साथ गूगल डूडल टीम शामिल थी।

12. अमेरिका ने करेंसी मॉनिटरिंग लिस्ट से हटाया भारत का नाम

अमेरिका के वित्त विभाग ने इटली, मेक्सिको, थाईलैंड, वियतनाम के साथ भारत को प्रमुख व्यापारिक भागीदारों की मुद्रा निगरानी सूची (Currency Monitoring list) से हटा दिया है। भारत पिछले दो साल से इस सूची में था। इस व्यवस्था के तहत प्रमुख व्यापार भागीदारों के मुद्रा को लेकर गतिविधियों तथा वृहत आर्थिक नीतियों पर करीबी नजर रखी जाती है। अमेरिका की वित्त मंत्री जेनेट येलेन (Janet Yellen) ने अपनी भारत यात्रा के साथ वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ बैठक की। इसी दिन अमेरिका के वित्त विभाग ने यह कदम उठाया है।

13. मूडीज ने 2022 के लिए भारत की आर्थिक वृद्धि का अनुमान घटाकर 7 फीसदी किया

मूडीज ने 2022 के लिए भारत के आर्थिक विकास के अपने अनुमान को संशोधित करते हुए 7.7 फीसदी से घटाकर 7 फीसदी कर दिया है। इससे पहले मूडीज ने 2022 के लिए भारत की आर्थिक वृद्धि का अनुमान सितंबर में घटाकर 7.7% किया था। मूडीज ने मई में भारत के सकल घरेलू उत्पाद में इस साल 8.8 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान लगाया था। पिछले महीने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने 2022 में भारत के आर्थिक विकास के अपने अनुमान को 7.4 प्रतिशत से घटाकर 6.8 प्रतिशत कर दिया। हाल के दिनों में कुछ अन्य वैश्विक एजेंसियों ने भी अपने पूर्वानुमानों को कम किया है।

14. दक्षिण कोरिया में एशियाई एयरगन चैंपियनशिप में भारतीय निशानेबाजों ने चार स्वर्ण पदक जीते

दक्षिण कोरिया के दाइगू में एशियन एयरगन चैंपियनशिप में भारतीय निशानेबाजों ने सभी चार टीम स्पर्द्धाओं में स्वर्ण पदक जीता। भारत अब तक इस प्रतियोगिता में 10 स्वर्ण पदक जीत चुका है। अर्जुन बबूता, किरन अंकुश जाधव और रुद्रांक बालासाहेब पाटिल की तिकड़ी ने पुरुषों के दस मीटर एयर राइफल स्पर्द्धा के फाइनल में 17-11 से कजाखस्तान को हराकर स्वर्ण जीतने के साथ दिन की शुरुआत की। महिला वर्ग में मेहुली घोष, इलावेनिल वालारीवन और मेघना सज्जनार की भारतीय टीम ने फाइनल में मेजबान कोरिया को 16-10 से हराया। पुरुष जूनियर श्रेणी में दिव्यांश सिंह पंवार, श्रीकार्तिक सबरी राज रवि शंकर और विदित जैन ने फाइनल में मेजबान कोरिया को 16-10 से मात दी। भारतीय जूनियर महिला टीम की तिलोत्तमा सेन, रमिता और नैंसी ने दक्षिण कोरिया को 16-2 से हराकर एक और स्वर्ण पदक जीता।

15. राष्ट्रीय पक्षी दिवस

राष्ट्रीय पक्षी दिवस प्रतिवर्ष ’12 नवंबर’ को मनाया जाता है। 12 नवंबर डॉ. सलीम अली का जन्म दिवस है, वे विश्वविख्यात पक्षी विशेषज्ञ एवं प्रकृतिवादी थे। वे भारत के ऐसे पहले व्यक्ति थे जिन्होंने भारत भर में व्यवस्थित रूप से पक्षी सर्वेक्षण का आयोजन किया और पक्षियों पर लिखी उनकी किताबों ने भारत में पक्षी-विज्ञान के विकास में काफी मदद की। भारत में इन्हें “पक्षी मानव” के नाम से भी जाना जाता था। पक्षी विशेषज्ञ सलीम अली के जन्म दिवस को ‘भारत सरकार’ द्वारा राष्ट्रीय पक्षी दिवस घोषित किया गया है। सलीम अली ने पक्षियों से संबंधित अनेक पुस्तकें लिखी थीं, ‘बर्ड्स ऑफ़ इंडिया’ इनमें सबसे लोकप्रिय पुस्तक है। डाक विभाग ने इनकी स्मृति में डाक टिकट भी जारी किया है। वर्ष 1958 में सलीम अली को ‘पद्मभूषण’ तथा वर्ष 1976 में ‘पद्मविभूषण’ से सम्मानित किया गया था।

16. विश्व मधुमेह दिवस

विश्व मधुमेह दिवस प्रतिवर्ष 14 नवंबर को मनाया जाता है। यह एक गैर-संचारी रोग है जिसका कारण अग्न्याशय द्वारा पर्याप्त इंसुलिन का उत्पादन नहीं करना अथवा शरीर द्वारा उत्पादित इंसुलिन का प्रभावी ढंग से उपयोग नहीं कर पाना है। इसके दो प्रकार हैं: टाइप-1 मधुमेह और टाइप-2 मधुमेह।टाइप-2 मधुमेह का मुख्य कारण मोटापा और व्यायाम की कमी है। भारत में मधुमेह एक बढ़ती हुई चुनौती है, जिसकी अनुमानित 8.7% आबादी 20 और 70 वर्ष के आयु वर्ग की है। मधुमेह और अन्य गैर-संचारी रोगों के प्रमुख कारकों में बढ़ता शहरीकरण, असंतुलित जीवन-शैली, अस्वास्थ्यकर आहार आदि हैं। वैश्विक स्तर पर देखें तो विश्व में लगभग 6% आबादी अर्थात् 420 मिलियन से अधिक लोग टाइप-1 या टाइप-2 मधुमेह से पीड़ित हैं। इंसुलिन अग्न्याशय द्वारा स्रावित एक पेप्टाइड हार्मोन है जो सेलुलर ग्लूकोज़ बढाने, कार्बोहाइड्रेट, लिपिड, प्रोटीन मेटाबॉलिज़्म को विनियमित करने तथा कोशिका विभाजन एवं विकास को बढ़ावा देकर सामान्य रक्त शर्करा के स्तर को बनाए रखने में मदद करता है। वर्ष 2010 में कैंसर, मधुमेह, हृदय रोगों एवं स्ट्रोक की रोकथाम और नियंत्रण के लिये शुरू किया गया राष्ट्रीय कार्यक्रम (NPCDCS) का उद्देश्य स्वास्थ्य देखभाल के विभिन्न स्तरों पर मधुमेह के निदान तथा लागत प्रभावी उपचार में सहायता करना है।

17. बाल दिवस

बच्चों की शिक्षा, देखभाल और अधिकारों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए प्रत्येक वर्ष देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती पर 14 नवम्बर को बाल दिवस का आयोजन किया जाता है।

18. आचार्य कृपलानी

हाल ही में प्रधानमंत्री ने आचार्य कृपलानी को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। उनका जन्म 11 नवंबर,1888 को सिंध (हैदराबाद) में हुआ था। उनका मूल नाम जीवतराम भगवानदास कृपलानी था, लेकिन उन्हें आचार्य कृपलानी के नाम से जाना जाता था। वह एक स्वतंत्रता सेनानी, भारतीय राजनीतिज्ञ और शिक्षाविद् थे। वर्ष 1912 से 1927 तक उन्होंने स्वतंत्रता आंदोलन में पूरी तरह से शामिल होने से पूर्व विभिन्न स्थानों पर अध्यापन का कार्य किया। वर्ष 1922 के आसपास जब वे महात्मा गांधी द्वारा स्थापित गुजरात विद्यापीठ में अध्यापन कार्य कर रहे थे, तब उन्हें ‘आचार्य‘ उपनाम प्राप्त हुआ। कृपलानी जी विनोबा भावे के साथ 1970 के दशक में पर्यावरण के संरक्षण एवं बचाव गतिविधियों में शामिल रहे। वह असहयोग आंदोलन (1920-22) और सविनय अवज्ञा आंदोलन (1930 में शुरू) तथा भारत छोड़ो आंदोलन (1942) का हिस्सा रहे। स्वतंत्रता के समय वे भारतीय राष्ट्रीय कॉन्ग्रेस (INC) के अध्यक्ष थे। उन्होंने भारत की अंतरिम सरकार (1946-1947) और भारत की संविधान सभा में योगदान दिया।