GENERAL KNOWLEDGE

0
92

गुजरात पुलिस देश की सातवीं ऐसी पुलिस बनी जिसे राष्ट्रपति निशान`से नवाजा गया

गुजरात पुलिस को ‘राष्ट्रपति निशान’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया. गुजरात पुलिस देश की सातवीं ऐसी पुलिस बनी जिसे इस पुरस्कार से नवाजा गया है. उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने गांधीनगर के कराई में गुजरात पुलिस अकादमी में यह निशान सौंपा. यह निशान इससे पहले मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, जम्मू एवं कश्मीर, त्रिपुरा और असम पुलिस को दिया जा चुका है.

गुजरात पुलिस को यह निशान 58 सालों की सेवा, शौर्य, पराक्रम और शहादत के बूते राष्ट्रपति की ओर से प्रदान किया गया. यह गुजरात पुलिस के शौर्य का प्रतीक होगा. पुलिस को यह निशान सेवा, शौर्य, पराक्रम और शहादत को लेकर प्रदान किया जाता है. यह श्रेष्ठता और गर्व का प्रतीक है. यह निशान राष्ट्रपति की ओर से दिया जाता है.

रवि मित्‍तल सूचना और प्रसारण मंत्रालय के नये सचिव

रवि मित्‍तल सूचना और प्रसारण मंत्रालय के नये सचिव होंगे. मित्‍तल अमित खरे का स्‍थान लेंगे, जिन्‍हें उच्‍च शिक्षा विभाग में सचिव नियुक्‍त किया गया है वे इस समय वित्‍त मंत्रालय में वित्‍तीय सेवा विभाग में विशेष सचिव के रूप में कार्य कर रहे हैं.

मित्‍तल 1986 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा बिहार कैडर के अधिकारी हैं. सुशील कुमार खनन सचिव और प्रवीन कुमार कौशल विभाग एवं उद्यमिता मंत्रालय में सचिव होंगे. राजेश भूषण को ग्रामीण विकास विभाग तथा सुनील कुमार पंचायती राज के नये सचिव बनाए गए हैं.

31 दिसंबर तक आधार को पैन से लिंक करना अनिवार्य: आयकर विभाग

आयकर विभाग ने 15 दिसंबर 2019 को कहा कि 31 दिसंबर तक पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करना अनिवार्य है. इससे पहले आधार-पैन लिंक की डेडलाइन 30 सितंबर 2019 थी. इसे केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने बढ़ाकर 31 दिसंबर कर दिया था.

सीबीडीटी आयकर विभाग हेतु नीति बनाता है. सुप्रीम कोर्ट ने सितंबर 2018 में केंद्र की प्रमुख आधार योजना को संवैधानिक रूप से वैध ठहराते हुए व्यवस्था दी थी कि आयकर रिटर्न दाखिल करने और पैन के आवंटन हेतु बायोमीट्रिक पहचान संख्या अनिवार्य रहेगी.

जामिया हिंसा पर सुनवाई कल: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट जामिया मामले पर 17 दिसंबर 2019 को सुनवाई करेगा. सीनियर वकील इंदिरा जयसिंह ने नागरिकता संशोधन कानून के विरुद्ध जामिया और अलीगढ़ हिंसा मामले पर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है.

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस एसए बोबडे ने जामिया मामले पर सख्त टिप्पणी करते हुए कहा कि शांति होगी तभी मामले को सुनेंगे. जामिया में हिंसा के बाद यूनिवर्सिटी को 05 जनवरी 2019 तक के लिए बंद कर दिया गया है.

पाकिस्तान के आबिद अली वनडे और टेस्ट डेब्यू पर शतक जड़ने वाले पहले पुरुष क्रिकेटर बने

पाकिस्तान के ओपनर आबिद अली वनडे और टेस्ट डेब्यू पर शतक जड़ने वाले इतिहास में पहले क्रिकेटर बन गए हैं. उन्होंने श्रीलंका के विरुद्ध पहले टेस्ट क्रिकेट मैच में 15 दिसंबर 2019 को यह उपलब्धि हासिल की. आबिद ने अपनी पारी में 201 गेंदें खेली तथा 11 चौके लगाए.

आबिद अली ने मार्च 2019 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दुबई में वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में पदार्पण पर 112 रन की पारी खेली थी. वे टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण पर शतक जड़ने वाले 11वें पाकिस्तान बल्लेबाज हैं. मार्च 2009 में श्रीलंका की टीम पर आतंकी हमले के बाद यह पाकिस्तान की सरजमीं पर पहला टेस्ट मैच है.

गृह मंत्री अमित शाह द्वारा ‘ई-बीट बुक’ और ‘ई-साथी’ एप्प आरंभ किये गये

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा हाल ही में देश में पहली एकीकृत ERSS, E-Beat Book, E-SAATHI App का लोकार्पण किया गया जिससे चण्डीगढ में आम नागरिकों को आपातकाल में सहायता के लिये अलग – अलग नम्बर याद रखने की आवश्यकता नहीं होगी. इसके लिए नयी सेवा एमरजेंसी रिस्पांस सपोर्ट सिस्टम डायल 112 पर सभी तरह की सहायता आम जनता के लिए उपलब्ध करवाई जाएगी.

महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने निर्भया फंड के अंतर्गत इस तरह के एप को जनता के लिए उपलब्ध कराया ताकि महिलाओं और बच्चों के प्रति होने वाले अपराधों मे कमी लाई जा सके. इसके अतिरिक्त ई-बीट बुक और ई-साथी एप्प भी आरंभ किये गये हैं.

ई-बीट बुक

ई-बीट बुक सिस्टम के तहत हर “ई-बीट बुक” के ईंचार्ज को एंडरायड फोन दिये गये हैं, जिसके अन्दर बीट-इंचार्ज के पास पुलिसिंग का पूरा रिकार्ड होगा तथा इस फोन पर एक क्लिक करते ही शहर से जुडी सभी जरुरी जानकारियां जैसे की बाजार, आभूषण विक्रेता, शराब के ठेके, वरिष्ठ नागरिकों की सूची, पीजी क्षेत्र के अच्छे बुरे नागरिकों के बारे में बीट ईंचार्ज को मिल जायेगी. ई-बीट बुक पर अपराधियों के बारे में पूरा रिकार्ड दर्ज होगा. कोई भी नागरिक किसी भी प्रकार की आपराधिक गतिविधि, नशा-बिक्री, जुआ-सट्टे बाजी आदि की जानकारी पुलिस को आसानी से दे सकेगा. इसके साथ ही क्षेत्र के वरिष्ठ नागरिक भी इस एप के माध्यम से पुलिस के सम्पर्क में रहेंगे. ई-बीट मेन इंटरएक्टिव फीचर भी होगा जिससे की सम्बंधित क्षेत्र के निवासी से सीधा सम्पर्क करके अपने सुझाव और शिकायत दे पायेंगे.

ई-साथी एप्प

“ई-साथी एप” से आम जनता को बिना थाने में गए “आपकी पुलिस आपके द्वार” योजना के तहत पासपोर्ट सत्यापन, किरायेदार सत्यापन, नौकर सत्यापन, चरित्र सत्यापन आदि सेवाओं की अपने क्षेत्र के थाना-अध्यक्ष को सूचना देनी होगी और उनके एक बटन दबाते ही सम्बंधित थानाध्यक्ष उनके दिए हुए समय पर बीट सिपाही भेजकर वाँछित सेवा प्रदान करेगा. इसके लिये नागरिकों को एक बटन दबाकर सम्बंधित एप्लिकेशन डाउनलोड करना होगा. इस प्रोद्योगिकी तकनीकी कुशलता से एक ओर जहां बीट सिपाही सशक्त और सक्षम होगा वहीं ये सीसीटीएनएस और ईआरएसएस से पूर्णत: समायोजित व अनुकुल होगा.