SBI जनरल इंश्योरेंस ने शुरू किया ‘#बहाने छोड़ो टैक्स बचाओ’ अभियान

0
39

1.प्रधानमंत्री ने गुरु गोबिंद सिंह के दो सपूतों के साहस के सम्‍मान में प्रत्‍येक वर्ष 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस के रूप में मनाए जाने की घोषणा की

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस के रूप में मनाए जाने की घोषणा की है। उन्‍होंने कहा कि यह गुरू गोबिंद सिंह के सपूतों की वीरता और न्‍याय के लिए उनकी प्रतीक्षा को उचित श्रद्धांजलि होगी। श्री मोदी ने गुरू गोबिंद सिंह जी के प्रकाश पर्व पर यह घोषणा करते हुए कहा कि वीर बाल दिवस उसी दिन मनाया जाएगा, जिस दिन साहिबजादा जोरावर सिंह और साहिबजादा फतेह सिंह दीवार में जिंदा चुनवाए जाने के बाद शहीद हो गए थे। उन्‍होंने कहा कि इन दोनों ने धर्म के महान सिद्धांतों को छोडने की बजाय, मौत को गले लगाया। प्रधानमंत्री ने कहा कि गुरू गोबिंद सिंह जी की मां माता गुजरी और उनके साहिबजादों की बहादुरी और आदर्श लाखों लोगों को शक्ति प्रदान करते हैं।

2.चुनाव आयोग ने चुनाव में उम्मीदवारों के लिए खर्च की सीमा बढ़ाई

भारत के चुनाव आयोग ने मुद्रास्फीति में वृद्धि के कारण संसदीय और विधानसभा क्षेत्रों में उम्मीदवारों के लिए मौजूदा चुनाव व्यय सीमा में वृद्धि की है। नई सीमाएं देश में सभी आगामी चुनावों में लागू होंगी। चुनावी खर्च की सीमा में पिछला बड़ा संशोधन 2014 में किया गया था। 2020 में इसे और 10% बढ़ा दिया गया। चुनाव आयोग ने लागत कारकों और अन्य संबंधित मुद्दों का अध्ययन करने और उपयुक्त सिफारिशें करने के लिए एक समिति का गठन किया था। बड़े राज्यों में संसदीय चुनाव खर्च की सीमा 70 लाख से बढ़ाकर 95 लाख और छोटे राज्यों में 54 लाख से 75 लाख कर दी गई है। बड़े राज्यों में महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और कर्नाटक शामिल हैं। छोटे राज्यों में गोवा, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश और केंद्र शासित प्रदेश शामिल हैं। केंद्र शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर में चुनाव खर्च की सीमा को बढ़ाकर 95 लाख कर दिया गया है। विधानसभा क्षेत्रों के लिए खर्च की सीमा बड़े राज्यों में 28 लाख रुपये से बढ़ाकर 40 लाख रुपये और छोटे राज्यों में 20 लाख रुपये से बढ़ाकर 28 लाख कर दी गई है।

3.DPIIT और वाणिज्य मंत्रालय स्टार्टअप इंडिया इनोवेशन वीक आयोजित करेंगे

उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (DPIIT) और वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने पूरे भारत में उद्यमिता के प्रसार और गहराई को प्रदर्शित करने के लिए ‘स्टार्टअप इंडिया इनोवेशन वीक (Startup India Innovation Week)‘ नामक एक सप्ताह के आभासी नवाचार उत्सव का आयोजन करने का निर्णय लिया है। वर्चुअल इवेंट का आयोजन 10 जनवरी से 16 जनवरी 2022 तक किया जाएगा। इस आयोजन का उद्देश्य भारत की स्वतंत्रता के 75 वें वर्ष ‘आजादी का अमृत महोत्सव‘ को मनाने का भी है।

4.OPEC ने कुवैत के हैथम अल घिस को नया महासचिव नियुक्त किया

पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन (Organization of the Petroleum Exporting Countries – OPEC) ने कुवैती तेल कार्यकारी हैथम अल घिस (Haitham Al Ghais) को अपना नया महासचिव नियुक्त किया है, क्योंकि कोरोनोवायरस महामारी से हल्की रिकवरी के बीच तेल की मांग में सुधार जारी है। कुवैत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन के एक अनुभवी और 2017 से जून 2021 तक कुवैत के ओपेक गवर्नर अल घिस, मोहम्मद बरकिंडो (Mohammad Barkindo) की जगह अगस्त में समूह की बागडोर संभालेंगे। यह कदम तब आया है जब तेल निर्यातक समूह और उसके सहयोगी तेल उत्पादन के लिए भविष्य के पाठ्यक्रम पर निर्णय लेने की तैयारी कर रहे हैं। ओपेक+ के फरवरी में अपनी योजना पर कायम रहने और उत्पादन में प्रति दिन 400,000 बैरल की वृद्धि करने की उम्मीद है।

5.वाराणसी कृषि-निर्यात हब

7 जनवरी, 2022 को, वाणिज्य मंत्रालय की शाखा APEDA (Agricultural and Processed Food Products Export Development Authority) ने उत्तर प्रदेश में संभावित जिलों की पहचान की, ताकि उस क्षेत्र से निर्यात को बढ़ावा देने के लिए इसे वाराणसी कृषि-निर्यात हब (VAEH) के तहत कवर किया जा सके। कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (APEDA) ने VAEH विकसित करके उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल क्षेत्र से निर्यात को बढ़ावा देने के लिए पहल शुरू की है। राज्य के पूर्वांचल क्षेत्र में वाराणसी, मिर्जापुर, प्रयागराज, आजमगढ़, गोरखपुर, गाजीपुर, बस्ती, चंदौली, जौनपुर और संत रविदास नगर जिले शामिल हैं। पिछले 6 महीनों में पूर्वांचल क्षेत्र से 20,000 टन कृषि उपज का निर्यात किया गया है। लगभग 5,000 टन ताजे फल और सब्जियां जबकि 15,000 टन अनाज वियतनाम, नेपाल, खाड़ी देशों और बांग्लादेश को निर्यात किया गया है।

6.जम्मू-कश्मीर में रणनीतिक क्षेत्र को मंज़ूरी दी गई

जम्मू और कश्मीर प्रशासन ने गुलमर्ग में एक हजार कनाल से अधिक और सोनमर्ग क्षेत्रों में 354 कनाल भूमि को “रणनीतिक क्षेत्र” घोषित करने की मंजूरी दे दी। इस भूमि का उपयोग सशस्त्र बलों की “परिचालन और प्रशिक्षण आवश्यकताओं” के लिए किया जाएगा। जुलाई 2020 में, प्रशासन ने 1971 के एक सर्कुलर को हटा दिया था जिसमें सेना, CRPF, BSF और इसी तरह के अन्य संगठनों के पक्ष में भूमि के अधिग्रहण के लिए जम्मू-कश्मीर के गृह विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र (NOC) की आवश्यकता थी। इस तरह के अधिग्रहण को जुलाई 2020 से Right to Fair Compensation and Transparency in Land Acquisition, Rehabilitation and Resettlement Act, 2013 के तहत कवर किया जा रहा है। प्रशासन ने भवन संचालन अधिनियम, 1988 और जम्मू-कश्मीर विकास अधिनियम, 1970 के नियंत्रण में एक संशोधन को भी मंजूरी दी। यह संशोधन सशस्त्र बलों द्वारा “रणनीतिक क्षेत्रों” में निर्माण गतिविधियों को करने के लिए विशेष छूट प्रदान करता है। सशस्त्र बलों को गुलमर्ग और सोनमर्ग में भूमि देने का आदेश एक शर्त प्रदान करता है कि “कोर कमांडर किसी भी पर्यावरणीय खतरे को रोकने के लिए पर्यावरण से संबंधित कानूनों के प्रति सख्त प्रतिबद्धता सुनिश्चित करेंगे”। इसके अलावा, सशस्त्र बलों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि “जम्मू-कश्मीर में लागू किसी अन्य कानून उल्लंघन में न हो”।

7.आयुष मंत्रालय 14 जनवरी मकर सक्रांति के दिन वैश्विक स्तर पर सूर्य नमस्कार प्रदर्शन कार्यक्रम आयोजित करेगा

आयुष मंत्रालय 14 जनवरी मकर सक्रांति के दिन वैश्विक स्तर पर सूर्य नमस्कार प्रदर्शन कार्यक्रम आयोजित करेगा। इस दिन, सूर्य नमस्कार के माध्‍यम से सभी प्राणियों की तरफ से सूर्य के प्रति कृतज्ञता अर्पित की जाती है। सामूहिक सूर्य नमस्कार प्रदर्शन का उद्देश्य जलवायु परिवर्तन और ग्लोबल वार्मिंग को लेकर लोगों को जागरूक करना भी है। यह आयोजन हमारी सांस्कृतिक और आध्यात्मिक विरासत में मकर संक्रांति के महत्व को भी रेखांकित करेगा। सूर्य नमस्कार, शरीर और मन के समन्वय के साथ 12 चरणों में किए गए जाने वाले आठ आसनों का एक समूह है।

8.ई-डीएनए के माध्यम से जानवरों को ट्रैक करना

कुछ अध्ययनों के अनुसार हवा में तैरता डीएनए (यानी ई-डीएनए) दुनिया भर में जैव विविधता संरक्षण के प्रयासों को बढ़ावा दे सकता है। दो टीमों के शोधकर्ताओं ने यह बताया है कि पर्यावरण डीएनए (e-DNA) संभावित रूप से स्थलीय जानवरों की पहचान और निगरानी कर सकता है। जानवर अपनी सांस, लार, फर या मल के माध्यम से पर्यावरण में डीएनए को छोड़ते हैं और इन नमूनों को ई-डीएनए कहा जाता है। एयरबोर्न ई-डीएनए नमूनाकरण एक बायोमाॅनिटरिंग विधि है जो जीवविज्ञानियों और संरक्षणवादियों के बीच लोकप्रियता से बढ़ रही है क्योंकि यह प्रचुर मात्रा में जानकारी प्रदान करती है। यह पशु समुदायों की संरचना को समझने और गैर-देशी प्रजातियों के प्रसार का पता लगाने में मदद कर सकती है। कुछ परिवर्तनों के बाद लुप्तप्राय प्रजातियों की निगरानी हेतु यह विधि मौजूदा तकनीकों के साथ बेहतर काम करेगी। आमतौर पर जीवविज्ञानी जानवरों को व्यक्तिगत रूप से या जानवरों के पैरों के निशान या मल से डीएनए प्राप्त कर उसका विश्लेषण करते हैं, जिसके कारण व्यापक स्तर पर फील्डवर्क की आवश्यकता होती है। डीएनए प्राप्त करने हेतु जानवरों को खोजना चुनौतीपूर्ण हो सकता है, खासकर अगर वे दुर्गम आवासों में रहते हैं। यह लंबी दूरी के प्रवासी पक्षियों और अन्य पक्षियों के उड़ने के पैटर्न को ट्रैक करने में सहायता कर सकता है। यह कीड़ों सहित छोटे जानवरों के डीएनए को भी कैप्चर कर सकता है। पिछले साल (2021), एक प्रूफ-ऑफ-कॉन्सेप्ट अध्ययन ने स्थलीय कीड़ों की निगरानी के लिये एयरबोर्न ई-डीएनए का इस्तेमाल किया था। जैसे-जैसे वन्यजीव पारिस्थितिकी तंत्र जलवायु परिवर्तन के खतरनाक प्रभावों के कारण तीव्रता से बेहद अराजक हो जाते हैं, स्थलीय जैव-निगरानी तकनीकों से सटीक और समय पर निगरानी हेतु अनुकूलन और तीव्र प्रगति की उम्मीद की जाती है। अक्तूबर 2021 में यूनेस्को द्वारा समुद्री विश्व धरोहर स्थलों पर जलवायु परिवर्तन के लिये प्रजातियों की भेद्यता का अध्ययन करने हेतु ग्लोबल ईडीएनए प्रोजेक्ट परियोजना की शुरूआत की गई।

9.माया सभ्यता की लगभग 500 सूखा प्रतिरोधी खाद्य पौधों तक पहुँच

एक नए अध्ययन के अनुसार, माया सभ्यता की लगभग 500 सूखा प्रतिरोधी खाद्य पौधों तक पहुँच हो सकती है। माया सभ्यता के अचानक पतन के पीछे का रहस्य अभी भी हमें नहीं पता है। वैज्ञानिकों को लंबे समय से संदेह है कि सूखे ने लोगों को भुखमरी की ओर धकेल दिया। मक्का, बीन्स और स्क्वैश जैसी सूखा-संवेदनशील फसलों पर निर्भरता के कारण माया सभ्यता लोगों को भुखमरी का सामना करना पड़ा। माया मेक्सिको और मध्य अमेरिका के एक स्वदेसी लोग हैं जो मेक्सिको में आधुनिक युकटान, क्विंटाना, कैम्पेचे, टबैस्को, चियापास, ग्वाटेमाला, बेलीज़, अल सल्वाडोर और होंडुरास के माध्यम से दक्षिण के निवासी हैं। माया सभ्यता की उत्पत्ति युकाटन प्रायद्वीप में हुई थी। इसे अपनी विशाल वास्तुकला, गणित और खगोल विज्ञान की उन्नत समझ के लिये जाना जाता है। माया का उदय लगभग 250 ई० से शुरू हुआ और पुरातत्त्वविदों को माया संस्कृति के क्लासिक पीरियड के रूप में जाना जाता है जो लगभग 900 ई० तक चला। अपनी चरम स्थिति में माया सभ्यता में 40 से अधिक शहर शामिल थे, जिनमें से प्रत्येक की आबादी लगभग 5,000 से 50,000 के बीच थी। लेकिन फिर अचानक 800 से 950 ई० के बीच कई दक्षिणी शहरों को छोड़ दिया गया। इस अवधि को क्लासिक माया सभ्यताओं का पतन कहा जाता है जो आधुनिक वैज्ञानिकों को भ्रमित करती है।

10.धीरेंद्र झा द्वारा “गांधी के हत्यारे: द मेकिंग ऑफ नाथूराम गोडसे एंड हिज आइडिया ऑफ इंडिया” नामक एक नई पुस्तक

दिल्ली के पत्रकार धीरेंद्र के झा ने “गांधी के हत्यारे: द मेकिंग ऑफ नाथूराम गोडसे एंड हिज आइडिया ऑफ इंडिया” नामक एक नई किताब लिखी है। पुस्तक उन संगठनों के साथ गोडसे के संबंधों की पड़ताल करती है जिन्होंने उनके विचार को प्रभावित किया और उन्हें उद्देश्य की भावना दी और गोडसे के संकल्प को धीरे-धीरे सख्त किया जिससे महात्मा गांधी की हत्या हुई।

11.SBI जनरल इंश्योरेंस ने शुरू किया ‘#बहाने छोड़ो टैक्स बचाओ’ अभियान

भारतीय स्टेट बैंक जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड ने टैक्स बचाने के लिए स्वास्थ्य बीमा खरीदने की आवश्यकता के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए ‘#बहाने छोड़ो टैक्स बचाओ‘ नामक एक अभियान शुरू किया है। यह स्वास्थ्य बीमा को चुनने के अन्य लाभों पर भी प्रकाश डालेगा। इस अभियान का उद्देश्य इस बारे में जागरूकता बढ़ाना है कि कैसे स्वास्थ्य बीमा खरीदने से लोगों को टैक्स बचाने में मदद मिल सकती है जो सभी भारतीयों के लिए वित्तीय वर्ष की अंतिम तिमाही में महत्वपूर्ण और मौसमी है। अभियान स्वास्थ्य बीमा को चुनने के अन्य लाभों को भी रेखांकित करेगा। अभियान एक विचित्र वोक्स पॉप प्रारूप में है जिसमें एंकर रुद्राक्ष सिंह उर्फ रूडी (Rudy) को मुंबई, बैंगलोर, दिल्ली और कोलकाता जैसे प्रमुख शहरों में यात्रा करते हुए देखा जाता है।

12.केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने ई-गवर्नेंस 2020-21 पर 24वें सम्मेलन का उद्घाटन किया

24वें राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस सम्मेलन (National E – Governance Conference) का आयोजन प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग (DARPG)तेलंगाना राज्य सरकार और इलेक्ट्रॉनिक्स व सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा 7-8 जनवरी, 2022 को किया गया। यह सम्मेलन हैदराबाद इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर, माधापुर में आयोजित किया गया। इस सम्मेलन का आयोजन “India’s Techade: Digital Governance in a Post Pandemic World” थीम के तहत किया गया।

13.Ind-Ra ने वित्त वर्ष 2022 में भारत के सकल घरेलू उत्पाद के विकास के अनुमान को 10 आधार अंकों से घटाकर 9.3% किया

रेटिंग एजेंसी इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च (Ind-Ra) ने चालू वित्त वर्ष 2021-2022 के लिए भारत की जीडीपी को डाउनग्रेड कर दिया है। Ind-Ra को उम्मीद है कि वित्त वर्ष 2022 में सकल घरेलू उत्पाद की विकास दर 9.3% y-o-y होगी। पहले यह अनुमान 9.4% था। इस बीच, ब्रिकवर्क्स रेटिंग्स ने भी चालू वित्त वर्ष (FY22) के लिए भारत के सकल घरेलू उत्पाद के विकास के अनुमान को संशोधित कर 8.5-9% कर दिया है। पहले यह 10% अनुमानित था। ओमाइक्रोन वैरिएंट का तेजी से प्रसार जीडीपी विकास अनुमानों को डाउनग्रेड करने का मुख्य चालक है।

14.रोहन बोपन्ना और रामकुमार रामनाथन की जोड़ी ने ऑस्ट्रेलिया में एडिलेड अंतर्राष्ट्रीय टेनिस टूर्नामेंट में पुरूष डबल्‍स का खिताब जीता

रोहन बोपन्ना और रामकुमार रामनाथन की गैर वरीयता प्राप्‍त जोड़ी ने ऑस्ट्रेलिया में एडिलेड अंतर्राष्ट्रीय टेनिस टूर्नामेंट में पुरूष डबल्‍स का खिताब जीत लिया है। भारतीय जोड़ी ने शीर्ष वरीयता प्राप्त इवान डोडिग और मार्सेलो मेला को सीधे सेटों में 7-6, 6-1 से हराया। यह बोपन्ना का 20वां एटीपी युगल खिताब और रामकुमार का पहला खिताब है।

15.एशले बार्टी ने एडिलेड इंटरनेशनल टेनिस का महिला सिंगल्स खिताब जीता

विश्व की नंबर एक टेनिस खिलाडी एशले बार्टी ने एडिलेड इंटरनेशनल का महिला सिंगल्स खिताब जीत लिया है। केनबारा में उन्होंने फाइनल में कजाकिस्तान की एलिना रिबाकिना को 6-3, 6-2 से हराया। यह बार्टी के करियर का 14वां सिंगल्स खिताब है।

16.टेनिस में, सिमोना हालेप ने मेलबर्न समर सेट टेनिस का सिंगल्‍स खिताब जीता

टेनिस में, पूर्व विश्व नंबर एक सिमोना हालेप ने मेलबर्न समर सेट 1 महिला सिंगल्स का खिताब जीत लिया है। मेलबर्न में फाइनल में उन्होंने तीसरी वरीयता प्राप्त रूस की वेरोनिका कुदेर्मेतोवा को 6-2, 6-3 से हराकर खिताबी जीत हासिल की। हालेप के लिए यह करियर का 23वां डब्ल्यू.टी.ए. सिंगल्स खिताब है।

17.पाकिस्तान में प्रसिद्ध पर्यटन स्थल मर्री में भारी हिमपात के बाद फंसे 22 पर्यटकों की मौत

पाकिस्तान में पंजाब सूबे के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल मर्री में भारी हिमपात के बाद फंसे 22 पर्यटकों की, अपनी गाड़ियों में, भीषण ठंड से मौत हो गई। रातभर हुई भारी बर्फबारी के बाद मर्री में सभी रास्तों पर यातायात अवरुद्ध हो गया था और वाहन फंस गये थे। सरकार ने मर्री को आपदाग्रस्त क्षेत्र घोषित कर दिया है।

18.प्रवासी भारतीय दिवस

हर साल 9 जनवरी को प्रवासी भारतीय द‍िवस मनाया जाता है। सबसे पहले 2003 में प्रवासी भारतीय द‍िवस मनाया गया था। प्रवासी दिवस पर उन भारतीयों को सम्मानित किया जाता है जाता है जिन्होंने अपने- अपने क्षेत्रन में विदेश में विशेष उपलब्धि हासिल कर भारत का मान- सम्मान बढ़ाया है। इस साल भारत अपना 17वां प्रवासी भारतीय दिवस मना रहा है। महात्मा गांधी 9 जनवरी 1915 को दक्षिण अफ्रीका से भारत वापस आए थे। महात्मा गांधी को प्रवासी माना जाता है और उनका योगदान कौन भूल सकता है। स्वर्गीय लक्ष्मीमल सिंघवी प्रवासी भारतीय दिवस मनाने की संकल्पना की थी।

19.श्री गुरुगोविंद सिंह जी की 355वीं जयंती

दसवें सिख गुरू श्रीगुरुगोविंद सिंह जी की 355वीं जयंती 9 जनवरी को मनाई गई। वर्ष 1666 में पौष मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को उनका जन्म पटना साहेब में हुआ था। इस पावन अवसर को प्रकाश पर्व के रूप में मनाया जाता है। हरमंदिर साहेब, पटना सहित देश के सभी गुरुद्वारों में अरदास, शबद और कीर्तन के विशेष आयोजन किए गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रकाश पर्व पर शुभकामनाएं दी हैं। श्री मोदी ने कहा कि श्री गुरूगोविंद सिंह के जीवन और संदेश ने लाखों लोगों में शक्ति का संचार किया।

20.सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का ऑस्कर जीतने वाले पहले अश्वेत व्यक्ति, सिडनी पोइटियर का निधन

1964 में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का अकादमी पुरस्कार जीतने वाले बहामियन-अमेरिकी अभिनेता सिडनी पोइटियर (Sidney Poitier) का 94 वर्ष की आयु में निधन हो गया है। 1963 में, पोइटियर ने एरिज़ोना, लिली ऑफ़ द फील्ड में एक फिल्म बनाई थी। इस प्रदर्शन ने एक बड़ा मील का पत्थर बना दिया, जिससे वे मुख्य-अभिनय ऑस्कर के पहले अश्वेत विजेता बन गए। उन्हें उनके काम के लिए राष्ट्रपति ओबामा द्वारा 2009 में अमेरिकी राष्ट्रपति पदक स्वतंत्रता से सम्मानित किया गया था।