0
54

राष्ट्रीय न्यूज़

1.छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में भारत का पहला कचरा कैफे खोला जाएगा:-

एक अनूठी पहल में, छत्तीसगढ़ का अंबिकापुर नगर निगम कुछ दिनों के भीतर अपनी तरह का पहला ‘कचरा कैफे’ खोलेगा।यह पहल शहर को प्लास्टिक मुक्त बनाने की दिशा में एक कदम है।इस अनूठे कैफे में गरीब लोगों और कूड़ा बीनने वालों को एक किलोग्राम प्लास्टिक के बदले में मुफ्त भोजन मिलेगा, जबकि आधा किलोग्राम प्लास्टिक कैफे में लाने पर नाश्ता उपलब्ध कराया जाएगा।एकत्र किए गए प्लास्टिक कचरे को आगे चलकर दानों में बदल दिया जाएगा और फिर इसका उपयोग शहर में सड़कों के निर्माण में किया जाएगा।अंबिकापुर छत्तीसगढ़ का पहला डस्टबिन-मुक्त शहर है।

बाज़ार न्यूज़:-

2. 1 सितंबर से होने जा रहे हैं ये 10 बड़े बदलाव, जानिए आप पर क्या पड़ेगा असर:-

 

1 सितंबर यानी रविवार से देश में बहुत कुछ बदल रहा है जिसका राबता आपके व हमारी जेब से है। इन बदलावों से रोजमर्रा की जिंदगी पर काफी असर पड़ेगा। सितंबर महीने से बैंकिग, ट्रैफिक नियम और आधार पैन से जुड़े कई नियमों में बदलाव होने जा रहे हैं। आइये जानते हैं क्या हैं वो बदलाव…

बैंक अकाउंट से नकद विड्रॉल पर टीडीएस

किसी बैंक, सहकारी बैंक या पोस्ट ऑफिस अकाउंट से एक साल में कुल एक करोड़ से ज्यादा की नकदी निकासी पर एक सितंबर से 2 फीसद टीडीएस लेवी लगेगा। सरकार ने यह कदम बड़ी मात्रा में नकदी की निकासी को हतोत्साहित करने और लेस कैश इकोनॉमी को प्रमोट करने के उद्देश्य से उठाया है।

होम और ऑटो लोन में बदलाव

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया एक सितंबर से अपने ग्राहकों के लिए होम और ऑटो लोन को रेपो रेट से लिंक करेगा। इसका फायदा यह होगा कि आरबीआई के रेपो रेट में कटौती करने पर ग्राहकों को तुरंत इसका लाभ मिलेगा।

केवाईसी अपडेट

पेटीएम फोनपे या गूगलपे जैसे मोबाइल वॉलेट इस्तेमाल करने वाले लोगों को 31 अगस्त से पहले-पहले इसकी केवाईसी पूरी करनी होगी। एक सितंबर के बाद ऐसा ना कराने पर मोबाइल वॉलेट काम करना बंद कर देगा। RBI के दिशा निर्देश पर केवाईसी पूरी करने के लिए 31 अगस्त तक का समय दिया गया था।

फिक्ड डिपॉ़जिट रेट में कटौती

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने रिटेल डिपॉजिट पर ब्याज दर कम कर दी है। एक लाख रुपये तक के डिपॉजिट वाले ग्राहकों को सेविंग अकाउंट में 3.5 फीसद ब्याज मिलता रहेगा। हालांकि, एक लाख से ज्यादा डिपॉजिट वाले ग्राहकों के लिए यह दर 3 फीसद ही रहेगी।

घर खरीदने पर ज्यादा टीडीएस

अब आप कोई प्रॉपर्टी खरीदेंगे, तो अन्य सुविधाओं जैसे- कार पार्किंग, विद्युत-पानी की सुविधा और क्लब मेंबरशिप जैसी अन्य सुविधाओं पर खर्च भी टीडीएस के दायरे में आएगा।

अगर PAN आधार से लिंक नहीं हो

जिन लोगों ने अभी तक आधार नंबर को पैन से लिंक नहीं करवाया है उन्हें इनकम टैक्स डिपार्टमेंट नया पैन जारी करेगा। जुलाई में पेश हुए पूर्ण बजट की घोषणा के अनुसार, यदि तय समय तक पेन कार्ड आधार से लिंक नहीं हो, तो वह अवैध माना जाएगा। इसका मतलब है कि यदि किसी का पेन वैध नहीं है, तो उस पर ठीक उसी व्यक्ति की तरह व्यवहार होगा जिसके पास पेन कार्ड नहीं होता।

जल्द बनेगा किसान क्रेडिट कार्ड

एक सितंबर से किसान क्रेडिट कार्ड बैंक अब अधिकतम 15 दिनों में जारी करेगा। केंद्र सरकार ने बैंकों को ऐसा करने का निर्देश दिया है।

ट्रैफिक नियमों में बदलाव

एक सितंबर से ट्रैफिक से जुड़े नियम बदल जाएंगे। मोटर वाहन (संशोधन) एक्ट के कुछ प्रावधान में बदलाव किया जा रहा है। जिसके तहत वाहन नियम उल्लंघन पर आपको भारी जुर्माना भरना होगा।

कॉन्ट्रैक्टर्स और प्रोफेशनल्स को पेमेंट पर

एक सितंबर से अगर कोई व्यक्ति या हिंदू अविभाजित परिवार कॉन्ट्रैक्टर्स या प्रोफेशनल्स को एक साल में कुल 50 लाख से अधिक का पेमेंट करता है, तो इस पर 5 फीसद की दर से टीडीएस कटेगा।

जीवन बीमा के गैर छूट वाले हिस्से पर टीडीएस

यदि आपको मिलने वाली लाइफ इंश्योरेंस मैच्योरिटी की राशि कर योग्य है, तो शुद्ध आय हिस्से पर 5 फीसद की दर से टीडीएस कटेगा। शुद्ध आय वह राशि है, जो कुल प्राप्त राशि में से कुल इंश्योरेंस प्रीमियम भुगतान को घटाने पर प्राप्त होती है।

3. आयकर नियमों में वे पांच मुख्य बदलाव जो 1 सितंबर से हो जाएंगे लागू:-

बजट में आयकर से संबंधित जो बदलाव होते हैं, वो सामान्यतया 1 अप्रैल से लागू होते हैं, लेकिन इस बार ये बदलाव 1 सितंबर से लागू होंगे। इस बार वित्त वर्ष 2019-20 के लिए पूर्ण बजट आम चुनाव के बाद जुलाई में पेश हुआ था, जिस कारण बजट में आयकर से जुड़े विभिन्न बदलाव 1 सितंबर से लागू होंगे। इन बदलावों की जानकारी करदाता को अवश्य ही होनी चाहिए। आइए जानते हैं कि आयकर से जुड़े मुख्य बदलाव कौन-कौनसे हैं।

जीवन बीमा के गैर छूट वाले हिस्से पर टीडीएस

यदि आपको मिलने वाली लाइफ इंश्योरेंस मैच्योरिटी की राशि कर योग्य है, तो शुद्ध आय हिस्से पर 5 फीसद की दर से टीडीएस कटेगा। शुद्ध आय वह राशि है, जो कुल प्राप्त राशि में से कुल इंश्योरेंस प्रीमियम भुगतान को घटाने पर प्राप्त होती है।

बैंक अकाउंट से नकद विड्रॉल पर टीडीएस

किसी बैंक, सहकारी बैंक या पोस्ट ऑफिस अकाउंट से एक साल में कुल एक करोड़ से ज्यादा की नकदी निकासी पर एक सितंबर से टीडीएस लेवी लगेगा। सरकार ने यह कदम बड़ी मात्रा में नकदी की निकासी को हतोत्साहित करने और लेस कैश इकोनॉमी को प्रमोट करने के उद्देश्य से उठाया है।

अचल संपत्ति खरीदते समय किये गए अतिरिक्त भुगतानों पर टीडीएस

अब आप कोई प्रॉपर्टी खरीदेंगे, तो अन्य सुविधाओं जैसे- कार पार्किंग, विद्युत-पानी की सुविधा और क्लब मेंबरशिप जैसी अन्य सुविधाओं पर खर्च भी टीडीएस के दायरे में आएगा।

कॉन्ट्रैक्टर्स और प्रोफेशनल्स को पेमेंट पर

एक सितंबर से अगर कोई व्यक्ति या हिंदू अविभाजित परिवार कॉन्ट्रैक्टर्स या प्रोफेशनल्स को एक साल में कुल 50 लाख से अधिक का पेमेंट करता है, तो इस पर 5 फीसद की दर से टीडीएस कटेगा।

अगर PAN आधार से लिंक नहीं हो

जुलाई में पेश हुए पूर्ण बजट की घोषणा के अनुसार, यदि तय समय तक पेन कार्ड आधार से लिंक नहीं हो, तो वह अवैध माना जाएगा। इसका मतलब है कि यदि किसी का पेन वैध नहीं है, तो उस पर ठीक उसी व्यक्ति की तरह व्यवहार होगा जिसके पास पेन कार्ड कार्ड नहीं होता।

4.Bank Merger: सरकारी बैंकों के बोर्ड को मिलेगा ज्यादा अधिकार:-

 

विलय के जरिये सरकारी बैंकों को सशक्त बनाने के साथ साथ सरकार ने कामकाज में सुधार की दिशा में भी कई उपायों की घोषणा की है। इनके तहत बैंक के बोर्ड को ज्यादा अधिकार देने के साथ साथ उन्हें स्वायत्त बनाने संबंधी कदम भी उठाए गए हैं। अब स्वतंत्र निदेशकों की भुगतान राशि बैंक बोर्ड खुद तय कर पाएंगे और बैंक के बाहर से चीफ रिस्क ऑफिसर की नियुक्ति भी कर सकेंगे।

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बैंकों के विलय के साथ साथ कामकाज में सुधारों का एलान करते हुए कहा, ‘बैंकों के प्रबंधन को बोर्ड के प्रति ज्यादा जवाबदेह बनाने के लिए सरकारी बैंकों की बोर्ड कमेटी अब महाप्रबंधक और उससे ऊपर के अधिकारियों के परफॉर्मेस का आकलन करेगी। इन अधिकारियों में बैंकों के प्रबंध निदेशक भी शामिल होंगे।’

विलय के बाद बैंकों को अपने कारोबार की जरूरत के मुताबिक मुख्य महाप्रबंधक का पद सृजित करने का अधिकार भी बोर्ड के पास रहेगा।

वित्त मंत्री ने कहा कि बैंक के बाहर से चीफ रिस्क ऑफिसर नियुक्त करने की छूट देने से बैंक बेहतर टेलेंट आकर्षित कर पाएंगे। इन अधिकारियों के वेतन संबंधी फैसला लेने में भी बोर्ड के अधिकारों को लचीला बनाया गया है। इसके साथ ही बैंकों में उत्तराधिकार की प्रक्रिया को भी महत्व दिया जा रहा है। अब बोर्ड ऐसा सिस्टम तैयार कर सकेंगे जिससे वरिष्ठ अधिकारियों को अधिक जिम्मेदार पदों पर नियुक्ति के लिए पहले से ही तैयार रखा जा सके। इतना ही नहीं अब बैंक के महाप्रबंधक और उससे ऊपर के स्तर के अधिकारियों के लिए दो वर्षो का कार्यकाल सुनिश्चित करने का अधिकार भी बोर्ड के पास होगा।

इसके अतिरिक्त बैंकों में मैनेजमेंट कमेटी ऑफ बोर्ड (एमसीबी) में निदेशकों की नियुक्ति की अवधि लंबी रखी जा सकेगी ताकि वे अधिक प्रभावी ढंग से बैंक के प्रदर्शन में अपना योगदान कर पाएं।

साथ ही एमसीबी की लोन मंजूर करने की क्षमता में भी सौ परसेंट तक की वृद्धि की जा सकेगी। बड़े बैंकों में एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर की संख्या को भी चार तक बढ़ाया जा सकेगा।

खेल न्यूज़

5.दीपा मलिक को राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया:-

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर नई दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक विशेष समारोह में राष्ट्रीय खेल पुरस्कार प्रदान किए।पैरा-एथलीट दीपा मलिक और बजरंग पुनिया को राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया। चौदह व्यक्तियों को वर्ष 2019 के लिए अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इनमें क्रिकेटर पूनम यादव, एथलीट स्वप्ना बर्मन, पहलवान पूजा ढांडा, फुटबॉलर गुरप्रीत सिंह संधू, बॉडी बिल्डर एस भास्करन, मुक्केबाज सोनिया लाठर, कबड्डी खिलाड़ी अजय ठाकुर, टेबल टेनिस खिलाड़ी हरमीत राजुल देसाई और बैडमिंटन खिलाड़ी भामिदिपति साई प्रणीत शामिल हैं।नियमित वर्ग में द्रोणाचार्य पुरस्कार टेबल टेनिस में संदीप गुप्ता और बैडमिंटन में विमल कुमार को दिया गया।आजीवन श्रेणी में द्रोणाचार्य पुरस्कार क्रिकेट में संजय भारद्वाज, कबड्डी में रामबीर सिंह खोखर और हॉकी में मर्ज़बान पटेल को दिया गया। ध्यानचंद पुरस्कार कुश्ती में मनोज कुमार को, तीरंदाजी में सी लालरेमसंगा को, टेबल टेनिस में अरुप बसाक को, टेनिस में नीतिन कीर्तन  को और हॉकी में मैनुअल फ्रैड्रिक्स को दिया गया।

6.निशानेबाजी में भारत की एलावेनिल ने विश्व कप स्वर्ण पदक जीता:-

शूटिंग में, भारत के एलावेनिल वलारिवन ने रियो डी जेनेरियो में महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल प्रतियोगिता में अपने पहले वरिष्ठ विश्व कप स्वर्ण पदक का दावा किया। इसके साथ, वलारिवन यह उपलब्धि हासिल करने वाली तीसरी भारतीय बन गई। सीनियर स्तर पर अपने पहले वर्ष में, एलावेनिल ने फाइनल में 251.7 का स्कोर किया, जिससे भारत को इस आयोजन में अपना नया वर्चस्व कायम करने में मदद मिली। भारत ने इस वर्ष महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल में चार विश्व कप स्वर्ण पदक में से तीन जीते हैं।