GENERAL KNOWLEDGE

0
49

खेल मंत्रालय ने e-mail के जरिये राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों के लिए नामांकन आमंत्रित किए

खेल मंत्रालय प्रतिष्ठित राजीव गांधी खेल रत्न सहित अन्य खेल पुरस्कारों के लिए चयन की प्रक्रिया शुरू कर रहा है. नामांकन की प्रक्रिया आमतौर पर अप्रैल में शुरू होती है. आम तौर पर अप्रैल में शुरू हो वाली यह प्रक्रिया लॉकडाउन के कारण मई तक खिसक गई थी. लॉकडाउन का तीसरा चरण शुरू हो चुका है जो 17 मई 2020 तक चलेगा.

मंत्रालय के अनुसार, कोविड-19 के प्रकोप के कारण लॉकडाउन के चलते नामांकन की कागजी प्रति भेजने की जरूरत नहीं है. नामांकन की आवेदक और सिफारिश करने वाले अधिकारियों के हस्ताक्षर वाली स्कैन प्रति आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि से पूर्व भेजी जा सकती है.

पुलित्जर पुरस्कार 2020: जम्मू-कश्मीर के तीन फोटो पत्रकारों को मिला यह पुरस्कार

जम्मू-कश्मीर के तीन फोटो पत्रकारों को पिछले साल अगस्त में अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान हटाए जाने के बाद क्षेत्र में जारी बंद के दौरान सराहनीय काम करने हेतु ‘फीचर फोटोग्राफी’ श्रेणी में 2020 के पुलित्जर पुरस्कार से सम्मानित किया गया है.

पुलित्जर पुरस्कार की शुरुआत साल 1917 में हुई थी. यह अमेरिका का एक प्रमुख पुरस्कार है, जो हर साल 21 श्रेणियों में समाचार पत्रों, साहित्य एवं संगीत के क्षेत्र में कार्य करने वालों को दिया जाता है. इसके अंतर्गत विजेता को एक प्रमाण पत्र और 15,000 डॉलर का नकद पुरस्कार दिया जाता है.

डार्क मैटर अणुओं के संकेतों को पकड़ने के लिए नए तरीकों का सुझाव

डार्क मैटर(काला पदार्थ) डिटेक्टर (संसूचक) के ऐसे हर रूप को चुनौती देने में सक्षम रहा है, जिसे इसे खोजने के लिए बनाया गया है. यह स्पष्ट रूप से ज्ञात है कि डार्क मैटर ब्रह्मांड के कुल द्रव्यमान का 85 प्रतिशत बनाता है लेकिन यह किस चीज से बना है, यह अभी भी एक सवाल ही है.

शोधकर्ताओं की टीम मौजूदा डाटा का विश्लेषण करने के लिए प्रयोग सहयोगियों के साथ काम करने की उम्मीद कर रही है और यह भी पता लगाने के लिए कि क्या चल रहे प्रयोगों के खोज मापदंडों को अन्य संकेतों की खोज के लिए समायोजित किया जा सकता है.

कोरोना संकट के बीच देश में बेरोजगारी दर बढ़कर 27.11 प्रतिशत पहुंची: CMIE

इस सर्वे रिपोर्ट के मुताबिक तीन मई को समाप्त हुए सप्ताह में देश में बेरोजगारी दर बढ़कर 27.1 प्रतिशत पर पहुंच गई है. इससे पहले जारी सर्वे रिपोर्ट के अनुसार अप्रैल 2020 में देश में बेरोजगारी दर बढ़कर 23.5 प्रतिशत पर पहुंच गई थी. केवल अप्रैल महीने में बेरोजगारी दर में 14.8 प्रतिशत का बढ़ोतरी हुआ था.

कोरोना की वजह से भारत सहित विश्वभर की अर्थव्यवस्था ठप पड़ गई है. भारत में लगभग 40 दिनों के दो चरणों के लॉकडाउन में तो उद्योग-धंधे पूरी तरह से बंद रहे. ऐसे में रोजगार मिलने की आशा नहीं की जा सकती. बड़े शहरों से हजारों की संख्या में प्रवासी मजदूर अपने घर वापस जा रहे हैं.

जानें क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय अग्निशमन दिवस

प्रत्येक साल 4 मई को विश्वभर में अंतरराष्ट्रीय अग्निशमन दिवस (International Firefighter Day) मनाया जाता है. इसे पहली बार साल 1999 में मनाया गया था. इसका मुख्य उद्देश्य फायर फाइटरों को सम्मान और धन्यवाद देना है, जो अपनी जान दांव पर लगाकर लोगों और वन्य जीवों की जान आग से बचाते हैं.

अंतरराष्ट्रीय अग्निशमन दिवस का प्रतीक दो रंगी रिबन है, जिसमें लाल रंग आग को, और नीला रंग पानी को दर्शाता है. इस दिन यूरोप में दोपहर के समय 30 सेकंड तक फायर बिग्रेड के सायरन बजाए जाते हैं. इसके बाद एक मिनट के लिए मौन रखा जाता है.

कोरोना का कहर: तेलंगाना में लॉकडाउन 29 मई तक बढ़ाया गया

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने हाल ही में राज्य में लॉकडाउन की अवधि को 29 मई तक बढ़ाने के आदेश जारी कर दिए हैं. देश भर में फिलहाल 17 मई तक लॉकडाउन का आदेश दिया गया है. तेलंगाना ऐसा पहला राज्य है, जिसने अपने प्रदेश में लॉकडाउन की अवधि बढ़ाई है.

मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने कहा कि रेड ज़ोन में किसी दुकान को खोलने की अनुमति नहीं होगी. ग्रीन और ऑरेज ज़ोन के लिए 15 मई के बाद हालात की समीक्षा होगी. शाम 7 से सुबह 7 बजे तक कर्फ्यू जारी रहेगा. तेलंगाना में अब तक कोरोना वायरस के 1096 मरीज मिले हैं.

रूस ने किम जोंग को द्वितीय विश्व युद्ध स्मारक पदक से सम्मानितन किया

रूस ने उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन को द्वितीय विश्व युद्ध स्मारक पदक से सम्मानित किया है. यह सम्मान उन्हें उत्तर कोरिया में मारे गए सोवियत सैनिकों की स्मृति को संरक्षित रखने के लिए दिया गया है. किम जोंग की तरफ से विदेशमंत्री री सोन ग्वोन ने रूसी राजदूत से 1941-1945 की जंग के 75 साल पूरे होने के मौके पर यह पदक स्वीकार किया.

मालूम हो कि पिछले साल द्वितीय विश्व युद्ध में जीत के 75 वर्ष पूरे होने के मौके पर किम जोंग को मॉस्को में होने वाली परेड के लिए आमंत्रित किया था. उत्तर कोरिया के नेता ने वर्ष 2015 में द्वितीय विश्व युद्ध में जीत की 70वीं सालगिरह पर आयोजित समारोह में शामिल होने के निमंत्रण को घरेलू वजहों से अस्वीकार कर दिया था.

झारखंड के मुख्यमंत्री ने रोजगार सृजन पर दी जोरशुरू की गईं तीन नई योजनाएं

झारखंड सरकार ने कोरोना संकट के दौर में दूसरे राज्यों में फंसे अपने मजदूरों को वापस लाने के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार मुहैया कराने की रणनीति पर भी अमल शुरू कर दिया है. झारखंड सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में श्रमिकों के लिये रोज़गार उत्पन्न करने के उद्देश्य से तीन श्रम गहन कार्यक्रमों ‘बिरसा हरित ग्राम योजना’, ‘नीलाम्बर पीताम्बर जल समृद्धि योजना’ और ‘वीर शहीद पोतो हो खेल विकास योजना’ की शुरुआत की.

इन योजनाओ के माध्यम से राज्य में लौट रहे छह लाख मजदूरों को भी रोजगार उपलब्ध होगा. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने प्रोजेक्ट भवन में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि इन योजनाओं की मदद से करीब 25 करोड़ मानव कार्य दिवस का इंतजाम होगा.

विश्व अस्थमा दिवस 05 मई को मनाया गया

विश्व अस्थमा दिवस प्रत्येक वर्ष के मई महीने के पहले मंगलवार को पूरे विश्व में मनाया जाता है. अस्थमा विरोध की जागरूकता एवं शिक्षा हेतु इस इस दिन को संपूर्ण विश्व में मनाया जाता है. अस्थमा के मरीजों का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है इसलिए उनमें संक्रमण का भी खतरा ज्यादा होता है.

विश्व अस्थमा दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य विश्वभर के लोगों को अस्थमा बीमारी के बारे में जागरूक करना है. इसे सबसे पहले 1998 में मनाया गया था, जिसका आयोजन ग्लोबल इनिशिएटिव फॉर अस्थमा ने किया था. अस्थमा के मरीज को सांस लेने में परेशानी होती है, बहुत ही जल्द सांस फूल जाता है. खांसी आती है, वैसे यह बीमारी किसी भी उम्र में हो सकती है.

भारतीय नौसेना ने विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए ऑपरेशन समुद्र सेतु लॉन्च किया

भारतीय नौसेना ने हाल ही में विदेशों से भारतीय नागरिकों को वापस लाने के राष्ट्रीय प्रयास के रूप में ऑपरेशन ‘समुद्र सेतु’ शुरू किया है. भारतीय नौसैनिक जहाज जलश्व एक अन्य जहाज के साथ मालदीव गणराज्य के बंदरगाह में प्रवेश कर रहे हैं. इस ऑपरेशन के पहले चरण में 08 मई 2020 से भारतीय नागरिकों का निकासी अभियान शुरू होगा.

विदेशों में रह रहे भारतीय नागरिकों पर COVID-19 महामारी के प्रभाव के संबंध में भारत सरकार बारीकी से निगरानी कर रही है. भारतीय नौसेना को निर्देश दिया गया है कि विदेश में फंसे नागरिकों की समुद्र के रास्ते निकासी के लिए उपयुक्त तैयारी की जाए. पहले ट्रिप में 1000 लोगों को वहां से वापस लाने की योजना है, सभी की पहले मेडिकल स्क्रीनिंग होगी.