Modi government’s decision before budget

0
28

DAILY CURRENT GK

 

  1. पद्मावतके विरोध में निकाली स्वाभिमान रैली :- फिल्म पद्मावत के विरोध में अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के लोगों ने नगर में रैली निकाली। इस दौरान ऐहतियात के तौर पर भारी संख्या में पुलिसबल तैनात रहा। बुधवार को रामनगर रोड स्थित रामलीला मैदान में क्षत्रिय समाज के लोग एकजुट हुए। यहां से इन लोगों ने पदमावती स्वाभिमान रैली निकाली। रैली रामलीला मैदान से शुरू होकर महाराणा प्रताप चौक, मेन बाजार, डाकखाना गली, सतेन्द्र चन्द्र गुड़िया मार्ग, माता मंदिर रोड, चीमा चौराहे होते हुए रामलीला मैदान में पहुंचकर खत्म हुई।

 

Swabhimaan Rally brought out in protest against ‘Padmavat’ :- The people of the All India Kshatriya Mahasabha took out a rally in Nagar against the film Padmavat. In the meantime, a large number of police personnel were deployed as a precaution. On Wednesday, the people of Kshatriya community in Ramlila Maidan, Ramnagar Road were united. From here, these people took out the Padmavati Swabhiman Rally. The rally ended with Ramlila Maidan and reached Maharana Pratap Chowk, Main Market, Post Office Galli, Satendra Chandra Gudiya Marg, Mata Temple Road, Chima Crossing and reaching Ramlila Maidan.

 

  1. उलटफेर वाला रहा दिन, राफेल नडाल चोटिल होकर OUT :- स्पेन के स्टार टेनिस खिलाड़ी राफेल नडाल का दूसरा ऑस्ट्रेलियन ओपन खिताब जीतने का सपना टूट गया। मंगलवार को नडाल चोट के चलते साल के पहले ग्रैंड स्लैम से बाहर हो गए। वहीं उलटफेर से भरे दिन में गैरवरीयता प्राप्त काइल एडमंड और एलिस मर्टन्स सेमीफाइनल में पहुंचने में सफल रहे।दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी नडाल को रॉड लीवर एरेना में मारिन सिलिच के खिलाफ चौथे सेट के दौरान दाएं पांव के ऊपरी हिस्से में परेशानी महसूस हुई। दर्द के बावजूद उन्होंने खेल जारी रखा लेकिन आखिर में पांचवें और निर्णायक सेट में वो बाहर हो गए। जब उन्होंने रिटायर होने का फैसला किया तब सिलिच 3-6, 6-3, 6-7 (5/7), 6-2, 2-0 से आगे चल रहे थे। यूएस ओपन के पूर्व विजेता सिलिच का सामना सेमीफाइनल में ब्रिटेन के एडमंड से होगा जिन्होंने एक अन्य क्वॉर्टर फाइनल मुकाबले में तीसरी वरीयता प्राप्त ग्रिगोर दिमित्रोव को 6-4, 3-6, 6-3, 6-4 से उलटफेर का शिकार बनाया।

 

Rampage day, Rafael Nadal injured OUT: – Spain’s star tennis player Rafael Nadal lost his dream of winning the second Australian Open title On Tuesday, Nadal was out of the year’s Grand Slam due to injury. At the same time, the relegated Kyle Edmond and Alice Martens were successful in reaching the semi-finals. Nadal, the world’s number one player, had difficulty in the upper part of the right foot during the fourth set against Marin Silice in Rod Liver Arena. Despite the pain, he continued the game but in the fifth and final set he finally got out. When he decided to retire, Silic was moving forward from 3-6, 6-3, 6-7 (5/7), 6-2, 2-0. Former US Open semi-finalist Seymour will face Britain’s Edmund, who lost the third-seeded third-seeded Gregor Dimitrov 6-4, 3-6, 6-3, 6-4 in another match.

 

  1. आसमान से कूदकर महिलाओं को आजादीसिखा रही ये स्काईडाइवर :- मध्य पूर्व के कई देशों की तरह ही ईरान में भी महिलाओं पर कई बंदिशें हैं। लेकिन बावजूद इसके कई महिलाएं भ्रम को तोड़ते हुए इस सामाजिक व्यवस्था को बदलने का प्रयास कर रही हैं। ऐसी ही एक महिला स्काईडाइवर है जो ऊंचाइयों से छलांग लगाकर ईरानी महिलाओं को आजादी की सीख दे रही हैं। 35 साल की बाहारेह सस्सानी पेशे से तो अकाउंटेंट हैं लेकिन शौकिया तौर पर वो दुनियाभर में स्काईडाइविंग यानि पैराशूट पहनकर प्लेन से छलांग लगाती हैं। ये न सिर्फ उनका शौक है बल्कि एक संघर्ष है उन ईरानी महिलाओं को प्ररेरित करने के लिए जो अपनी आजादी महसूस नहीं कर पातीं। सस्सानी कहती हैं, ‘मैं सभी महिलाओं को इस एडवेंचर का अनुभव करने के लिए प्रेरित करती हूं। स्काईडाइविंग से ऐसा लगता है कि जिंदगी में कुछ भी करने के लिए आजाद हैं।

 

The skydiver is teaching women ‘freedom’ by jumping from the sky: – Like many countries in the Middle East, there are many restrictions on women in Iran too. But despite this many women are trying to change this social system by breaking the illusion. There is such a lady skydiver who is learning the freedom of Iranian women by leaping from the heights. 35-year-old Bahareh Sassani is an accountant but professionally, he wanders on the plane by wearing skydiving or parachute globally. These are not just their hobbies, but a struggle to influence those Iranian women who can not feel their freedom. Sassani says, ‘I inspire all women to experience this adventure. From skydiving, it seems that there is freedom to do anything in life. ‘

 

  1. बजट से पहले मोदी सरकार का फैसला: 20 सरकारी बैंकों को मिलेंगे 88,000 करोड़, जानिए किस बैंक को मिलेंगे कितने रुपये :- सरकार ने पूंजी के अभाव से जूझ रहे सार्वजनिक क्षेत्र के 20 बैंकों में 88,139 करोड़ रुपये की पूंजी डालने की घोषणा की है। इसमें सबसे ज्यादा 10,610 करोड़ रुपये की पूंजी आईडीबीआई बैंक को दी जायेगी। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को कहा कि उनके मंत्रालय ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में पूंजी डालने को लेकर विस्तृत विचार विमर्श के बाद योजना तैयार की है।  सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में 2.1 लाख करोड़ रुपये की नई पूंजी डालने की योजना पिछले साल अक्तूबर में घोषित की गई थी। इस योजना का क्रियान्वयन दो वित्त वर्षों 2017-18 और 2018-19 में किया जायेगा।

 

Modi government’s decision before budget: 20 government banks to meet Rs 88,000 crore, know how many rupees will meet the bank: – Government has announced a capital infusion of Rs 88,139 crore in 20 public sector banks, which are struggling with capital constraints. The maximum amount of Rs 10,610 crore will be given to IDBI Bank. Finance Minister Arun Jaitley said on Wednesday that his ministry has prepared a plan after detailed discussion on capital infusion in public sector banks. The plan to put new capital of Rs 2.1 lakh crore in public sector banks was announced in October last year. This scheme will be implemented in two financial years 2017-18 and 2018-19.

 

  1. हिरणों में फैल रही ये बीमारी इंसानों को बना देगी ‘Zombie’:- हॉलीवुड और बॉलीवुड फिल्मों में हमने कई बार जॉम्बी किरदार देखें हैं जो इंसानों को खाने के लिए दौड़़ते हैं। लेकिन ऐसी कोई बीमारी आजतक हकीकत में नहीं देखी गई है, ये सिर्फ फिल्मों की कल्पना मानी जाती है। लेकिन अब कुछ विशेषज्ञों ने आगाह किया है कि हिरणों में तेजी से बढ़ रही एक बीमारी इंसानों में होने का खतरा है, जिसके बाद वो जॉम्बी जैसे बन जाएंगे।

 

This disease spreading in deer will make humans ‘zombie’:- In Hollywood and Bollywood movies, we have seen zombie characters many times that run for humans to eat. But such a disease has not been seen in reality today, it is considered to be just the imagination of films. But now some experts have warned that one of the fastest growing diseases in deer is in danger of being in humans, after which they will become like junky.

 

  1. डीएनए टेस्ट नेताजी की मौत पर संदेह को खत्म कर देगा :- नेताजी की अस्थियों का डीएनए टेस्ट (परीक्षण) उनकी मृत्यु को लेकर लोगों के संदेह को दूर करेगा। नेताजी सुभाष चंद्र बोस की बेटी अनीता बोस-फाफ यही मानती हैं। यद्यपि वह कहती हैं कि यह तभी संभव होगा जब नेताजी के अंतिम संस्कार के बाद शेष हड्डियों से डीएनए निकाला जा सके। देश आज नेताजी की 121वीं जयंती मना रहा है। अनीता बोस ने यह विचार आशीष रे द्वारा लिखी गई लेड टू रेस्ट : द कंट्रोवर्सी ओवर सुभाष चंद्र बोस डेथनामक नई किताब में व्यक्त किए हैं। सितंबर, 1945 से टोक्यो के रेंकोजी मंदिर में रखी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की अस्थियां रखी हुईं हैं। माना जाता है कि 18 अगस्त 1945 को ताइवान में एक हवाई दुर्घटना में उनकी मृत्यु हो गई थी। किताब की भूमिका में अनीता बोस ने लिखा है, ‘नेताजी की अस्थियों का डीएनए परीक्षण कराना उन लोगों को सुबूत देने का एक संभावित विकल्प है, जो अगस्त 1945 में ताइहोकू में नेताजी की मौत को लेकर संदेह जताते हैं। हालांकि इस कोशिश के लिए भारत और जापान की सरकार को तैयार होना होगा।

 

DNA test will eliminate doubts on Netaji’s death: – Netaji’s bone DNA test (test) will remove people’s doubts about his death. Anita Bose-Phaf, daughter of Netaji Subhash Chandra Bose believes this. Although she says that it would be possible only after the last rites of Netaji, the DNA could be removed from the remaining bones. The country is celebrating the 121st birth anniversary of Netaji. Anita Bose has expressed this idea in a new book titled ‘Lead to Rest: The Controversy Over Subhash Chandra Bose Death’ by Ashish Ray. Bones of Netaji Subhash Chandra Bose, kept in the Renkoji temple in Tokyo since September, 1945, have been kept. It is believed that he died in an air crash in Taiwan on August 18, 1945. In the role of the book, Anita Bose has written, “The DNA test of Netaji’s bones is a possible option for giving evidence to those people who suspect Netaji’s death in Taihoku in August 1945. However, for this effort, the government of India and Japan will have to be ready.

 

  1. गणतंत्र दिवस इस बार होगा खास, 10 आसियान नेताओं से अलग-अलग मिलेंगे पीएम मोदी:- 26 जनवरी को पूरा देश 69वां गणतंत्र का जश्न मनाएगा। यह गणतंत्र और भी खास होने वाला है। इस बार भारत 10 देशों के नेताओं की मेजबानी करेगा। इन नेताओं का भारत आना शुरु भी हो चुका है। बुधवार सुबह वियतनाम के प्रधानमंत्री न्गुयेन शुयान फुक अपनी पत्नी के साथ और कंबोडिया के पीएम हुन सेन भारत पहुंच चुके हैं।

 

Republic Day will be special this time, PM Modi will meet separately from 10 ASEAN leaders: – The whole nation will celebrate 69th Republic on January 26th. This Republic is going to be even more special This time India will host 10 countries leaders. These leaders have already started coming to India. On Wednesday morning, Vietnam’s Prime Minister Nguyen Shuyun Fuk with his wife and PM Hun Sen of Cambodia has reached India.

 

Visit Us for Daily Updates:-

 

www.anushkaacademy.com,

 

www.gkindiatoday.com

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here