PRSI अवार्ड्स 2022 में NMDC ने चार श्रेणियों में पहला स्थान किया हासिल

0
39

1.एलन मस्क ने 44 अरब डॉलर में ट्विटर खरीदा

टेस्ला CEO एलन मस्क ट्विटर के नए मालिक बन गए हैं। मस्क ने इस माइक्रो ब्लॉगिंग साइट को खरीदने के लिए 44 बिलियन डॉलर यानी 3368 अरब रुपए की डील की हैं। ट्विटर के इंडिपेंडेंट बोर्ड के चेयरमैन ब्रेट टेलर ने भारतीय समय के मुताबिक रात 12 बजकर 24 मिनट पर एक प्रेस रिलीज में मस्क के साथ हुई डील के बारे में जानकारी दी। मस्क को ट्विटर के हर शेयर के लिए 54.20 डॉलर (4148 रुपए) चुकाने होंगे। उनके पास पहले से ही ट्विटर में 9% की हिस्सेदारी मौजूद है। वे ट्विटर के सबसे बड़े शेयर होल्डर हैं। ताजा डील के बाद उनके पास कंपनी की 100% हिस्सेदारी होगी और ट्विटर उनकी प्राइवेट कंपनी बन जाएगी।

2.नौसैनिक कमांडरों का पहला सम्मेलन नई दिल्ली में शुरू हुआ

नौसैनिक कमांडरों का पहला सम्मेलन नई दिल्ली में शुरू हुआ। चार दिन के सम्‍मेलन में भारतीय नौसेना के सभी प्रचालन और क्षेत्रीय कमांडर भाग ले रहे हैं। इस दौरान प्रमुख संचालन, सामग्री, रसद, मानव संसाधन विकास, प्रशिक्षण और प्रशासनिक गतिविधियों की समीक्षा की जाएगी। सम्मेलन में नौसेना की लड़ाकू क्षमता बढ़ाने और संचालन को अधिक प्रभावी तथा कुशल बनाने के उपायों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा। कमांडरों द्वारा ‘मेक इन इंडिया‘ के माध्यम से स्वदेशीकरण को बढ़ाने के उपायों पर विचार-विमर्श किया जाएगा। सम्मेलन में हाल के अंतर्राष्ट्रीय घटनाक्रमों की पृष्ठभूमि में क्षेत्र की भू-रणनीतिक स्थिति की गतिशीलता पर भी बातचीत होगी। कमांडरों का सम्मेलन नई दिल्ली में रक्षा कार्यालय परिसर में नए अत्याधुनिक केंद्र में आयोजित किया जा रहा है।

3.सातवां रायसीना संवाद नई दिल्‍ली में शुरू

सातवां रायसीना संवाद नई दिल्‍ली में शुरू हो गया। यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेयन ने कहा है कि जीवंत लोकतंत्र होने के नाते, भारत और यूरोपीय संघ के मौलिक मूल्‍य और हिंत एकसमान है। नई दिल्ली में सातवें रायसीना डायलॉग के उद्घाटन सत्र में मुख्य भाषण देते हुए उन्‍होंने कहा कि भारत और यूरोपीय संघ, प्रत्येक देश के अपने भाग्य, कानून के शासन और मौलिक अधिकारों का निर्धारण करने के अधिकार में विश्वास करते हैं। रायसीना संवाद के उद्घाटन सत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे। इस आयोजन में विभिन्न देशों के कई पूर्व प्रधानमंत्री और अन्य गणमान्य व्यक्ति भी भाग ले रहे हैं। तीन दिन के संवाद का मुख्य विषय है टैरानोवा, इम्पेसंड, इम्पेसेंट और इनपैरिल्ड। विदेश मंत्रालय के सहयोग से ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन इस संवाद का आयोजक है। यह संवाद प्रत्येक वर्ष अंतर्राष्ट्रीय नीति से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर व्यापक विचार-विमर्श के लिए आयोजित किया जाता है।

4.प्रधानमंत्री केरल में शिवगिरि तीर्थयात्रा की 90वीं वर्षगांठ समारोह को संबोधित करेंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केरल में शिवगिरि तीर्थयात्रा की 90वीं वर्षगांठ और ब्रह्म विद्यालय के स्वर्ण जयंती समारोह को संबोधित करेंगे। एक ट्वीट में श्री मोदी ने कहा कि उन्हें विभिन्न क्षेत्रों में शिवगिरी मठ के स्मारकों के योगदान पर गर्व है। श्री मोदी ने कहा कि मठ ने श्री नारायण गुरु की शिक्षाओं को लोकप्रिय बनाया है और स्वास्थ्य देखभाल, शिक्षा और सेवा में बहुत अच्छा काम किया है। शिवगिरि तीर्थयात्रा और ब्रह्म विद्यालय दोनों महान समाज सुधारक श्री नारायण गुरु के संरक्षण और मार्गदर्शन के साथ शुरू हुए थे। शिवगिरी तीर्थ यात्रा हर साल तीन दिनों के लिए 30 दिसंबर से 1 जनवरी तक तिरुवनंतपुरम के शिवगिरी में आयोजित की जाती है। 1933 में कुछ भक्तों द्वारा यह तीर्थयात्रा शुरू की गई थी, लेकिन दक्षिण भारत में अब यह प्रमुख आयोजनों में से एक बन गई है। श्री नारायण गुरु ने सभी धर्मों के सिद्धांतों को समान रूप से सिखाने की कल्पना की थी। इस दृष्टि को साकार करने के लिए शिवगिरी के ब्रह्म विद्यालय की स्थापना की गई थी। ब्रह्म विद्यालय श्री नारायण गुरु के कार्यों और दुनिया के सभी महत्वपूर्ण धर्मों के ग्रंथों सहित भारतीय दर्शन पर 7 साल का पाठ्यक्रम उपलब्ध कराता है।

5.डॉक्‍टर मांडविया ने औषधि और चिकित्सा उपकरण क्षेत्र के सातवें अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन किया

केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍यमंत्री डॉक्‍टर मनसुख मांडविया ने नई दिल्ली में औषधि और चिकित्सा उपकरण क्षेत्र के सातवें अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन किया। उन्‍होंने कोविड महामारी के विरूद्ध देश के संघर्ष में सफलता के लिए औषधि उद्योग को बधाई दी। डॉक्‍टर मांडविया ने कहा कि महामारी के दौरान भारत का प्रबंधन एक वैश्विक अध्‍ययन का विषय है। उन्होंने कहा कि विश्व के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान के लिए वैश्विक समुदाय भारत के प्रयासों की सराहना कर रहा है। डॉक्‍टर मांडविया ने कहा कि देश में अब तक 187 करोड़ से अधिक कोविडरोधी टीके लगाए जा चुके हैं।

6.स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा- सरकार ने 2030 तक मलेरिया उन्‍मूलन का लक्ष्य रखा है

स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर मनसुख मांडविया ने कहा है कि सरकार देश से मलेरिया और तपेदिक के उन्मूलन के लिए व्यापक योजना पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार का लक्ष्य 2025 तक तपेदिक और 2030 तक मलेरिया मुक्त देश बनाने का है। विश्व मलेरिया दिवस के अवसर पर नई दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में डॉक्टर मांडविया ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय तपेदिक और मलेरिया उन्मूलन के लिए जल्द ही एक अभियान चलायेगा। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि वर्ष 2015 से मलेरिया से 86 प्रतिशत और तपेदिक से होने वाली मृत्यु में 79 प्रतिशत की कमी आई है।

7.नागर विमानन मंत्रालय ने योगाभ्‍यास कार्यक्रम योग प्रभा का आयोजन किया

नागर विमानन मंत्रालय ने नई दिल्‍ली के सफदरजंग हवाई अड्डे पर योगाभ्‍यास कार्यक्रम योग प्रभा का आयोजन किया। नागर विमानन मंत्री ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया और नागर विमानन राज्‍य मंत्री डॉक्‍टर वी0 के0 सिंह ने इस कार्यक्रम का उदघाटन किया। योगाभ्‍यास कार्यक्रम में नौ सौ से अधिक कर्मचारियों ने भाग लिया। मोरारजी देसाई योग संस्‍थान के योग गुरू ने विभिन्‍न योग क्रियाओं, आसन और प्राणायाम करना सिखाया। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की पहल पर संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा ने वर्ष 2014 में 21 जून को अन्‍तर्राष्‍ट्रीय योग दिवस मनाने का ऐतिहासिक निर्णय लिया था।

8.PRSI अवार्ड्स 2022 में NMDC ने चार श्रेणियों में पहला स्थान किया हासिल

नेशनल मिनरल डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड (NMDC) ने पब्लिक रिलेशंस सोसाइटी ऑफ इंडिया (PRSI) द्वारा प्रदान किए गए पब्लिक रिलेशंस अवार्ड्स 2022 में चार श्रेणियों में पहला स्थान हासिल किया। NMDC लिमिटेड एक सरकारी स्वामित्व वाली खनिज उत्पादक है। यह लौह अयस्क, तांबा, रॉक फॉस्फेट, चूना पत्थर, डोलोमाइट, जिप्सम, बेंटोनाइट, मैग्नेसाइट, हीरा, टिन, टंगस्टन, आदि की खोज में शामिल है।

9.रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने असम में किया 1971 के युद्ध के दिग्गजों को सम्मानित

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 23 अप्रैल 2022 को असम में 1971 के बांग्लादेश मुक्ति संग्राम के 300 से अधिक युद्ध-दिग्गजों को सम्मानित किया। इस अवसर पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ‘द ब्रेवहार्ट्स ऑफ 1971’ पुस्तक का विमोचन भी किया। युद्ध पश्चिमी पाकिस्तान (अब पाकिस्तान) और पूर्वी पाकिस्तान (अब बांग्लादेश) के बीच एक सशस्त्र संघर्ष था। इसके परिणामस्वरूप बांग्लादेश को पाकिस्तान से स्वतंत्रता मिली थी।

10.त्रिपुरा ने किया निवेशकों को आकर्षित करने के लिए नई औद्योगिक योजना का अनावरण

त्रिपुरा सरकार ने निवेश आकर्षित करने और राज्य में तेजी से आर्थिक विकास का मार्ग प्रशस्त करने के लिए त्रिपुरा औद्योगिक निवेश संवर्धन योजना (TIIPIS) में बड़े पैमाने पर बदलाव किए हैं। MSME निवेश पर राज्य सब्सिडी प्राप्त करने की ऊपरी सीमा को बढ़ाकर 1 करोड़ रुपये कर दिया गया है। पहले सब्सिडी की सीमा 60 लाख रुपये थी।

11.उन्‍नत भारत अभियान के दूसरे चरण को चार वर्ष हो गये

उन्‍नत भारत अभियान के दूसरे चरण को 25 अप्रैल को चार वर्ष हो गये हैं। ग्रामीण विकास प्रक्रियाओं में व्‍यापक बदलाव लाने के उद्देश्‍य से इस अभियान की शुरूआत की गयी थी। उन्‍नत भारत अभियान शिक्षा मंत्रालय का एक महत्‍वाकांक्षी कार्यक्रम है जिसका उद्देश्‍य उच्‍च शिक्षण संस्‍थाओं को कम से कम पांच गांवों के समूह से जोड़ना है ताकि ये शिक्षण संस्‍थाएं अपने ज्ञान और अनुभव से गांव के लोगों के आर्थिक और सामाजिक स्‍तर को बेहतर बनाने में योगदान कर सकें। इसका उद्देश्य ग्रामीण वास्तविकताओं को समझने में उच्च शिक्षण संस्थानों के शिक्षकों और छात्रों को शामिल करना भी है। इस योजना के तहत सात सौ अड़तालीस संस्थान भाग ले रहे हैं। दूसरे चरण में छह सौ पांच शिक्षण संस्थानों का चयन किया गया है, इनमें तीन सौ तेरह तकनीकी और 292 गैर-तकनीकी संस्थान हैं।

12.गुजरात के मुख्यमंत्री ने भारत की तकनीकी ताकत का दोहन करने के लिए सीएसआईआर और आईक्रिएट के बीच समझौता ज्ञापन को सुगम बनाया

गुजरात के मुख्यमंत्री श्री भूपेंद्र पटेल के की अध्यक्षता में गुजरात सरकार के प्रमुख प्रौद्योगिकी इनक्यूबेटर – आईक्रिएट (इंटरनेशनल सेंटर फॉर एंटरप्रेन्योरशिप एंड टेक्नोलॉजी) और भारत सरकार के प्रमुख अनुसंधान और विकास निकाय, वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। समझौता ज्ञापन यानी एमओयू के तहत सीएसआईआर और आईक्रिएट देश में उद्यमियों और नवोन्मेषकों के लिए संयुक्त संसाधन उपलब्ध करके भरोसेमंद तकनीकी स्टार्ट-अप के लिए एक सहयोगी समर्थन प्रणाली स्थापित करने का विचार है। इस साझेदारी से वैज्ञानिक नवाचार और उच्च तकनीक स्टार्ट-अप की विपणन क्षमता को भी प्रोत्साहन मिलेगा। इसके अलावा, आईक्रिएट चिन्हित सीएसआईआर प्रयोगशालाओं में नए इन्क्यूबेटरों को स्थापित करने में मदद करेगा। ऐसे स्टार्ट-अप सीएसआईआर के उपकरण, सुविधाओं और वैज्ञानिक मानवशक्ति का उपयोग करेंगे। सीएसआईआर उभरते उद्यमियों को बढ़ावा देने के लिए बौद्धिक संपदा सहायता प्रदान करेगा और भारत के अभिनव स्टार्ट-अप को वित्तीय रूप से समर्थन देने के तरीकों का पता लगाएगा।

13.एपीडा 26 से 30 अप्रैल तक प्रगति मैदान में आहार 2022 के 36 वें संस्करण का सह-आयोजन करेगा

खाद्य तथा आवभगत क्षेत्र में छुपी असीम संभावना का दोहन करने के लिए, कृषि तथा प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण ( एपीडा ) भारत व्यापार संवर्धन संगठन ( आईटीपीओे ) के सहयोग से 26 से 30 अप्रैल 2022 तक प्रगति मैदान में एशिया के सबसे बड़े बी2बी अंतरराष्ट्रीय खाद्य तथा आवभगत मेला आहार 2022 का आयोजन कर रहा है। माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के ‘ लोकल फॉर वोकल ‘ तथा आत्म निर्भर भारत ‘ की अपील को ध्यान में रखते हुए एपीडा ‘‘ भौगोलिक संकेतक उत्पाद ‘ की थीम के साथ आहार के 36 वें संस्करण का आयोजन कर रहा है क्योंकि एपीडा जीआई प्रमाणित कृषि उत्पादों के निर्यात को बढ़ावा देने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। उल्लेखनीय है कि जी आई रजिस्ट्री द्वारा जीआई के रूप में 150 से अधिक खाद्य तथा कृषि उत्पादों को पंजीकृत किया गया है जिसमें से मार्च, 2022 तक 123 जीआई उत्पाद एपीडा के वर्ग के तहत आते हैं।

14.नागरिक उड्डयन मंत्रालय और हिमाचल प्रदेश सरकार ने मंडी के नागचला में हवाई अड्डे के निर्माण के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

नागरिक उड्डयन मंत्रालय और हिमाचल प्रदेश सरकार ने हिमाचल प्रदेश के मंडी जिला स्थित नागचला में एक ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे के निर्माण के लिए समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए। मंडी के नागचला में नए हवाई अड्डे को नागरिक उड्डयन मंत्रालय की ग्रीनफील्ड हवाई अड्डा नीति के तहत विकसित किया जा रहा है। इसके लिए हिमाचल प्रदेश राज्य सरकार और भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के बीच एक संयुक्त उद्यम कंपनी का गठन किया गया है। इस हवाईअड्डे के लिए लगभग 515 एकड़ अनुमानित भूमि की जरूरत है। साथ ही, इस परियोजना पर भूमि की लागत को छोड़कर लगभग 900 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। हिमाचल प्रदेश में 3 हवाईअड्डे यानी शिमला, कुल्लू व कांगड़ा और 5 हेलीपोर्ट यानी कांगनीधार, शिमला, रामपुर, बद्दी और एसएएसई (मनाली) को विकसित किया जा चुका है या इनका निर्माण किया जा रहा है।

15.पोसोको ने शोध के लिए IIT दिल्ली के साथ किया समझौता

पावर सिस्टम ऑपरेशन कार्पोरेशन लिमिटेड (Posoco) के उत्तरी क्षेत्रीय लोड डिस्पैच सेंटर ने भारत के बिजली क्षेत्र से संबंधित मुद्दों पर अनुसंधान को प्रोत्साहित करने और अकादमिक और उद्योग के बीच बातचीत को मजबूत करने के लिए भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली (आईआईटी दिल्ली) के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। साझेदारी के लक्ष्य सहयोग के माध्यम से ज्ञान साझा करने और क्षमता निर्माण के लक्ष्य के साथ अकादमिक-उद्योग संपर्क में सुधार करना है, साथ ही साथ भारत के बिजली क्षेत्र से संबंधित विषयों पर अनुसंधान को बढ़ावा देना है, जैसे डेटा विज्ञान या डेटा विश्लेषण, ग्रिड संचालन के लिए सहायक सेवाएं, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग, डायनेमिक सिक्योरिटी असेसमेंट, फेजर मेजरमेंट और यूनिट एनालिटिक्स का इस्तेमाल करते हुए शॉर्ट टर्म डिमांड और आरई फोरकास्टिंग।

16.गंगा क्वेस्ट 2022 प्रतियोगिता

2019 में, Tree Craze Foundation के सहयोग से स्वच्छ गंगा के लिए राष्ट्रीय मिशन (NMCG) ने गंगा क्वेस्ट (Ganga Quest) शुरू किया जो एक ऑनलाइन प्रश्नोत्तरी है। इस वर्ष की गंगा क्वेस्ट 7 अप्रैल, 2022 को शुरू हुआ और अब तक एक लाख से अधिक लोगों, विशेषकर बच्चों ने भाग लिया है। 22 मई, जिसे अंतर्राष्ट्रीय जैव विविधता दिवस (International Day for Biological Diversity) के रूप में मनाया जाता है, इस प्रश्नोत्तरी का अंतिम दिन है। इस प्रतियोगिता के विजेताओं की घोषणा 5 जून, 2022 को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर एक लाइव क्विज के साथ की जाएगी। गंगा क्वेस्ट वेबसाइट http://www.clap4ganga.com पर खेला जा सकता है। गंगा क्वेस्ट 2022 का पंजीकरण 22 मार्च 2022 को विश्व जल दिवस के अवसर पर शुरू हुआ था। गंगा क्वेस्ट 2022 चार विषयों पर खेला जा रहा है और वे हैं:

  • आजादी का अमृत महोत्सव और अर्थ गंगा,
  • प्रसिद्ध स्थान और व्यक्तित्व और भौतिक भूगोल
  • शासन और करंट अफेयर्स
  • वनस्पति और जीव और प्रदूषण / जल उपचार प्रौद्योगिकी।

17.परसेवेरांस ने मंगल ग्रह पर सूर्य ग्रहण का चित्र लिया

नासा के परसेवेरांस (Perseverance) मार्स रोवर ने मंगल के दो चंद्रमाओं में से एक फोबोस पर ग्रहण का वीडियो कैप्चर किया है। परसेवेरांस (Perseverance) द्वारा कैप्चर किया गया यह वीडियो उच्चतम-फ्रेम-रेट अवलोकन है और सूर्य ग्रहण का सबसे ज्यादा ज़ूम-इन विडियो है जिसे मंगल ग्रह की सतह से कैप्चर किया गया है। इस मंगल ग्रहण ने वैज्ञानिकों को चंद्रमा की कक्षाओं में सूक्ष्म बदलाव के बारे में एक नया दृष्टिकोण प्रदान किया है। चंद्रमा फोबोस बहुत धीरे-धीरे मंगल की ओर बढ़ रहा है और वे अब से लाखों साल बाद आपस टकराएंगे। इस रोवर का एक मुख्य उद्देश्य मंगल ग्रह पर प्राचीन माइक्रोबियल जीवन के संकेतों की तलाश करना है। यह रोवर मंगल की चट्टान, रेजोलिथ और धूल का विश्लेषण और अध्ययन कर रहा है।

18.कैपजेमिनी इंडिया के सीईओ अश्विन यार्डी सह-अध्यक्ष के रूप में यूनिसेफ युवाह बोर्ड में हुए शामिल

भारत में युवाह (जेनरेशन अनलिमिटेड इंडिया) ने घोषणा की कि भारत में कैपजेमिनी के सीईओ अश्विन यार्डी, संगठन के सह-अध्यक्ष के रूप में, यूनिसेफ के प्रतिनिधि, यासुमासा किमुरा के साथ तुरंत शुरुआत करते हुए संगठन में शामिल हो गए हैं। YuWaah बोर्ड अब निर्णय लेने वाली संस्था के रूप में काम करेगा, जिसमें अधिकांश संस्थापक भागीदार और बोर्ड के सदस्य पैसे और कार्यात्मक विशेषज्ञता के साथ YuWaah सचिवालय की मदद करने के लिए समय और संसाधन प्रदान करेंगे।

19.के. एल. राहुल ने ट्वेंटी-ट्वेंटी क्रिकेट में सबसे अधिक शतक लगाने के रोहित शर्मा के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली

के. एल. राहुल ने ट्वेंटी-ट्वेंटी क्रिकेट में किसी भारतीय खिलाडी के सबसे अधिक शतक लगाने के रोहित शर्मा के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है। आई.पी.एल. में मुंबई इंडियंस और लखनऊ सुपर जायंट्स के बीच हुए मैच में राहुल ने यह उपलब्धि हासिल की। राहुल और रोहित के अब छह-छह शतक हैं। इनके बाद विराट कोहली ने पांच शतक लगाए हैं, जबकि सुरेश रैना के नाम चार शतक दर्ज हैं।

20.रूस के आंद्रे रूबलेफ ने सर्बिया ओपन टेनिस प्रतियोगिता का सिंगल्‍स खिताब जीत लिया

रूस के आंद्रे रूबलेफ ने सर्बिया ओपन टेनिस प्रतियोगिता का सिंगल्‍स खिताब जीत लिया है। उन्‍होंने बेलग्रेद में सर्बिया के नोवाक जोकोविच को 6-2, 6-7, 6-0 से हराया। रूबलेफ के लिए यह इस सीजन का तीसरा खिताब है। इससे पहले उन्‍होंने मार्सेली और दुबई टेनिस टूर्नामेंट जीता था। रूबलेफ ने 2022 में सर्वाधिक खिताब जीतने की राफेल नाडाल के रिकॉर्ड के बराबरी कर ली है।

21.24वें ग्रीष्मकालीन बधिर ओलम्‍पिक्‍स 1 से 15 मई तक ब्राजील में होंगे

24वीं ग्रीष्मकालीन बधिर ऑलम्‍पिक्‍स 1 से 15 मई तक ब्राजील के कैक्सियस डू सुल में आयोजित किए जाएंगे। इन में 39 पुरूष और 26 महिलाएं भारत का प्रतिनिधित्‍व करेंगे। इन खेलों में भारत से पहली बार इतनी बडी संख्‍या में खिलाडी भाग ले रहे हैं। भारतीय पैरालम्‍पिक कमेटी की अध्‍यक्ष दीपा मलिक ने इन खेलों में भाग लेने वाले खिलाडियों को शुभकामनाएं दीं।

22.विश्व मलेरिया दिवस

प्रत्येक वर्ष 25 अप्रैल को वैश्विक स्तर पर मलेरिया जैसी घातक बीमारी के संबंध में जागरूकता फैलाने के लिये विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा ‘विश्व मलेरिया दिवस’ का आयोजन किया जाता है। विश्व मलेरिया दिवस पर विभिन्न गतिविधियों और कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है, जिसका उद्देश्य मलेरिया को लेकर जागरूकता फैलाने के लिये सरकारी तथा गैर-सरकारी संगठनों, समुदायों व आम जनमानस के बीच सहयोग स्थापित करना है। विश्व मलेरिया दिवस 2022 की थीम “मलेरिया रोग के बोझ को कम करने और जीवन बचाने के लिये नवाचार का उपयोग करें” है। विश्व मलेरिया दिवस का विचार अफ्रीका मलेरिया दिवस से विकसित किया गया था। अफ्रीका मलेरिया दिवस मूल रूप से एक ऐसी घटना है जिसे वर्ष 2001 से अफ्रीकी सरकारों द्वारा मनाया जा रहा है, यह पहली बार वर्ष 2008 में आयोजित किया गया था। वर्ष 2007 में, विश्व स्वास्थ्य सभा के 60वें सत्र के दौरान अफ्रीका मलेरिया दिवस को विश्व मलेरिया दिवस के रूप में परिवर्तित करने का प्रस्ताव पारित किया गया था। यह ‘प्लास्मोडियम परजीवियों’ के कारण होने वाला एक मच्छर जनित रोग है। यह परजीवी संक्रमित मादा ‘एनोफिलीज़ मच्छर’ के काटने से फैलता है। ‘विश्व मलेरिया रिपोर्ट’ 2020 के मुताबिक, विश्व स्तर पर मलेरिया के लगभग 229 मिलियन मामले प्रतिवर्ष सामने आते हैं। हालाँकि रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत ने मलेरिया उन्मूलन की दिशा में महत्त्वपूर्ण प्रगति की है। रिपोर्ट की मानें तो भारत एकमात्र उच्च स्थानिक देश है, जिसने वर्ष 2018 की तुलना में वर्ष 2019 में 17.6 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, भारत वैश्विक मलेरिया के 3% का प्रतिनिधित्त्व करता है।

23.25 अप्रैल : ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में एन्जैक दिवस

हर साल ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में 25 अप्रैल को एन्जैक दिवस (Anzac Day) मनाया जाता है। वह दिन स्मरण के राष्ट्रीय दिवस के रूप में मनाया जाता है जो उन सभी न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलियाई लोगों को याद करता है जो युद्ध, संघर्ष और शांति अभियानों में मारे गए। ANZAC का अर्थ Australian and New Zealand Army Corps है। इस दिन के द्वारा मूल रूप से न्यूज़ीलैंड और ऑस्ट्रेलियाई सेनाओं के सदस्यों को सम्मानित करने की योजना बनाई गई थी जिन्होंने गैलीपोली अभियान (Gallipoli Campaign) में काम किया था। गैलीपोली अभियान प्रथम विश्व युद्ध का पहला सैन्य अभियान था। यह 1915 और 1916 के बीच गैलीपोली प्रायद्वीप में हुआ। इसे अक्सर ऑस्ट्रेलियाई और न्यूजीलैंड की राष्ट्रीय चेतना की शुरुआत माना जाता है।

24.अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधि दिवस: 25 अप्रैल

हर साल 25 अप्रैल को दुनिया अंतरराष्ट्रीय प्रतिनिधि दिवस मनाती है। यह दिन संयुक्त राष्ट्र में सदस्य राज्यों के प्रतिनिधियों और प्रतिनिधियों के कार्यों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है। प्रतिनिधि अपने देशों का प्रतिनिधित्व करने के लिए संयुक्त राष्ट्र की बैठकों में भाग लेते हैं। प्रतिनिधि संयुक्त राष्ट्र महासभा और अन्य बाहर, जैसे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अपने देश की ओर से बोलते हैं और वोट देते हैं, जब तक कि कोई उच्च-रैंकिंग राजनेता मौजूद न हो। प्रतिनिधियों को उनकी संबंधित सरकारों द्वारा चुना जाता है। नतीजतन, वे उस सरकार के सर्वोत्तम हित में कार्य करते हैं जिसके लिए वे काम करते हैं। अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधि दिवस, सैन फ्रांसिस्को में हुए सम्मेलन के पहले दिन की वर्षगांठ को चिह्नित कने के लिए मनाया जाता है जिसे अंतर्राष्ट्रीय संगठन पर संयुक्त राष्ट्र के सम्मेलन के रूप में भी जाना जाता है। सैन फ्रांसिस्को में 25 अप्रैल 1945 को पहली बार 50 देशों के प्रतिनिधि इकठ्ठा हुए थे। यह सम्मेलन द्वितीय विश्व युद्ध की तबाही के बाद आयोजित किया गया था। जिसका उद्देश्य प्रतिनिधियों द्वारा एक संगठन स्थापित करना था, जो विश्व में शांति बहाल करे और युद्ध के बाद के विश्व व्यवस्था पर नियम निर्धारित करे।

25.24 अप्रैल: शांति के लिए बहुपक्षीयता एवं कूटनीति हेतु अंतरराष्ट्रीय दिवस 2022

शांति के लिए बहुपक्षवाद और कूटनीति का अंतर्राष्ट्रीय दिवस 12 दिसंबर, 2018 को संकल्प ए/आरईएस/73/127 के माध्यम से स्थापित किया गया था। संयुक्त राष्ट्र के शांति और सुरक्षा, विकास और मानवाधिकारों के तीन स्तंभों को बढ़ावा देने और बनाए रखने के लिए, बहुपक्षवाद और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के मूल्यों को संरक्षित करना महत्वपूर्ण है जो संयुक्त राष्ट्र चार्टर और सतत विकास के लिए 2030 एजेंडा को दर्शाता है। संरक्षणवाद और अलगाववाद की बढ़ती चुनौतियों का समाधान करने के लिए, अंतर्राष्ट्रीय मानदंड और नियम-आधारित प्रणाली जिन्होंने सात दशकों तक राज्यों का मार्गदर्शन किया है, उन्हें इस अवसर पर आगे आना चाहिए। जलवायु परिवर्तन, भू-राजनीतिक संघर्ष, मानवीय और प्रवास संकट वैश्विक चिंताएं हैं जो राज्यों के विश्वासों और हितों से परे हैं, सामूहिक ध्यान और कार्रवाई की आवश्यकता है। राजनीतिक और सामाजिक-आर्थिक परिदृश्य के साथ-साथ अंतर-राज्यीय संपर्क, सभी तकनीकी विकास से प्रभावित हुए हैं।

26.जापान की केन तनाका का 119 की उम्र में निधन, फ्रांस की लुसिले अब सबसे बुजुर्ग

दुनिया की सबसे बुजुर्ग व्यक्ति जापान की केन तनाका का 119 साल की उम्र में निधन हो गया। उनका निधन 19 अप्रैल को हुआ। उनके निधन के बाद अब फ्रांस की लुसिले रेनडोन (सिस्टर एंड्रे) दुनिया की सबसे बुजुर्ग व्यक्ति बन गई हैं। उनकी उम्र 118 साल 73 दिन है। केन का जन्म 2 जनवरी 1903 को जापान के दक्षिण पश्चिम फुकुओका क्षेत्र में हुआ था। उन्हें गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने मार्च 2019 में 116 वर्ष की उम्र में दुनिया का सबसे बुजुर्ग व्यक्ति माना था। सितंबर 2020 में जापान ने उन्हें 117 वर्ष 261 दिन की उम्र में जापान का अब तक सबसे बुजुर्ग व्यक्ति माना। अब फ्रांस की लुसिले रेनडोन (सिस्टर एंड्रे) दुनिया की सबसे बुजुर्ग व्यक्ति बन गई हैं। उनका जन्म 11 फरवरी 1904 को दक्षिण फ्रांस में हुआ है। वे टोउलोन के एक नर्सिंग होम में रहती हैं।

27.कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता के.शंकर नारायणन का पलक्‍कड में देहांत

कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता के.शंकर नारायणन का पलक्‍कड(केरल) में देहांत हो गया। वे नवासी वर्ष के थे। वयोवृद्ध कांग्रेस नेता ने महाराष्‍ट्र, झारखंड और नगालैंड सहित छह राज्‍यों के राज्‍यपाल के रूप में काम किया। वे ए के एंटनी और के करूणाकरण सरकार के समय कई बार मंत्री भी बनें। राज्‍यपाल आरिफ मोहम्‍मद खान और मुख्‍यमंत्री पिनराई विजयन तथा विधानसभा में विपक्ष के नेता वी डी सतीशन ने शंकरनारायणन के निधन पर शोक व्‍यक्‍त किया है।

28.प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने विख्‍यात लेखिका बीनापाणि मोहंती के निधन पर गहरा दुख व्‍यक्‍त किया

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने विख्‍यात लेखिका बीनापाणि मोहंती के निधन पर दुख व्‍यक्‍त किया है। श्री मोदी ने एक ट्वीट में कहा कि बीनापाणि मोहं‍ती का ओडिया साहित्‍य में अमूल्‍य योगदान रहा। उनकी लोकप्रिय कृतियों का अनुवाद विभिन्‍न भाषाओं में किया गया। श्री मोदी ने उनके परिजनों और प्रशंसकों के प्रति संवेदना व्‍यक्‍त की।