हिंदी साहित्य -महादेवी वर्मा और हरिवंशराय बच्चन

0
485

“हिंदी साहित्य -महादेवी वर्मा और हरिवंशराय बच्चन”

प्रश्न:-1 श्रृंखला की कड़ियां निबंध किसका है ?

अ)  महादेवी वर्मा

ब)  हरिश्चंद्र चौहान

स) जैनेंद्र कुमार

द) शकुंतला सिंह

 

अ)महादेवी वर्मा

 

प्रश्न:-2 निहार नीरजा  रश्मि दीपशिखा रचनाये किसकी है?

अ) धर्मवीर भारती

ब) महादेवी वर्मा

स) हरी कृष्ण व्यास

द) राधा कृष्ण रास

 

ब)महादेवी वर्मा ANSWER

 

प्रश्न:-3 लेखिका महादेवी वर्मा का जन्म कब हुआ?

अ) 1907

ब)  1912

स) 1917

द) 1919

 

अ)1907 ANSWER

 

प्रश्न:-4  महादेवी वर्मा ने भक्तिन नाम केिसका दिया था ?

अ) राधिका दास

ब) लक्ष्मी नारायण

स) लक्ष्मी

द) जय मीनाक्षी

 

स)लक्ष्मी ANSWER

 

प्रश्न:-5 लेखिका महादेवी वर्मा की सेविका(लक्ष्मी)का विवाह किस गाँव में हुआ था?

अ)लहरिया

ब)हंडिया

स)मैनपाल

द )कटिया

 

ब)हंडिया ANSWER

 

प्रश्न:-6 महादेवी वर्मा की  सेविका की कितनी पुत्रियां थी?

अ)तीन

ब)चार

स)पाँच

द)छः

 

अ)तीन ANSWER

 

प्रश्न:-7 भक्तिन को जमीदार ने दिन भर धूप में क्यों खड़ा किया था ?

अ)परिवार में कलह होने के कारण

ब)पैंसा नहीं होने के कारण

स)जमीन का लगान न चुकाने के कारण

द) इनमें से कोई नहीं

 

स) जमीन का लगान नचुकाने के कारण ANSWER

 

प्रश्न:-8 महादेवी वर्मा ने लक्ष्मी का नाम भक्तिन क्यों रखा था ?

अ) उसका स्वभाव देख कर

ब) उसकी नाजुक हालत देखकर

स)उसकी कंठी माला को देखकर

द)उसकी भक्ति भाव को देख कर

 

स)उसकी कंठी माला को देखकर ANSWER

 

प्रश्न:-9 लेखिका महादेवी वर्मा ने भक्तिन को सिर मुंडवाने से रोकना चाहा तो  भक्तिन ने लेखिका से क्या कहा था ?

अ)भक्तिन करे सो होत सिद्ध

ब)तीरथ गए मुंडाऐ सिद्ध

स) कह गए भक्तिन सो होत

द)इनमें से कोई नहीं

 

ब)तीरथ गये मुंडाये सिद्ध ANSWER

 

प्रश्न:-10  ‘जीवन में कभी-कभी अपने नाम का विरोधाभास लेकर जीना पड़ता है ‘भक्तिन किसके नाम को विरोधाभास बताया है ?

अ)अपनी पुत्रियों को

ब)लेखिका को

स)खुद को

द)आश्चर्य को

 

स)खुद को ANSWER

 

प्रश्न:-11 कर यत्न मिटे सब, सत्य किसी ने जाना? नादान वही है, हाय, जहां पर दाना !फिर मूढ़ न क्या जग, जो इस पर भी सीख? मैं सीख रहा हूं, सीखा ज्ञान भुलाना! कविता किसकी है:-

अ मैथिलीशरण गुप्त  

ब )हरिवंश राय बच्चन

स)महादेवी वर्मा

द)आचार्य रामचंद्र शुक्ल

 

ब) हरिवंश राय बच्चन ANSWER

 

प्रश्न:-12 हरिवंशराय बच्चन को  ‘सोवियत भूमि नेहरू पुरस्कार’ से कब सम्मानित किया गया था?

अ)1965

ब)1966

स)1967

द)1968

 

ब)1966 ANSWER

 

प्रश्न:-13 “मैं स्नेह-सुरा का पान किया करता हूं मैं कभी न जग का ध्यान किया करता हूँ”इस पद में “स्नेह-सुरा” का क्या अर्थ है ?

अ)प्रेम का मानव

ब)प्रेम का दानव

स)प्रेम रूपी संसार

द)प्रेम रूपी शराब

 

द)प्रेम रूपी शराब ANSWER

 

प्रश्न:-14 महादेवी वर्मा का भक्तिन पाठ में लक्ष्मी की पुत्री का दूसरा विवाह किसके साथ हुआ था?

अ)देवर के पुत्र का साला

ब) जेठ के पुत्र का साला

स )चाचा के पुत्र का साला

द) उनकी इच्छा के अनुसार

 

ब)जेठ के पुत्र का साला ANSWER

 

प्रश्न:-15 हरिवंश राय बच्चन आधुनिक हिंदी साहित्य मे किसके प्रवर्तक थे –

अ)छायावाद

ब)भक्तिवाद

स)लाहावाद

द)हालावाद

 

द)हालावाद ANSWER

 

प्रश्न:- 16 आकुल अन्तर, एकान्त संगीत, मिलनयामिनी ओर सत रंगिणी प्रमुख रचनाएं किसकी है –

अ) हजारी प्रसाद द्विवेदी

ब)आलोक धन्वा

स)हरिवंश राय बच्चन

द) महादेवी वर्मा

 

स)हरिवंश राय बच्चन ANSWER

 

प्रश्न:-17 महादेवी वर्मा की कविताओं में किसकी मार्मिक अभिव्यक्ति हुई है ?

अ)आंतरिक वेदना और पीड़ा

ब)आंतरिक क्रोध और पीड़ा

स) आंतरिक मनोभावना और द्वेष

द)आंतरिक क्रोध और दिलासा

 

अ) आंतरिक वेदना ओर पीड़ा ANSWER

 

प्रश्न:-18 हरिवंश राय बच्चन की कविता “कर दिया किसी ने झंकृत जिनको छूकर मैं सांसो के दो तार लिए फिरता हूं”ऊपर लिखित वाक्य में “दो तार से क्या अभिप्राय है ?

 

अ) दिल रूपी हृदय के तारों से

ब) प्यार प्रेम की वीणा के तारों से

स)हृदय रूपी वीणा के तारों से

द) कोमल रूपी वीणा के तारों से

 

स)हृदय रूपी वीणा के तारों से ANSWER

 

प्रश्न:-19 महादेवी वर्मा द्वारा लिखित भक्तिन पाठ में ‘खोटे सिक्कों की टकसाल’किसे कहा है?

अ)समाज की कुरीतियों को

ब)समाज में विधवा बहुओं को

स)समाज में कन्याओं को

द)समाज में विरोधाभास को

 

स)समाज में कन्यायों को ANSWER

 

प्रश्न:-20 ‘मैं यौवन का उन्माद लिए फिरता हूं ,उन्मादों में अवसाद लिए फिरता हूं’ कविता में “उन्माद एवं अवसाद” का क्या अर्थ हैं ?

अ)निष्फल -उल्लास

ब)अभिलाषा -उल्लास

स) उल्लास- निष्फल

द) कामना- उल्लास

 

स)उल्लास-निष्फल ANSWER