Sensex breaks more than 200 points; Metal stocks dominate profit margins

0
48

DAILY CURRENT GK

 

1.एक्जिम बैंक पश्चिम अफ्रीकी देशों के आर्थिक समुदाय को पचास करोड़ अमरीकी डॉलर की ऋण सुविधा देगा :-

Image result for Exim Bankआयात निर्यात बैंक-एक्जिम बैंक ने कहा है कि वह पश्चिमी-दक्षिण अफ्रीका में विभिन्न विकास परियोजनाओं को धन उपलब्ध कराने के लिए पश्चिम अफ्रीकी देशों के आर्थिक समुदाय को पचास करोड़ अमरीकी डॉलर की ऋण सुविधा देगा।

एक्जिम बैंक ने सोमवार को नई दिल्ली में जारी विज्ञप्ति में कहा कि वह ऋण समझौते के जरिए पश्चिम अफ्रीकी देशों के निवेश और विकास बैंक को अब तक चार ऋण सुविधाएं दे चुका है और कुल ऋण एक अरब डॉलर की राशि तक पहुंच गया है

 

Exim Bank will provide a loan facility of US $ 500 million to the financial community of West African countries :-

Import Export Bank – Exim Bank has said that it will provide 50 million US dollar loan facility to the financial community of West African countries to provide funds to various development projects in West-South Africa.

Exim Bank said in a release issued on Monday in New Delhi that it has provided four loan facilities to the investment and development bank of West African countries through the loan agreement and the total credit has reached one billion dollars.

 

2.ब्रिटेन में रूस के जासूस को जहर देने के आरोप के बाद वैश्विक प्रतिक्रिया के फलस्‍वरूप ऑस्‍ट्रेलिया ने भी रूसी राजनयिकों को निष्‍कासित किया :-

Image result for allegations of poisoning Russian spy in the UKब्रिटेन में रूस के जासूस को जहर देने के आरोप के बाद वैश्विक प्रतिक्रिया के फलस्‍वरूप ऑस्‍ट्रेलिया ने भी रूसी राजनयिकों को निष्‍कासित कर दिया है। ऑस्‍ट्रेलिया के प्रधानमंत्री मेलकम टर्नबुल ने कहा है कि सलिसबरी में किया गया यह शर्मनाक हमला है और इसी वजह से उसने विश्‍व के 23 अन्‍य देशों के साथ रूसी राजनायिकों को निष्‍कासित करने का कदम उठाया है। चुनाव में हस्‍तक्षेप और उसके साझीदार देशों की संप्रभुता को चुनौती पर श्री टर्नबुल ने कहा कि उनका देश रूस की अराजकता और घृणित कार्रवाई का सामना कर रहा है।

 

Australia also expelled Russian diplomats as a result of global reaction after allegations of poisoning Russian spy in the UK :-

Australia has expelled Russian diplomats as a result of global reaction after allegations of poisoning Russian spy in the UK. Australia’s Prime Minister Melk Turnbull has said that this is a shameful attack in Salisbury and that is why he has taken steps to expel Russian politicians along with 23 other countries of the world. On the challenge of interference in elections and the sovereignty of its partner countries, Mr. Turnbull said that his country is facing Russia’s chaos and disgusting action.

 

3.अमरीका ने दक्षिण कोरिया को इस्पात शुल्क से मुक्त किया :-

Image result for USA frees South Korea from steel tariffsदक्षिण कोरिया को अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा लागू इस्पात शुल्क से मुक्ति मिल गई है। परंतु उसने अमरीका के इस्पात के निर्यात कोटे को स्वीकार कर लिया है।

दक्षिण कोरिया के व्यापार मंत्री किम ह्युन-चोन ने कहा कि इससे घरेलू इस्पात निर्माताओं की चिंताएँ समाप्त हो जाएँगी।

दक्षिण कोरिया अमरीका के उन 7 कारोबारी साझेदार देशों में से 1 है जिन्हें अमरीकी सरकार द्वारा शुक्रवार को लागू इस्पात और एल्युमिनियम के आयात शुल्कों से अस्थायी तौर पर निजात मिली है। दक्षिण कोरिया पहला देश है जो अमरीका से इस्पात शुल्क हटवा पाने में कामयाब रहा है।

बदले में दक्षिण कोरिया अपने सालाना इस्पात निर्यात को 26 लाख 80 हज़ार टन तक सीमित रखने पर सहमत हुआ है। यह संख्या वर्ष 2015 से 2017 के बीच दक्षिण कोरिया द्वारा अमरीका को इस्पात की वार्षिक औसत बिकवाली का कुल 70 प्रतिशत है।

अमरीका को दक्षिण कोरिया के ट्रकों पर से शुल्क हटाने के लिए 20 साल का समय मिल गया है।

 

USA frees South Korea from steel tariffs :-

South Korea has been relieved of the tariff imposed by American President Donald Trump. But it has accepted the export quotas of US steel.

South Korea’s trade minister Kim Hyun-Chon said this will end the concerns of domestic steel manufacturers.

South Korea is one of the seven trading partners in the United States, which has been temporarily cleared by the US government’s import tariff of steel and aluminum on Friday. South Korea is the first country that has managed to get the steel tariff removed from the USA.

In return, South Korea has agreed to restrict its annual steel exports to 26 lakh 80 thousand tonnes. This number is a total of 70 percent of annual average sale of steel to the USA by South Korea between 2015 and 2017.

The United States has got 20 years to cancel the fee on the trucks of South Korea.

 

4.संपत्तियों की वापसी को लेकर नाइजीरिया और स्विट्जरलैंड के बीच समझौता :-

Image result for राष्ट्रपति मुहम्मदु बुहारीनाइजीरिया और स्विट्जरलैंड ने गैरकानूनी रूप से अर्जित की गयी संपत्तियों की वापसी का मार्ग प्रशस्त करने के लिये आज एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये।

राष्ट्रपति मुहम्मदु बुहारी के प्रवक्ता ने ई-मेल के जरिये एक वक्तव्य जारी कर इस बात की जानकारी दी। वक्तव्य के मुताबिक नाइजीरिया, स्विट्जरलैंड और अंतरराष्ट्रीय विकास संगठन(आईडीए) के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये गये हैं।

स्विट्जरलैंड ने दिसंबर में कहा था कि वह विश्व बैंक के साथ किये गये एक समझौते के तहत पूर्व सैन्य शासक सनी अबाचा के परिवार से जब्त की गयी संपत्ति में से 32 करोड़ 10 लाख डॉलर के आसपास नाइजीरिया को वापस करेगा।

गौरतलब है कि 2015 में सत्ता संभालने के बाद से राष्ट्रपति मुहम्मदु बुहारी ने कई देशों से मदद की अपील की है ताकि अधिक से अधिक जब्त की गयी सम्पत्ति को वापस लाया जा सके।

 

Agreement between Nigerian and Switzerland on the return of properties :-

Nigeria and Switzerland signed a memorandum of understanding to pave the way for the return of property illegally acquired.

A spokesman of President Muhmaddu Bukhari issued a statement through e-mail and informed about this. According to the statement, an MoU between Nigeria, Switzerland and International Development Organization (IDA) has been signed.

Switzerland had said in December that under an agreement with the World Bank, the former military ruler will return to Nigeria around $ 32 million 10 million from the assets seized from Sunni Abacha’s family.

It is worth mentioning that since assuming power in 2015, President Muhmaddu Bukhari has appealed for help from many countries so that more and more seized properties can be brought back.

 

5.भेल को गुजरात में 15 मेगावाट का सौर संयंत्र का ठेका :-

Image result for Government Heavy Electricals Limitedसरकारी क्षेत्र की कंपनी भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल) को गुजरात में ईपीसी के आधार पर 15 मेगावाट का सौर फोटोवोल्टिक विद्युत संयंत्र लगाने का ठेका मिला है। बिजली उपकरण बनाने वाली कंपनी ने बयान में कहा कि गुजरात अल्कलीज एंड केमिकल लिमिटेड ने चरांका में उसे गुजरात सोलर पार्क लगाने का ठेका दिया है।

कंपनी फिलहाल देश भर में तकरीबन 150 मेगावाट से अधिक की सौर ऊर्जा परियोजनाओं का काम कर रही है। नये ऑर्डर को जोड़कर उसने अब तक तकरीबन 545 मेगावाट की सौर ऊर्जा परियोजनाओं का ठेका मिला है।

 

BHEL contracts 15 MW solar plant in Gujarat :-

Government Heavy Electricals Limited (BHEL), a public sector company, got the contract to install 15 MW solar photovoltaic power plant on the basis of EPC in Gujarat. In a statement, the company making the power equipment said that Gujarat Alkalies and Chemical Limited has contracted to set up Gujarat Solar Park in Charanka.

The company is currently working on solar power projects of more than 150 MW across the country. By joining the new order, he has so far received about 545 MW solar power projects.

 

6.जीएसटी राजस्‍व संग्रह फरवरी 2018 (फरवरी/मार्च में 26 मार्च तक प्राप्‍त) में 85,174 करोड़ रुपये रहा :-

Image result for जीएसटीजीएसटी के तहत कुल राजस्‍व संग्रह: फरवरी 2018 के लिए जीएसटीआर 3बी रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि 20 मार्च, 2018 थी। फरवरी 2018 (फरवरी/मार्च में 26 मार्च तक प्राप्‍त) में जीएसटी के तहत कुल राजस्‍व संग्रह 85,174 करोड़ रुपये का रहा है।

25 मार्च, 2018 तक वस्‍तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के तहत कुल मिलाकर 1.05 करोड़ करदाता पंजीकृत किए गए हैं। इनमें से 18.17 लाख करदाता कंपोजीशन डीलर हैं जिनके लिए हर तिमाही में रिटर्न दाखिल करना आवश्‍यक है। वहींशेष 86.37 लाख करदाताओं के लिए मासिक रिटर्न दाखिल करना जरूरी है।

फरवरी 2018 के लिए 25 मार्च, 2018 तक 59.51 लाख जीएसटीआर 3बी रिटर्न दाखिल किए गए हैं। यह कुल करदाताओं का 69 प्रतिशत है जिनके लिए मासिक रिटर्न दाखिल करना आवश्‍यक है।

राज्‍यों का राजस्‍व: मार्च 2018 (26 मार्च तक) के लिए जीएसटी के तहत संग्रहित 85174 करोड़ रुपये में से 14945 करोड़ रुपये का संग्रह सीजीएसटी के रूप में, 20456 करोड़ रुपये का संग्रह एसजीएसटी के रूप में, 42456 करोड़ रुपये का संग्रह आईजीएसटी के रूप में और 7317 करोड़ रुपये का संग्रह क्षतिपूर्ति उपकर (सेस) के रूप में हुआ है। इसके अलावा, 12140 करोड़ रुपये को आईजीएसटी से सीजीएसटी खाते में और 13424 करोड़ रुपये को आईजीएसटी से एसजीएसटी खाते में हस्‍तांतरित किया जा रहा है। यह हस्‍तांतरण क्रमश: सीजीएसटी और एसजीएसटी के भुगतान के लिए आईजीएसटी क्रेडिट के क्रॉस उपयोग के कारण धनराशि के निपटान के जरिए अथवा अंतर-राज्‍य बी2सी लेन-देन की वजह से किया जा रहा है। इस तरह कुल मिलाकर 25,564 करोड़ रुपये की राशि को निपटान के जरिए आईजीएसटी से सीजीएसटी/एसजीएसटी खाते में हस्‍तांतरित किया जा रहा है। अत: मार्च, 2018 (26 मार्च तक) के लिए सीजीएसटी और एसजीएसटी का कुल संग्रह क्रमश: 27,085 करोड़ रुपये और 33,880 करोड़ रुपये का रहा हैजिसमें निपटान (सेटलमेंट) के जरिए किए गए हस्‍तांतरण भी शामिल हैं। 

 

GST revenue collection was Rs 85,174 crore in February 2018 (till March 26 in February / March) :-

Total revenue collection under GST : The last date for filing GSTR 3B returns for February 2018 was March 20 , 2018. In February 2018 (upto March 26 in February / March), total revenue collection under GST was 85,174 crore rupees.

As on March 25 , 2018, total 1.05 crore taxpayers have been registered under the Goods and Services Tax (GST). Out of these 18.17 lakh taxpayers are composition dealers, for which it is necessary to file returns in every quarter. At the same time, remaining 86.37 lakh taxpayers need to file monthly returns.

For March 2018, March 5 , 2018, 59.51 lakh GSTR 3B returns have been filed. This is 69 percent of the total taxpayers, for which it is necessary to file a monthly return.

Revenue of the States : Out of Rs 85174 crores collected under GST for March 2018 (up to 26th March), collection of 14945 crores as CGST, Collection of Rs 20456 crore as SGST, collection of Rs 42456 crore as IGST and collection of Rs 7,317 crore in the form of compensation cess (cess). Apart from this, 12140 crore rupees are being transferred from IGST to CGST account and Rs. 13424 crore from IGST to SGST account. This transfer is being done due to the settlement of funds due to the cross-use of IGST credits for payment of CGST and SGST, or due to inter-state B2C transactions. In this way, an amount of Rs 25,564 crore is being transferred from IGST to CGST / SGST account through settlement. Therefore, the total collection of CGST and SGST for March 2018 (up to 26th March) has been Rs. 27,085 crore and Rs. 33,880 crore respectively, which includes transfers made through settlement.   

 

  1. आय कर विभाग के कार्यालय 29, 30 और 31 मार्च 2018 को भी खुले रहेंगे:-

Image result for आय कर विभागआकलन वर्ष 2016-17 और 2017-18 के लिए विलम्बित रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि और आकलन वर्ष 2016-17 के लिए संशोधित रिटर्न भरने की अंतिम तिथि 31 मार्च, 2018 है। वित्तीय वर्ष 2017-18 31 मार्च, 2018 को खत्म हो रहा जो कि शनिवार है। 29 और 30 मार्च, 2018 को भी छुट्टियां होने की वजह से सरकारी कार्यालय बंद रहेंगे।

इसलिए, आयकर रिटर्न दाखिल करने और संबद्ध कार्य पूरा करने के लिए, पूरे भारत में सभी आयकर कार्यालय क्रमशः 29, 30 वें और 31 मार्च, 2018 को खुले रहेंगे। एएसके केंद्र भी इन दिनों खुले रहेंगे। करदाताओं को मदद मुहैया कराने और उनके द्वारा रिटर्न दाखिल करने के लिए सभी प्रयास किए जाएंगे।

 

The offices of the Income Tax Department will also be open on 29, 30 and 31 March 2018 :-

The last date for filing a revised return for the assessment year 2016-17 and 2017-18 for the last date and the assessment year 2016-17 is March 31, 2018. The financial year 2017-18 ends on March 31, 2018, which is Saturday. Government offices will be closed on 29th and 30th March, 2018 due to vacations

Therefore, for filing income tax returns and completing the associated work, all income tax offices across India will be open on 29th, 30th and 31st March, 2018, respectively. The ASK center will also be open these days. All efforts will be made to provide help to taxpayers and filing returns by them.

 

8.डाक विभाग ने भारत और जापान के बीच कूल ईएमएससेवा शुरू की :-

Image result for डाक विभागसंचार मंत्रालय ने ‘कूल ईएमएस सेवा’ शुरू की है, जो 29.03.2018 से लागू होगी। ‘कूल ईएमएस सेवा’ जापान और भारत के बीच एकमात्र ऐसी सेवा है जो भारत में ग्राहकों के व्यक्तिगत उपयोग के लिए जापानी खाद्य पदार्थों का आयात करेगी और भारतीय नियमों के तहत इसकी अनुमति दी गई है।

शुरूआत मेंकूल ईएमएस सेवा केवल दिल्ली में उपलब्ध होगी। खाद्य पदार्थों को जापान के डाक विभाग द्वारा विशेष रूप से तैयार ठंडे बक्सों में लाया जाएगाजिसमें खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता को बरकरार रखने के लिए रेफ्रिजरेंट होते हैं।

 

Postal Department launches ‘Cool EMS’ service between India and Japan :-

Ministry of Communications has introduced ‘ Cool EMS Service ‘ , which will be applicable from 29.03.2018. ‘ Cool EMS service ‘ is the only service between Japan and India which will import Japanese food items for personal use of customers in India and it has been permitted under Indian rules.

Initially , Cool EMS service will be available only in Delhi. Food items will be brought in the cold boxes made especially by the Japanese Department of Posts , in which refrigerators are used to maintain the quality of foods. 

 

9.क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने बॉल टेंपरिंग विवाद के बाद स्मिथ, बेनक्राफ्ट और वॉर्नर को वापस बुलाया, अगले 24 घंटों में इन खिलाड़ियों की सजा का एलान भी कर दिया जाएगा :-

Image result for क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने बॉल टेंपरिंग विवाद के बाद स्मिथदक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच के दौरान हुई बॉल टेंपरिंग में ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट में भूकंप आ गया है। मंगलवार को क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के सीईओ जेम्स सदरलैंड ने कार्यकारी महाप्रबंधक टीम परफॉर्मेंस पैट हावर्ड और सीनियर कानूनी सलाहकार इयान रॉय से इस मामले में बातचीत की है।

इस मुलाकात के बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए सीए के सीईओ जेम्स सदरलैंड ने बताया कि, आज बॉल टेंपरिंग में शामिल तीनों खिलाड़ियों स्मिथ, बेनक्राफ्ट और वार्नर को इस सीरीज से निलंबित कर दिया गया है उन्हें तत्काल प्रभाव से स्वदेश लौटने का फरमान जारी किया गया है। सीए प्रमुख ने साथ ही ये भी कहा कि अगले 24 घंटों में इन खिलाड़ियों की सजा का एलान भी कर दिया जाएगा।

 

Cricket Australia called Smith, Bencroft and Warner back after the ball-tempering controversy, punishment of these players will also be announced in the next 24 hours :-

An earthquake has occurred in Australia cricket in the ball tempering during the third test match against South Africa. On Tuesday, Cricket Australia CEO James Sutherland has negotiated with the Executive General Manager Team Performance Pat Howard and senior legal advisor Ian Roy.

After meeting with the media, CA CEO James Sutherland said that today three players, Smith, Bencroft and Warner, who have been involved in ball-tempering, have been suspended from the series, they have been ordered to return home with immediate effect. is. The CA chief also said that the punishment of these players will also be announced in the next 24 hours.

 

10.आर्कटिक पर इस साल जमी 39 सालों में दूसरी सबसे कम बर्फ, पड़ सकता है प्रतिकूल प्रभाव :-

Image result for आर्कटिकशीत ऋतु में आर्कटिक पर जमने वाली बर्फ मार्च महीने तक अपने अधिकतम स्तर पर होती है। इसके बाद बर्फ का पिघलना शुरू हो जाता है। इस साल आर्कटिक पर बर्फ का अधिकतम स्तर 39 वर्षों में दूसरा सबसे कम रहा। नासा ने एक रिपोर्ट में जानकारी दी है कि लगातार चार वर्षों से आर्कटिक पर सबसे कम क्षेत्रफल में बर्फ जम रही है। शीत ऋतु के आने में देरी और उसमें भी गर्म हवाएं चलने से ऐसा हुआ है। जलवायु, मौसम चक्र और जीव-जंतुओं के जीवन पर इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है।

 

On the Arctic this year, the second lowest snow in 39 years, may have adverse effects :-

Ice in the winter on the Arctic is at its highest level for the month of March. After this the ice begins to melt. This year, the highest level of ice on the Arctic remained the second lowest in 39 years. NASA has reported in a report that ice is frozen in the lowest area on the Arctic for four consecutive years. This is due to the delay in the arrival of the winter season and the hot winds in it. It can have adverse effects on the life of climate, weather cycle and organisms.

 

11.सेंसेक्स 200 अंक से ज्यादा टूटा, मेटल शेयर्स में मुनाफावसूली हावी :-

Image result for Sensexभारतीय शेयर बाजार में गिरावट जारी है। करीब 11 बजे प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 211 अंक की कमजोरी के साथ 32962 के स्तर पर और निफ्टी 64.40 अंक की कमजोरी के साथ 10119 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर मिडकैप इंडेक्स में 0.52 फीसद और स्मॉलकैप में 0.50 फीसद की कमजोरी देखने को मिल रही है। इस दौरान सबसे ज्यादा बिकवाली मेटल शेयर्स में देखने को मिल रही है।

 

Sensex breaks more than 200 points; Metal stocks dominate profit margins :-

The Indian stock market is declining. At 11 am, the main index Sensex is trading at 32962 with weakness of 211 points and Nifty is trading at level of 10119 with weakness of 64.40 points. On the National Stock Exchange, the mid-cap index is 0.52 percent and the smallcap 0.50 percent fall is seen. During this time, the highest-selling metal shares are being seen.

 

VISIT US, FOR DAILY UPDATES –

www.anushkaacademy.com

www.gkindiatoday.com