प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी नेपाल में लुम्बिनी के मायादेवी मंदिर में बुद्ध जयंती समारोह में शामिल हुए

0
34

1. प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी नेपाल में लुम्बिनी के मायादेवी मंदिर में बुद्ध जयंती समारोह में शामिल हुए

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेपाल में लुंबिनी पहुंचने पर नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने उनका स्वागत किया। श्री मोदी ने बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर मायादेवी मंदिर में पूजा-अर्चना की। दोनों नेताओं के बीच एक बैठक भी हुई। इसमें भारत-नेपाल संबंधों को और मजबूत करने पर विचार विमर्श हुआ। प्रधानमंत्री ने लुंबिनी मठ में बौद्ध संस्कृति और विरासत के एक केंद्र के शिलान्यास समारोह में भी भाग लिया। इस केन्द्र का निर्माण भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय के वित्तीय सहयोग से किया जा रहा है। दुनिया भर के तीर्थयात्रियों और पर्यटकों को बौद्ध धर्म के आध्यात्मिक पहलुओं की जानकारी देने वाला यह एक विश्व स्तरीय केन्द्र होगा। यह एक ऐसी इमारत होगी, जिसमें ऊर्जा, पानी और अपशिष्ट प्रबंधन की आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा। इस केन्द्र में प्रार्थना कक्ष, ध्यान केंद्र, पुस्तकालय, प्रदर्शनी हॉल, जलपानगृह और अन्य सुविधाएं होंगी। 2014 के बाद से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यह पांचवीं नेपाल यात्रा है और लुंबिनी की पहली।

2. राजस्‍थान में रामगढ विषधारी बाघ अभ्‍यारण्‍य को देश का 52वां आरक्षित अभ्‍यारण्‍य अधिसूचित किया गया

  • पर्यावरण वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेन्‍द्र यादव ने कहा है कि राजस्‍थान में रामगढ विषधारी बाघ अभ्‍यारण्‍य अधिसूचित कर दिया गया है। श्री यादव ने ट्वीट श्रृंखला में कहा कि यह देश का 52वां अभ्‍यारण्‍य है। इससे क्षेत्र में जैव विविधता का संरक्षण होगा और पर्यटन तथा विकास को बढावा मिला है। उन्‍होंने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्‍व में सरकार वन्‍य जीव जन्‍तुओं को संरक्षित करने के लिए प्रतिबद्ध है। इस नव अधिसूचित बाघ अभ्‍यारण्‍य का क्षेत्र उत्‍तर-पूर्व में रणथम्‍भौर बाघ अभ्‍यारण्‍य और दक्षिण में मुकुन्‍द्रा पर्वतीय बाघ अभ्‍यारण्‍य के बीच होगा। इससे रणथम्‍भौर बाघ अभ्‍यारण्‍य से बाघों को आने का रास्‍ता मिलेगा। केन्‍द्रीय मंत्री ने कहा कि नये अभ्‍यारण्‍य में पेड़ पौधों की विविधता शोध और शिक्षा के लिए महत्‍वपूर्ण है। श्री यादव ने कहा कि भीमलाट और रामगढ महल जैसे ऐतिहासिक सांस्‍कृति स्‍थलों से पर्यटन को बढावा मिलेगा और स्‍थानीय समुदायों को रोजगार के अवसर उपलब्‍ध होंगे।

3. ISRO ने गगनयान कार्यक्रम के लिये HS200 का स्थैतिक परीक्षण पूरा किया

  • हाल ही में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने गगनयान कार्यक्रम के लिये ह्यूमन-रेटेड सॉलिड रॉकेट बूस्टर (HS200) का स्थैतिक परीक्षण पूरा किया है। बूस्टर इंजन जियोसिंक्रोनस सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल Mk-III (GSLV Mk-III) रॉकेट का हिस्सा है जो भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष में ले जाएगा। गगनयान मिशन के लिये उपयोग किये जाने वाले GSLV Mk-III रॉकेट में दो HS200 बूस्टर होंगे जो लिफ्ट-ऑफ के लिये इसे थ्रस्ट प्रदान करेंगे। HS200 3.2 मीटर के व्यास के साथ एक 20 मीटर लंबा सॉलिड बूस्टर है और ठोस प्रणोदक का उपयोग करने वाला दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा परचालित बूस्टर है। HS200 उपग्रह प्रक्षेपण यान GSLV Mk-III के S200 रॉकेट बूस्टर का ह्यूमन-रेटेड संस्करण है, जिसे LVM3 के नाम से जाना जाता है। चूँकि गगनयान एक चालित (Crewed) मिशन है, इसलिये GSLV Mk-III में ‘ह्यूमन रेटिंग’ की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिये इसकी विश्वसनीयता और सुरक्षा बढ़ाई जाएगी।

4. पहला अतुल्य भारत अंतर्राष्ट्रीय क्रूज़ सम्मेलन, 2022 आयोजित किया गया

  • हाल ही में पहला अतुल्य भारत अंतर्राष्ट्रीय क्रूज़ सम्मेलन, 2022 आयोजित किया गया। भारत, पर्यटन उद्योग को गति देने के लिये राष्ट्रीय पर्यटन नीति पर कार्य कर रहा है। सम्मेलन का आयोजन संयुक्त रूप से पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्रालय तथा भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग महासंघ (FICCI) द्वारा किया गया है। दो दिवसीय इस कार्यक्रम में भारत को एक क्रूज़ हब के रूप में विकसित करने के लिये रणनीतियाँ, नीतिगत पहल और बंदरगाह बुनियादी ढाँचे, नदी क्रूज पर्यटन की क्षमता तथा महामारी के बाद की दुनिया में प्रौद्योगिकी की भूमिका पर चर्चा की गई। बढ़ती मांग और प्रयोज्य आय से प्रेरित भारतीय क्रूज़ बाज़ार की अगले दशक में 10 गुना बढ़ने की क्षमता है। भारत एक शानदार क्रूज़ गंतव्य है, इसकी 7,500 किमी. लंबी तटरेखा के साथ भारत के कई आकर्षण और विशाल नदी प्रणालियों का दुनिया के सामने अनावरण किया जाना बाकी है। भारत सरकार अपनी क्षमता का एहसास कर भारत को महासागर और नदी परिभ्रमण दोनों के लिये अत्याधुनिक बुनियादी ढाँचे के साथ एक वैश्विक क्रूज़ हब के रूप में स्थापित करने के लिये दृढ़ संकल्पित है। भारत में वैश्विक हितधारकों ने क्रूज़ पर्यटन को बढ़ावा देने में गहरी दिलचस्पी दिखाई है। उचित बुनियादी ढाँचे के साथ आधुनिक तकनीक को अपनाने से भारत निश्चित रूप से दुनिया के शीर्ष पर्यटन स्थलों में से एक बन जाएगा।

5. अन्ना कबाले दुबा (Anna Qabale Duba) ने जीता ग्लोबल नर्सिंग अवार्ड

  • केन्या के अन्ना कबाले दुबा को दुबई में आयोजित एक पुरस्कार समारोह में एस्टर गार्जियन ग्लोबल नर्सिंग अवार्ड 2022 से सम्मानित किया गया। 24,000 नर्सों में से 10 को शीर्ष 10 फाइनलिस्ट के रूप में चुना गया, जिनमें से 1 ने यह पुरस्कार जीता। वह अपने गांव की पहली ग्रेजुएट हैं। उन्होंने नर्सिंग की पढ़ाई के दौरान मिस टूरिज्म केन्या 2013 का खिताब भी जीता था। उन्होंने अपने समुदाय में शिक्षा और लैंगिक समानता की वकालत की है। कबाले दूबा फाउंडेशन के तहत उनके गांव में उनके द्वारा एक स्कूल बनाया गया है। यह स्कूल इसलिए बनाया गया था ताकि सुबह बच्चे पढ़ सकें और दोपहर में वयस्क पढ़ सकें। इस सामुदायिक साक्षरता कार्यक्रम में 100 से अधिक वयस्क और 150 बच्चे भाग ले रहे हैं।

6. चेक गणराज्य ने UNHRC में रूस की जगह ली

  • संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) ने एक गुप्त मतदान में चेक गणराज्य को संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) में रूस को रीप्लेस करने के लिए चुना। संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) में 157 देशों ने चेक गणराज्य के पक्ष में मतदान किया और 23 ने मतदान से परहेज किया गया। चेक गणराज्य 31 दिसंबर 2023 तक UNHRC सीट पर बना रहेगा। यूक्रेन में मानवाधिकारों के उल्लंघन के लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) में एक वोट द्वारा रूस को UNHRC से निलंबित कर दिया गया था। बाद में, रूस ने घोषणा की कि वह मतदान से पहले UNHRC से हट गया था। हालाँकि रूस को UNHRC से निलंबित कर दिया गया है, लेकिन वह UNHRC सत्रों में भाग ले सकता है क्योंकि उसे पर्यवेक्षक का दर्जा प्राप्त है। 2011 में, तत्कालीन नेता मुअम्मर गद्दाफी का समर्थन करने वाले बलों द्वारा प्रदर्शनकारियों के खिलाफ हिंसा के कारण लीबिया को UNHRC से निलंबित कर दिया गया था।

7. फ्रैंक विल्जेक ने जीता 2022 टेंपलटन पुरस्कार

  • 2022 टेम्पलटन पुरस्कार एक सैद्धांतिक भौतिक विज्ञानी फ्रैंक विल्जेक को प्रदान किया गया। वह टेंपलटन पुरस्कार प्राप्त करने वाले छठे नोबेल पुरस्कार विजेता बन गए हैं। वर्ष 2004 में, उन्होंने एच डेविड पोलित्ज़र और डेविड ग्रॉस के साथ भौतिकी में नोबेल पुरस्कार जीता। उन्होंने मजबूत अंतःक्रिया सिद्धांत में स्पर्शोन्मुख स्वतंत्रता (asymptotic freedom in the strong interaction theory) की खोज के लिए पुरस्कार जीता था।

8. हरियाणा सरकार ने शुरू की ‘ई-अधिगम’ योजना

  • हरियाणा सरकार ने ‘ई-अधिगम (e-Adhigam)‘ योजना शुरू की है, जिसके तहत लगभग 3 लाख छात्रों को उनकी ऑनलाइन शिक्षा में सहायता के लिए टैबलेट कंप्यूटर प्रदान किये जायेंगे। राज्य सरकार ने पांच लाख छात्रों को गैजेट उपलब्ध कराने की योजना बनाई है। हरियाणा के रोहतक में महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने ‘एडवांस डिजिटल हरियाणा इनिशिएटिव ऑफ़ गवर्नमेंट विद एडॉप्टिव मॉड्यूल (Advance Digital Haryana Initiative of Government with Adaptive Modules – Adigham)’ योजना का शुभारंभ किया। रिपोर्टों के अनुसार, हरियाणा के सरकारी स्कूलों के कक्षा 11वीं के छात्रों को टैबलेट दिए जायेंगे। प्राप्तकर्ता की सूची में सिर्फ़ वे छात्र शामिल होंगे जिन्होंने हाई स्कूल (कक्षा 10) की बोर्ड परीक्षा पास करने के बाद 11वीं में दाख़िला लिया है। यह डिवाइस पर्सनलाइज्ड और एडॉप्टिव लर्निंग सॉफ्टवेयर के साथ प्री-लोडेड कंटेंट और 2GB फ्री डेटा के साथ आते हैं। टैबलेट आज के दौर की नई कक्षा है और ‘ई-पुस्तकों (e-books)’ के माध्यम से यह एक पूर्ण कक्षा (full-fledged classroom) के रूप में तैयार हो गया है।

9. आरईसी लिमिटेड के नए मुख्य कार्यकारी अधिकारी: विवेक कुमार देवांगन

  • मणिपुर कैडर के 1993 बैच के आईएएस अधिकारी विवेक कुमार देवांगन को विद्युत मंत्रालय के आरईसी लिमिटेड का अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक नियुक्त किया गया है। एक शीर्ष स्तर की नौकरशाही उथल-पुथल में, केंद्र ने वरिष्ठ आईएएस अधिकारी निधि छिब्बर को केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के अध्यक्ष के रूप में नामित किया है। विवेक कुमार देवांगन अब बिजली मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव हैं। निधि छिब्बर भारी उद्योग मंत्रालय की अतिरिक्त सचिव हैं। वह छत्तीसगढ़ कैडर से 1994 बैच की भारतीय प्रशासनिक सेवा की अधिकारी हैं। उन्हें भारत सरकार के अतिरिक्त सचिव की स्थिति और वेतन के साथ सीबीएसई की अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया है।

10. शिक्षा मंत्री धर्मेन्‍द्र प्रधान ने इंट्रोडक्‍शन टू इंडियन नॉलेज सिस्‍टम-कन्‍सेप्‍टस् एंड एप्‍लीकेशंस पाठय पुस्‍तक का लोकार्पण

  • केंद्रीय शिक्षा और कौशल विकास मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान ने ‘भारतीय ज्ञान प्रणालियों का परिचय: अवधारणाएं और अमल (इंट्रोडक्‍शन टू इंडियन नॉलेज सिस्‍टम-कन्‍सेप्‍टस् एंड एप्‍लीकेशंस)’ पर एक पाठ्यपुस्तक का विमोचन किया। इस पाठ्यपुस्तक का पाठ्यक्रम भारतीय प्रबंधन संस्थान, बेंगलुरू द्वारा व्यास योग संस्थान, बेंगलुरू और चिन्मय विश्व विद्यापीठ, एर्नाकुलम के सहयोग से विकसित किया गया है। यह प्रोफेसर बी महादेवन, आईआईएम बेंगलुरू द्वारा लिखा गया है और एसोसिएट प्रोफेसर विनायक रजत भट, चाणक्य विश्वविद्यालय, बेंगलुरू; एवं चिन्मय विश्व विद्यापीठ, एर्नाकुलम में वैदिक ज्ञान प्रणाली स्कूल में कार्यरत नागेंद्र पवन आर एन इसके सह-लेखक हैं।

11. भारत और नेपाल ने शिक्षा और पनबिजली क्षेत्रों के छह सहमति और समझौतों ज्ञापनों पर हस्‍ताक्षर किए

  • भारत-नेपाल ने छह सहमति ज्ञापनों और समझौतों का आदान-प्रदान किया और हस्‍ताक्षर किए। इनमें भारतीय सांस्‍कृतिक संबंध परिषद और लुम्बिनी बौद्ध विश्‍वविद्यालय के बीच विश्‍वविद्यालय में बौद्ध अध्‍ययन के लिए डॉक्‍टर अम्‍बेडकर पीठ तथा काठमांडु विश्‍वविद्यालय में भारत अध्‍ययन पीठ स्‍थापित करना भी शामिल है। काठमांडु विश्‍वविद्यालय और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्‍थान के बीच सहमति के अनुसार संयुक्‍त रूप से एक स्‍नातकोत्‍तर उपाधि शुरू करने के समझौते पर भी हस्‍ताक्षर किए गए। एसजेवीएन लिमिटेड और नेपाल विद्युत प्राधिकरण के बीच अरुण चतुर्थ परियोजना के विकास और क्रियान्‍वयन से संबंधित एक समझौते पर भी हस्‍ताक्षर हुए। ये हस्‍ताक्षर प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा के बीच लुम्बिनी में हुई द्विपक्षीय वार्ता के बाद की गई।

12. बायलोजिकल-ई लिमिटेड ने कोविडरोधी टीके कोर्बेवैक्‍स की कीमत 840 रुपये से घटाकर 250 रुपये की

  • हैदराबाद की कोविड वैक्‍सीन निर्माता कम्‍पनी बायलोजिकल-ई लिमिटेड ने अपने टीके कोर्बेवैक्‍स की कीमत निजी टीकाकरण केन्‍द्रों के लिए 840 रुपये से घटाकर 250 रुपये प्रति टीका कर दी है, इसमें जीएसटी भी शामिल है। कम्‍पनी ने कहा है कि अंतिम उपभोक्‍ता को इसकी कीमत चार सौ रुपये प्रति टीका देनी होगी और इसमें सभी तरह के कर और शुल्‍क शामिल होंगे। कम्‍पनी ने अपने टीके की कीमत कोविड टीके को सस्‍ता और सभी बच्‍चों को उपलब्‍ध करने के लिए घटाई है। कोर्बेवैक्‍स कोविड टीका देश में पांच से 12 वर्ष के बच्‍चों को लगाने की अनुमति दी गई है।

13. केईबी हाना बैंक पर आरबीआई ने लगाया 59 लाख रुपये का जुर्माना

  • भारतीय रिजर्व बैंक ने कोरियन बैंक केईबी हाना बैंक पर ‘जमा पर ब्याज दर‘ से संबंधित कुछ नियमों का पालन न करने पर 59 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। भारतीय रिजर्व बैंक (जमा पर ब्याज दर) निदेश, 2016” पर आरबीआई द्वारा जारी निर्देशों का अनुपालन न करने के लिए कोरियाई बैंक को दंडित किया गया है। केईबी हाना बैंक के पर्यवेक्षी मूल्यांकन के लिए वैधानिक निरीक्षण आरबीआई द्वारा 31 मार्च, 2020 तक अपनी वित्तीय स्थिति के संदर्भ में किया गया था। हालांकि, आरबीआई ने कहा कि जुर्माना नियामक अनुपालन में कमियों पर आधारित है और बैंक द्वारा अपने ग्राहकों के साथ किए गए किसी भी लेनदेन या समझौते की वैधता पर उच्चारण करने का इरादा नहीं है।

14. स्विगी ने टाइम्स इंटरनेट से कथित तौर पर $200 मिलियन में डाइनआउट का किया अधिग्रहण

  • स्विगी ने टाइम्स इंटरनेट से डाइनिंग आउट और रेस्टोरेंट टेक प्लैटफॉर्म डाइनआउट के अधिग्रहण की घोषणा की। कथित तौर पर $200 मिलियन में अधिग्रहण के बाद डाइनआउट स्वतंत्र ऐप के रूप में संचालित होगा और इसके संस्थापक स्विगी में शामिल होंगे। 4 स्कूली दोस्तों द्वारा 2012 में शुरू किए गए डाइनआउट को 2014 में टाइम्स ने खरीदा था।

15. देवसहायम पिल्लई को वेटिकन में पोप फ्राँसिस द्वारा संत घोषित किया गया

  • हाल ही में देवसहायम पिल्लई को वेटिकन में पोप फ्राँसिस (कैथोलिक चर्च) द्वारा संत घोषित किया गया है। उन्होंने 18वीं शताब्दी में तत्कालीन त्रावणकोर साम्राज्य में ईसाई धर्म अपना लिया था। देवसहायम संत का दर्जा पाने वाले पहले सामान्य भारतीय व्यक्ति हैं, वेटिकन द्वारा उन्हें यह उपाधि ‘बढ़ती कठिनाइयों को सहन करने’ के लिये दी गई है। देवसहायम पिल्लई का जन्म 23 अप्रैल, 1712 को तमिलनाडु के कन्याकुमारी ज़िले के नट्टलम गाँव में हुआ था। वह वर्ष 1745 में कैथोलिक बन गए तथा इन्होंने ईसाई धर्म अपनाने के बाद ‘लेज़ारूस’ (Lazarus) नाम रख लिया था जिसका अर्थ है “God is my help” (भगवान मेरी मदद है) लेकिन बाद में वे देवसहायम के नाम से जाने गए।

16. केंद्र और तमिलनाडु सरकार के बीच हुआ मदुरावॉयल को चेन्नई बंदरगाह से जोड़ने के लिए डबल लेयर वाली ऊंची सड़क बनाने का समझौता

  • केंद्र और तमिलनाडु सरकार ने मदुरावॉयल को चेन्नई बंदरगाह से जोड़ने के लिए बीस किलोमीटर से अधिक लंबी डबल लेयर वाली ऊंची सड़क बनाने का समझौता किया है। चेन्नई में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरणचेन्नई बंदरगाह न्यास और भारतीय नौसेना के बीच प्रमुख एक्सप्रेसवे परियोजना के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। इस अवसर पर मुख्यमंत्री एम के स्टालिन, केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग राज्य मंत्री जनरल वी के सिंह और तमिलनाडु तथा पुद्दुचेरी क्षेत्र के नौसेना फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग, रियर एडमिरल पुनीत चड्ढा उपस्थिति थे।

17. बुद्ध पुर्णिमा

  • बुद्ध पूर्णिमा बौद्ध धर्म के संस्थापक गौतम बुद्ध के जन्म को चिह्नित करने के लिये मनाया जाता है। इसे वेसाक के नाम से भी जाना जाता है। वैश्विक समाज में बौद्ध धर्म के योगदान को देखते हुए वर्ष 1999 में संयुक्त राष्ट्र द्वारा इस दिवस को मान्यता दी गई थी। तथागत गौतम बुद्ध के जन्म, ज्ञानोदय और महापरिनिर्वाण के रूप में इसे ‘तिहरा-धन्य दिवस‘ माना जाता है। बुद्ध पूर्णिमा आमतौर पर अप्रैल और मई माह के बीच पूर्णिमा को पड़ती है और यह भारत में एक राजकीय अवकाश है। इस अवसर पर कई भक्त बिहार के बोधगया में स्थित यूनेस्को के विश्व धरोहर स्थल महाबोधि विहार जाते हैं। बोधि विहार वह स्थान है, जहाँ भगवान बुद्ध को ज्ञान प्राप्त हुआ था। वैशाख पूर्णिमा का दिन पूरे विश्‍व के बौद्ध धर्मावलम्बियों के लिए विशेष महत्‍व का दिन है। इस अवसर पर भारत, नेपाल, भूटान, म्‍यामां, थाईलैंड, तिब्‍बत, चीन, कोरिया, लाओस, वियतनाम, मंगोलिया, कम्‍बोडिया, सिंगापुर, इंडोनेशिया और श्रीलंका में विशेष समारोहों का आयोजन होता है।