15 से 18 साल के बच्चों के लिए कोविड टीकाकरण 3 जनवरी से शुरू होगा

0
62

1.15 से 18 साल के बच्चों के लिए कोविड टीकाकरण 3 जनवरी से शुरू होगा

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्र को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने घोषणा की कि 3 जनवरी 2022, सोमवार से, 15-18 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए टीकाकरण शुरू हो जाएगा। इस कदम से स्कूलों में शिक्षा व्यवस्था को सामान्य स्थिति में लाने में मदद मिलने की संभावना है और इससे स्कूल जाने वाले बच्चों के माता-पिता की चिंता कम होगी। उन्होंने 10 जनवरी 2022, सोमवार से स्वास्थ्य सेवा और अग्रिम मोर्चे के कर्मियों के लिए एहतियाती खुराक की भी घोषणा की। अग्रिम मोर्चे के कर्मी और स्वास्थ्य देखभाल कर्मी कोविड रोगियों की सेवा में लगे हुए हैं। भारत में तीसरी खुराक को बूस्टर डोज नहीं ‘एहतियाती खुराक’ कहा गया है। एहतियाती खुराक के निर्णय से स्वास्थ्य सेवा और अग्रिम पंक्ति के कर्मियों का विश्वास मजबूत होगा। प्रधानमंत्री ने यह भी घोषणा की कि 10 जनवरी, 2022 से डॉक्टरों की सलाह पर सह-रुग्णता वाले 60 वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों के लिए भी एहतियाती खुराक लेने का विकल्प उपलब्ध होगा। उन्होंने कहा कि लगभग 90 प्रतिशत पात्र आबादी को पहली डोज और 61 प्रतिशत से अधिक को दोनों डोज लगाई जा चुकी है। उन्होंने कहा कि विश्व का पहला डी.एन.ए. टीका, नेजल वैक्सीन जल्दी ही भारत में मिलने लगेगी।

2.रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लखनऊ में डीआरडीओ के रक्षा प्रौद्योगिकी परीक्षण केंद्र और ब्रह्मोस विनिर्माण केंद्र की आधारशिला रखी

रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने 26 दिसंबर, 2021 को उत्तर प्रदेश के लखनऊ, में रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) द्वारा स्थापित रक्षा प्रौद्योगिकी और परीक्षण केंद्र तथा ब्रह्मोस विनिर्माण केंद्र की आधारशिला रखी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में इन दोनों इकाइयों की आधारशिला रखी गई। उत्तर प्रदेश डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर (यूपी डीआईसी) में रक्षा और एयरोस्पेस विनिर्माण कलस्टरों के विकास में तेजी लाने के लिए लगभग 22 एकड़ में फैले अपनी तरह के पहले रक्षा प्रौद्योगिकी और परीक्षण केंद्र (डीटीटीसी) की स्थापना की जा रही है। इसमें निम्नलिखित छह उपकेंद्र शामिल होंगे:

  1. डीप-टेक इनोवेशन एंड स्टार्टअप इनक्यूबेशन सेंटर
  2. डिजाइन और सिमुलेशन केंद्र
  3. परीक्षण और मूल्यांकन केंद्र
  4. उद्योग 4.0/डिजिटल विनिर्माण केंद्र
  5. कौशल विकास केंद्र
  6. व्यवसाय विकास केंद्र

ब्रह्मोस एयरोस्पेस द्वारा घोषित ब्रह्मोस विनिर्माण केंद्र, यूपी डीआईसी के लखनऊ नोड में एक अत्याधुनिक फैसिलिटी है। यह 200 एकड़ से अधिक क्षेत्र को कवर करेगी और नए ब्रह्मोस-एनजी (अगली पीढ़ी) संस्करण का उत्पादन करेगी, जो ब्रह्मोस हथियार प्रणाली को आगे बढ़ाएगी। यह नया केंद्र अगले दो से तीन वर्षों में तैयार हो जाएगा और प्रति वर्ष 80-100 ब्रह्मोस-एनजी मिसाइलों की दर से उत्पादन शुरू करेगा।

3.उत्तर प्रदेश सरकार ने एक करोड विद्यार्थियों को टेबलेट और स्मार्ट फोन का वितरण शुरू किया

उत्‍तर प्रदेश सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर एक करोड़ विद्यार्थियों को टेबलेट और स्‍मार्ट फोन देने की शुरूआत की। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने इस योजना के पहले चरण में लखनऊ के भारत रत्‍न अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्‍टेडियम में कॉलेज के विभिन्‍न पाठ्यक्रमों के अंतिम वर्ष के एक लाख विद्यार्थियों को मोबाइल और टेबलेट निशुल्‍क बांटे। इस योजना के पहले चरण में एम ए, बी ए, बी एस सी, आई टी आई, एम बी बी एस, एम डी, बी टेक, पी एच डी, एम एस एम ई और कौशल विकास के अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों को टेबलेट और स्‍मार्ट फोन देने में प्रा‍थमिकता दी जायेगी।

4.मुंबई में विभिन्‍न क्षेत्रों के 44 गणमान्‍य व्‍यक्तियों को महारष्‍ट्राची गिरिशिखरे सम्‍मान

महाराष्‍ट्र के राज्‍यपाल भगत सिंह कोश्‍यारी ने मुंबई के रंगशारदा सभागार में समाज के विभिन्‍न क्षेत्रों के 44 गणमान्‍य व्‍यक्तियों को महारष्‍ट्राची गिरिशिखरे सम्‍मान प्रदान किये। इस कार्यक्रम का आयोजन पीपुल्‍स आर्ट सेंटर ने महाराष्‍ट्र के हीरक जयंती समारोहों के समापन के रूप में किया गया था। यह सम्‍मान प्राप्‍त करने वालों में पार्श्‍व गायिका ऊषा मंगेशकर, अभिनेत्री रोहिणी हट्टंगड़ी, गायिका आशा खादिलकर, गजल गायक भीमराव पांचाले, पार्श्व गायक सुरेश वाडकर, संगीतकार अशोक पाटकी सहित अन्य लोग शामिल हैं।

5.विश्व की सबसे बड़ी अंतरिक्ष दूरबीन को ब्रह्मांड और सौर मंडल से परे महत्वपूर्ण खोजों के लिए कक्षा में स्थापित किया गया

विश्व की सबसे बड़ी और शक्तिशाली अंतरिक्ष दूरबीन को ब्रह्मांड और सौर मंडल से परे पृथ्वी जैसे ग्रहों की उत्पत्ति पर महत्वपूर्ण खोजों के लिए सफलतापूर्वक कक्षा में स्थापित किया गया है। नासा की प्रमुख अंतरिक्ष वेधशाला ने क्रिसमस के दिन जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप लॉन्च किया । वेब दूरबीन पृथ्वी से लगभग पंद्रह लाख किलोमीटर दूर, चंद्रमा से करीब चार गुना दूरी पर, सौर कक्षा में अपने गंतव्य तक पहुंचेगी। यह सितारों और ग्रहों से लेकर प्रारंभिक ब्रह्मांड में पहली आकाशगंगाओं की उत्पति तक, मूल स्रोत का पता लगायेगी। साथ ही यह भी मालूम करेगी कि लगभग 14 अरब साल पहले ब्रह्मांड अपनी उत्पति के समय कैसा दिखता था। वेब का नाम अपोलो मून लैंडिंग के आर्किटेक्ट वैज्ञानिकों में एक के नाम पर रखा गया है। नासा और यूरोपीय स्पेस एजेंसी और कनाडा की स्पेस एजेंसी से संयुक्त रूप से निर्मित यह दूरबीन सौ गुना ज़्यादा शक्तिशाली है।

6.भारत बायोटेक के कोवैक्सीन को 12 से 18 वर्ष के बच्‍चों में आपात उपयोग की अनुमति मिली

भारत बायोटेक के कोविड टीके को-वैक्सीन को 12 से 18 वर्ष के बच्चों में आपात उपयोग की अनुमति मिल गई है। भारत बायोटेक ने कहा कि को-वैक्सीन को इस तरह तैयार किया गया है कि वयस्कों और बच्चों में इसकी समान डोज लगाई जा सकती है। भारत बायोटेक ने कहा कि को-वैक्सीन मूल कोरोना वैरिएंट और बाद के वैरिएंट के लिए वयस्कों में सुरक्षित और प्रभावी साबित हुआ है। कंपनी ने कहा कि इसकी सुरक्षा और रोग-प्रतिरोधक क्षमता डेटा अध्ययन में यह बच्चों के लिये सुरक्षित प्रमाणित हो चुका है।

7.RBI ने कार्ड सूचना भंडारण नियमों का पालन करने की समय सीमा 6 महीने और बढ़ा दी

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने हाल ही में कार्ड सूचना भंडारण नियमों का पालन करने की समय सीमा 6 महीने और बढ़ा दी है। यह समय सीमा बढ़ा दी गई थी क्योंकि व्यापारियों और भुगतान कंपनियों ने 31 दिसंबर की समय सीमा का पालन करने में असमर्थता व्यक्त की थी। RBI ने यह फैसला इसलिए लिया क्योंकि उद्योग निकायों ने केंद्रीय बैंक से नए दिशानिर्देशों को लागू करने में कई चुनौतियों को उजागर करते हुए 31 दिसंबर से समय सीमा बढ़ाने का अनुरोध किया था। इसके अलावा, व्यापारी और बैंक निर्दिष्ट समय में नई प्रणाली पर स्विच करने के लिए तैयार नहीं थे। RBI ने सितंबर 2021 में नई गाइडलाइंस जारी की थी। इन गाइडलाइंस के तहत मर्चेंट ग्राहकों के कार्ड डेटा को अपने सर्वर में स्टोर नहीं कर पाएंगे। इसने व्यापारियों को कार्ड भंडारण स्टोर करने पर प्रतिबन्ध लगा दिया और विकल्प के रूप में कार्ड-ऑन-फाइल (CoF) टोकननाइजेशन को अपनाने के लिए प्रेरित किया। नया नियम 1 जनवरी 2022 से लागू होना था। टोकन पर RBI के नए निर्देश के अनुसार, ग्राहक को ऑनलाइन भुगतान करने के लिए हर बार कार्ड का पूरा विवरण दर्ज करना होगा।

8.32 साल की सेवा के बाद INS खुकरी को सेवामुक्त किया गया

भारत की पहली स्वदेश निर्मित मिसाइल कार्वेट INS खुकरी (P49) को 24 दिसंबर, 2021 को विशाखापत्तनम में 32 साल की सेवा के बाद सेवामुक्त कर दिया गया था। डीकमीशनिंग समारोह के दौरान, सूर्यास्त के समय राष्ट्रीय ध्वज, डीकमीशनिंग पेनेंट और नौसैनिक ध्वज को उतारा गया। INS खुकरी को मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स ने 23 अगस्त, 1989 को बनाया था। इसे पश्चिमी और पूर्वी बेड़े का हिस्सा होने का गौरव प्राप्त था। इसने कुल मिलाकर 6,44,897 समुद्री मील से अधिक की दूरी तय की।

9.अभ्यास ‘प्रस्थान’ के दौरान विशाखापत्तनम, AP में अपतटीय संपत्तियों की सुरक्षा की समीक्षा की गई

अभ्यास प्रस्थान के दौरान विशाखापत्तनम, आंध्र प्रदेश (AP) में भारत के पूर्वी तट पर कृष्णा गोदावरी बेसिन में अपतटीय विकास क्षेत्र (ODA) की सुरक्षा की समीक्षा की गई। इस द्विवार्षिक अभ्यास को भारतीय नौसेना के तत्वावधान में संयुक्त संचालन केंद्र (JOC) विशाखापत्तनम से NOIC(नौसेना अधिकारी-प्रभारी) (APD) द्वारा समन्वित और नियंत्रित किया गया था।

10.रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने स्वदेशी मल्टी-टेरेन आर्टिलरी गन 155-BR का अनावरण किया

सरकार के मेक-इन-इंडिया और आत्मनिर्भर भारत मिशन की तर्ज पर, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्रालय (MoD) ने स्वदेशी निर्मित मल्टी-टेरेन आर्टिलरी गन (MARG 155)-BR का अनावरण किया। यह दुनिया में 4×4 HMV (हाई मोबिलिटी व्हीकल) पर लगा इकलौता 155mm 39 कैलिबर गन सिस्टम है। इसका अनावरण थल सेनाध्यक्ष (COAS), मनोज मुकुंद नरवणे की उपस्थिति में किया गया। इसे पुणे (महाराष्ट्र) स्थित भारतीय MNC (बहुराष्ट्रीय कंपनी) भारत फोर्ज लिमिटेड द्वारा विकसित किया गया है।

11.अकासा एयर ने अपने लोगो ‘द राइजिंग A’ और टैगलाइन ‘इट्स योर स्काई’ का अनावरण किया

SNV एविएशन प्राइवेट लिमिटेड द्वारा संचालित और अरबपति राकेश झुनझुनवाला द्वारा समर्थित भारत की नई एयरलाइन, ‘अकासा एयर’ ने अपने लोगो “द राइजिंग ए” और इसके विमान पोशाक का अनावरण किया है। एयरलाइन ने अपनी टैगलाइन “इट्स योर स्काई” का भी अनावरण किया, जो सभी को गले लगाने और सभी भारतीयों के लिए एक समावेशी वातावरण बनाने के ब्रांड के वादे पर प्रकाश डालता है। प्रतीक और टैगलाइन 26FIVE इंडिया लैब द्वारा तैयार की गई थी, जो मुंबई की एक ब्रांड एंगेजमेंट फर्म है।

12.वायना नेटवर्क और फेडरल बैंक को मिला ‘मोस्ट इफेक्टिव बैंक-फिनटेक पार्टनरशिप’ का पुरस्कार

वायना नेटवर्क, भारत के सबसे बड़े व्यापार वित्त प्लेटफार्मों में से एक और फेडरल बैंक, एक प्रमुख निजी क्षेत्र के बैंक को IBSi-ग्लोबल फिनटेक इनोवेशन अवार्ड्स 2021 में ‘मोस्ट इफेक्टिव बैंक-फिनटेक पार्टनरशिप: एजाइल एंड एडैप्टेबल’ से सम्मानित किया गया है। यह पुरस्कार वायना नेटवर्क की फेडरल बैंक के साथ साझेदारी को आसानी से आपूर्ति श्रृंखला वित्त बनाने की मान्यता में प्रदान किया गया था। 2021 इनोवेशन अवार्ड में 48 देशों के 190 प्रतिभागियों की भागीदारी शामिल है।

13.नोबेल शांति पुरस्कार विजेता आर्कबिशप डेसमंड टूटू का निधन

दक्षिण अफ्रीका में रंगभेद को समाप्त करने में मदद करने वाले नोबेल शांति पुरस्कार विजेता आकबिशप डेसमंड टूटू का निधन हो गया है। वे 90 वर्ष के थे। वे रंगभेद विरोध के प्रतीक नेल्सन मंडेला के समकालीन थे। उन्होंने 1948 से 1991 तक दक्षिण अफ्रीका में अश्वेत बहुमत के खिलाफ श्वेत अल्पसंख्यक सरकार द्वारा लागू नस्लीय भेदभाव की नीति को समाप्त करने के आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। उन्हें 1984 में नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने आर्कबिश्‍प डेसमंड टूटू के निधन पर शोक व्‍यक्‍त किया है।